इर्दोगन ने कश्‍मीर पर पाक से वार्ता को बताया जरूरी, NSG पर किया समर्थन - दैनिक जागरण

तुर्की के राष्‍ट्रपति ने एनएसजी में भारत की सदस्‍यता का समर्थन किया है। इसके अलावा उन्‍होंने जम्‍मू कश्‍मीर के मुद्दे को सुलझाने के लिए पाकिस्‍तान से वार्ता करने पर भी जोर दिया है। नई दिल्‍ली (पीटीआई)। भारत के दौरे पर पहुंचे तुर्की के राष्‍ट्रपति रेसेप तैयप एर्दोगन ने भारत और पाकिस्‍तान के बीच वर्षों से उलझे कश्‍मीर मुद्दे को द्विपक्षीय वार्ता से सुलझाने पर बल दिया है। उनका कहना है कि 70 सालों से चली आ रही कश्मीर समस्या का निदान भारत व पाक को अब निकाल लेना चाहिए। बहुपक्षीय बातचीत के बगैर इस मुद्दे का समाधान नहीं हो सकता है। उनका कहना है कि वह भी बातचीत में शामिल होने के ...और अधिक »

भारत की यात्रा पर पहुंचे तुर्की राष्ट्रपति इर्दोगान, मोदी से करेंगे बातचीत - Zee News हिन्दी

नई दिल्ली: तुर्की के राष्ट्रपति रज्जब तैयब इर्दोगान रविवार को यहां पहुंचे और सोमवार को वह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ भारत के एनएसजी सदस्यता प्राप्त करने की कोशिश और आतंकवाद-निरोध एवं व्यापार के क्षेत्र में सहयोग को मजबूती देने के विकल्पों समेत प्रमुख द्विपक्षीय और क्षेत्रीय हितों के व्यापक मुद्दों पर बातचीत करेंगे. इस महीने की 16 तारीख को विवादित जनमत संग्रह के बाद इर्दोगान का यह पहला विदेश दौरा है. इस जनमत संग्रह से उनकी कार्यकारी शक्तियों में इजाफा हुआ है. तुर्की के राष्ट्रपति के साथ उनकी पत्नी एमीन इर्दोगान, मंत्रिमंडल के वरिष्ठ कैबिनेट मंत्री और 150 ...और अधिक »

आतकंवाद समेत कई मुद्दों पर आज होगी भारत और तुर्की में वार्ता - दैनिक जागरण

भारत की दो दिवसीय यात्रा पर आए तुर्की के राष्‍ट्रपति रेसेप तैयप एर्दोगन का आज राष्‍ट्रपति भवन में औपचारिक स्‍वागत किया जाएगा। नई दिल्ली (जेएनएन)। भारत की दो दिवसीय यात्रा पर आए तुर्की के राष्‍ट्रपति रेसेप तैयप एर्दोगन का आज राष्‍ट्रपति भवन में औपचारिक स्‍वागत किया जाएगा। यह उन्‍हें गार्ड ऑफ ऑनर दिया जाएगा। इसके बाद दोनों देशों के बीच विभिन्‍न मुद्दों पर द्विपक्षीय वार्ताओं का दौर शुरू हो जाएगा। इसमें न्‍यूक्लियर सप्‍लाई ग्रुप में सदस्‍यता को लेकर वार्ता भी शामिल है। हालांकि तुर्की के राष्‍ट्रपति ने इस मुद्दे पर भारत की दावेदारी का समर्थन करने की बात कही है। उनका कहना है ...और अधिक »

भारत दौरे पर पहुंचे तुर्की के राष्ट्रपति,सोमवार को पीएम से मुलाकात - Quint Hindi

तुर्की के राष्ट्रपति रेसेप तैयप एर्दोगान अधिकारिक दौरे पर रविवार को भारत पहुंचे. राष्ट्रपति रेसेप तैयप सोमवार को भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ आर्थिक संबंधों और आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई में सहयोग पर बातचीत करेंगे. विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता गोपाल बागले ने ट्वीट किया, "भारत अपने विशेष अतिथि का स्वागत करता है. राष्ट्रपति एर्दोगान और श्रीमति एमीन एर्दोगान आधिकारिक दौरे पर दिल्ली पहुंचे." India welcomes arrival of a special guest. President @RT_Erdogan and Mrs Emine Erdogan arrive in Delhi for State visit to India pic.twitter.com/7zS89cHYfV. — Gopal Baglay (@MEAIndia) April 30, 2017. Turkish President Recep ...और अधिक »

भारत दौरे पर तुर्की के राष्ट्रपति, NSG पर समर्थन हासिल करने की होगी कोशिश - अमर उजाला

तुर्की के राष्ट्रपति रजब तैयब एर्दोगान भारत दौरे पर रविवार शाम को नई दिल्ली पहुंच गए। एर्दोगान सोमवार को राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी , उपराष्ट्रपति हामिद अंसारी, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और विदेश मंत्री सुषमा स्वराज से अलग-अलग मुलाकात करेंगे। इस दौरान एर्दोगान और पीएम मोदी के बीच द्विपक्षीय वार्ता के अतिरिक्त भारत और तुर्की के बीच प्रतिनिधिमंडल स्तर की वार्ता भी होगी। एर्दोगान के साथ भारत दौरे पर उनकी पत्नी और उनके कैबिनेट के वरिष्ठ मंत्रियों के अलावा 150 सदस्यीय व्यापारिक प्रतिनिधिमंडल भी आया है। Sponsored Links Sponsored Links · Promoted Links Promoted Links. You May Like.और अधिक »

जब तुर्की के ताक़तवर एर्दोआन से मिलेंगे मोदी - BBC हिंदी'

तुर्की के राष्ट्रपति रेचेप तैयप एर्दोआन 30 अप्रैल को भारत दौरे पर आ रहे हैं. वे अपने देश में बेहद मज़बूत नेता हैं और ये संयोग है कि उनकी मेहमानवाज़ी करने वाले नरेंद्र मोदी भी भारत में बेहद मज़बूत नेता हैं. इसी 16 अप्रैल को तुर्की में हुए जनमत संग्रह में एर्दोआन की अगुवाई में देश में राष्ट्रपति शासन प्रणाली लागू किए जाने को स्पष्ट बहुमत मिला है. इस फ़ैसले के बाद एर्दोआन उस स्थिति में पहुंच गए हैं, जहां से वे कोई भी फ़ैसला ले सकते हैं. तुर्की में राष्ट्रपति एर्दोआन की पार्टी को जीत · आतंक के ख़िलाफ़ जंग जारी रहेगी: एर्दोआन. इस हिसाब से देखें तो एर्दोआन का क़द तुर्की में वहां ...और अधिक »

भारत की एनएसजी सदस्यता पर तुर्की राष्ट्रपति सहमत - Nai Dunia

नई दिल्ली। सत्ता पर दोबारा अपनी पकड़ मजबूत करने के बाद तुर्की के राष्ट्रपति रेसेप तैयप एर्दोगन रविवार को अपनी पहली विदेश यात्रा पर नई दिल्ली पहुंच गए। उन्होंने एनएसजी (न्यूक्लियर सप्लायर्स ग्रुप)) में भारत की सदस्यता का समर्थन किया है, साथ ही पाकिस्तान के दावे पर भी सहमति जताई है। बोले कि भारत को आपत्ति नहीं होनी चाहिए। उनका यह दौरा बेहद महत्वपूर्ण माना जा रहा है, क्योंकि बीती 15 जुलाई को सेना ने उनके खिलाफ विद्रोह कर दिया था। उन्हें देश से बाहर भागना पड़ा, लेकिन बाद में वे फिर सत्ता के शीर्ष पायदान पर पहुंचे, लेकिन चिंता का विषय यह है कि एर्दोगन इस कुर्दिश विद्रोह के ...और अधिक »

तुर्की प्रेसिडेंट ने नवाज शरीफ को बताया 'अच्छा आदमी' - News18 इंडिया

रेसेप तय्यिप एर्दोगान ने प्रस्तावित भारत यात्रा से पहले एक अंग्रेजी अखबार को दिए खास इंटरव्यू में कहा कि भारत और पाकिस्तान के लिए बातचीत से बेहतर कोई और विकल्प नहीं है. News18Hindi. Updated: April 30, 2017, 3:12 PM IST. तुर्की के राष्ट्रपति ने भारत और पाकिस्तान को जम्मू-कश्मीर का मुद्दा बातचीत से सुलझाने की सलाह दी है. राष्ट्रपति रेसेप तय्यिप एर्दोगान ने प्रस्तावित भारत यात्रा से पहले एक अंग्रेजी अखबार को दिए खास इंटरव्यू में कहा कि भारत और पाकिस्तान के लिए बातचीत से बेहतर कोई और विकल्प नहीं है. उन्होंने इशारों में मध्यस्थता की पेशकश भी की. माना जाता है कि तुर्की ...और अधिक »

150 कारोबारियों के साथ तुर्की के राष्ट्रपति एर्दोगन दिल्ली पहुंचे - दैनिक भास्कर

नई दिल्ली | तुर्कीके राष्ट्रपति तैयिप एर्दोगन रविवार देर शाम नई दिल्ली पहुंचे। उनके साथ उनकी प|ी और 150 कारोबारियों को प्रतिनिधिमंडल भी आया है। दिल्ली हवाई अड्डे पर केंद्रीय युवा एवं खेल मामलों के मंत्री विजय गोयल ने उनका स्वागत किया। विदेश मंत्री सुषमा स्वराज उनसे सोमवार को मिलेंगी। उसके बाद एर्दोगन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी से मिलेंगे। Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे! हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. Web Title: 150 कारोबारियों के साथ तुर्की के राष्ट्रपति एर्दोगन दिल्ली ...और अधिक »

वजह बताए बिना तुर्की सरकार ने लगाया विकिपीडिया पर बैन - News18 इंडिया

तुर्की में सरकार ने शनिवार को विकिपीडिया पर बैन लगा दिया. इसे प्रशासनिक कदम बताया गया है. तुर्की की 'इन्फॉर्मेशन एंड कम्युनिकेशन टेक्नोलॉजी अथॉरिटी' ने इसकी पुष्टि की है. हालांकि, इसकी वजह का खुलासा नहीं किया गया है. तुर्की के 'इन्फॉर्मेशन एंड कम्युनिकेशन टेक्नोलॉजी अथॉरिटी' ने कहा, 'तकनीकी विश्लेषण और कानूनी मसले पर विचार-विमर्श के बाद इस वेबसाइट को लेकर प्रशासनिक कदम उठाए गए.' तुर्की सरकार के आदेश के बाद सुबह 10.30 बजे (लोकल टाइम) से वेबसाइट खुलनी बंद हो गई. हालांकि इस्तांबुल में कुछ लोगों ने वर्चुअल प्राइवेट नेटवर्क (वीपीएन) के जरिए विकिपीडिया खोला. तुर्की ...और अधिक »