This RSS feed URL is deprecated

यशवंत 'रोलबैक' सिन्हा जी, नोटबंदी और जीएसटी जैसे फैसले साहस मांगते हैं! - Firstpost Hindi

नोटबंदी और जीएसटी का फैसला जरुरी था और याद रखना होगा कि साहसी फैसले जब लिए जाते हैं तो उनकी अनिवार्य रुप से आलोचना होती है. Updated On: Sep 27, 2017 10:04 PM IST. S Murlidharan. 0. यशवंत 'रोलबैक' सिन्हा जी, नोटबंदी और जीएसटी जैसे फैसले साहस मांगते हैं! नौकरशाही से राजनीति की दुनिया में आए यशवंत सिन्हा ने कई सरकारों में जिम्मेदारी के अनेक पदों पर काम किया है लेकिन उनके नाम के साथ 'रोलबैक' (यानी एक कदम आगे तो दो कदम पीछे) जैसा नाखुशगवार विशेषण तब जुड़ा जब उनके जिम्मे देश का वित्त मंत्रालय था. साल 2000 का वाकया है, पेट्रोल की कीमतों में बस इजाफा हुआ ही था कि यशवंत सिन्हा ...और अधिक »

नरेंद्र मोदी क्यों हैं यशवंत सिन्हा के निशाने पर - BBC हिंदी

यशवंत सिन्हा के 'I Need To Speak Now' यानी 'अब मुझे बोलना पड़ेगा' शीर्षक वाले लेख ने जहां देश की मंद पड़ती अर्थव्यस्था पर बहस तेज़ की है, वहीं सवाल ये भी उठ रहा है कि पूर्व वित्त मंत्री ने मौजूदा वित्त मंत्री अरुण जेटली की तीखी आलोचना के लिए यही वक़्त क्यों चुना? और क्या ये महज़ जेटली और उनकी नीतियों की निंदा है या सिन्हा जेटली के बहाने नरेंद्र मोदी पर निशाना साध रहे हैं? राजनीतिक विश्लेषक शेखर अय्यर कहते हैं, ''बीजेपी के एक बड़े वर्ग में चिंता है कि अर्थव्यवस्था मौजूदा पतली हालत से अगले साल-ढ़ेढ़ साल में निकल पाएगी या नहीं! और अगर ऐसा नहीं होता तो 2019 चुनावों में वो ...और अधिक »

यशवंत सिन्हा के समर्थन में आए शत्रुघ्न, बोले उनके विचार राष्ट्र के हित में - The Wire Hindi

कहा, यशवंत सिन्हा सच्चे अर्थों में राजनेता हैं, जिसने खुद को साबित किया है और जो देश के सबसे सफल वित्त मंत्रियों में से एक हैं. Shatrughan Sinha. नई दिल्ली: भाजपा सांसद शत्रुघ्न सिन्हा ने अपने पार्टी सहयोगी व पूर्व वित्त मंत्री यशवंत सिन्हा के समर्थन में सामने आए. उन्होंने कहा कि यशवंत सच्चे अर्थों में राजनेता हैं और उन्होंने सरकार को आईना दिखाया है. बिहार से सांसद शत्रुघ्न की अपनी पार्टी के रुख से कई मुद्दों पर मतभिन्नता है. यशवंत सिन्हा ने एक अखबार में प्रकाशित एक लेख में वित्त मंत्री अरुण जेटली की, उनकी आर्थिक नीतियों को लेकर आलोचना की है. पूर्व वित्त मंत्री के ...और अधिक »

जेटली का यशवंत सिन्हा पर तंज, कहा- 80 साल की उम्र में ढूंढ़ रहे हैं नौकरी - The Wire Hindi

अरुण जेटली ने सीधे-सीधे सिन्हा का नाम नहीं लिया, लेकिन कहा कि उनके पास पूर्व वित्त मंत्री होने का सौभाग्य नहीं है, न ही उनके पास ऐसा पूर्व वित्त मंत्री होने का सौभाग्य है जो आज स्तंभकार बन चुका है. New Delhi : File photo of senior BJP leaders Yashwant Sinha and Arun Jaitley after a. वित्त मंत्री अरुण जेटली और पूर्व वित्त मंत्री यशवंत सिन्हा की फाइल फोटो. (पीटीआई). नई दिल्ली: अर्थव्यवस्था का प्रबंधन करने में उनकी कड़ी आलोचना का सरकार द्वारा जोरदार खंडन किए जाने के बावजूद भाजपा के वरिष्ठ नेता यशवंत सिन्हा गुरुवार को भी अपनी बात पर कायम रहे और उम्मीद जताई कि केंद्र अपनी आर्थिक नीतियों ...और अधिक »

आलोचकों को जवाब: अरुण जेटली ने कहा- देश में मंदी का माहौल नहीं, 3 साल में लिए साहसिक फैसले - Hindustan हिंदी

आर्थिक मोर्चे पर आलोचनाओं को खारिज करते हुए वित्त मंत्री अरुण जेटली ने गुरुवार को स्पष्ट किया कि देश में मंदी का माहौल नहीं है। जेटली ने कहा कि मोदी सरकार ने देश को नीतिगत पंगुता से बाहर लाते हुए तीन साल में साहसिक फैसले लिए हैं, जो पिछली सरकार कभी न लेती। एक पुस्तक विमोचन कार्यक्रम में जेटली ने कहा, 'नोटबंदी व जीएसटी से दीर्घावधि में लाभ होगा। कथित मंदी कहां है? इसका कोई आधार नहीं है।' उन्होंने बताया कि नोटबंदी का उद्देश्य था कि अज्ञात धन के मालिक की पहचान हो जाए। जिन लोगों ने इसका विरोध किया, वे वहीं है जो छद्म अर्थव्यवस्था का संचालन कर रहे थे। वित्त मंत्री ...और अधिक »

अटल को भारत रत्न भी दिया, उनकी आलोचना भी कर रहे भाजपा नेता: यशवंत सिन्हा - BBC हिंदी

भाजपा नेता यशवंत सिन्हा ने मोदी सरकार की आर्थिक नीति की आलोचना की, जिसके बाद वह और वित्त मंत्री अरुण जेटली आमने-सामने हैं. भाजपा नेता यशवंत सिन्हा ने कहा है कि अरुण जेटली 'ओछी' टिप्पणियां कर रहे हैं और उनकी आलोचना करके उन्होंने उस वक़्त के प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी की आलोचना की है, जिन्होंने जेटली को मंत्रालय देकर उन पर भरोसा किया था. उन्होंने कहा कि मौजूदा सरकार ने अटल बिहारी वाजपेयी को भारत रत्न दिया है और अब भाजपा के ही नेता उनकी आलोचना भी कर रहे हैं. दरअसल जेटली ने सिन्हा को '80 वर्षीय आवेदक' बताया था और कहा था कि वह अपना रिकॉर्ड भूल गए हैं और ...और अधिक »

अपनों के ही निशाने पर मोदी सरकार, यशवंत सिन्हा को मिला शिवसेना और शत्रुघ्न का साथ - नवभारत टाइम्स

नई दिल्ली अर्थव्यवस्था के मोर्चे पर मोदी सरकार अपनों के ही निशाने पर है। सिन्हा के हमलों के बाद सरकार पर न सिर्फ विपक्ष का हमला तेज हुआ है बल्कि अब शिवसेना जैसे सहयोगी दल ने भी हल्ला बोला है। बीजेपी सांसद शत्रुघ्न सिन्हा ने सरकार को जहां यशवंत सिन्हा की बातों को गंभीरता से लेने की नसीहत दी है वहीं शिवसेना ने अपने मुखपत्र 'सामना' में मोदी सरकार पर हमला बोला है। टॉप कॉमेंट. मुझे पूरी उम्मीद थीकी यह जरूर पधारेंगे ! Laxman kumar Prajapati. सभी कॉमेंट्स देखैं. कॉमेंट लिखें. पढ़ें: मोदी सरकार पर वार का बेटे जयंत ने दिया यशवंत को जवाब शिवसेना ने मुखपत्र 'सामना' के संपादकीय में ...और अधिक »

जेटली ने सिन्हा को बताया '80 वर्षीय नौकरी आवेदक' - BBC हिंदी

बीजेपी नेता यशवंत सिन्हा की आलोचना पर वित्त मंत्री अरुण जेटली ने चुप्पी तोड़ी है. जेटली ने सिन्हा को '80 वर्षीय नौकरी आवेदक' बताया है जो अपना रिकॉर्ड भूल गए हैं और नीतियों से ज़्यादा व्यक्तियों पर टिप्पणी कर रहे हैं. यशवंत सिन्हा का लेख इमेज कॉपीरइट Indian Express. यशवंत सिन्हा ने एक अंग्रेज़ी अख़बार में लेख लिखकर मोदी सरकार की आर्थिक नीतियों की कड़ी आलोचना की थी. उन्होंने यहां तक लिख दिया था कि प्रधानमंत्री ने ग़रीबी को करीब से देखा है और उनके वित्त मंत्री सुनिश्चित कर रहे हैं कि सारे भारतीय इसे करीब से देख सकें. चिदंबरम से मिलीभगत का आरोप. अरुण जेटली, यशवंत ...और अधिक »

यशवंत सिन्हा के बवाल के बीच शत्रुघ्न सिन्हा ने पीएम नरेंद्र मोदी को भेजा यह संदेश - NDTV Khabar

शत्रुघ्न ने ट्वीट किया है कि अर्थव्यवस्था के हालात पर यशवंत सिन्हा के विचार का मैंने और दूसरे विचारवान नेताओं ने भरपूर समर्थन किया है. Written by: वंदना वर्मा, Updated: 29 सितम्बर, 2017 2:13 PM. Share. ईमेल करें. टिप्पणियां. यशवंत सिन्हा के बवाल के बीच शत्रुघ्न सिन्हा ने पीएम नरेंद्र मोदी को भेजा यह संदेश. शत्रुघ्न सिन्हा ने पीएम मोदी को दी यह सलाह. खास बातें. शत्रुघ्न ने यशवंत सिन्हा के विचार का समर्थन किया; एक बार दिखाएं वह छोटे व्यापारियों की चिंता करते हैं; पीएम मोदी को सामने आकर जवाब देना चाहिए. प्रमोटेड. AmazonBasics Mini Bluetooth Speaker · ₹ 999 · Amazon · Get 10% Cashback*.और अधिक »

पिता यशवंत से असहमत होकर सरकार का सुरक्षा कवच बनने की जुगत में जयंत सिन्हा - Firstpost Hindi

अपने पिता के आकलन का खंडन करके जयंत ने शायद वही किया है, जो उन्हें सरकार में बने रहने और भविष्य में अच्छा वक्त आने का इंतजार करते हुए करना चाहिए था. Updated On: Sep 29, 2017 03:01 PM IST. Sanjay Singh. 0. पिता यशवंत से असहमत होकर सरकार का सुरक्षा कवच बनने की जुगत में जयंत सिन्हा. पहली नजर में ऐसा लग सकता है कि यह एक पिता-पुत्र की कहानी है, सीनियर सिन्हा बनाम जूनियर सिन्हा कथा. एक दिन पिता यशवंत सिन्हा के भारतीय अर्थव्यवस्था को 'अस्त-व्यस्त' कर देने के लिए मोदी सरकार, खासकर वित्त मंत्री अरुण जेटली के खिलाफ आग उगलने के बाद, अगले दिन पुत्र जयंत सिन्हा सामने आए और पिता का नाम लिए ...और अधिक »