This RSS feed URL is deprecated

रूस के प्रधानमंत्री दिमित्री मेदवेदेव बोले - रूस के खिलाफ अमेरिकी प्रतिबंध 'व्यापार युद्ध' - NDTV Khabar

मेदवेदेव ने कहा कि वह सोचते हैं कि 'ट्रंप एक अयोग्य खिलाड़ी हैं जिन्हें निश्चित ही हटा दिया जाना चाहिए.' IANS, Updated: 3 अगस्त, 2017 11:12 PM. Share. ईमेल करें. टिप्पणियां. रूस के प्रधानमंत्री दिमित्री मेदवेदेव बोले - रूस के खिलाफ अमेरिकी प्रतिबंध 'व्यापार युद्ध'. रूसी पीएम दमित्री मेदवेदेव. मास्को: रूस के प्रधानमंत्री दिमित्री मेदवेदेव ने कहा कि अमेरिका द्वारा लगाए गए नए प्रतिबंध रूस के खिलाफ 'पूरी तरह व्यापार युद्ध' घोषित करने के समान है. 'बीबीसी' की रिपोर्ट के अनुसार, मेदवेदेव ने बुधवार को अपने फेसबुक पेज पर लिखा कि इन प्रतिबंधों ने नए अमेरिकी प्रशासन के साथ हमारे संबंधों में सुधार की उम्मीदों को समाप्त कर दिया है. उन्होंने कहा, "प्रतिबंध व्यवस्था को कानून ...और अधिक »

डोनाल्ड ट्रंप ने रूस पर बैन लगाने से जुड़े बिल पर दस्तखत किए, चुनाव में दखल के आरोप - NDTV Khabar

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने रूस के खिलाफ प्रतिबंध वाले बिल पर बुधवार को हस्ताक्षर कर दिया. एजेंसियां, Updated: 2 अगस्त, 2017 11:35 PM. 123 Shares. ईमेल करें. टिप्पणियां. डोनाल्ड ट्रंप ने रूस पर बैन लगाने से जुड़े बिल पर दस्तखत किए, चुनाव में. अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप (फाइल फोटो). वाशिंगटन: अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने रूस के खिलाफ प्रतिबंध वाले बिल पर बुधवार को हस्ताक्षर कर दिया. व्हाइट हाउस के दो सूत्रों ने बताया कि राष्ट्रपति ने बंद कमरे में और कैमरों से दूर इस बिल पर हस्ताक्षर किए. इस तरह से उन्होंने अपने वीटो के खिलाफ कांग्रेस के किसी भी संभावित कदम को टालने का काम किया. पिछले साल के अमेरिकी चुनाव में कथित दखल और यूक्रेन के क्रीमिया ...और अधिक »

अमेरिकी विदेश मंत्री ने रूस से संबंध और खराब होने के दिए संकेत - NDTV Khabar

डोनाल्ड ट्रंप के रूसी राष्ट्रपति ब्लादिमीर पुतिन के लिए गर्मजोशी भरी बातों के बाद, मॉस्को और वाशिंगटन में लोगों को उम्मीद थी कि ट्रंप प्रशासन के नेतृत्व में दोनों देशों के बीच संबंध बेहतर होंगे. भाषा, Updated: 2 अगस्त, 2017 10:30 AM. 71 Shares. ईमेल करें. टिप्पणियां. अमेरिकी विदेश मंत्री ने रूस से संबंध और खराब होने के दिए संकेत. अमेरिकी विदेश मंत्री रिक्स टिलरसन. (फाइल फोटो). खास बातें. टिलरसन अपने रूसी समकक्ष सर्गेई लावरोव से करेंगे मुलाकात; लोगों को थी उम्मीद, गर्मजोशी भरी बातों से सुधरेंगे रिश्ते; मनीला में आसियान बैठक के दौरान लावरोव से मिलेंगे. वाशिंगटन: अमेरिकी विदेश मंत्री रेक्स टिलरसन इस सप्ताह के अंत में अपने रूसी समकक्ष सर्गेई लावरोव से मिलेंगे ...और अधिक »

पुतिन ने 755 अमरीकी राजनयिकों से रूस छोड़ने को कहा - BBC हिंदी

अमरीकी प्रतिबंधों की जवाबी कार्रवाई में रूस के राष्ट्रपति व्लादीमिर पुतिन ने 755 अमरिकी राजनयिकों को रूस छोड़ने को कहा है. साथ ही पुतिन ने यह भी कहा कि वो जल्द ही दोनों देशों के बीच संबंधों में सुधार को नहीं देख रहे हैं. हालांकि यह फ़ैसला शुक्रवार को ले लिया गया था लेकिन पुतिन ने संख्या की पुष्टि अब की है जिन्हें एक सितंबर तक रूस छोड़ने को कहा गया है. यानी अब एक सितंबर के बाद रूस में अमरीकी कर्मचारियों की संख्या वाशिंगटन के बराबर 455 हो जाएगी. वाशिंगटन में बीबीसी संवाददाता लॉरा बाइकेर ने कहा, 'यह आधुनिक इतिहास में किसी भी देश से राजनयिकों का सबसे बड़ा निष्कासन है.' पुतिन मोह कहीं ट्रंप को मुश्किलों में न डाल दे! रूस पर डोनल्ड ट्रंप के हाथ ...और अधिक »

रूस और अमेरिका के बीच टकराव से भारत को उठाना पड़ सकता है नुकसान - दैनिक जागरण

रूस और अमेरिका के बीच टकराव से भारत को उठाना पड़ सकता है नुकसान रूस और अमेरिका के बीच आए टकराव का असर भारत पर भी दिखाई दे सकता है। दोनों देशों के बीच यह टकराव भारत के लिए सही नहीं होगा। नई दिल्‍ली (स्‍पेशल डेस्‍क)। रूस और अमेरिका में बढ़ती तनातनी का असर कहीं न कहीं दुनिया के दूसरे देशों पर भी पड़ सकता है। जिस तरह से दाे महाशक्तियों के बीच तकरार बढ़ती जा रही है वह किसी भी सूरत में सही नहीं है। जानकार मानते हैं दोनों देशों के बीच आया टकराव भारत के लिए सही नहीं होगा। इन संबंधों के जल्‍द सुधरने की भी फिलहाल कोई उम्‍मीद दिखाई नहीं दे रही है। इसका जिक्र खुद रूसी राष्‍ट्रपति व्‍लादिमीर पुतिन ने भी किया है। 755 अमेरिकी राजनयिकों को रूस छोड़ने का फरमान ...और अधिक »

जानें, ट्रंप और पुतिन की 'दोस्ती' के बावजूद क्यों बिगड़ रहे हैं अमेरिका-रूस के रिश्ते - नवभारत टाइम्स

रूस ने अमेरिका द्वारा लगाए गए ताजा प्रतिबंधों के जवाब में 755 अमेरिकी राजनयिकों को देश छोड़कर जाने का आदेश दिया है। रूस का यह फैसला अमेरिका और उसके रिश्तों का तनाव और बढ़ा देगा। हाल ही में अमेरिकी कांग्रेस के दोनों हाउस ने लगभग एकमत होकर रूस पर ताजा प्रतिबंध लगाने के प्रस्ताव को मंजूरी दे दी। अमेरिकी राजनयिकों को 'रूस निकाला' देने का ऐलान करते हुए राष्ट्रपति व्लादीमिर पुतिन ने कहा कि वॉशिंगटन के 'गैरकानूनी' फैसले के खिलाफ यह मॉस्को की प्रतिक्रिया है। US कांग्रेस ने रूस पर यह प्रतिबंध लगाने के दो कारण गिनाए हैं। पहली वजह तो 2014 में रूस द्वारा क्रीमिया को यूक्रेन से अलग करना है और दूसरा कारण 2016 के अमेरिकी चुनाव में मॉस्को द्वारा की गई कथित ...और अधिक »

क्या रूस-अमरीका के बीच 'ट्रेड वॉर' छिड़ जाएगा? - BBC हिंदी

अमरीका के नए प्रतिबंध पर रूस ने कड़ा एतराज़ जताया है. रूसी प्रधानमंत्री दिमित्री मेदवेदेव ने कहा कि रूस पर अमरीकी प्रतिबंध पूर्ण रूप से ट्रेड वॉर (व्यापार युद्ध) की घोषणा की तरह है. मेदवेदेव ने कहा कि डोनल्ड ट्रंप की तरफ़ से नए प्रतिबंध पर हस्ताक्षर किया जाना दर्शाता है कि वह कितने लाचार हैं. रूसी प्रधानमंत्री ने कहा कि कांग्रेस ने राष्ट्रपति ट्रंप को अपमानित किया है. अमरीका के इस नए प्रतिबंध का उद्देश्य 2016 के अमरीकी राष्ट्रपति चुनाव में कथित हस्तक्षेप और यूक्रेन में कार्रवाई के ख़िलाफ़ रूस को दंडित करना बताया है. ट्रंप ने कांग्रेस को इस प्रतिबंध के लिए ज़िम्मेदार ठहराया है. क्या डोनल्ड ट्रंप को समझने में चूक गए पुतिन? पुतिन से गोपनीय मुलाक़ात की ख़बर फ़र्ज़ी ...और अधिक »

डोनाल्ड ट्रंप की रूस पर कड़े प्रतिबंध लगाने वाले विधेयक पर हस्ताक्षर करने की मंशा - NDTV Khabar

रूस द्वारा अमेरिकी राजनयिकों की संख्या में कटौती के आदेश पर अमेरिका अपने विकल्पों की समीक्षा कर रहा है. खास बातें. पुतिन ने अमेरिकी दूतावास से 755 कर्मियों की कटौती की; अमेरिका के प्रतिबंधों वाले विधेयक के जवाब में रूस का कदम; अमेरिकी अधिकारी ने रूस के कदम को खेदजनक बताया. वाशिंगटन: रूस का अपने देश में अमेरिकी राजनयिकों की संख्या में कटौती के आदेश के बाद अमेरिका अपने विकल्पों की समीक्षा कर रहा है और इन सबके बीच राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की अब भी रूस पर कड़े प्रतिबंध लगाने वाले विधेयक पर हस्ताक्षर करने की मंशा है. यह भी पढ़ें- 755 अमेरिकी राजनयिकों को रूस से हटना होगा: व्लादिमीर पुतिन व्हाइट हाउस की प्रवक्ता सारा हुकाबी सैंडर्स ने रूस के राष्ट्रपति ...और अधिक »

पुतिन मोह कहीं ट्रंप को मुश्किलों में न डाल दे! - BBC हिंदी

अभी हाल ही में फ्रीज़ पर लगाने वाले एक चुंबक ने मेरा ध्यान अपनी ओर खींचा. यह क़रीब सौ डॉलर का रहा होगा, लेकिन इसमें सबसे खास बात जो मुझे लगी वो यह थी कि इस पर अमरीका के निर्माताओं में से एक बेंजामिन फ्रैंकलिन की जगह व्लादीमिर पुतिन की तस्वीर लगी हुई थी. मुझे पता है कि यह सिर्फ़ एक फ्रीज़ मैगनेट है, लेकिन यह पुतिन-ट्रंप और अमरीका-रूस के रिश्तों की पूरी कहानी बयां करता है. डोनल्ड ट्रंप के व्हाइट हाउस में आने के छह महीने के बाद रूसी लोग अमरीका पर अपना प्रभाव महसूस करने लगे हैं. अगर वे ऐसा सोचने लगे हैं तो इसके लिए कौन जिम्मेवार है? भारत और चीन भिड़े तो रूस किसका साथ देगा? रूस पर नए प्रतिबंध लगाने की ओर बढ़ा अमरीका. ख़ास तौर पर तब जब रूस पर अमरीकी चुनाव को ...और अधिक »

रूस पर नए प्रतिबंध लगाने के बिल पर ट्रंप ने दस्तखत किए - BBC हिंदी

अमरीकी राष्ट्रपति डोनल्ड ट्रंप ने अनमने ही सही पर रूस के ख़िलाफ़ नए प्रतिबंध लगाने संबंधी विधेयक पर हस्ताक्षर कर दिए हैं. इस विधेयक को सीनेट की मंज़ूरी पहले ही मिल चुकी है. विधेयक में ईरान और उत्तर कोरिया पर भी प्रतिबंध लगाए गए हैं. नए क़ानून के तहत राष्ट्रपति ट्रंप की उन शक्तियों को सीमित कर दिया गया है जिनसे वह रूस पर लगे प्रतिबंधों को खुद-ब-खुद वापस ले सकें. इस विधेयक का मकसद बीते साल हुए अमरीकी राष्ट्रपति चुनाव में कथित दखलअंदाज़ी और सीरिया और यूक्रेन में आक्रामकता के लिए रूस को दंडित करना है. रूस की तीखी प्रतिक्रिया. रूस ने प्रतिबंधों पर तीखी प्रतिक्रिया व्यक्त की है. प्रधानमंत्री दिमित्रि मेदवेदेव ने कहा है कि इसका सीधा मतलब है कि अमरीका ने रूस के ...और अधिक »