मुलायम के कुनबे में सुलह पर सस्पेंस, क्या अखिलेश नहीं होंगे 'सपा' का चेहरा? - Khabar IndiaTV

लखनऊ: मुलायम सिंह यादव के कुनबे में सुलह हो रही है या कलह जारी है, इस पर अभी सस्पेंस बना हुआ है। आज मुलायम सिंह यादव ने प्रेस कॉन्फ्रेंस करके जो बातें कहीं, उससे तो लग नहीं रहा है कि सुलह का कोई फॉर्मूला तय हो पाया है। जबकि लखनऊ में शिवपाल समर्थकों ने उनकी मंत्रिमंडल में वापसी को लेकर धरना शुरू कर दिया है। (देश-विदेश की बड़ी खबरें पढ़ने के लिए क्लिक करें). समाजवादियों में 'गृहयुद्ध' अभी बाकी है! मुलायम सिंह यादव के परिवार की कलह पर आज भी कोई स्थिति साफ नहीं हो पाई वरना अखिलेश यादव उस प्रेस कॉन्फ्रेंस में मौजूद रहते जो मुलायम ने की और जिसमें शिवपाल भी मौजूद थे। ये बात ...और अधिक »

आखिरी 8 मिनटों में तमतमाए अखिलेश ने मंच पर दिखाए अपने तेवर, हक्के-बक्के मुलायम ने छोड़ा मंच - आज तक

अपने भाषण में सपा मुखिया मुलायम सिंह यादव ने सीएम अखिलेश की कार्यशैली पर सवाल उठाए, तंज कसा. नेताजी की कही हर बात पर अखिलेश कभी मुस्कुराए, तो गंभीर हुए, लेकिन मुलायम सिंह के एक बयान के बाद तो अखिलेश अपना आपा खो बैठे. बोलते-बोलते मुलायम सिंह बोल गए कि एक पत्र मुसलमानों की तरफ से मुझे आया है, जिसमें लिखा है कि आपका बेटा मुसलमानों को पार्टी से दूर करना चाह रहा है और यही बयान पूरे बवाल की वजह बन गया. जब मुलायम की बात पर भड़के अखिलेश मुलायम के ऐसा कहते ही नाराज अखिलेश खड़े होकर तेजी से मुलायम सिंह के पास आए और कहा, 'नेताजी वो चिट्ठी मुझे दिखा दीजिए.' इस पर मुलायम ...और अधिक »

'समाजवादियों' में झगड़ा भारी : परिवार में दरार के 10 बड़े मोड़ - एनडीटीवी खबर

नई दिल्ली: उत्तर प्रदेश की सत्ताधारी समाजवादी पार्टी में जारी झगड़े को नया मोड़ देते हुए मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने अपने चाचा शिवपाल यादव और उनके करीबी तीन मंत्रियों को कैबिनेट से बर्खास्त कर दिया. अखिलेश का यह कदम पार्टी में किसी बड़े घटनाक्रम का संकेत है. मामले से जुड़ी अहम जानकारियां : पिछले करीब एक महीने के दौरान अखिलेश और शिवपाल के बीच जंग रह-रहकर तेज होती रही है. इस दौरान पार्टी नेतृत्व के स्तर पर ऐसे कई फैसले लिए गए जो अखिलेश को अखरे. शिवपाल की कैबिनेट से दूसरी बार बर्खास्तगी को अखिलेश यादव के जवाब के तौर पर देखा जा रहा है. इस सारे विवाद की शुरुआत एक तरह ...और अधिक »

टूट जाएगी सपा? सीएम अखिलेश ने चाचा शिवपाल को फिर किया बर्खास्त, अब मुलायम के कदम का इंतजार - एनडीटीवी खबर

लखनऊ/नई दिल्ली: उत्तर प्रदेश में सत्तारूढ़ समाजवादी पार्टी में जारी झगड़े के बीच अब पार्टी के टूटने की आशंका जोर पकड़ती दिख रही है. मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने चाचा शिवपाल यादव और उनके करीब तीन मंत्रियों को कैबिनेट से बर्खास्त कर दिया है, तो वहीं पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष शिवपाल ने अखिलेश को खुल कर समर्थन कर रहे रामगोपाल यादव को पार्टी से छह वर्षों के लिए बर्खास्त कर दिया. राजभवन की ओर से जारी एक बयान के मुताबिक, राज्यपाल ने मुख्यमंत्री की सिफारिश पर मंत्री शिवपाल सिंह यादव, नारद राय, ओम प्रकाश सिंह तथा राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) सैयदा शादाब फातिमा को पद से ...और अधिक »

परि'वॉर': रामगोपाल भी मैदान में, कहा-जहां अखिलेश वहां विजय - नवभारत टाइम्स

समाजवादी पार्टी में परि'वॉर' थमने के बजाए बढ़ता ही जा रहा है। पार्टी अध्यक्ष मुलायम सिंह यादव की सुलह की कोशिशें नाकाम हो चुकी हैं। मुख्यमंत्री अखिलेश यादव और पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष शिवपाल यादव हथियार डालने को तैयार नहीं दिख रहे। सीएम ने अपने वफादार मंत्रियों और विधायकों की बैठक बुलाई है। अटकलें हैं कि वे पार्टी से अलग होने का फैसला भी ले सकते हैं। वहीं, सपा महासचिव रामगोपाल यादव ने एक चिट्ठी लिखकर भतीजे अखिलेश का पुरजोर समर्थन किया है। रामगोपाल ने कार्यकर्ताओं के नाम लिखी चिट्ठी में कहा है कि वे अखिलेश का समर्थन करें। रामगोपाल ने लिखा,'बहकावे में आने ...और अधिक »

छोटी सी रार से बड़ी दरार - Dainiktribune

समाजवादी पार्टी। उत्तर पदेश का सबसे बड़ा दल। कभी अपने सांसदों के बूते केंद्र सरकार को चलाने और हटाने के लिए मशहूर रहा यह दल टूटने के कगार पर पहुंच गया है। चाचा शिवपाल और भतीजे अखिलेश में शुरू हुआ विवाद थमने का नाम नहीं ले रहा। रविवार को मुख्यमंत्री भतीजे ने चाचा और उनके चार समर्थकों को मंत्रिमंडल से बर्खास्त कर दिया। इसके तुरंत बाद पार्टी ने अखिलेश के दूसरे चाचा रामगोपाल यादव काे पार्टी से बाहर का रास्ता दिखा दिया। उन पर पार्टी पर फूट डालने और भाजपा के साथ मिलने के आरोप लगाए गये। अब सबकी नजरें सोमवार को होने वाली नेता जी मुलायम यादव की बैठक पर है। देखना यह है कि वे ...और अधिक »

पहले गले मिले फिर शिवपाल-अखिलेश में हुई नोकझोंक - Live हिन्दुस्तान

उत्तर प्रदेश में सत्तारुढ समाजवादी पार्टी (सपा) अध्यक्ष मुलायम सिंह यादव द्वारा पार्टी में मचे घमासान को खत्म करने के लिए सोमवार को यहां बुलाई गई बैठक का आगाज और खात्मा तू-तू, मैं-मैं और आरोप-प्रत्यारोप से हुआ। आज भी दिनभर बैठकों का दौर चलता रहा। सुलह की कोशिशों के बीच सपा मुखिया मुलायम सिंह यादव ने शाम साढ़े पांच बजे एक और बैठक बुलाई थी। इससे पहले सीएम अखिलेश यादव ने विधायकों के साथ बैठक की। खबरों के मुताबिक उधर सपा प्रदेश अध्यक्ष शिवपाल यादव ने भी विधायकों के साथ बैठक की। देर शाम मुलायम सिंह के दांत में दर्द होने की खबर आई और उनको डॉक्टर ने आराम की सलाह दी।और अधिक »

अखिलेश के फिर से प्रदेश अध्यक्ष बनने पर सब ठीक हो जाएगाः रामगोपाल यादव - नवभारत टाइम्स

हाल में समाजवादी पार्टी से निष्कासित नेता राम गोपाल यादव का कहना है कि पार्टी चीफ मुलायम सिंह यादव, शिवपाल यादव और अमर सिंह की साजिश के शिकार हैं। उनके मुताबिक, शिवपाल और अमर सिंह चाहते हैं कि अखिलेश यादव आगे मुख्यमंत्री न बनें। राम गोपाल यादव ने इकनॉमिक टाइम्स के रवीश तिवारी को दिए इंटरव्यू में ये बातें कहीं: क्या मुलायम सिंह पार्टी में शांति कायम नहीं कर पाए हैं? जब परिवार का मुखिया पक्षपाती होकर एक तरफ झुक जाए, तो शांति कायम करना काफी मुश्किल हो जाता है। आपने पारिवारिक विवाद को धर्मयुद्ध बताया था, लेकिन क्या यह मामला शख्सियतों के टकराव का नहीं है?और अधिक »

अब रामगोपाल के बेटे अक्षय ने फोड़ा लेटर बम, कहा- शिवपाल बनना चाहते थे सीएम - नवभारत टाइम्स

समाजवादी पार्टी में एक और लेटर बम फूट गया है। अब मोर्चा संभाला है पार्टी से निकाले गए महासचिव रामगोपाल यादव के बेटे और सांसद अक्षय यादव ने। अक्षय ने लेटर लिखकर कहा है कि शिवपाल यादव 2012 में खुद मुख्यमंत्री बनना चाहते थे, इसलिए उन्होंने अखिलेश यादव को मुख्यमंत्री न बनाये जाने के लिए भरपूर कोशिश की। अक्षय ने पिता के पार्टी से निकले जाने पर खुद को आहत बताते हुए लिखा है, 'मेरे पिता शिवपाल यादव की महत्वाकांक्षा के बीच आ गए थे, इसके बाद वह हमेशा साजिश में लगे रहे। किसी तरह वह मुझे, मेरे पिता और अखिलेश यादव को बर्बाद कर सकें, उसी में लगे रहे और उसी के तहत साजिश का दौर चालू ...और अधिक »

सपा से बर्खास्त रामगोपाल यादव ने कहा, आसुरी शक्तियों से घिरे हैं नेताजी, 'धर्मयुद्ध' में अखिलेश के साथ हूं - एनडीटीवी खबर

लखनऊ: उत्तर प्रदेश के 'समाजवादी कुनबे' में जारी उथल-पुथल के बीच मुख्यमंत्री अखिलेश यादव द्वारा रविवार को अपने चाचा शिवपाल यादव समेत चार मंत्रियों को बर्खास्त किए जाने के बाद सपा मुखिया मुलायम सिंह यादव ने अखिलेश के हिमायती बताए जाने वाले अपने भाई पार्टी महासचिव रामगोपाल यादव को पार्टी से निकाल दिया. (पढ़ें : सीएम अखिलेश ने चाचा शिवपाल को फिर किया बर्खास्त, अब मुलायम के कदम का इंतजार) रामगोपाल ने अपनी बर्खास्तगी के बाद मुंबई से जारी एक पत्र में कहा, 'नेताजी (मुलायम) इस वक्त जरूर कुछ आसुरी शक्तियों से घिरे हुए हैं. जब वह उन ताकतों से मुक्त होंगे तो उन्हें सचाई ...और अधिक »