कुमार विश्वास B'day: कविता के मंच से राजनीति के मंच तक का सफर - Live हिन्दुस्तान

कवि और आम आदमी पार्टी नेता डॉ. कुमार विश्वास का आज जन्मदिन है। 10, फरवरी 1970 को यूपी के पिलखुवा में जन्में कुमार विश्वास ने हिंदी साहित्य में पीएचडी की हुई है। उनके पिता लेक्चरर थे और बाद कुमार विश्वास ने भी राजस्थान के एक कॉलेज से बतौर लेक्चरर अपनी प्रोफेशनल जिंदगी की शुरूआत की। कविता जगत में कुमार विश्वास की कई कविताएं, शायरी मशहूर हुई हैं। कई वर्षों पहले लिखी गई 'कोई दीवाना कहता है, कोई पागल समझता है' कविता की वजह से वे काफी मशहूर हुए। ये पंक्तियां लगभग हर कवि प्रेमी को याद हैं। यहां हम कुमार के जन्मदिन पर उनसे जुडी कुछ जानकारियां देने जा रहे हैं। पढ़ें: 16 साल ...

Birthday Special: डॉ कुमार विश्वास: जिसने युवाओं को 'कविता' से मोहब्बत सिखा दी - Oneindia Hindi

नई दिल्ली। आज नई पीढ़ी के लोकप्रिय हिंदी कवि डॉ. कुमार विश्वास का जन्मदिन है, युवाओं के बीच गायब हो चुके कविताओं के शौक को वापस जिंदा करने वाले आज के सबसे चर्चित कवियों और प्रस्तोता में से एक डॉ कुमार विश्वास ने कविता को एक नए सांचे में ढाला है, जिसने केवल प्रेम की खुशबू समाज में फैलाई है। Expand. Birthday Special: डॉ कुमार विश्वास: जिसने युवाओं को 'कविता' से मोहब्बत सिखा · लोकप्रिय हिंदी कवि डॉ. कुमार विश्वास. डॉ कुमार विश्वास: जिसने युवाओं को 'कविता' से मोहब्बत सिखा दी. Popular Videos · राशि के अनुसार जानें कौन-सा रत्‍न लाएगा आपके जीवन में सुख-समृद्धि 08:34 · राशि के ...

B'day special : कुमार विश्वास का कविता के मंच से राजनीति के मंच तक का सफर.... - News Track

देखा जाए तो फरवरी का महीना है और प्यार का हफ्ता चल रहा है। इस बार वेलेंटाइन वीक में प्यार से ज्यादा तकरार दिखाई दे रही है। कई कपल्स तालाक ले रहें हैं, और कई ब्रेकअप का गम झेल रहे हैं। अब इसी बीच आया कुमार विश्वास का जन्मदिन... जी हाँ, आज कुमार विश्वास का हैप्पी वाला बर्थडे है। अब उनकी कविता 'कोई दीवाना कहता है, कोई पागल समझता है' तो लगभग हर किसी ने सुनी ही होगी, पर उन्होंने कई ऐसी भी कविताएं लिखी हैं, जो दिल के दर्द को कहीं बेहतर ढ़ग से बयां करती हैं। वैसे भी इश्क में हारा हुआ आशिक किसी घायल शेर से कम नहीं होता। आम आदमी के चहेते हमारे कवि और आम आदमी पार्टी नेता डॉ. कुमार ...

कुमार विश्वास B'day: कविता के मंच से राजनीति के मंच तक का सफर - Live हिन्दुस्तान

कवि और आम आदमी पार्टी नेता डॉ. कुमार विश्वास का आज जन्मदिन है। 10, फरवरी 1970 को यूपी के पिलखुवा में जन्में कुमार विश्वास ने हिंदी साहित्य में पीएचडी की हुई है। उनके पिता लेक्चरर थे और बाद कुमार विश्वास ने भी राजस्थान के एक कॉलेज से बतौर लेक्चरर अपनी प्रोफेशनल जिंदगी की शुरूआत की। कविता जगत में कुमार विश्वास की कई कविताएं, शायरी मशहूर हुई हैं। कई वर्षों पहले लिखी गई 'कोई दीवाना कहता है, कोई पागल समझता है' कविता की वजह से वे काफी मशहूर हुए। ये पंक्तियां लगभग हर कवि प्रेमी को याद हैं। यहां हम कुमार के जन्मदिन पर उनसे जुडी कुछ जानकारियां देने जा रहे हैं। पढ़ें: 16 साल ...

कोई दीवाना कहता है, कोई पागल समझता है! जानिए हिन्दी मंच के एकमात्र कवि कुमार विश्वास के जीवन के कुछ पहलु - Sanjeevni Today

नई दिल्ली। डॉ॰ कुमार विश्वास हिन्दी के एक अग्रणी कवि तथा सामाजिक-राजनैतिक कार्यकर्ता हैं। कविता के क्षेत्र में शृंगार रस के गीत इनकी विशेषता है। प्रारम्भिक जीवन और शिक्षा कुमार विश्वास का जन्म 10 फ़रवरी (वसंत पंचमी), 1970 को पिलखुआ, (ग़ाज़ियाबाद, उत्तर प्रदेश) में हुआ था। चार भाईयों और एक बहन में सबसे छोटे कुमार विश्वास ने अपनी प्रारम्भिक शिक्षा लाला गंगा सहाय विद्यालय, पिलखुआ से प्राप्त की। उनके पिता डॉ॰ चन्द्रपाल शर्मा, आर एस एस डिग्री कॉलेज (चौधरी चरण सिंह विश्वविद्यालय, मेरठ से सम्बद्ध), पिलखुआ में प्रवक्ता रहे। उनकी माता श्रीमती रमा शर्मा गृहिणी हैं।

Birthday Special : कोई दीवाना कहता है, कोई पागल समझता है…… कौन हैं डॉ. कुमार विश्वास ? - Azab Gazab

एक ऐसा कवि जिसने कविता की परिभाषा ही बदल दी. जिसने हिंदी को वो मुकाम दिलाया जिसकी वो हकदार है. एक ऐसा कवि जो युवा दिलों की धड़कन हैं. जिसने युवाओं को कविता से जोड़ा. जिसकी कविताएं सुनने लाखों युवा आते हैं. जिसने लोगों को रोमांटिक अंदाज़ में कविता पढ़ना सिखाया. अब तो आप समझ ही गए होंगे कि हम किसकी बात कर रहे हैं. हम बात कर रहे हैं हिंदी के मशहूर कवि कुमार विश्वास की. कुमार विश्वास के पिता दरअसल उन्हें इंजीनियर बनाना चाहते थे. कुमार विश्वास का जन्म 10 फरवरी साल 1970 में हुआ था. वो हिंदी भाषा के प्रसिद्ध कवि हैं इनकी विशेषता इनके श्रृंगार रस के गीत और कविताएं ...