This RSS feed URL is deprecated

सरकार ने कहा, नेताजी सुभाष चंद्र बोस की मृत्यु 1945 में हुई, नेताजी के परपोते हुए नाराज़ - एनडीटीवी खबर

कांग्रेस ने राजग सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि वह फिर से इतिहास लिखने की कोशिश कर रही है. ख़बर न्यूज़ डेस्क, Updated: 31 मई, 2017 11:12 PM. 598 Shares. ईमेल करें. टिप्पणियां. सरकार ने कहा, नेताजी सुभाष चंद्र बोस की मृत्यु 1945 में हुई, नेताजी के. नेताजी सुभाष चंद्र बोस का फाइल फोटो... खास बातें. कांग्रेस ने राजग सरकार पर निशाना साधा. नेताजी के परपोते चंद्र बोस ने सरकार के बयान को खारिज किया. केंद्र सरकार को ऐसे भ्रामक बयानों पर माफी मांगनी चाहिए- चंद्र बोस. नई दिल्ली/कोलकाता: नेताजी की मौत से जुड़े विवाद के बीच सरकार ने बुधवार को कहा कि नेताजी सुभाष चंद्र बोस का 1945 में एक विमान दुर्घटना में निधन हो गया था. वहीं, नेताजी के परपोते और भाजपा नेता ...और अधिक »

सरकार ने खोला रहस्य, विमान हादसे में गई थी नेताजी सुभाष चंद्र बोस की जान - नवभारत टाइम्स

नेताजी सुभाष चंद्र बोस की मौत कैसे और कब हुई, यह सवाल पिछले 70 सालों से रहस्य बना हुआ था लेकिन सरकार ने एक आरटीआई के जवाब में इस राज पर से पर्दा उठाया है। आरटीआई के जवाब के अनुसार 18 अगस्त 1945 को नेताजी की मौत ताइवान में हुए प्लेन क्रैश में हुई थी। सयक सेन नाम के एक आदमी ने आरटीआई के तहत यह सवाल पूछा था। जवाब में गृह मंत्रालय ने कहा है कि शहनवाज कमिटी की रिपोर्ट, जस्टिस जी.डी. खोसला कमिशन, और जस्टिस मुखर्जी कमिशन की जांच से सरकार इस निष्कर्ष पर पहुंची है कि नेताजी की मौत एक विमान दुर्घटना में 1945 में हुई थी। सायक सेन ने आरटीआई में सरकार से गुमनामीबाबा या भगवानजी, जिन्हें 1985 तक उत्तर प्रदेश में देखा गया था, के बारे में भी सवाल पूछा था। कुछ लोगों का ...और अधिक »

अगर ये जानकारी पुख्ता है तो अब इस दुनिया में नहीं हैं नेताजी - दैनिक जागरण

अगर ये जानकारी पुख्ता है तो अब इस दुनिया में नहीं हैं नेताजी नेताजी सुभाष चंद्र बोस के अंतिम दिनों को लेकर तमाम तरह की जानकारियां सामने आती रही हैं। लेकिन केंद्र सरकार की जानकारी के मुताबिक नेताजी अब इस दुनिया में नहीं हैं। नई दिल्ली [स्पेशल डेस्क] । 'तुम मुझे खून दो, मैं तुम्हे आजादी दूंगा' और दिल्ली चलो के स्लोगन को पढ़ने के बाद ये बताने की जरूरत नहीं है कि हम भारत की आजादी के किस नायक की बात कर रहे हैं। देश की आजादी की लड़ाई में लाखों लोगों ने अपनी जवानी खपा दी। देश की आजादी का मकसद ही उनके जीवन का सपना था। उन महान सपूतों में से एक थे सुभाष चंद्र बोस जिन्हें लोग प्यार से नेताजी के नाम से बुलाते थे। नेताजी अब इस दुनिया में हैं या नहीं हैं इसे ...और अधिक »

सरकार ने पहली बार माना; विमान हादसे में हुई थी नेताजी की मौत, चंद्र बोस बोले- माफी मांगे केंद्र - Zee News हिन्दी

केंद्र सरकार ने पहली बार कहा है कि नेताजी सुभाषचंद्र बोस की मृत्यु एक विमान दुर्घटना में 1945 में ताइवान में हुई थी. नेताजी के परिजन केंद्र सरकार के इस जवाब से नाखुश हैं. नेताजी के परपोते और बंगाल भाजपा के नेता चंद्र कुमार बोस ने कहा कि गृह मंत्रालय को इस मामले में माफी मांगनी चाहिए. ज़ी न्यूज़ डेस्क ज़ी न्यूज़ डेस्क | Updated: May 31, 2017, 01:38 PM IST. कमेंट देखें |. सरकार ने पहली बार माना; विमान हादसे में हुई थी नेताजी की मौत, चंद्र. स्वतंत्रता सेनानी नेताजी सुभाष चंद्र बोस (फाइल फोटो). नई दिल्ली : केंद्र सरकार ने पहली बार कहा है कि नेताजी सुभाषचंद्र बोस की मृत्यु एक विमान दुर्घटना में 1945 में ताइवान में हुई थी. नेताजी के परिजन केंद्र सरकार के इस जवाब से ...और अधिक »

1945 में एक विमान दुर्घटना में हुई थी सुभाष चंद्र बोस की मौत: सरकार - ABP News

नई दिल्ली: नेताजी की मौत से जुड़े विवाद के बीच सरकार ने कहा कि नेताजी सुभाष चंद्र बोस का 1945 में एक विमान दुर्घटना में निधन हो गया था. वहीं नेताजी के परपोते और बीजेपी (भारतीय जनता पार्टी) नेता चंद्र बोस ने नेताजी के निधन पर केंद्र सरकार के बयान को खारिज करते हुए उनके लापता होने के पीछे के सच का पता लगाने के लिए विशेष जांच दल गठित करने की मांग की है. उधर कांग्रेस ने एनडीए (नेशनल डेमोक्रेटिक अलायंस) सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि वह फिर से इतिहास लिखने की कोशिश कर रही है. कोलकाता के एक निवासी के सूचना के अधिकार के तहत मांगी गई जानकारी के जवाब में गृह मंत्रालय ने कहा कि नेताजी की मौत की जांच करने वाली अलग-अलग समितियों की रिपोर्ट पर विचार करने ...और अधिक »

केंद्र की मुहर: नेताजी सुभाष चंद्र बोस की मौत हवाई हादसे में ही हुई थी - Hindustan हिंदी

केंद्र सरकार ने एक आरटीआई का जवाब देते हुए कहा कि नेताजी सुभाष चंद्र बोस की मौत साल 1945 में ताइवान में हुए एक प्लेन हादसे में हुई थी। सायक सेन नामक व्यक्ति ने यह आरटीआई मार्च में फाइल की थी। केंद्रीय गृहमंत्रालय द्वारा मंगलवार को दिए गए आरटीआई के जवाब पर नेताजी सुभाष चंद्र बोस के परिवार ने नाराजगी जताई है। सुभाष चंद्र बोस के परपोते और बंगाल बीजेपी के उपाध्यक्ष चंद्र बोस ने कहा है कि आखिर कैसे सरकार बिना किसी ठोस सबूतों के मौत का दावा कर सकती है। ये भी पढ़ें: अयोध्या दौरा: सीएम योगी का ऐलान, अब बनारस की तर्ज पर सरयू घाट पर होगी आरती. उन्होंने कहा, 'मैं इस पूरे मामले को पीएम नरेंद्र मोदी के पास ले जाऊंगा। उन्होंने ही 70 साल बाद फाइल को सार्वजनिक ...और अधिक »

मोदी सरकार ने स्वीकार किया-विमान हादसे में हुई थी नेताजी की मृत्यु, परिवार नाराज - Worldnow

नई दिल्लीः नेताजी सुभाष चंद्र बोस की मौत को लेकर बना संशय अब खत्म होता दिखाई दे रहा है. केंद्र सरकार ने साफ कर दिया कि नेताजी की मौत एक विमान हादसे में 1945 में ताइवान में हुई थी. सरकार ने ये जानकारी एक आरटीआई के जवाब में दी है. हालांकि इस जवाब से नेताजी का परिवार खुश नहीं है. नेताजी के पोते चंद्र कुमार बोस ने कहा कि यह काफी गैर जिम्मेदाराना है, केंद्र सरकार इस तरह का जवाब कैसे दे सकती है, जबकि मामला अभी भी सुलझा नहीं है. यह आरटीआई सायक सेन नामक व्यक्ति ने दायर की थी, जिसके जवाब में गृह मंत्रालय ने अपना जवाब भेजा है. आरटीआई के जवाब में साफ तौर पर कहा गया है कि नेताजी की मौत 18 अगस्त 1945 को हुई थी. जवाब में कहा गया है कि भारत सरकार की और से ...और अधिक »

सरकार ने खत्म किया रहस्य, सुभाष चंद्र बोस की मौत प्लेन क्रैश में ही हुई, नेताजी के रिश्तेदार हुए नाराज़ - News State

नेताजी सुभाष चंद्र बोस की मौत को लेकर बीजेपी और केंद्र की मोदी सरकार ने पर्दा उठाने का दावा किया था। साथ ही उनकी मौत से जुड़े सभी तर्कों को खारिज भी किया था। लेकिन उनकी मौत की गुत्थी पर 70 सालों के पर्दे को हटाते हुए सरकार ने कहा है कि उनकी मौत ताइवान में हुए प्लेन क्रैश में हुई। सरकार ने एक आरटीआई के जवाब में कहा है कि 18 अगस्त 1945 को नेताजी की मौत ताइवान में हुए प्लेन क्रैश में हुई थी। सयक सेन नाम के एक व्यक्ति ने आरटीआई के तहत सरकार से नेताजी की मौत पर सवाल पूछा था। जिसके जवाब में गृह मंत्रालय ने कहा है कि शहनवाज कमिटी की रिपोर्ट, जस्टिस जी.डी. खोसला कमिशन, और जस्टिस मुखर्जी कमिशन की जांच से मिली जानकारी के बाद सरकार इस निष्कर्ष पर पहुंची है ...और अधिक »

सात दशक बाद सरकार ने खोला राज, विमान हादसे में हुई थी नेताजी की मौत - अमर उजाला

सात दशक बाद नेताजी सुभाष चंद्र बोस की मौत के राज से केंद्र सरकार ने जाने-अनजाने में परदा हटा ही दिया। नेताजी की मौत वर्ष 1945 में ताइवान में हुए विमान हादसे में ही हुई थी। सूचना के अधिकार के तहत दायर एक याचिका के जवाब में खुद केंद्रीय गृह मंत्रालय ने यह जानकारी दी है। इस खुलासे से नेताजी के परिजन बेहद नाराज हैं। उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से इस मामले में हस्तक्षेप कर तथ्यों को सामने लाने का अनुरोध किया है। साथ ही नेताजी की मौत से जुड़े रहस्य का पता लगाने के लिए विशेष जांच दल (एसआईटी) गठित करने की मांग की है। नेताजी के समर्थकों के अलावा तृणमूल कांग्रेस के नेताओं ने भी इस खुलासे पर हैरत जताई है। कोलकाता के एक संगठन ओपन प्लेटफार्म फॉर नेताजी के ...और अधिक »

कैसे हुई थी नेताजी की मौत, सरकार ने कहा-प्लेन क्रैश में - अमर उजाला

क्या नेताजी सुभाष चंद्र बोस का निधन प्लेन क्रैश में हुआ था? आरटीआई के माध्यम से पूछे गए इस सवाल का जवाब नरेंद्र मोदी सरकार ने हां में दिया है। गृह मंत्रालय ने बाबत जवाब दिया कि शाह नवाज कमेटी, जस्टिस जी डी खोसला कमिशन और जस्टिस मुखर्जी कमिशन आफ इंक्वायरी के रिपोर्टों के अनुसार केंद्र सरकार इस निष्कर्ष पर पहुंची है कि नेताजी की मौत 18 अगस्त 1945 को प्लेन क्रैश में हुई थी। ये आरटीआई सम्यक सेन ने अप्रैल में फाइल की थी जिसमें उन्होंने पूछा था क्या 1985 से उत्तर प्रदेश में रहने वाले गुमनामी बाबा या भगवानजी के बारे में सरकार के पास जानकारी उपलब्ध है? गौरतलब है कि स्थानीय लोगों का कहना है कि गुमनामी बाबा ही नेताजी हैं। इसके जवाब में गृह मंत्रालय ने कहा कि ...और अधिक »