'अब गाय को मारने पर उम्रकैद और उस पर राजनीति करने से सत्ता मिल सकती है!' - सत्याग्रह

देश में बूचड़खानों और गोहत्या पर बहस के बीच गुजरात में पारित एक विधेयक में गोहत्या के लिए उम्रकैद तक की सजा का प्रावधान किया गया है. खबरों के मुताबिक विधानसभा ने शुक्रवार को गुजरात पशु संरक्षण (संशोधन) विधेयक को मंजूरी दे दी. इस विधेयक में गायों को वध के लिए ढोने वालों के लिए भी सजा सख्त कर दी गई है. इस जुर्म में दोषी पाए जाने पर न्यूनतम जहां पहले तीन से सात साल की सजा का प्रावधान था वहीं अब इसे सात से 10 कर दिया गया है. इसके अलावा दोषी को बतौर जुर्माना कम से कम एक लाख रुपये भी देने होंगे. पहले यह रकम 50 हजार रु थी. बताया जाता है कि विधेयक लाकर गोहत्या पर इस तरह के सजा ...

गौ वध के लिए आजीवन कारावास, गुजरात विधानसभा ने पारित किया विधेयक - नवभारत टाइम्स

(यह आर्टिकल एजेंसी फीड से ऑटो-अपलोड हुआ है। इसे नवभारतटाइम्स.कॉम की टीम ने एडिट नहीं किया है।) | Updated: Mar 31, 2017, 07.45PM IST. गांधीनगर, 31 मार्च :: गुजरात विधानसभा मैं पशु संरक्षण को लेकर आज पारित किये गये कड़े कानूनी प्रावधान वाले संशोधन विधयेक के अंतर्गत गौ वध का दोषी पाये जाने वालों की सजा बढ़ाकर आजीवन कारावास कर दी गयी है। गौरतलब है कि इस साल गुजरात में विधानसभा चुनाव होना है। इस संशोधन विधेयक के पारित होने के साथ ही गौ वध के लिए आजीवन कारावास का प्रावधान करने वाला गुजरात देश का पहला राज्य बन गया है। साथ ही गौ वध को गैर-जमानती अपराध बनाया गया है। गुजरात पशु ...

गुजरात में गौ हत्या पर सरकार हुई सख्त, गुनहगारों को मिलेगी उम्रकैद की सजा - Rajasthan Patrika

प्रवधान के बाद अगर कोई व्यक्ति गोमांस के साथ पकड़ा गया, तो उसे सात वर्ष से लेकर 10 वर्षों की सजा हो सकती है। Related News. मोदी पर भ्रष्टाचार के आरोपों की 'सच्चाई' हुई सार्वजनिक, जारी हुई 5 हज़ार से ज़्यादा पन्नों वाली जांच रिपोर्ट · बाड़मेर में लगेगी रिफाइनरी, मुख्यमंत्री ने विधानसभा में की घोषणा · शाहरूख खान को गुजरात हाईकोर्ट से मिली राहत, समन पर लगाई रोक. गांधीनगर। गुरजत सरकार ने गौहत्या के मामले में आजीवन कारावास की सजा का प्रवधान किया है। शुक्रवार को गौ संरक्षण अधिनियम में संशोधन करते हुए इसे और सख्त बनाने के तहत गौ हत्या करने वालों को उम्र कैद की सजा दी जाएगी ...

गुजरात में गोहत्या पर सबसे कठोर कानून - आज तक

गुजरात में देश का सबसे कठोर गोरक्षा कानून पास हो गया है. विजय रूपानी सरकार ने गोरक्षा को लेकर देश का सबसे कठोर कानून बना दिया है. गुजरात विधानसभा से भी इस कानून पर मुहर लग गई है. इसके मुताबिक गोवंश की हत्या पर आजीवन कारावास तक हो सकती है. नए कानून के मुताबिक गोमांस के साथ पकड़े जाने पर गैर जमानती वारंट जारी होगा. साथ ही 7 से 10 साल तक की सजा का प्रावधान किया गया है. जेल के साथ साथ एक से पांच लाख तक के जुर्माने का भी इसमें प्रावधान है. नए कानून के मुताबिक जिस गाड़ी से गोमांस जब्त होगा, उस गाड़ी को हमेशा के लिए जब्त कर लिया जाएगा और आरोपियों पर IPC की धारा 120बी के ...

भारत के इन राज्यों में हो सकती है कानूनन गो हत्या! - पंजाब केसरी

नई दिल्ली: राज्य विधानसभा ने गुजरात पशु संरक्षण (संशोधन) अधिनियम 2011 को पारित कर दिया। इस अधिनियम के कानून बन जाने पर किसी भी आदमी को बीफ ले जाने पर भी उम्रकैद की सजा हो सकती है। इसके अलावा बीफ लाने- ले जाने और गाय काटने पर एक लाख रुपए से 5 लाख रुपए तक का जुर्माना भी लग सकता है। इसके पहले साल 2011 में कानून बना कर गाय लाने-ले जाने, काटने और बीफ बेचने पर रोक लगा दी गई थी। उस समय राज्य के मुख्यमंत्री नरेंद्र मोदी थे। गो माता भारतीय संस्कृति की प्रतीक गुजरात के गृह राज्य मंत्री प्रदीप सिंह जडेजा ने कहा कि गो माता भारतीय संस्कृति की प्रतीक है। राज्य के लोगों से सलाह ...

गुजरात में गोहत्या संसोधन बिल पास, गाय की हत्या करने पर होगी उम्रकैद की सजा - पलपल इंडिया

अहमदाबाद. जहां एक तरफ यूपी में योगी सरकार गोहत्या को लेकर सभी अवैध बुचड़खानों को बंद करवा रही है, तो वहीं गुजरात में भी गोहत्या को लेकर सख्ती बढ़ती जा रही है. गुजरात विधानसभा में शुक्रवार (31 मार्च) को गोहत्या संसोधन बिल पास किया गया. जिसके तहत गोहत्या करने पर 7-10 साल की सजा का प्रावधान किया गया है. इतना ही नहीं अब गाय की हत्या करने पर उम्रकैद की सजा भी हो सकती है. फिलहाल इस अपराध में दोषी पाए गए व्यक्ति को केवल 7 साल की सजा का प्रावधान है. देश का सबसे कड़ा कानून माने जा रहे इस बिल के अनुसार आरोपी को दोषी पाए जाने पर 1 लाख का जुर्माना भी देना होगा. बता दें कि राज्य ...

भारत के इन 10 राज्यों में वैध है गौहत्या, 18 में है रोक - अमर उजाला

अब गुजरात में गौ हत्या करने वालों को उम्र कैद की सजा हो सकती है। राज्य विधानसभा ने गुजरात पशु संरक्षण (संशोधन) अधिनियम 2011 शुक्रवार को पारित कर दिया। इस अधिनियम के कानून बन जाने पर किसी भी आदमी को बीफ ले जाने पर भी उम्र कैद की सजा हो सकती है। Sponsored Links Sponsored Links · Promoted Links Promoted Links. You May Like. PrebioThrive Supplement · Warning: Don't Use Probiotics Before You See ThisPrebioThrive Supplement. Undo. EverQuote Insurance Quotes · Mountain View, California: This Brilliant Company Is Disrupting a $200 Billion IndustryEverQuote Insurance Quotes. Undo. by Taboola by Taboola. इसके अलावा बीफ लाने- ले जाने और गाय काटने पर एक लाख ...

गुजरात में गौहत्या पर हो सकती है सख्त सज़ा - चाइना रेडियो इंटरनेशनल

गुजरात में गौहत्या करने वालों के खिलाफ़ सख्त कार्रवाई की जा सकती है। इसके मद्देनज़र गुजरात विधानसभा में गौहत्या विधेयक पास कर दिया गया है। आगामी नवंबर में होने वाले विधानसभा चुनाव से पहले राज्य सरकार द्वारा उठाया गया यह एक बड़ा कदम है। सरकार का मानना है कि इस तरह के सख्त कानून की आवश्यकता थी। नया कानून बनने के बाद यदि कोई व्यक्ति गौहत्या का दोषी पाया जाता है, तो उसे दस साल से लेकर उम्रकैद तक की सजा हो सकती है। गुजरात सरकार ने ज़ोर देकर कहा कि वह गायों की रक्षा के लिए हर संभव प्रयास करेगी। इसी बात को ध्यान में रखते हुए यह नया कानून लाया गया है। गौहत्या का दोषी पाए ...

अब गुजरात में गोहत्या पर उम्रकैद तक हो सकती है - सत्याग्रह

देश में बूचड़खानों और गोहत्या पर बहस के बीच गुजरात में पारित एक विधेयक में गोहत्या के लिए उम्रकैद तक की सजा का प्रावधान किया गया है. खबरों के मुताबिक विधानसभा ने शुक्रवार को गुजरात पशु संरक्षण (संशोधन) विधेयक को मंजूरी दे दी. इस विधेयक में गायों को वध के लिए ढोने वालों के लिए भी सजा सख्त कर दी गई है. इस जुर्म में दोषी पाए जाने पर न्यूनतम जहां पहले तीन से सात साल की सजा का प्रावधान था वहीं अब इसे सात से 10 कर दिया गया है. इसके अलावा दोषी को बतौर जुर्माना कम से कम एक लाख रुपये भी देने होंगे. पहले यह रकम 50 हजार रु थी. विधानसभा में विधायी कामकाज देखने वाले प्रवीण भाई ...

BJP “गाय, गंगा और गीता की रक्षा के लिए प्रतिबद्ध है”! - Medhaj News

गुजरात में गौहत्या को लेकर कानून को काफी कड़े कर दिए गए हैं। ऐसे में गुजरात के मुख्यमंत्री विजय रुपानी का कहना है कि बीजेपी गाय, गंगा और गीता की रक्षा के लिए प्रतिबद्ध है। इस बात को सीएम विजय रुपानी ने इसे महीने की शुरुआत में कहा था। कानून सख्त: गुजरात में गौहत्या करने पर होगी अब उम्रकैद, जुर्माना भी बढ़ा... गुजरात विधानसभा बजट सत्र के आखिरी दिन एक ऐतिहासिक फैसला पास कर दिया गया है। जी हां, शुक्रवार को गाय सरंक्षण कानून पेश किया गया था, जिसको पास कर दिया गया है। इस कानून के तहत गौहत्या करने वाले को अब 10 साल से उम्रकैद की सजा दी जाएगी। यही नहीं जुर्माना राशि भी ...

गुजरात में गोहत्या पर होगी उम्रकैद, गायों के ट्रांसपोर्टेशन पर 10 साल जेल - दैनिक भास्कर

वाराणसी दौरे पर नरेंद्र मोदी गड़वाघाट में गायों को चारा खिलाते हुए। मोदी ने 2011 में गुजरात में गोहत्या पर बैन लगाया था। (फाइल). गांधीनगर. गुजरात असेंबली में शुक्रवार को गोहत्या के खिलाफ देश का सबसे सख्त कानून पास किया गया। ये देश का पहला ऐसा राज्य बन गया है, जहां गोहत्या पर उम्रकैद की सजा दी जाएगी। गुजरात एनिमल प्रिजर्वेशन अमेंडमेंट बिल पास करने के साथ ही गोहत्या को नॉन बेलेबल ऑफेंस बना दिया गया है। इसके साथ ही बीफ के ट्रांसपोर्टेशन, स्टोरेज और बिक्री पर 10 साल की सजा का प्रावधान किया गया है। कांग्रेस MLAs की गैरमौजूदगी में पास हुआ बिल... - असेंबली में ...

गुजरात में गोकशी पर अब उम्रकैद की सज़ा - Instant ख़बर

अहमदाबाद: यूपी में अवैध बूचड़खानों पर चल रही कार्रवाई के बीच गुजरात विधानसभा ने एक सख्‍त कानून पास किया है. इसके तहत गोहत्‍या संशोधन बिल पास हो गया है. इस नए कानून के तहत अब गोकशी के दोषियों को उम्रकैद की सजा का प्रावधान किया गया है. अब गोवंश के साथ पकड़े जाने पर जमानत नहीं मिल सकती है. गो मांस की हेराफेरी करते हुए पकड़े जाने पर सात से 10 साल तक की सजा और एक से पांच लाख तक का दंड हो सकता है. इस संशोधित कानून को आज विधानसभा सत्र के आखिरी दिन पास किया गया. इसके साथ ही गाय की तस्‍करी पर भी सख्‍त पाबंदी लगा दी गई है. गौमांस का ट्रांसफर करते हुए जो वाहन पकड़े जाएंगे वो वाहन ...

गुजरात में गौहत्या करने पर काटनी पड़ सकती है जेल में जिंदगी - Bharat Khabar

अहमदाबाद। उत्तर प्रदेश में अवैध बूचड़खानों पर ताले लगने के बाद देश के कई राज्यों में बूचड़खानों पर ताले लगाए जा रहे हैं ताकि गौ हत्या को रोका जा सकें। गुजरात विधानसभा के बजट सत्र के आखरी दिन गौ हत्या के लिए एक सुधारात्मक विधेयक पारित किया गया|राज्य के गृह राज्यमंत्री प्रदीप सिंह जाडेजा ने विधानसभा में गौहत्या करने वाले को उम्रकैद की सजा वाला एक प्रस्ताव लाया जिसे सभी ने बहुमत के पारित कर दिया। सदन में पारित किए गए इस नए विधेयक के अनुसार गौ हत्या करने वाले को आजीवन कैद और एक लाख रुपये से पांच लाख रूपये तक का जुर्माना भी करने का प्रावधान किया गया है। विधेयक के ...

गुजरात में गो रक्षा पर सबसे कड़ा कानून, गो हत्या पर होगी उम्रकैद - आज तक

गोवंश सुरक्षा को लेकर गुजरात विधानसभा ने एक नया कानून पास किया है. इस कानून के पास होने के बाद गो हत्या करने वाले को उम्रकैद की सजा होगी वहीं गो मांस मिलने पर सात से दस साल की सजा होगी. गो मांस के साथ पकड़े जाने पर एक लाख से पांच लाख का आर्थिक दंड भी लगाया जा सकता है. आज राज्य के गृहमंत्री प्रदीप सिंह जाडेजा ने गोवंश सुरक्षा कानून में सुधार बिल राज्य विधानसभा में पेश किया. इस कानून को विपक्ष की गैरहाजरी में पास करवाया गया. नए कानून में पुलिस को काफी अधिकार दिए गए हैं.

गुजरात विधानसभा: गौ हत्या पर अब होगी उम्रकैद, संशोधन बिल हुआ पास - Janprahari Express (कटूपहास) (प्रेस विज्ञप्ति) (ब्लॉग)

नई दिल्ली। गौहत्या करने वालों को अब गुजरात सरकार किसी भी सूरत में बख्शने के मूड में नहीं है। तभी तो गुजरात विधानसभा ने गौ हत्या संशोधन बिल पास करते हुए गौ हत्या करने पर अब उम्रकैद का प्रावधान जोड़ दिया है। ऐसा करने वाला गुजरात देश का पहला राज्य बन गया है। जिसने गायों को संरक्षण प्रदान करते हुए कड़े प्रावधान किए। इस प्रावधान में यह भी समाहित किया गया है कि गाय की तस्करी करते हुए पाए जाने पाने पर उसे 10 साल तक जेल में ही रहना पड़ेगा। इस नए कानून के तहत अब जुर्माना राशि को बढ़ाकर दोगुना कर दिया गया है। जिसके तहत एक से पांच लाख रुपए जुर्माने की सजा दी जाएगी। इससे पहले ...

उम्रकैद मिलेगी गौहत्या करने वालों को गुजरात में - आगरा समाचार

गाय की हत्या करने वालों को गुजरात में अब उम्रकैद की सज़ा मिलेगी। गौ हत्या संशोधन बिल विधान सभा ने पास कर दिया है। इस संशोधन बिल के मुताबिक गाय की तस्करी करने पर 10 वर्ष की जेल भी हो सकती है। बता दें कि गुजरात की मुख्यमंत्री विजय रुपानी ने प्रदेश में गाय को सुरक्षित रखने के लिए सरकार सख्त कानून बनाने की घोषणा की थी। प्रदेश में गौहत्या, गौमांस पर पहले से पूरी तरह प्रतिबंध लगा हुआ है बताया जाता है कि प्रेदेश में प्रति वर्ष गाय की सुरक्षा से सम्बंधित 1000 मामले दर्ज किये जाते हैं किन्तु कानूनी प्रक्रिया लंबी होने के के कारण सजा नहीं हो पाती है। Email ThisBlogThis!Share to ...

गो-हत्या करना पड़ेगा भारी, भुगतना पड़ेगा आजीवन कारावास - चौथी दुनिया

बजट सत्र के आखिरी दिन शुक्रवार को गुजरात विधानसभा ने संशोधित गाय संरक्षण कानून पेश किया गया, जो पास हो गया है। इस कानून के तहत अब जो भी गो हत्या करेगा उसे 10 साल से लेकर आजीवन कारावास की सज़ा हो सकती है. साथ ही गो ह्त्या करने पर जुर्माना राशि को दोगुना कर दिया गया है। अब इस कानून में एक लाख से पांच लाख रुपये जुर्माने की सजा होगी। गृह राज्य मंत्री प्रदीप सिंह जाडेजा ने कहा, गायों के संरक्षण को देखते हुए ये कदम उठाया गया है. की वजह से ये कदम उठाया गया है। नए कानून के अनुसार अगर गाय का मांस ले जाने के लिए किसी वाहन का इस्तेमाल किया जाता है तो यह संज्ञेय और ...

गुजरात: गोकशी पर बना सख्‍त कानून, उम्रकैद का प्रावधान - Khabar NonStop

cow अहमदाबाद। यूपी में अवैध बूचड़खानों पर कार्रवाई के बाद गुजरात में बीजेपी सरकार ने गोकशी को लेकर सख्त कानून बनाया है। गुजरात में अब गोकशी पर दोषियों को उम्रकैद का प्रावधान किया गया है। गोकशी को लेकर इस संशोधित बिल को आज विधानसभा सत्र के आखिरी दिन पास किया गया। क्या है नया कानून? गुजरात पशु संरक्षण एक्ट (1954) के संशोधित कानून के तहत गायों की तस्करी पर 10 साल की सजा का प्रावधान किया गया है। 2011 में जो कानून संशोधन किया गया था उसके तहत पहले सात साल की सजा और 50 हजार रुपए जुर्माने का प्रावधान किया गया था। लेकिन अब उसी सजा में संशोधन कर उम्रकैद किया गया है।

गुजरात में गोहत्या करने पर मिलेगी उम्रकैद की सजा, तस्करी पर 10 साल की जेल - GAON CONNECTION

गुजरात। उत्तर प्रदेश में अवैध बूचड़खानों पर करवाई चल रही है, वहीं गुजरात सरकार ने गोहत्या संशोधन बिल पास किया है। इस बदले कानून के बाद गोहत्या करने वालों को उम्रकैद की सज़ा सुनाई जाएगी। देश-दुनिया से जुड़ी सभी बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करके इंस्टॉल करें गाँव कनेक्शन एप. गुजरात पशु संरक्षण एक्‍ट (1954) के संशोधित कानून को इस सत्र के आखिरी दिन विधानसभा में पास किया गया। बदले कानून में गायों को शाम सात बजे से सुबह पांच बजे तक कहीं नहीं ले जाया जा सकता है और गायों की तस्करी पर 10 साल की सज़ा का प्रावधान किया गया । ये भी पढ़ें-राज्यसभा में सरकार की दो टूक, वैध ...