अस्पताल में दो महीने बिताने के बाद स्पीकरों की मदद से पहली बार बोलीं जयललिता - एनडीटीवी खबर

चेन्नई: तमिलनाडु की मुख्यमंत्री जे जयललिता जिन्हें फेफड़े में इन्फेक्शन के बाद ट्रैकोस्टमी से गुज़रना पड़ा, अब स्पीकर की मदद से थोड़ा थोड़ा बोल पा रही हैं. चेन्नई के अपोलो अस्पताल ने आज जारी नए स्वास्थ्य अपडेट में यह जानकारी दी है. बता दें कि ट्रैकोस्टमी एक सर्जिकल प्रक्रिया है, जिससे सांस लेने वाली नली (ट्रैकिया) को खोला जाता है. अपोलो चेयरमैन डॉ प्रताप रेड्डी ने बताया कि जयललिता जो पिछले कई हफ्तों से वेंटिलेटर सपोर्ट पर हैं, अब ज्यादातर समय, बिना किसी सहायता के सांस ले पा रही हैं. रेड्डी ने कहा कि अगला मकसद मुख्यमंत्री को खड़ा करना है. उन्होंने बताया 'वह ...और अधिक »

जयललिता 90% सांस ले रही हैं खुद से, मशीन की मदद से करती हैं बात - आज तक

तमिलनाडु की मुख्यमंत्री जे जयललिता की सेहत में तेजी से सुधार हो रहा है. अब वो 90 फीसदी तक सांसे खुद से ले रही हैं. जयललिता के सेहत के बारे में जानकारी देते हुए अपोलो अस्पताल के चेयरमैन प्रताप रेड्डी ने कहा कि जयललिता अब 90 फीसदी सांस खुद से ले रही हैं, जबकि बोलने के लिए वे मशीन का सहारा ले रही हैं. प्रताप रेड्डी ने बताया कि जयललिता के जिन अंगों में दिक्कत थी, अब वे सही से काम करने लगे हैं. लेकिन उनके गले में अभी भी ट्यूब लगी हुई है, इसी वजह से वे 90 फीसदी सांस खुद से ले रही हैं. डॉक्टरों की मानें तो ट्रेकियोस्टोमी की वजह से जयललिता बिना मशीनरी सपोर्ट से बात नहीं कर ...और अधिक »

बोलने के लिए मशीन का इस्तेमाल कर रही हैं जयललिता, सांस लेना हुआ आसान - अमर उजाला

कई हफ्तों से बीमार तमिलनाडु की मुख्यमंत्री जे जयललिता की तबीयत में अब काफी सुधार हो रहा है। डॉक्टरों के अनुसार जयललिता को बोलने के लिए मशीन का सहारा लेना पड़ रहा है और अब वे सांस लेने में सहज हैं। अपोलो अस्पताल के चेयरमैन प्रताप रेड्डी ने शुक्रवार को पत्रकारों से बातचीत में कहा,'जयललिता 90 प्रतिशत सांस खुद ले रही है और बोलने के लिए वे अस्थायी तौर पर मशीन का इस्तेमाल कर रही हैं।' प्रताप रेड्डी ने कहा कि जिन अंगों में गंभीर समस्या थी अब वे परेशानी दूर हो चुकी है। लेकिन उनके गले में ट्रेकियोस्टोमी ट्यूब अब भी है। उन्होंने कहा,'ट्रेकियोस्टोमी की वजह से जयललिता बोल ...और अधिक »

अब भी स्पीकर के सहारे बोल पा रही हैं जयललिता, गले में लगी है ट्यूब - Oneindia Hindi

अस्पताल के अध्यक्ष रेड्डी ने कहा कि वो 90 प्रतिशत सांस खुद ले पाने में सक्षम हैं। By: Rahul Sankrityayan. Updated: Friday, November 25, 2016, 17:40 [IST]. Subscribe to Oneindia Hindi. नई दिल्ली। तमिलनाडु की मुख्यमंत्री जयललिता 90 प्रतिशत सांस खुद से ले रही हैं और मशीन की मदद से बोल रही हैं। यह जानकारी अपोलो अस्पताल के अध्यक्ष प्रताप रेड्डी ने शुक्रवार को मीडिया को जानकारी दी। उन्होंने बताया कि जयललिता के शरीर जिन अंगों में दिक्कत थी, वो सभी सही हो गए हैं लेकिन गले में ट्यूब लगी है। जिसकी वजह से ही वो 90 प्रतिशत सांस खुद लेने में सक्षम हैं। रेड्डी ने बताया कि इस दशा में वो स्पीकर की मदद से ...और अधिक »

जयललिता के स्वास्थ्य में और सुधार - Newsroompost

चेन्नई, 25 नवंबर। तमिलनाडु की मुख्यमंत्री जे.जयललिता का स्वास्थ्य सामान्य हो रहा है। उनके शरीर के सभी महत्वपूर्ण अंग अच्छी तरह से काम कर रहे हैं। अपोलो अस्पताल के चेयरमैन प्रताप सी.रेड्डी ने मीडिया को बताया कि जयललिता को इंटेसिव केयर यूनिट (आईसीयू) से बाहर निकाल लिया गया है। उन्हें अब स्वास्थ्य संबंधी कोई जटिल दिक्कत नहीं है। jayalalitha. जयललिता (68) को 22 सितंबर को बुखार और निर्जलीकरण (डिहाइड्रेशन) की समस्या के बाद अस्पताल में भर्ती कराया गया था। 0 Comments. Sort by. Oldest. Facebook Comments Plugin ...और अधिक »