पहले समझाएंगे, फिर कार्रवाई - अमर उजाला

वाणिज्य कर विभाग ने जीएसटी लागू कराने के लिए कमर कस ली है। नियमित रूप से चेकिंग अभियान चलाए जाएंगे। यही नहीं जिन व्यापारियों को जानकारी नहीं है, पहले चूक पकड़े जाने पर उन्हें समझाया जाएगा। यह सिलसिला पहले तीन माह चलेगा। बार-बार गलती करने या जान बूझकर गलती करने पर कार्रवाई होगी। आज सुनी जाएंगी समस्याएं बागपत। वाणिज्य कर अधिकारी एके गुप्ता ने बताया शनिवार को जिला कार्यालय में व्यापारियों की समस्याएं सुनी जाएंगी। इसके अलावा नियमित तौर पर कर्मचारियों और अधिकारियों की ट्रेनिंग कराई जा रही है। किसी भी व्यक्ति को परेशानी नहीं होने दी जाएगी। जीएसटी में ...

फोन पर समस्याओं का अफसर करेंगे समाधान - अमर उजाला

मुजफ्फरनगर। जीएसटी लागू होने से देशभर में एक ही टैक्स रहेगा। जीएसटी के विरोध में व्यापारियों ने हंगामा खड़ा कर रखा हुआ है। हालांकि विभाग ने जीएसटी को सरल रूप में समझाने और व्यापारियों, आम आदमी की समस्या को हल करने के लिए कमर कस ली है। वाणिज्य कर विभाग ने हेल्प डेस्क नंबर जारी किए हैं। जिन पर रोजाना सुबह 8 से रात 8 बजे तक समस्याओं का समाधान करेंगे। जीएसटी के जिला नोडल अधिकारी वाणिज्यकर के अस्सिटेंट कमिश्नर डीएस गौतम ने बताया कि व्यापारियों को जीएसटी में माइग्रेट, पंजीयन और एनरोलमेंट नंबर देने के लिए विभाग ने मुस्तैद हो गया है। विभागीय स्तर पर अधिकारियों ...

थोड़ी परेशानी के बाद दिखने लगेगा जीएसटी का फायदा : अर्थशास्त्री - EenaduIndia Hindi

जबलपुर। आज यानि 30 जून की आधी रात से पूरे देश में GST लागू हो गया है, जिसे आम जनता को ध्यान में रखकर बनाया गया है। हालांकि वस्तु एवं सेवा कर व्यापारियों के लिए घाटे का सौदा माना जा रहा है, तभी व्यापारी आंदोलन कर रहे हैं, ताकि सरकार उनके मुताबिक संसोधन करे। हालांकि, केंद्र सरकार ने व्यापारियों की सभी मांगों को ठुकरा दिया और 30 जून 2017 की मध्य रात्रि से जीएसटी पूरे देश में लागू कर दिया जाएगा। आखिर, जीएसटी को लेकर व्यापारी क्यों विरोध कर रहे हैं। इस संबंध में हमारे सहयोगी ने महाकौशल चेंबर ऑफ कामर्स के सचिव हिमांशु खरे से बात की तो उनका कहना था कि केंन्द्र सरकार ...

वाणिज्यकर विभाग तैयार, असमंजस में व्यापारी - अमर उजाला

शामली। जीएसटी (वस्तु एवं सेवा कर) आज से लागू हो जाएगा। वाणिज्यकर विभाग ने जीएसटी के संबंध में अपनी तमाम तैयारियां पूरी कर ली हैं। उद्यमियों को जागरूक करने के लिए संवाद कार्यक्रम किए जा चुके हैं और शनिवार को वाणिज्यकर कार्यालय पर जीएसटी दिवस मनाया जाएगा। जिले के अभी 598 व्यापारी ऐसे हैं, जो वाणिज्यकर विभाग में तो रजिस्टर्ड हैं, लेकिन जीएसटी में उनका माइग्रेशन नहीं हो सका है। इनमें खासकर कपड़ा व्यापारी शामिल हैं, जो जीएसटी में दिए जाने वाले टैक्स को लेकर भ्रमित हैं। अधिकांश व्यापारी और उद्यमी यह बात कह चुके हैं कि जीएसटी मंजूर है, लेकिन उसमें कुछ खामियां ...

जीएसटी लागू होने पर बिजनौर में मिलेगा 150 करोड़ का टैक्स - अमर उजाला

जीएसटी (गुड्स एंड सर्विस टैक्स) लागू होने के बाद जिले को मिलने वाले टैक्स में 20 प्रतिशत का इजाफा होगा। इससे बिजनौर को मिलने वाला टैक्स 150 करोड़ तक पहुंचने की संभावना है। जीएसटी के विरोध की चर्चा होने के बाद भी जिले के व्यापारियों ने इसका समर्थन किया है। 15 जून तक जिले के 90 प्रतिशत व्यापारियों ने जीएसटी में रजिस्ट्रेशन करा लिया था। केंद्र सरकार ने सभी करों को जीएसटी में समायोजित कर दिया है। शुक्रवार रात 12 बजे संसद भवन में राष्ट्रपति प्रणव मुखर्जी घंटी बजाकर जीएसटी का शुभारंभ करेंगे। जिले को अब तक हर साल औसतन 125 करोड़ का टैक्स वाणिज्य कर विभाग में जमा होता ...

हेल्प डेस्क करेगी 24 घंटे काम - अमर उजाला

एक जुलाई से लागू हो रहे जीएसटी को लेकर कारोबारियों और आम आदमी को कोई दिक्कत न हो इसके लिए वाणिज्य कर विभाग ने हेल्प डेस्क की स्थापना कर दी है। यह 24 घंटे काम करेगी। वहीं प्रभारी मंत्री नीलकंठ तिवारी को उद्यमी व व्यापारियों के बीच समन्वय स्थापित करने की जिम्मेदारी सौंपी गई है। उद्यमी, व्यापारी, छोटे दुकानदार सशंकित हैं कि एक जुलाई से कारोबार कैसे चलेगा। इनकी शंका और समाधान को हेल्प डेस्क पर दो अफसर व चार कर्मचारी तैनात किए गए हैं। कोई भी व्यक्ति फोनकर समस्या का समाधान पूछ सकता है। इसके अलावा वाणिज्य कर विभाग अफसरों, उद्यमियों, व्यापारी, सीए व अधिवक्ताओं के ...

जीएसटीएन नहीं है, तो भी नहीं रोका जाएगा माल-03 - दैनिक जागरण

बागपत: वाणिज्य कर विभाग की जीएसटी पर व्यापारियों की आशंकाओं को दूर करने तथा रजिस्ट्रेशन में मदद करने को दो हेल्प डेस्क पर दिन भर फोन घनघनाते रहे। बागपत में वाणिज्य कर उपायुक्त एके गुप्ता,सहायक आयुक्त धर्मेंद्र चौधरी, वाणिज्य कर अधिकारी अरुण कुमार चौधरी तथा बड़ौत में सहायक आयुक्त डीके पांडेय और सत्यप्रकाश ने व्यापारियों के फोन पर सवाल सुनकर उनकी समस्याओं का समाधान किया। दोनों हेल्प डेस्क पर 100 से ज्यादा व्यापारियों ने फोन कर जानकारी ली। दो दर्जन व्यापारी खुद हेल्प डेस्क पहुंचकर जानकारी लेते नजर आए। उपायुक्त ने बताया कि किसी व्यापारी को रजिस्ट्रेशन ...

समारोहपूर्वक होगा जीएसटी का आगाज - अमर उजाला

बलिया। वस्तु एवं सेवा कर यानी जीएसटी का पहली जुलाई को जनपद में शानदार तरीके से समारोहपूर्वक आगाज होगा। वाणिज्यकर विभाग ने इसकी तैयारी पूरी कर ली है। जीएसटी को लेकर वाणिज्यकर विभाग की तरफ से भव्य समारोह का आयोजन किया गया है, जिसके मुख्य अतिथि जिलाधिकारी सुरेंद्र विक्रम होंगे। व्यापारियों एवं विभागों के अधिकारियों के बीच जिलाधिकारी जीएसटी का शुभारंभ करेंगे। सहायक आयुक्त जयंत सिंह ने बताया कि जीएसटी को लेकर काफी दिनों से तैयारी चल रही थी। व्यापारियों का पंजीयन कराने से लेकर जीएसटी में व्यापार कैसे करें इसकी पूरी विधिवत जानकारी दी गई। पहली जुलाई ...

जीएसटी कुछ ही घंटों में होगा लागू, इससे पहले जानिए कितने तैयार हैं हम - दैनिक जागरण

नई दिल्ली (जेएनएन)। वस्तु एवं सेवा कर (जीएसटी) कुछ ही घंटों बाद देशभर में लागू हो जाएगा। आज इसके लिए देर रात संसद के सेंट्रल हॉल में भव्य कार्यक्रम भी आयोजित किया गया है, जिसमें राजनीतिक हस्तियों से लेकर चुंनिंदा फिल्मी हस्तियां शामिल होंगी। लेकिन इस बड़े कर सुधार के लिए हम कितने तैयार हैं और क्या चुनौतियां है? यह ऐसा सवाल है जिसका जवाब फिलहाल व्यापारी और चार्टर्ड अकाउंटेंट दोनों ढूंढ रहे हैं। अपनी इस रिपोर्ट में हमने जीएसटी के सफल क्रियान्वयन में अहम भूमिका निभाने वाले व्यापारी वर्ग और चार्टर्ड अकाउंटेंट से बात कर उनकी तैयारियों और चुनौतिंयों को जानने की ...

30 सितंबर तक जीएसटीएन पोर्टल पर पंजीकरण करा सकेंगे व्यापारी - दैनिक जागरण

पुराने डीलर्स और व्यापारियों को जीएसटी में माइग्रेशन व पंजीकरण के लिए तीन महीने का समय और दिया गया है। लखनऊ (जेएनएन)। वस्तु एवं सेवा कर (जीएसटी) में शामिल होने वाले करों में पहले से पंजीकृत सभी व्यापारी पहली जुलाई को जीएसटी अधिनियम में पंजीकृत माने जाएंगे। हालांकि उन्हें प्राप्त प्रोविजनल आइडी और पासवर्ड के आधार पर जीएसटीएन पोर्टल पर अपना डाटा भरना जरूरी होगा। जिन व्यापारियों को प्रोविजनल आइडी व पासवर्ड प्राप्त नहीं हुए हैं, वे प्रोविजनल आइडी, पासवर्ड प्राप्त होने पर 30 सितंबर तक जीएसटीएन पोर्टल पर पंजीकरण करा सकेंगे। ऐसे व्यापारी प्रोविजनल आइडी प्राप्त होने ...

जीएसटी के लिए तैयार हो रहे व्यापारी और अधिकारी - दैनिक जागरण

नवादा। केंद्र सरकार का माल व सेवा कर अधिनियम (जीएसटी) शनिवार से लागू होगा। इसके लागू होने के बाद व्यापारियों को वाणिज्य-कर विभाग से रजिस्ट्रेशन कराना अनिवार्य होगा। इस अधिनियम के तहत पुराने व नए सभी व्यवसाई को रजिस्ट्रेशन कराना होगा। नई व्यवस्था लागू होने के कारण वाणिज्य-कर विभाग के कार्यालय में व्यवसायियों की भीड़ दिनभर लग रही है। शहर के बड़े व्यापारी जो अन्य राज्यों से समान लाकर व्यापार करते हैं, वैसे व्यापारी अधिनियम की पूरी जानकारी हासिल करने के लिए वाणिज्य-कर विभाग के पदाधिकारियों से संपर्क कर रहे हैं। साथ ही अपने फर्म का निबंधन कराने की प्रक्रिया ...

GST का विरोध करने वाले व्यापारियों के खुशखबरी, पढ़ें पूरी खबर - Patrika

गाजियाबाद। व्यापारियों की समस्याओं एवं जिज्ञासाओं का समाधान करने के लिए कलेक्ट्रेट में वाणिज्य कर विभाग के जरिए सुविधा केंद्र संचालित किया जाएगा। जहां प्रतिदिन सुबह 9 से 11 बजे तक वाणिज्य कर विभाग के अधिकारी बैठेंगे तथा जनसामान्य एवं व्यापारियों को जीएसटी के संबंध में आवश्यक परामर्श देंगे। जिलाधिकारी मिनिष्ती एस. ने कलक्ट्रेट सभागार में जीएसटी पर आयोजित कार्यशाला में वाणिज्य कर विभाग के अधिकारियों को यह निर्देंश दिए। उन्होंने कहा कि जिन व्यापारियों का वार्षिक टर्नओवर 20 लाख की सीमा तक है। उन्हें पंजीकरण कराने की जरूरत नहीं है। 20 लाख से ज्यादा ...

महीने में तीन बार दाखिल करना होगा रिटर्न - अमर उजाला

गुड्स एंड सर्विस टैक्स (जीएसटी) लागू होने के बाद व्यापारियों को हर महीने तीन और साल में कुल 37 बार रिटर्न दाखिल करना होगा। अभी साल में 13 बार ही रिटर्न दाखिल करने पड़ते हैं। हालांकि, जीएसटी में सभी ब्यौरे ऑनलाइल भरने हैं। व्यापारियों का कहना है कि इससे व्यापारियों की परेशानी बढ़ेगी। हां, यह फायदा जरूर होगा कि कार्यालयों के चक्कर नहीं काटने पड़ेंगे। एक जुलाई से व्यापार पर एक टैक्स ही व्यवस्था वस्तु एवं सेवाकर (जीएसटी) लागू हो जाएगी। जीएसटी में टैक्स की दरें 0,5,12, 18 और 28 प्रतिशत निर्धारित की गई हैं। जीएसटी में पंजीकरण कराने वाले व्यापारियों को महीने की दस तारीख ...