Shop With US Online NewsJS

This RSS feed URL is deprecated

अटल को भारत रत्न भी दिया, उनकी आलोचना भी कर रहे भाजपा नेता: यशवंत सिन्हा - BBC हिंदी

भाजपा नेता यशवंत सिन्हा ने मोदी सरकार की आर्थिक नीति की आलोचना की, जिसके बाद वह और वित्त मंत्री अरुण जेटली आमने-सामने हैं. भाजपा नेता यशवंत सिन्हा ने कहा है कि अरुण जेटली 'ओछी' टिप्पणियां कर रहे हैं और उनकी आलोचना करके उन्होंने उस वक़्त के प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी की आलोचना की है, जिन्होंने जेटली को मंत्रालय देकर उन पर भरोसा किया था. उन्होंने कहा कि मौजूदा सरकार ने अटल बिहारी वाजपेयी को भारत रत्न दिया है और अब भाजपा के ही नेता उनकी आलोचना भी कर रहे हैं. दरअसल जेटली ने सिन्हा को '80 वर्षीय आवेदक' बताया था और कहा था कि वह अपना रिकॉर्ड भूल गए हैं और ...और अधिक »

जेटली का यशवंत सिन्हा पर तंज, कहा- 80 साल की उम्र में ढूंढ़ रहे हैं नौकरी - The Wire Hindi

अरुण जेटली ने सीधे-सीधे सिन्हा का नाम नहीं लिया, लेकिन कहा कि उनके पास पूर्व वित्त मंत्री होने का सौभाग्य नहीं है, न ही उनके पास ऐसा पूर्व वित्त मंत्री होने का सौभाग्य है जो आज स्तंभकार बन चुका है. New Delhi : File photo of senior BJP leaders Yashwant Sinha and Arun Jaitley after a. वित्त मंत्री अरुण जेटली और पूर्व वित्त मंत्री यशवंत सिन्हा की फाइल फोटो. (पीटीआई). नई दिल्ली: अर्थव्यवस्था का प्रबंधन करने में उनकी कड़ी आलोचना का सरकार द्वारा जोरदार खंडन किए जाने के बावजूद भाजपा के वरिष्ठ नेता यशवंत सिन्हा गुरुवार को भी अपनी बात पर कायम रहे और उम्मीद जताई कि केंद्र अपनी आर्थिक नीतियों ...और अधिक »

यशवंत सिन्हा के समर्थन में आए शत्रुघ्न, बोले उनके विचार राष्ट्र के हित में - The Wire Hindi

कहा, यशवंत सिन्हा सच्चे अर्थों में राजनेता हैं, जिसने खुद को साबित किया है और जो देश के सबसे सफल वित्त मंत्रियों में से एक हैं. Shatrughan Sinha. नई दिल्ली: भाजपा सांसद शत्रुघ्न सिन्हा ने अपने पार्टी सहयोगी व पूर्व वित्त मंत्री यशवंत सिन्हा के समर्थन में सामने आए. उन्होंने कहा कि यशवंत सच्चे अर्थों में राजनेता हैं और उन्होंने सरकार को आईना दिखाया है. बिहार से सांसद शत्रुघ्न की अपनी पार्टी के रुख से कई मुद्दों पर मतभिन्नता है. यशवंत सिन्हा ने एक अखबार में प्रकाशित एक लेख में वित्त मंत्री अरुण जेटली की, उनकी आर्थिक नीतियों को लेकर आलोचना की है. पूर्व वित्त मंत्री के ...और अधिक »

पिता से असहमत जयंत सिन्हा बोले- नई अर्थव्यवस्था बना रहे हैं लंबे समय में दिखेगा फायदा - आज तक

अटल बिहारी वाजपेयी सरकार में वित्त मंत्री रहे बीजेपी के दिग्गज यशवंत सिन्हा के द्वारा अर्थव्यवस्था की स्थिति पर उठाए गए सवालों से केंद्र सरकार बैकफुट पर थी. अब, यशवंत सिन्हा को जवाब देने के लिए सरकार की ओर से कोई और नहीं बल्कि उनके ही बेटे जयंत सिन्हा मैदान में आए हैं. जयंत सिन्हा ने कहा कि हम एक नई मजबूत अर्थव्यवस्था बना रहे हैं, जो कि लंबे समय में न्यू इंडिया के लिए फायदेमंद होगी. जयंत सिन्हा ने कहा है कि एक या दो क्वार्टर के डाटा को ना देखते हुए इस बात पर ध्यान देना चाहिए कि हम अभी संरचनात्मक सुधार कर रहे हैं, जो कि लंबे समय के लिए हमारे लिए फायदेमंद होगा. मोदी के ...और अधिक »

पिता यशवंत से असहमत होकर सरकार का सुरक्षा कवच बनने की जुगत में जयंत सिन्हा - Firstpost Hindi

अपने पिता के आकलन का खंडन करके जयंत ने शायद वही किया है, जो उन्हें सरकार में बने रहने और भविष्य में अच्छा वक्त आने का इंतजार करते हुए करना चाहिए था. Sanjay Singh Updated On: Sep 29, 2017 03:01 PM IST. 0. पिता यशवंत से असहमत होकर सरकार का सुरक्षा कवच बनने की जुगत में जयंत सिन्हा. पहली नजर में ऐसा लग सकता है कि यह एक पिता-पुत्र की कहानी है, सीनियर सिन्हा बनाम जूनियर सिन्हा कथा. एक दिन पिता यशवंत सिन्हा के भारतीय अर्थव्यवस्था को 'अस्त-व्यस्त' कर देने के लिए मोदी सरकार, खासकर वित्त मंत्री अरुण जेटली के खिलाफ आग उगलने के बाद, अगले दिन पुत्र जयंत सिन्हा सामने आए और पिता का नाम लिए ...और अधिक »

भारतीय अर्थव्यवस्था पर वार-पलटवार: यशवंत सिन्हा की आशंकाएं vs जयंत सिन्हा की संभावनाएं - India.com हिंदी

अटल बिहारी सरकार में वित्र मंत्री रहे बीजेपी के वरिष्ठ नेता यशवंत सिन्हा ने भारतीय अर्थव्यवस्था की खस्ता हालत के लिए अरुण जेटली पर निशाना साधा. बुधवार को इंडियन एक्सप्रेस में 'I need to speak-up now' शीर्षक से एक लेख लिखा जिसमें उन्होंने नोटबंदी, जीएसटी समेत एनडीए सरकार के कई फैसलों की आलोचना की थी. सिन्हा के लेख में ज्यादातर बातें वहीं थी जिन्हें पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह और पूर्व वित्त मंत्री पी चिदंबरम दोहराते रहे हैं. अपने पिता के लेख के जवाब में पुत्र जयंत सिन्हा ने भी गुरुवार को टाइम्स ऑफ इंडिया में 'New Economy For New India' नाम से एक लेख लिखा. जयंत सिन्हा ...और अधिक »

अब अरुण जेटली के तंज का यशवंत सिन्हा ने दिया जवाब, मैं नौकरी मांगता तो वह वित्त मंत्री न होते - नवभारत टाइम्स

नई दिल्ली वित्त मंत्री अरुण जेटली की ओर से 80 साल की उम्र में नौकरी मांगने के तंज पर पूर्व फाइनैंस मिनिस्टर यशवंत सिन्हा ने जवाब दिया है। सिन्हा ने जेटली पर जोरदार हमला करते हुए कहा कि यदि मैं नौकरी मांगता तो अरुण जेटली आज उस स्थान पर नहीं होते, जहां वह हैं। देश में आर्थिक गिरावट के माहौल के लिए यशवंत सिन्हा द्वारा खुद को जिम्मेदार ठहराए जाने के जवाब में जेटली ने कहा था कि सिन्हा 80 साल की उम्र में नौकरी मांग रहे हैं। जेटली ने कहा था कि मैं इस स्थिति में नहीं हूं कि पूर्व वित्त मंत्री की हैसियत से अखबार में लेख लिखूं।और अधिक »

अर्थव्यवस्था के ये 11 तथ्य गिनाकर यशवंत सिन्हा ने पीएम मोदी और वित्त मंत्री जेटली को बनाया निशाना - नवभारत टाइम्स

नई दिल्ली पूर्व वित्त मंत्री और वरिष्ठ बीजेपी नेता यशवंत सिन्हा ने मोदी सरकार की आर्थिक नीतियों की बखिया उधेड़ दी। उन्होंने इंडियन एक्सप्रेस में लिखे एक लेख के जरिए अर्थव्यवस्था के मौजूदा हालात पर गहरी नाराजगी जाहिर की। सिन्हा ने कहा कि ताजा हालात का अंदाजा लगाकर इससे निपटना बहुत मुश्किल काम नहीं था, लेकिन जेटली के कंधों पर इतनी जिम्मेदारियां दे गईं कि उनसे इतनी उम्मीद लगाना भी बेमानी है। आइए जानते हैं वे 11 बड़ी बातें जिनके आधार पर यशवंत सिन्हा ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और वित्त मंत्री अरुण जेटली को आड़े हाथों लिया... इसे भी पढ़ें: जेटली ने इकॉनमी का ...और अधिक »

विचार: अपने लेख के तथ्यों में पूर्व वित्त मंत्री से ज्यादा एक नेता के रूप में दिख रहे हैं यशवंत सिन्हा - नवभारत टाइम्स

आर श्रीराम जिन लोगों ने पूर्व वित्त मंत्री यशवंत सिन्हा का अर्थव्यवस्था पर लिखा लेख पढ़ा, उनसे एक सवाल है- क्या सिन्हा सिर्फ पूर्व वित्त मंत्री हैं या एक मंझे राजनेता भी? (पूर्व या मौजूदा) वित्त मंत्री के रूप में आपको हमेशा तथ्यों से चिपके रहना पड़ता है और आंकड़ों के आधार पर अपनी बात रखनी होती है। हालांकि, एक राजनेता के लिए ऐसी कोई मजबूरी नहीं है। वह तथ्य गढ़ सकता है, चुनिंदा तथ्यों का हवाला दे सकते है, बिना आंकड़े के लांछन लगा सकता है और चित भी मेरी-पट भी मेरी का खेल खेल सकता है! तथ्यों के लिहाज से सिन्हा का कल (बुधवार) का लेख एक राजनेता का जान पड़ता है, न कि किसी ...और अधिक »

यशवंत 'रोलबैक' सिन्हा जी, नोटबंदी और जीएसटी जैसे फैसले साहस मांगते हैं! - Firstpost Hindi

नोटबंदी और जीएसटी का फैसला जरुरी था और याद रखना होगा कि साहसी फैसले जब लिए जाते हैं तो उनकी अनिवार्य रुप से आलोचना होती है. S Murlidharan Updated On: Sep 27, 2017 10:04 PM IST. 0. यशवंत 'रोलबैक' सिन्हा जी, नोटबंदी और जीएसटी जैसे फैसले साहस मांगते हैं! नौकरशाही से राजनीति की दुनिया में आए यशवंत सिन्हा ने कई सरकारों में जिम्मेदारी के अनेक पदों पर काम किया है लेकिन उनके नाम के साथ 'रोलबैक' (यानी एक कदम आगे तो दो कदम पीछे) जैसा नाखुशगवार विशेषण तब जुड़ा जब उनके जिम्मे देश का वित्त मंत्रालय था. साल 2000 का वाकया है, पेट्रोल की कीमतों में बस इजाफा हुआ ही था कि यशवंत सिन्हा ...और अधिक »