2 किलोवॉट तक राहत, ऊपर वालों पर बढ़ेगा बिजली बिल बोझ - Hindustan हिंदी

राजधानी में बिजली के दाम नहीं बढ़ेंगे। हालांकि फिक्स जार्च में बढ़ोतरी और 3.70 फीसदी सरचार्ज लगने से अगले महीने आपका बिल बढ़ा हुआ आएगा। साथ ही 1 किलोवॉट के कनेक्शन वालों को राहत मिली है। उन्हें 20 रुपए कम चुकाने होंगे। जबकि 3 से 5 किलोवाट तक के कनेक्शन वालों के बिल 5 से लेकर 75 रुपए बढ़ जाएंगे। दिल्ली विद्युत विनियामक आयोग (डीईआरसी) ने गुरुवार को नई दरों का ऐलान किया। देर रात 12 बजे से यह दरें लागू भी हो गई हैं। डीईआरसी सदस्य बी.वी. सिंह ने बताया कि एनर्जी चार्ज में कोई बदलाव नहीं किया गया है। हालांकि श्रेणी के हिसाब से फिक्स चार्ज बदला गया है। छोटे घर, झुग्गी ...

ई-रिक्शा भी घर में होंगे चार्ज, नहीं होगी बिजली चोरी - नवभारत टाइम्स

नई दिल्ली: डीईआरसी (दिल्ली इलेक्ट्रिसिटी रेगुलेटरी कमिशन) ने नया टैरिफ प्लान लागू कर दिया है। इस टैरिफ प्लान में बिजली लोड के अनुसार फिक्स्ड रेट में बदलाव किए गए हैं। इसके साथ ही ई-रिक्शा को बड़ी छूट दी गई है। अब ई-रिक्शा को घर पर चार्ज करना संभव हो सकेगा। अब तक इसे कमर्शल एक्टिविटी माना जाता था, लेकिन अब ई-रिक्शा चार्ज करने के लिए डोमेस्टिक कनेक्शन वैलिड होगा। डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया और पावर मिनिस्टर सत्येंद्र जैन ने कहा कि पिछले तीन सालों से दिल्ली में आप ने बिजली के रेट बढ़ने नहीं दिए हैं। इस बार भी टैरिफ में बदलाव नहीं है। 22000 कर्मियों को पेंशन देने के लिए ...

बिजली : नहीं बढ़े रेट, छोटे ग्राहकों को नया फायदा - नवभारत टाइम्स

दिल्ली इलेक्ट्रिसिटी रेगुलेटरी कमिशन (डीईआरसी) ने 2017-18 के लिए बिजली का टैरिफ प्लान जारी कर दिया है। लगातार तीसरे साल बिजली के दाम नहीं बढ़ाए गए हैं। हालांकि 3 किलोवॉट से अधिक लोड की बिजली खर्च करने वाले उपभोक्ताओं के फिक्स्ड चार्ज को बढ़ाया गया है। एक किलोवॉट लोड तक राहत देने की कोशिश भी की गई है। नया टैरिफ प्लान 1 सितंबर से लागू हो गया है। डीईआरसी के मेंबर बीपी सिंह ने बताया कि छोटे ग्राहकों को राहत देने की कोशिश की गई है। ध्यान रखा गया है कि उन पर अधिक भार न पड़े और बिजली कंपनियों को भी नुकसान न हो। फिक्स्ड चार्ज बढ़ने से कंपनियों का रेवेन्यू गैप भी कम ...

डीईआरसी ने बिजली कंपनियों को पहुंचाया 700 करोड़ का लाभ - Samay Live

यह राशि अभी तक पेंशन ट्रस्ट के लिए बिजली वितरण कंपनियां उपभोक्ताओं से बिजली बिल के साथ वसूलती थीं और पेंशन ट्रस्ट में जमा करती थीं ,लेकिन अब बिजली वितरण कंपनियां यह राशि अपने लिए वसूलेंगी. पेंशन ट्रस्ट की राशि फिक्स चार्ज से वसूली जाएगी. इस तरह से डीईआरसी ने तीनों बिजली वितरण कंपनियों को 700 करोड़ का लाभ पहुंचाया है. इस मामले में यूनाइटेड रेजीडेंट ऑफ दिल्ली के महासचिव सौरभ गांधी ने कहा कि डीईआरसी ने बिजली वितरण कंपनियों का साथ देते हुए फिक्स चार्ज में बढ़ोतरी कर जनता पर बोझ डाल दिया है. उन्होंने कहा कि 3 से 5 किलोवाट के उपभोक्ताओं को 5 रुपए से 75 रुपए तक ...

बिजली दरें नहीं, फिक्स चार्ज बढ़ा - Samay Live

दिल्ली विद्युत विनियामक आयोग (डीईआरसी) ने वर्ष 2017-18 के लिए नई बिजली दरों की घोषणा कर दी है. आयोग ने बिजली दरों में कोई बढ़ोतरी नहीं की है लेकिन फिक्स चार्ज और सरचार्ज को बढ़ा दिया है. फिक्स चार्ज और सरचार्ज में बढ़ोतरी से तीन किलोवाट के कनेक्शन धारक पर पांच रुपए प्रतिमाह, चार किलोवाट के उपभोक्ता को 40 रुपए प्रति माह और 5 किलोवाट के उपभोक्ता को 75 रुपए प्रति माह का अतिरिक्त भार पड़ेगा. नई दरें एक सितम्बर से लागू होंगी. डीईआरसी के सदस्य बीपी सिंह ने बृहस्पतिवार को प्रेस कांफ्रेस में नई बिजली दरों की घोषणा करते हुए कहा कि बिजली दरें यथावत रहेंगी. उन्होंने कहा कि ...

दिल्ली में नहीं बढ़ेंगी बिजली की दरें - Samachar Jagat

नई दिल्ली। दिल्ली विद्युत नियामक आयोग (डीईआरसी) ने बिजली उपभोक्ताओं को राहत देते हुए कहा कि राष्ट्रीय राजधानी में किसी भी श्रेणी में बिजली की दरों में बढ़ोतरी नहीं होगी। डीईआरसी ने बताया,''वित्तीय वर्ष 2017-18 के सभी श्रेणियों में कोई बदलाव नहीं किया गया है।'' हालांकि डीईआरसी ने एक किलोवाट (केवी) से पांच केवी तक प्रति महीने निर्धारित शुल्क (निर्धारित शुल्क पद्धति) में संशोधन किया है। निर्धारित शुल्क के अनुसार एक केवी तक बिजली खपत करने वाले उपभोक्ताओं के बिजली की दरों में 50 प्रतिशत की कमी की गयी है। अब उन्हें प्रति महीने 40 रुपए के बजाय 20 रुपए बिल चुकाना ...

गोशालाओं पर मेहरबान हुआ डीईआरसी - दैनिक भास्कर

जितना ज्यादा लोड, उतना ज्यादा आएगा बिल राजधानीमें गोशालाओं को भी घरेलू दर पर बिजली की आपूर्ति की जाएगी।... जितना ज्यादा लोड, उतना ज्यादा आएगा बिल राजधानीमें गोशालाओं को भी घरेलू दर पर बिजली की आपूर्ति की जाएगी। डीईअारसी की वित्तीय वर्ष 2017-18 के लिए जारी टैरिफ सूची में इस स्कीम को शामिल किया है। इसके अलावा राजधानी में पंजीकृत हॉस्टल और पेइंगगेस्ट के मकानों को भी घरेलू दर पर बिजली की आपूर्ति की जाएगी। आयोग के इस फैसले से राजधानी के विभिन्न इलाकों में संचालित गोशालाओं के लिए राहत की खबर है। आयोग ने इस बार उपभोक्ताओं के लिए नयी सुविधा जारी की ...

सावधान! बिजली काटेगी दिल्ली में आपकी जेब, फिक्स चार्ज में हुई बढ़ोत्तरी - Navodaya Times

Navodayatimes नई दिल्ली/टीम डिजिटल। बिजली के दाम तय करने वाली संस्था दिल्ली विद्युत विनियामक आयोग (डीईआरसी) ने बिजली पर लगने वाले फिक्स चार्ज में थोड़ी बढ़ोतरी की है। जिससे उपभोक्ताओं पर इसका बोझ पडऩा तय है। इस महीने के अंत में जो बिल उन्हें मिलेंगे, संभवत: नई स्कीम का भार उन बिलों में जुड़कर आए। जिन घरेलू उपभोक्ताओं के बिजली के मीटर का लोड तीन से पांच किलोवॉट तक है, उन्हें फिक्स जार्च अब थोड़ा ज्यादा देना होगा। फिक्स चार्ज में मीटर के लोड के हिसाब से बढ़ोतरी की गई है। उपभोक्ताओं को पांच रुपए से 75 रुपए तक ज्यादा फिक्स चार्ज अब देना होगा। कपिल का स्वास्थ्य ...

दिल्ली के लोगों को देना होगा बिजली का अधिक बिल - Jansatta

दिल्ली विद्युत विनियामक आयोग (डीईआरसी) ने गुरुवार को दिल्ली में बिजली के दामों है। सरचार्ज में 3.7 फीसद तथा नियत प्रभार में 5 फीसद से 75 फीसद तक की वृद्धि की गई है। Author जनसत्ता नई दिल्ली | September 1, 2017 01:16 am. 0. Shares. Share · Next. दिल्ली विद्युत विनियामक आयोग (डीईआरसी) ने गुरुवार को दिल्ली में बिजली के दामों में मामूली बढ़ोतरी की है। नई दरों के अनुसार 3 किलोवाट लोड से अधिक पर विद्यमान नियत प्रभार 100 रुपए से बढ़ाकर क्रमश: 105, 140 तथा 175 रुपए किया जा रहा है। सरचार्ज में 3.7 फीसद तथा नियत प्रभार में 5 फीसद से 75 फीसद तक की वृद्धि की गई है। निजी बिजली कंपनियां काफी ...

केजरीवाल सरकार और DERC ने दिल्ली की जनता के साथ धोखा किया: मनोज तिवारी - नवभारत टाइम्स

प्रदेश बीजेपी अध्यक्ष मनोज तिवारी ने आरोप लगाया है कि केजरीवाल सरकार और डीईआरसी ने दिल्ली की जनता के साथ विश्वासघात किया है। सीधे तौर पर तो बिजली की दरों में कोई बढ़ोतरी नहीं दर्शाई गई है, लेकिन फिक्स्ड सरचार्ज की दरों में बदलावों से बिजली कंपनियों को 35 से 40 करोड़ का फायदा पहुंचेगा। तिवारी ने आरोप लगाया कि पिछले 31 महीनों में केजरीवाल सरकार ने दिल्ली में बिजली की दरें घटाने के लिए कोई कोशिश नहीं की, उल्टे बिजली कंपनियों के खातों की जांच के नाम पर छलावा किया गया। बीजेपी नेता ने कहा कि केजरीवाल सरकार चाहती तो केवल रिटर्न ऑन इक्विटी को मौजूदा बैंक ...

केजरीवाल व सत्येंद्र जैन ने दिया झूठा भरोसा, जेब पर पड़ेगा एक हजार करोड़ का भार! - देशबन्धु

दिल्ली विधानसभा में नेता विपक्ष विजेन्द्र गुप्ता ने कहा कि केजरीवाल सरकार चुनावी वायदों और निरन्तर आश्वासनों के बावजूद भी कल से दिल्ली वासियों के बिजली के बिल बढऩे जा रहे हैं... एजेंसी. September 1,2017 12:05. Share: AddThis Sharing Buttons. Share to Facebook Share to WhatsApp Share to Twitter Share to Google+ Share to LinkedIn. केजरीवाल व सत्येंद्र जैन ने दिया झूठा भरोसा, जेब पर पड़ेगा एक हजार करोड़ का. Kejrival. हाइलाइट्स. कैसे बढ़ा बिल. नई दिल्ली। दिल्ली की रेजिडेंट वेलफेयर एसोसिएशंस की संस्था यूनाइटेड रेजीडेंट ऑफ दिल्ली के महासचिव व बिजली मामले में डीईआरसी में पेश हुए सौरभ गांधी ने कहा कि ...

सरचार्ज व निर्धारित शुल्क से बढ़ेगा बिजली का बिल, दरों में नहीं की वृद्धि - देशबन्धु

नई दिल्ली। दिल्लीवासियों की जेब पर बिजली के दाम में मामूली बढ़ोत्तरी का भार पड़ेगा। दरअसल बिजली कंपनियों ने सीधे बिजली के दाम न बढ़ाकर निर्धारित शुल्कमें बदलाव के जरिए दिल्लीवासियों की जेब से पैसे निकालने की योजना का ऐलान किया है। दिल्ली विद्युत विनियामक आयोग ने आज नई दरों में कहा कि बिजली के दाम में कोई बदलाव नहीं किया गया है। लेकिन सरचार्ज जरूर बढ़ा दिया गया है और इससे बिल में बढ़ोत्तरी जरूर होगी। हालांकि एक किलोवाट के कनेक्शन वाले उपभोक्ताओं को राहत मिली है व उन्हें 40 रूपए के स्थान पर 20 रुपए देने होंगे। जबकि तीन से पांच किलोवाट तक के कनेक्शन वाले ...

दिल्लीवालों को 'बिजली का झटका', पॉकेट पर पड़ेगी मार - आज तक

दिल्ली में बिजली के दामों में डीईआरसी ने कोई बड़ी बढ़ोतरी नहीं की है, इसके बावजूद दिल्लीवालों पर महंगी बिजली का बोझ पड़ेगा. दिल्ली विद्युत नियामक आयोग ने फिक्स चार्ज में बदलाव किया है. साथ ही जिस पेंशन ट्रस्ट के लिए पहले बिजली कंपनियां 694 करोड़ रुपये देती थी, उसे अब 3.70% के सरचार्ज के साथ आम लोगों से वसूला जाएगा. बिजली के नए दामों में आंकड़ों की बाजीगरी से केजरीवाल सरकार बेशक वाहवाही लूट रही है, लेकिन आम आदमी को महंगाई का थोड़ा झटका लगा है. नए पावर टैरिफ में प्रति यूनिट बिजली की कीमतों में कोई बदलाव नहीं किया गया है, लेकिन फिर भी 2 किलोवाट के कनेक्शन पर ...

बिजली दरें नहीं बढ़ी मगर फि क्स्ड चार्ज बढ़ा - Business Standard Hindi

दिल्ली विद्युत विनियामक आयोग ने लगातार तीसरे साल बिजली दरों में बढ़ातरी नहीं किया लेकिन 2 किलोवॉट से अधिक लोड पर फिक्स्ड चार्ज बढ़ाने की मंजूरी दी है। इससे लोगों के बिजली बिल में थोड़ा इजाफा होगा। 3 से 5 किलोवॉट लोड वाले उपभोक्ताओं का बिल फिक्स्ड चार्ज बढऩे से 5 से 75 रुपये प्रति माह बढ़ेगा जबकि 5 किलोवॉट से अधिक लोड पर 150 से 2,000 रुपये प्रति माह की वृद्घि होगी। हालांकि 1 किलोवॉट के लिए यह चार्ज 20 घटने से 11.72 लाख घरेलू उपभोक्ताओं का बिल 20 रुपये कम आएगा। 5 किलोवॉट तक छोटे वाणिज्यिक प्रतिष्ठïानों को पहले 400 यूनिट खपत पर घरेलू श्रेणी में माना जाता था ...

निजी बिजली कंपनियों को फायदा पहुंचा रही है सरकार : भाजपा - दैनिक जागरण

दिल्ली विद्युत विनियामक आयोग (डीईआरसी) द्वारा घोषित बिजली की दरों का भाजपा ने विरोध किया है। भाजपा का कहना है कि निर्धारित शुल्क बढ़ाकर और अधिभार लगाकर उपभोक्ताओं के साथ अन्याय किया गया है। इससे उपभोक्ताओं को ज्यादा बिजली बिल चुकाना होगा। दिल्ली प्रदेश भाजपा अध्यक्ष मनोज तिवारी का कहना है कि निजी बिजली वितरण कंपनियों (डिस्कॉम) को फायदा पहुंचाया जा रहा है। उन्होंने कहा कि दिल्ली सरकार ने बिजली की दरें घटाने के लिए कोई प्रयास नहीं किया। बिजली कंपनियों के खातों की जाच के नाम पर भी केवल छलावा किया गया। उन्होंने कहा कि बिजली कंपनियों द्वारा ...

आरडब्ल्यूए ने किया विरोध - दैनिक जागरण

नई दिल्ली: बिजली की दरों का रेजिडेट वेलफेयर एसोसिएशन (आरडब्ल्यूए) ने विरोध किया है। यूनाइट. राज्य ब्यूरो, नई दिल्ली: बिजली की दरों का रेजिडेट वेलफेयर एसोसिएशन (आरडब्ल्यूए) ने विरोध किया है। यूनाइटेड रेजिडेट ऑफ दिल्ली (यूआरडी) के महासचिव सौरभ गांधी ने कहा कि दिल्ली विद्युत विनियामक आयोग (डीईआरसी) ने निजी बिजली कंपनियों को लाभ पहुंचाया है। उसने निर्धारित शुल्क में बढ़ोतरी कर जनता पर बोझ डाल दिया है। तीन से पांच किलोवाट लोड वाले घरेलू उपभोक्ताओं को ज्यादा शुल्क देना होगा। उन्होंने कहा कि सरकार यह दावा कर रही थी कि बिजली की दरें नहीं बढ़ेगी। इसके बावजूद ...

उपभोक्ताओं को चुकाना होगा ज्यादा बिजली बिल - दैनिक जागरण

राज्य ब्यूरो, नई दिल्ली : दिल्ली में बिजली की दरें नहीं बढ़ाई गई है। इसके बावजूद उपभोक्ताओं को ज. राज्य ब्यूरो, नई दिल्ली : दिल्ली में बिजली की दरें नहीं बढ़ाई गई है। इसके बावजूद उपभोक्ताओं को ज्यादा भुगतान करना पड़ेगा, क्योंकि तीन किलोवाट से पांच किलोवाट स्वीकृत लोड के लिए उपभोक्ताओं को प्रतिमाह पांच रुपये से 75 रुपये तक ज्यादा निर्धारित शुल्क का भुगतान करना होगा। इसी तरह से पेंशन ट्रस्ट के लिए उपभोक्ताओं से बिल पर 3.70 फीसद अधिभारभी वसूला जाएगा। बिजली बिल में यह बदलाव एक सितंबर से लागू होगा। दिल्ली विद्युत विनियामक आयोग (डीईआरसी) ने बृहस्पतिवार को वर्ष ...

दिल्ली में अब इस वजह से बढ़ेंगे बिजली के दाम - NDTV Khabar

दिल्ली में बिजली के दाम नहीं बढ़ाए गए हैं लेकिन सरचार्ज जरूर बढ़ा दिया गया है. इससे आपके बिल में बढ़ोत्तरी जरूर होगी. Reported by: रवीश रंजन शुक्ला, Edited by: परिणय कुमार, Updated: 31 अगस्त, 2017 7:12 PM. Share. ईमेल करें. टिप्पणियां. दिल्ली में अब इस वजह से बढ़ेंगे बिजली के दाम. प्रतीकात्मक फोटो. खास बातें. सरचार्ज बढ़ने से बिल में होगी बढ़ोतरी; 1 किलोवाट कनेक्शन वाले को थोड़ी राहत; कृषि के लिए सैंक्शन लोड बढ़ाया गया. नई दिल्ली: दिल्ली में बिजली के दाम नहीं बढ़ाए गए हैं लेकिन सरचार्ज जरूर बढ़ा दिया गया है. इससे आपके बिल में बढ़ोत्तरी जरूर होगी. हालांकि 1 किलोवाट के कनेक्शन ...

दिल्ली में बढ़े बिजली के दाम, भाजपा ने बोला केजरीवाल सरकार पर हमला - दैनिक जागरण

दिल्ली से सांसद मनोज तिवारी ने कहा है कि अरविंद केजरीवाल सरकार और डीईआरसी ने दिल्ली की जनता के साथ विश्वासघात किया है। नई दिल्ली (जेएनएन)। दिल्ली में बिजली वृद्धि को लेकर राजनीति शुरू हो गई है। दिल्ली भाजपा प्रदेश अध्यक्ष मनोज तिवारी ने दिल्ली में सत्तासीन आम आदमी पार्टी सरकार पर हमला बोला है। उन्होंने कहा कि यदि केजरीवाल सरकार चाहती तो केवल रिटर्न आॅन इक्विटी को वर्तमान बैंक दरों के हिसाब से घटाकर बिजली दरों में 10 से 15 फीसद की कटौती कर सकती थी, लेकिन सरकार ने निजी कंपनियों से मिलीभगत करना जनता को लाभ देने से बेहतर समझा है। दिल्ली से सांसद मनोज ...