चांद की सतह के नीचे हो सकता है पानी का विशाल भंडार - Firstpost Hindi

वैज्ञानिकों के मुताबिक चांद की सतह के नीचे के नीचे जलाशय है. यह भंडार 'वॉलकैनिक ग्लास बीड्स' के रूप में वह मौजूद है. इन बीड्स से भविष्य में पानी निकाला जा सकता है और इस पानी का इस्तेमाल एस्ट्रोनॉट्स द्वारा भविष्य में चांद पर बसने के लिए किया जा सकता है. सैटलाइट से मिले डाटा के मुताबिक सतह के नीचे ज्वालामुखी के कई डिपॉजिट हैं जिनके बीच भारी मात्रा में पानी छुपा हुआ है. वैज्ञानिक कई सालो से चांद के सतह के नीचे पर पानी होने की बात कर रहे है. 2008 की एक रिसर्च के मुताबिक अपोलो 15 और 17 के मिशन में लाए गए वॉलकैनिक ग्लास बीड्स में पानी की मात्रा पाई गई थी. 2011 में छोटे ...

चंद्रमा की सतह के नीचे पानी का विशाल भंडार, चांद पर इंसानी बस्तियां बसाने में मिलेगी मदद - नवभारत टाइम्स

पहले ऐसा माना जाता था कि चंद्रमा के दोनों ध्रुवीय क्षेत्रों पर ही थोड़ा पानी हो... न्यू यॉर्क चांद पर भेजे गए अपोलो मून मिशन के दौरान चंद्रमा से जमा किए गए खनिज पदार्थों की दोबारा की गई जांच से कई चौंकाने वाली नई जानकारियां सामने आई हैं। वैज्ञानिकों का कहना है कि चांद से लाए गए खनिजों की फिर से जांच करने से वहां बड़ी मात्रा में पानी मौजूद होने की बात सामने आई है। वैज्ञानिकों का मानना है कि चांद की सतह के नीचे बहुत बड़ी मात्रा में पानी का भंडार है। इस नई खोज के बाद चांद पर भेजे जाने वाले मानव मिशन पहले की तुलना में ज्यादा आसान साबित हो सकते हैं। पहले ऐसा माना ...