एलफिन्सटन हादसा: पीयूष गोयल ने झाड़ा पल्ला, कहा- समस्याएं विरासत में मिलीं, बढ़ेगी एफओबी की संख्या - News State

मुंबई में एलफिन्सटन ब्रिज हादसे के बाद रेल मंत्रालय ने कई कदम उठाए हैं। हादसे के बाद सुरक्षा को लेकर मुंबई में हुई रेलवे सुरक्षा की बैठक के बाद रेलमंत्री पीयूष गोयल ने मुंबई के सबर्ब स्टेशनों में सुधार लाने के लिए महत्वपूर्ण कदम उठाने की घोषणा की है। हालांकि उन्होंने रेलवे की हालात के लिये कांग्रेस सरकारों को जिम्मेदार ठहराया। एलफिन्सटन-परेल एफओबी 45 साल पुराने हो चुका था और उसको चौड़ा करने की मांग भी कई सालों से हो रही थी। लेकिन इस 29 सितंबर को एलफिन्सटन-परेल ब्रिज पर हुई भगदड़ में 23 लोगों की जानें चली गई थी। पीय़ुष गोयल ने कहा, 'कोई बहाना नहीं बना रहा, लेकिन ...

हादसे के बाद जागा रेलवे, आपातकालीन बैठक में लिए महत्वपूर्ण निर्णय - नवभारत टाइम्स

शुक्रवार को हुए परेल ब्रिज हादसे में मृतकों की संख्या शनिवार को बढ़कर 23 हो गई। हादसे के दिन मुंबई में मौजूद रेलमंत्री पीयूष गोयल ने तुरंत आदेश जारी कर मुंबई स्थित पश्चिम रेलवे के मुख्यालय में रेलवे बोर्ड और मुंबई के दोनों ज़ोन के अधिकारियों की मीटिंग आपातकालीन बैठक बुलाई थी। शनिवार को की गई इस बैठक में मुंबई के उपनगरीय स्टेशनों में सुधार लाने के लिए महत्वपूर्ण निर्णय लिए गए। ग़ौरतलब है कि 45 साल पुराने एलिफ़िंस्टन-परेल एफ़ओबी को चौड़ा करने की मांग कई सालों से हो रही थी। शुक्रवार को इसी ब्रिज पर हुई भगदड़ के कारण 23 लोगों की जान चली गई। महाप्रबंधक को और अधिकार

मुंबई भगदड़: हादसे के बाद अतिरिक्त फुटओवर ब्रिज के लिए टेंडर जारी - Pradesh Today

नई दिल्लीः रेलवे ने मुंबई के एलफिंस्टन स्टेशन पर एक अतिरिक्त फुटओवर ब्रिज (एफओबी) के लिए शुक्रवार को टेंडर जारी किया। स्टेशन पर एक पुराने ब्रिज पर भगदड़ के कारण 22 लोगों की मौत हो गई और 35 लोग घायल हुए हैं। बता दें, 40 फुट चौड़े एफओबी की घोषणा 2016 के रेल बजट में की गई थी। यह मुंबई उपनगरीय खंड के लिए स्वचालित सीढ़ियां, एफओबी और स्वचालित टिकट मशीनों (एटीवीएम) के लिए आवंटित 45 करोड़ रुपए का हिस्सा है। अधिकारियों ने बताया कि एफओबी पर 9.5 करोड़ रुपये का खर्च आने का अनुमान है। इसके अगले साल के शुरू में यात्रियों के लिए चालू कर देने की उम्मीद है। पश्चिम रेलवे सूत्रों के अनुसार ...

पुरानी दिल्ली स्टेशन पर भी 'मौत' के दो FOB - नवभारत टाइम्स

पुरानी दिल्ली रेलवे स्टेशन राजधानी का दूसरा सबसे व्यस्त स्टेशन है। लेकिन आपको जानकर हैरानी होगी कि इस स्टेशन में 16 प्लैटफॉर्म को एक-दूसरे से कनेक्ट करने के लिए सिर्फ दो एफओबी हैं। इनसे रोजाना 2.5 लाख लोग गुजरते हैं। लेकिन ये इतनी छोटी हैं कि कभी भगदड़ मची तो मुंबई हादसे से भी बड़ा और भयानक रूप सामने आएगा। मुंबई हादसे के बाद शुक्रवार को एनबीटी टीम ने स्टेशन को विजिट किया। बताया जाता है कि फेस्टिव सीजन में इस स्टेशन में रोजाना करीब पांच लाख यात्री पहुंचते हैं। स्टेशन के दोनों एफओबी जर्जर हो चुके हैं। एक एफओबी की हालत तो यह है कि उसे कश्मीरी गेट की ओर से थोड़ा ...

भीड़ प्रबंधन व एफओबी की हालत पर सक्रिय हुआ रेलवे - दैनिक जागरण

मुंबई उपनगरीय रेलवे तंत्र में सुरक्षा की खामियों को कैग भी उजागर कर चुका है। संजय सिंह, नई दिल्ली। मुंबई हादसे के बाद रेलवे ने देश भर के सभी स्टेशनों पर फुट ओवरब्रिजों की पड़ताल कर खामियां दूर का निर्णय लिया है। नए एफओबी भी बनाए जाएंगे। मुंबई में हादसे वाले एफओबी के साथ इसी साल नए एफओबी का निर्माण शुरू हो जाने की उम्मीद है। पिछले साल मंजूरी के बाद इस साल इसका टेंडर भी जारी हो गया है। जांच के बाद सुरक्षा तंत्र की खामियां भी दूर की जाएंगी। इस बात के संकेत रेलवे बोर्ड ने दिए हैं। मुंबई हादसे के बाद बोर्ड में उपनगरीय सेवाओं को लेकर मंथन शुरू हो गया है। हादसे ने स्टेशनों ...

बंबई हादसे के बाद नींद से जागा रेल प्रशासन, अतिरिक्त फुट ओवर ब्रिज के लिए निविदा जारी - NDTV Khabar

शुक्रवार की सुबह मुंबई में एक पुराने पुल पर भगदड़ के कारण 22 लोगों की मौत हो गयी. 40 फुट चौड़े एफओबी की घोषणा 2016 के रेल बजट में की गयी थी. ख़बर न्यूज़ डेस्क, Updated: 30 सितम्बर, 2017 12:14 AM. Share. ईमेल करें. टिप्पणियां. बंबई हादसे के बाद नींद से जागा रेल प्रशासन, अतिरिक्त फुट ओवर ब्रिज के लिए. एल्फिंस्टन स्टेशन पर हुए हादसे में 22 लोगों की मौत हो गई. नई दिल्ली: आग लगने पर कूआं खोदने वाली कहावत भारतीय सिस्टम पर खूब फिट बैठती है. अब शुक्रवार को मुंबई में हुए हादसे की बात करें तो जब 22 लोगों की जान चली गई तब रेल प्रशासन ने एल्फिंस्टन स्टेशन पर एक अतिरिक्त फुट ओवर ब्रिज (एफओबी) के ...

ट्रेनों-यात्रियों की संख्या के आगे रेलवे का बुनियादी ढांचा कमजोर पड़ा - Hindustan हिंदी

ट्रेनों और यात्रियों की बढ़ती संख्या के आगे रेलवे का बुनियादी ढांचा कमजोर पड़ जाता है। स्टेशनों पर बने फुटओवर ब्रिज (एफओबी) चलने के लिए संकरे पड़ गए हैं। ट्रेनों की रफ्तार बढ़ाने में 35 हजार से अधिक पुराने पुल सबसे बड़ी बाधा बनकर खड़े हैं। चौड़ीकरण का काम नहीं हो सका. रेलवे के सूत्रों ने बताया कि पुराने व बड़े रेलवे स्टेशनों पर तीन से पांच दशक पूर्व एफओबी बनाए गए थे। पिछले दो दशक में ट्रेनों व यात्रियों की संख्या में पांच गुना से अधिक बढ़ोतरी हो चुकी है। इस अनुपात में स्टेशनों पर एफओबी के चौड़ीकरण व नए एफओबी बनाने का काम नहीं हो सका। इसके चलते प्रमुख रेलवे स्टेशनों पर ...

मुंबई हादसा : बजट नहीं रेलवे की लेटलतीफी जिम्मेदार - नवभारत टाइम्स

22 लोगों की जान लेने वाले मुंबई के एलफिंस्टन रेलवे स्टेशन के फुट ओवर ब्रिज (एफओबी) हादसे के लिए फंड की कमी नहीं बल्कि रेलवे की लेटलतीफी जिम्मेदार है। मुंबई के छह अन्य फुट ओवर ब्रिज समेत इस एफओबी के लिए भी इस साल के रेल बजट में मंजूरी दे दी गई थी लेकिन अब तक इसके टेंडर ही नहीं हुए और न ही इसका निर्माण कार्य शुरू हुआ। रेलवे बोर्ड के चेयरमैन अश्विनी लोहानी ने यह जरूर माना है कि रेलवे में सिस्टम रिफॉर्म की जरूरत है और उसे अब किया जा रहा है। लोहानी ने बताया कि हाल ही में इस एफओबी के लिए रेलवे ने टेंडर नोटिस जारी किया है। इस ब्रिज के निर्माण पर लगभग 12.8 करोड़ रुपये खर्च होंगे।