बीएस-3 और बीएस-4 क्‍या है? जानिए आपकी जेब और सेहत पर क्‍या डालेगा असर... - News18 इंडिया

सुप्रीम कोर्ट ने कड़ा रुख अख्तियार करते हुए बीएस 4 मानकों का पालन नहीं करने वाली गाड़ियों की बिक्री पर रोक लगा दी है. तो आइए जानते हैं कोर्ट का ये फैसला क्यों जरूरी था और इसका आप पर क्या प्रभाव पड़ेगा. News18Hindi. Updated: March 31, 2017, 1:13 PM IST. सुप्रीम कोर्ट ने कड़ा रुख अख्तियार करते हुए बीएस 4 मानकों का पालन नहीं करने वाली गाड़ियों की बिक्री पर रोक लगा दी है. तेजी से बढ़ते प्रदूषण और लोगों के स्‍वास्‍थ्‍य पर होने वाले बुरे असर को देखते हुए कोर्ट ने ये फैसला लिया है. बीएस 4 मानक 1 अप्रैल 2017 से सभी ऑटो निर्माता कंपनियों पर लागू होंगे. पर कोर्ट का ये फैसला क्यों जरूरी है ...और अधिक »

टू-व्हीलर पर ₹22000 तक डिस्काउंट - मनी कॉंट्रोल (प्रेस विज्ञप्ति)

बीएस-3 गाड़ियों की बिक्री पर रोक के सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद ऑटो कंपनियां पुराना स्टॉक निकालने में जुट गई हैं। इसके लिए वो घरेलू बाजार में भारी डिस्काउंट और एक्सपोर्ट जैसे रास्ते तलाश रही हैं। हालांकि साढ़े आठ लाख गाड़ियों के स्टॉक से छुटकारा पाना उनके लिए आसान नहीं होगा। इन दिनों तमाम ऑटो कंपनियां अपने ग्राहकों को भारी भरकम डिस्काउंट के ऑफर दे रही हैं। फिर चाहे वो कार कंपनियां हों या टू-व्हीलर कंपनियां। लेकिन ये ऑफर सिर्फ 31 मार्च तक हैं यानी जब तक बीएस-3 मानक की गाड़ियां बेचने की इजाजत है। सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद 1 अप्रैल से बीएस-3 गाड़ियां नहीं ...और अधिक »

ऑटो कंपनियों को करना होगा 50 हजार करोड़ रुपये का भारी भरकम निवेश - दैनिक जागरण

नई दिल्ली (जागरण ब्यूरो)। उत्सर्जन मानक पर सुप्रीम कोर्ट के तल्ख तेवर देख कार कंपनियों और सरकारी तेल कंपनियों के होश उड़ गये हैं। इन दोनों उद्योगों से जुड़ी कंपनियों के सामने यह साफ हो गया है कि उन्हें अब हर कीमत पर एक अप्रैल, 2019 से देश भर में बीएस-6 मानकों के हिसाब से ही वाहन व ईंधन देने होंगे। देश में नए मानक वाले पेट्रोलियम उत्पादों की बिक्री की पेट्रोलियम व प्राकृतिक गैस मंत्रलय में समीक्षा की गई है। मारुति, हुंडई समेत अन्य दिग्गज ऑटो कंपनियों ने भी नए मानकों को लागू करने की समीक्षा की है। एक अनुमान के मुताबिक बीएस-6 मानक के लिए तेल कंपनियों और ऑटो कंपनियों को ...और अधिक »

सुप्रीम कोर्ट के आदेश का असर: धनबाद में बाइक-स्कूटी खरीदने उमड़े लोग - प्रभात खबर

धनबाद: सुप्रीम कोर्ट ने एक अप्रैल से बीएस-3 गाड़ियों की बिक्री पर रोक लगा दी है. 31 मार्च तक ही बीएस-3 गाड़ियों की बिक्री व रजिस्ट्रेशन होगा. एक अप्रैल से बीएस-3 गाड़ियों की बिक्री नहीं होगी. लिहाजा गुरुवार को ऑटो बाजार गुलजार रहा. देर शाम तक शो रूम में भारी भीड़ थी. गुरुवार को हीरो व होंडा कंपनी के 950 टू व्हीलर की बिक्री हुई. ऑटो शो रूम में आज धनतेरस जैसा नजारा दिखा. गुरुवार को हीरो की 650 गाड़ी व होंडा की 300 गाड़ियों की बिक्री हुई. लगभग चार करोड़ का कारोबार हुआ. लंबी लाइन और स्टॉक लिमिट : : बीएस-3 नॉर्म्स के टू व्हीलर की शुक्रवार तक बिक्री होगी. हालांकि स्टॉक ...और अधिक »

लूट लो ! सस्ते बिक रहे हैं टू-व्हीलर, छूट बस आज तक - EenaduIndia Hindi

नई दिल्ली। अगर आप भी दोपहिया वाहन खरीदने की योजना बना रहे हैं और अभी तक नहीं खरीद पाए हैं तो 31 मार्च यानी आज तक आपके लिए एक खास ऑफर है। दोपहिया वाहन बनाने वाली दिग्गज कंपनियां बीएस 3 मॉडल की गाड़ियों पर 5000 से 22000 रुपये तक की कटौती कर दी है। देश भर में बीएस 3 इंजन वाली गाड़ियों की बिक्री पर रोक से जहां ऑटो कंपनियों की हालत खराब हो गई है वहीं ग्राहकों की चांदी हो गई है। केवल बीएस-4 मॉडल के वाहन ही बनाए और बेचे जाएंगे सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद अब देश में केवल बीएस-4 मॉडल के वाहन ही बनाए और बेचे जाएंगे। कोर्ट के इस आदेश से पूरे ऑटोमोबाइल सेक्टर को तगड़ा झटका लगा है ...और अधिक »

वाहन निर्माताओं को तगड़ा झटका, बीएस-3 वाहनों की बिक्री व पंजीकरण बंद - Business Standard Hindi

वाहन उद्योग को दूसरी बार उच्चतम न्यायालय के आदेश से झटका लगा है। पहला झटका दिसंबर 2015 में लगा था जब अदालत ने 2000 सीसी या इससे ज्यादा क्षमता वाले डीजल यात्री वाहनों की बिक्री व पंजीकरण पर पूरी तरह पाबंदी लगा दी थी। आठ महीने लंबी पाबंदी ने राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र में लक्जरी वाहनों की मांग पर भारी असर डाला था। इसने लक्जरी कार निर्माता मर्सिडीज, जेएलआर ऑडी और बीएमडब्ल्यू पर गंभीर असर डाला था। अन्य कंपनी मसलन टोयोटा व एमऐंडएम भी प्रभावित हुई थी। राहत पाने में इसे आठ महीने लगे और जब कंपनियां कीमत पर एक फीसदी उपकर देने पर सहमत हुई तब ऐसा हो पाया। वाहन कंपनियों की ...और अधिक »

BS-3 गाड़ियों की खरीद के लिए बंपर ऑफर - आज तक

कल सुप्रीम कोर्ट ने देश भर में भारत स्टेज तीन की गाड़ियों की बिक्री पर प्रतिबंध लगा दिया था. इस प्रतिबंध की वजह से कोई भी गाड़ी निर्माता फिर चाहे वो मोटरसाइकिल हो या कार वो भारत स्टेज 3 मानदंड वाली नहीं बेच सकेगा. भारत में अब सिर्फ भारत स्टेज चार की ही गाड़ियां बेची जा सकेंगीं. अब इस फैसले के बाद देशभर में भारत स्टेज तीन की गाड़ियों की बिक्री को लेकर होड़ मच गयी है. कंपनियां गाड़ियों पर कई हजार तक के डिस्काउंट दे रही हैं. हालत ये हो गयी है कि गाड़ियों को खरीदने के लिए मारामारी शुरु हो गयी है. दिल्ली से मुंबई तक कई शहरों में ये हाल देखा गया है. Comment; Embed; Light Off.और अधिक »

क्योंं लगी बीएस-3 इंजन वाले वाहनों पर रोक? जानें बीएस-4 के फीचर - India.com हिंदी

गाड़ियों से होने वाले प्रदूषण को मापने के लिए भारत में बीएस तो अमेरिका में टियर और यूरोप में यूरो मानक होता है। By Rajneesh Singh | Updated: March 31, 2017 11:39 AM IST Email. 0 Shares. Facebook share · Twitter share · Share on Google+ · Share on Whatsapp. Comments. फोटो क्रेडिट: gettyimage. सुप्रीम कोर्ट के एक फैसले के अनुसार 1 अप्रैल 2017 से बीएस-3 (BS-3) इंजन वाली गाड़ियों की बिक्री पर रोक लगा दी गई है। 1 अप्रैल से देश में केवल बीएस-4 (BS-4) इंजन गाड़ियां ही बनाई और बेची जाएंगी। सुप्रीम कोर्ट के इस ऑर्डर से ऑटोमोबाइल सेक्टर को बड़ा झटका लगा है, इस फैसले से ऑटो कंपनियों की लगभग 8.2 लाख गाड़ियां बेकार हो ...और अधिक »

BS III वाहनों पर सुप्रीम कोर्ट की रोक के बाद अब कंपनियों के सामने कौन से विकल्प? - नवभारत टाइम्स

सुप्रीम कोर्ट ने 1 अप्रैल, 2017 से BS III वाहनों की मैन्युफैक्चरिंग, सेल या रजिस्ट्रेशन पर बुधवार को रोक लगा दी। 1 अप्रैल से देश में केवल BS IV वीइकल्स बनाए और बेचे जाएंगे। कोर्ट के इस ऑर्डर से ऑटोमोबिल सेक्टर को बड़ा झटका लगा है, जिसके पास 8 लाख से अधिक BS III वाहनों का पुराना स्टॉक मौजूद है। अब बड़ा सवाल यह है कि कंपनियों के पास इस स्टॉक को निकालने का क्या चारा बचा है? कारोबार से ज्यादा महत्वपूर्ण स्वास्थ्य: सुप्रीम कोर्ट ऑटोमोबिल कंपनियों ने कोर्ट से BS III वाहनों की उनकी सभी इन्वेंटरी को निकालने की अनुमति देने का निवेदन किया था, लेकिन कोर्ट ने 1 अप्रैल, 2017 की ...और अधिक »

बीएस 3 की लॉटरी: बाइक पर मिल रहा है बंपर डिस्काउंट - Firstpost Hindi

देश भर में बीएस 3 इंजन वाली गाड़ियों की बिक्री पर रोक से जहां ऑटो कंपनियों की हालत खराब हो गई है वहीं ग्राहकों की चांदी हो गई है. अदालत ने बीएस 3 इंजन वाली गाड़ियों की बिक्री के लिए सिर्फ दो दिनों की मोहलत दी है. यानी 1 अप्रैल 2017 से ऑटो कंपनियां बीएस 3 इंजन वाली गाड़ियां नहीं बेच सकेंगी. ऑटो इंडस्ट्री में फिलहाल 8 लाख गाड़ियां हैं जिनमें से 6.71 लाख दोपहिया गाड़ियां हैं. मौका-मौका. 1 अप्रैल में वक्त बहुत कम होने के कारण टू-व्हीलर कंपनियां आनन-फानन में बंपर डिस्काउंट देकर अपनी गाड़ियां निकाल रही हैं. हीरो मोटोकॉर्प और होंडा मोटरसाइकिल एंड स्कूटर इंडिया अपनी ...और अधिक »