अब धोबीघाट नहीं टैंक चौराहा कहा जाएगा - अमर उजाला

भारतीय सेना के शौर्य, गौरवशाली इतिहास एवं पराक्रम से शहरियों को जोड़ने के लिए धोबीघाट चौराहे पर सेना के टी-55 टैंक का अनावरण बृहस्पतिवार को मेजर जनरल अशिम कोहली ने किया। इसके साथ ही प्रशासन ने धोबीघाट चौराहे का नाम बदलकर टैंक चौराहा रखने का निर्णय लिया है। समारोह में कमिश्नर डॉ. आशीष कुमार गोयल एवं डीएम संजय कुमार सहित सेना एवं प्रशासनिक अधिकारी मौजूद थे। टी-55 टैंक को धोबीघाट चौराहे पर स्थापित करने के बाद मुख्य अतिथि मेजर असीम कोहली ने कहा कि यह टैंक युद्ध के दौरान हमारी सेना के अविस्मरणीय पराक्रम एवं गौरवशाली गाथा का प्रतीक है। इस टैंक के जरिए सेना ने ...

भारतीय सेना के शौर्य एवं पराक्रम का प्रतीक ये टैंक जनता को समर्पित-PHOTOS - दैनिक भास्कर

भारतीय सेना की रेड ईगल बटालियन ने T-55 टैंक को धोबीघाट चौराहे पर स्थापित किया। Replay. Prev; |; View Again. भारतीय सेना के शौर्य एवं पराक्रम का प्रतीक ये टैंक जनता को समर्पित-PHOTOS. +6और स्लाइड देखें. टैंक केे लिए एडीए ने 15 लाख की लागत से प्लेटफार्म बनाया है। इलाहाबाद. यहां के धोबीघाट चौराहे पर भारतीय सेना की रेड ईगल बटालियन ने T-55 टैंक को स्थापित किया गया। गुरुवार को मेजर जनरल अशिम कोहली ने इसका अनावरण किया। डीएम संजय कुमार ने कहा की धोबी घाट चौराहे का नाम बदलकर टैंक चौराहा किया जाएगा। नगर वासियों को भारतीय सेना के शौर्य एवं पराक्रम का परिचय नजदीक से कराने के लिए ...

सेना की रीढ़ रहा टी-55 टैंक अब बनेगा शहर की शान - नवभारत टाइम्स

भारतीय सेना की रीढ़ रहा टी-55 टैंक अब इलाहाबाद शहर की शान बनेगा। मेजर जनरल असीम कोहली ने गुरूवार को धोबीघाट चौराहे पर रखे गए इस टैंक का उद्घाटन किया। टैंक के लिए एडीए ने 15 लाख की लागत से प्लेटफार्म बनाया है। प्लेटफार्म के आसपास रेलिंग भी लगाई गई है। प्लेटफार्म पर टैंक कुछ इस तरह रखा गया है जैसे, वह दीवार तोड़कर आ रहा हो। 13 अगस्त को सेना ने टैंक को प्लेटफार्म पर रखा था, लेकिन प्लेटफार्म का काम अधूरा होने के कारण तब उद्घाटन नहीं किया गया। यूनियन ऑफ सोवियत सोशलिस्ट रिपब्लिक (पहले यूएसएसआर और अब रूस) में निर्मित टी-55 टैंक का पाकिस्तान के खिलाफ 1971 के युद्ध में ...