जिंनपिंग से मुलाकात से पहले ट्रंप ने कहा, व्यापार घाटा बर्दाश्त नहीं करेगा अमेरिका! - News18 इंडिया

अमेरिका और चीन की गिनती विश्व के दो शक्तिशाली देशों के रूप में की जाती है. अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप को आगामी 6 और 7 अप्रैल को फ्लोरिडा स्थित आवास मार-ए-लागो में चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग से मुलाकात करनी है. राजनीतिक और कुटनीतिक रूप से यह मीटिंग बेहद ज़रुरी है. इस बाबत राष्ट्रपति ट्रंप ने ट्वीट भी किया है, जिसमें उन्होंने लिखा है कि चूंकि चीन के साथ व्यापार में अमेरिका को भारी व्यापार घाटा होता है, ऐसे में अमेरिकी कंपनियों को अन्य विकल्पों को तलाशने के लिए तैयार रहना चाहिए. The meeting next week with China will be a very difficult one in that we can no longer have ...और अधिक »

शी के साथ होने वाला सम्मेलन रहेगा 'बेहद मुश्किल': डोनाल्ड ट्रंप - Bhasha-PTI

:ललित के झा: वाशिंगटन, 31 मार्च :भाषा: राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने कहा है कि अगले सप्ताह उनके चीनी समकक्ष शी चिनफिंग के साथ होने जा रहा उच्च स्तरीय सम्मेलन 'बेहद मुश्किल' रहेगा क्योंकि अमेरिका अब इतना भारी व्यापार घाटा और नौकरियों का नुकसान बर्दाश्त नहीं कर सकता। ट्रंप ने ट्वीट किया कि चूंकि चीन के साथ व्यापार में अमेरिका को भारी व्यापार घाटा होता है, ऐसे में अमेरिकी कंपनियों को अन्य विकल्पों को तलाशने के लिए तैयार रहना चाहिए। ट्रंप को आगामी छह और सात अप्रैल को फ्लोरिडा स्थित आवास मार-ए-लागो में शी से मुलाकात करनी है। दोनों नेताओं के बीच यह पहली शिखर ...और अधिक »

चीन को घेरने की अमेरिकी नीति का भारत हो सकता है शिकार - Nai Dunia

वाशिंगटन। अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की व्यापार नीति का भारत भी शिकार हो सकता है। व्यापारिक घाटा रोकने के लिए वे एक कार्यकारी आदेश जारी करने वाले हैं। माना जा रहा है कि चीन को घेरने की रणनीति के तहत ऐसा किया जा रहा है। लेकिन, इससे भारत, इंडोनेशिया, मलेशिया और वियतनाम जैसे देश भी प्रभावित होंगे। इसका कारण इन सभी देशों से अमेरिका का बड़ा व्यापारिक घाटा है। ट्रंप यह आदेश ऐसे वक्त में जारी करने जा रहे हैं जब अगले हफ्ते उनकी चीनी समकक्ष शी चिनफिंग से मुलाकात होनी है। ट्रंप ने ट्वीट कर कहा है कि यह बैठक बेहद मुश्किल हो सकती है, क्योंकि अमेरिका अब इतने भारी ...और अधिक »

चीन के साथ तल्खी के बीच डोनाल्ड ट्रंप करेंगे शी चिनफिंग से मुलाकात, भारत की भी पैनी नजर - एनडीटीवी खबर

वाशिंगटन/बीजिंग: विश्व की दो महाशक्तियां चीन और अमेरिका जल्द मिलने वाले हैं. चीन के राष्ट्रपति शी चिनफिंग अगले सप्ताह अपने अमेरिकी समकक्ष डोनाल्ड ट्रंप के साथ पहली शिखर स्तरीय वार्ता करेंगे, जिसमें दोनों नेता द्विपक्षीय संबंधों की दशा और दिशा के लिए एक आधार तैयार कर सकते हैं. इस वार्ता पर भारत की भी नजर रहेगी, क्योंकि इससे कहीं न कहीं ट्रंप एशिया को लेकर अपने रुख को भी साफ करेंगे. दरअसल, पीएम मोदी भी इस साल अमेरिका का दौरा कर सकते हैं. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इस वर्ष के आखिर में वाशिंगटन का दौरा करेंगे और अमेरिकी राष्‍ट्रपति डोनाल्‍ड ट्रंप उनकी मेजबानी ...और अधिक »

चीनी राष्ट्रपति का अमेरिका और यूरोप दौरा रहेगा खास - चाइना रेडियो इंटरनेशनल

फिनलैंड के राष्ट्रपति साउली निनिस्टो और अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प के निमंत्रण पर चीनी राष्ट्रपति शी चिनफिंग 4 से 6 अप्रैल तक फिनलैंड का दौरा करेंगे। जबकि 6 से 7 अप्रैल तक शी चिनफिंग अमेरिका के मार-अ-लागो उद्यान में राष्ट्रपति ट्रम्प के साथ भेंटवार्ता करेंगे। चीनी विदेश मंत्रालय ने पेइचिंग में राष्ट्रपति की यात्रा पर एक संवाददाता सम्मेलन बुलाया। चीनी उप विदेश मंत्री वांग श्याओ और जंग जक्वांग ने शी चिनफिंग के दौरे के बारे में जानकारी दी। फिनलैंड की यात्रा के बारे में वांग श्याओ ने कहा कि यह शी चिनफिंग की उत्तरी यूरोप की पहली यात्रा होगी। यात्रा के ...और अधिक »

ट्रम्प की शी चिनफिंग से होगी मुलाक़ात - चाइना रेडियो इंटरनेशनल

ट्रम्प की शी चिनफिंग से होगी मुलाक़ात. 2017-03-31 18:35:04 cri. अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने चीनी राष्ट्रपति शी चिनफिंग से वार्ता करने की उम्मीद जताई है। ताकि अमेरिका-चीन संबंधों के विकास को आगे ले जाने की योजना तैयार की जा सके। व्हाइट हाउस के प्रवक्ता ने 30 मार्च को कहा कि दोनों नेता मुख्य मुद्दों पर विचार-विमर्श करेंगे। इसके बाद वे समान रुचि वाले मुद्दों की चर्चा करेंगे। उन्होंने यह भी कहा कि इस वार्ता का लक्ष्य ट्रम्प और शी के बीच निजी संबंध कायम करने का मौका देना है। देव. आपके विचार (0 टिप्पणियां). 搜狐“我来说两句”用户公约. कृपया अपने विचार यहां लिखें... 发布.और अधिक »

संबंधों का भविष्य तय करेगी चीन-अमेरिका शिखर वार्ता - चाइना रेडियो इंटरनेशनल

चीनी राष्ट्रपति शी चिनफिंग 6 से 7 अप्रैल तक अमेरिका के मार-अ-लागो उद्यान में डोनाल्ड ट्रम्प से भेंटवार्ता करेंगे। वह अमेरिकी राष्ट्रपति के निमंत्रण पर वहां पहुंचेंगे। चीनी मामलों के जाने-माने अमेरिकी अनुसंधानकर्ता ली छन के मुताबिक यह भेंटवार्ता बहुत महत्वपूर्ण है, जो भविष्य में दोनों देशों के संबंधों का भविष्य तय करेगी। ली छन ने कहा कि हालिया दुनिया के सामने कई चुनौतियां हैं। चीन-अमेरिका संबंध और जटिल बन रहे हैं। इसलिए दोनों को द्विपक्षीय संबंधों का पुनः निपटारा करने की जरूरत है। दो बड़े देश होने के नाते, चीन व अमेरिका को हाथ मिलकर सहयोग कर चुनौतियों का ...और अधिक »

ट्रंप की दुविधा: चीनी राष्ट्रपति जिनपिंग के साथ बैठक को बताया मुश्किल - Hindustan हिंदी

अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग के साथ होने वाली बैठक को बहुत ही मुश्किल बताया है। ट्रंप ने ट्वीट कर कहा, “चीन के राष्ट्रपति के साथ बैठक मुश्किल होगी। हम बहुत अधिक समय तक व्यापार घाटे में नहीं रह सकते और न ही रोजगारों के अवसरों को खो सकते हैं। अमेरिकी कंपनियों को अन्य विकल्पों के लिए भी तैयार रहना पड़ेगा।” पाकिस्तान: पहले नोबेल विजेता के चचेरे भाई की गोली मारकर हत्या. समाचार एजेंसी सिन्हुआ के मुताबिक, दोनों नेताओं के बीच मुख्य तौर पर आर्थिक एवं व्यावसायिक क्षेत्रों पर बता होगी। गौरतलब है कि ट्रंप ने राष्ट्रपति चुनाव के प्रचार ...और अधिक »

चीन ने किया ट्रंप से आग्रह, उच्च तकनीक निर्यात नियंत्रण को करें कम - Khabar IndiaTV

बीजिंग: चीन ने अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप से शुक्रवार को उच्च-तकनीक माल के निर्यात पर नियंत्रण को कम करने का आग्रह किया है, ताकि वह व्यापार घाटे से उबर सके, जिसकी वह बार-बार शिकायत करता आया है। ये भी पढ़े. नाम में क्या रखा है? बात अगर योगी आदित्यनाथ की है तो बहुत कुछ · शहरयार ने PCB से दिया इस्तीफा, BCCI को कोर्ट में घसीटने की दी धमकी · घोटाले के आरोप पर आजम खान ने कहा, कल्बे जव्वाद दुश्मनी निकाल रहे हैं. उप विदेशमंत्री झेंग जेगुआंग ने ट्रंप द्वारा बीजिंग की हालिया आलोचना के मद्देनजर कहा, "अगर अमेरिका उच्च-तकनीक सामानों के निर्यात पर नियंत्रण में ढील दे ...और अधिक »

ट्रंप और जिनपिंग की मुलाकात पर होगी भारत की भी नज़र - haribhoomi

दुनिया के दो सबसे ताकतवर देशों के मुखिया अगले हफ्ते मुलाकात करने वाले हैं। अमेरिका के राष्ट्रपति डॉनल्ड ट्रंप और चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग द्विपक्षीय संबंधों पर बातचीत के लिए अगले हफ्ते मिल रहे हैं। कूटनीतिक नजरिये से इस मुलाकात को बेहद महत्वपूर्ण माना जा रहा है। राष्ट्रपति चुनाव के प्रचार के दौरान ट्रंप ने चीन पर अपनी मुद्रा का अवमूल्यन करने और अमेरिकी व्यापार को नुक्सान पहुंचाने का आरोप लगाया था। इस मुलाकात से पहले भी ट्रंप ने ट्वीट कर यह साफ़ कर दिया है कि ये मुलाक़ात कठिन हालातों में हो रही है। The meeting next week with China will be a very difficult one in that we can no longer ...और अधिक »