कमल में रंग भरने के बाद शुरू हुई राजनीतिक अटकलों पर नीतीश ने दिया ये जवाब - News18 इंडिया

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने मधुबनी चित्रकार बौआ देवी द्वारा बनाए गए कमल के एक फूल में रंग भरने के बाद राजनीतिक अटकलों का बाजार गर्म होने को लेकर सोमवार को हंसे. भाषा. Updated: February 6, 2017, 5:55 PM IST. बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने मधुबनी चित्रकार बौआ देवी द्वारा बनाए गए कमल के एक फूल में रंग भरने के बाद राजनीतिक अटकलों (भाजपा और जदयू के एकबार फिर करीब आने) का बाजार गर्म होने को लेकर सोमवार को हंसे. सोमवार को यहां पत्रकारों ने जब नीतीश द्वारा कमल में रंग भरने को लेकर सवाल किया तो, जेडीयू अध्यक्ष ने कहा कि इस बारे आप मुझसे क्यों पूछ रहे हैं? आपको इस बारे ...

नीतीश ने कमल में रंग भरा, भाजपा और जदयू ने गठबंधन की अटकलों को खारिज किया - Zee News हिन्दी

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के मशहूर मधुबनी चित्रकार बौआ देवी द्वारा बनाए गए कमल के एक फूल में रंग भरने से भाजपा और जदयू ने गठबंधन की उपजी किसी प्रकार की अटकलों को इन दोनों दलों ने सिरे से खारिज किया है। भाषा | अंतिम अपडेट: Feb 6, 2017, 12:39 AM IST. कमेंट देखें |. नीतीश ने कमल में रंग भरा, भाजपा और जदयू ने गठबंधन की अटकलों को खारिज. पटना : बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के मशहूर मधुबनी चित्रकार बौआ देवी द्वारा बनाए गए कमल के एक फूल में रंग भरने से भाजपा और जदयू ने गठबंधन की उपजी किसी प्रकार की अटकलों को इन दोनों दलों ने सिरे से खारिज किया है। बिहार में राजद और ...

कमल में रंगः BJP, JD(U) का गठबंधन से इनकार - नवभारत टाइम्स

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के मशहूर मधुबनी चित्रकार बौआ देवी द्वारा बनाए गए कमल के एक फूल में रंग भरने से बीजेपी और जेडी(यू) ने गठबंधन की उपजी किसी प्रकार की अटकलों को इन दोनों दलों ने सिरे से खारिज किया है। बिहार में आरजेडी और कांग्रेस के साथ सत्तासीन जेडी(यू) के राष्ट्रीय अध्यक्ष ने एनडीए के साथ गठबंधन को लेकर लगाई जा रही अटकलों को विराम देते हुए कहा, 'इसमें कोई मतलब निकाला जाना बेईमानी है।' जेडी(यू) प्रवक्ता और बिहार विधानपरिषद सदस्य नीरज कुमार ने कहा, 'यह कोई मुद्दा नहीं है। इसका कोई राजनीतिक अर्थ नहीं निकाला जाना चाहिए।' नीरज ने कहा कि मुख्यमंत्री ...

नीतिश ने रंगीन किया कमल, नजर आने लगे सियासत के रंग - aapkisaheli.com

पटना। पटना पुस्तक मेले में सीएम नीतिश कुमार को कमल के चित्र में रंग भरना भारी पड़ गया। इसे लेकर सियासत शुरू हो गई है। दरअसल मेले में पद्मश्री बउआ देवी ने कमल का फूल बनाया और उस फूल में सीएम नीतीश कुमार ने गेरूआ रंग भर दिया था। इसे लेकर केंद्रीय मंत्री और बीजेपी नेता गिरिराज सिंह ने कहा कि नीतीश कुमार कमल के फूल में अपना राजनीतिक रंग भर रहे थे और वो लालू जी को बार-बार जरूर दिखाते रहते हैं कि मैं स्वतंत्र हूं। बिहार के उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव ने कहा कि कमल सिर्फ बीजेपी का नहीं है। कितने घरों को तो लालटेन उजाला देता है, अगर इस बात पर किसी को ज्यादा खुशी मिल रही हो ...

नीतीश ने कमल में रंग भरा, तस्वीर सोशल मीडिया पर वायरल - खास खबर

पटना। बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने एक कलाकार द्वारा बनाए गए कमल के फूल में लाल रंग भर कर एक नई चर्चा को जन्म दे दिया है। कमल के फूल में रंग भरने को उनकी भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के साथ नजदीकी से जोडक़र देखा जा रहा है। नीतीश ने शनिवार को पटना पुस्तक मेले के उद्घाटन कार्यक्रम में कलाकार बउआ देवी द्वारा बनाए गए कमल के चित्र में रंग भरा। उनके द्वार कमल के फूल में लाल रंग भरने की तस्वीरें सोशल मीडिया पर वायरल हो गईं। सोशल मीडिया का एक वर्ग इसे उनकी भाजपा के साथ बढ़ रही नजदीकी से जोडक़र देख रहा है। [@ हम लिखते हैं दोनों हाथ से, दायां हो या बायां]. Next ...

कृपया ध्यान दें - नीतीश ने कमल में लाल रंग भरा है, भगवा नहीं! - आईचौक

कमल के फूल में वो रंग नहीं भरा जो बीजेपी के सिंबल में है, बल्कि नीतीश ने लाल रंग भरा है. क्या ये कोई रेड अलर्ट है? अगर है वास्तव में ऐसा है तो आखिर किसके लिए? 90. सियासत. | 5-मिनट में पढ़ें | 05-02-2017. आईचौक. आईचौक · @iChowk. 314. Total Shares. Share. पटना के पुस्तक मेले में मधुबनी पेंटर बउआ देवी ने नीतीश कुमार से बस ऑटोग्राफ का आग्रह किया था. बउआ ने कैनवास पर कुछ लकीरें खींची थी जो मिल कर कमल का फूल बना रही थीं, लेकिन उनमें कोई रंग नहीं भरा था. नीतीश ने उसमें रंग भर दिया और नीचे ऑटोग्राफ. फिर क्या था, तस्वीर वायरल हो गई. तस्वीर के वायरल होने के साथ साथ एक बार फिर नीतीश और बीजेपी की ...

CM नीतीश कुमार ने 'कमल' में रंग भरा, सोशल मीडिया में चर्चा - Patrika

इसे भाजपा के साथ उनकी दोस्ती की अटकलों से जोड़ा जा रहा है। कुछ तो यहां तक कह रहे हैं कि नीतीश और भाजपा साथ आ सकते हैं। पटना. बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार द्वारा पटना के एक पुस्तक मेले में कमल के फूल में रंग भरने के बाद सोशल मीडिया में खूब चर्चाएं हो रही हैं। इसे भाजपा के साथ उनकी दोस्ती की अटकलों से जोड़ा जा रहा है। कुछ तो यहां तक कह रहे हैं कि नीतीश और भाजपा साथ आ सकते हैं। दरअसल, नोटबंदी के फैसले का नीतीश कुमार ने स्वागत किया था बाद में पटना में प्रकाश पर्व के दौरान नरेंद्र मोदी और बिहार सीएम ने एक-दूसरे की जमकर तारीफ़ की थी। इन घटनाओं को नीतीश और भाजपा की ...

नीतीश कुमार ने भरे 'कमल' में 'राजनीति' के रंग - ABP News

पटना के गांधी मौदान में आयोजित पुस्तक मेले में बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने पद्मश्री बौआ देवी के बनाए कमल के फूल में रंग भरे. नीतीश कुमार ने जैसे ही कमल के फूल मे रंग भरा वैसे ही राजनीति गलियारों में कानाफूसी शुरु हो गई. वहीं समाचार एजेंसी एएनआई से बातचीत के दौरान बीजेपी सांसद गिरिराज सिंह ने कहा 'नीतीश कुमार अपना राजनीतिक रंग भर रहे थे. वो लालू जी को बार-बार दिखाते रहते हैं कि वे स्वतंत्र हैं.' - - - - - - - - - Advertisement - - - - - - - - -. Top Videos. Menu. No content for Unknown ...

cm नीतीश ने भरा 'कमल के फूल' में रंग, बिहार में सियासत शुरू - दैनिक जागरण

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने पटना में पुस्तक मेले का उद्घाटन करते हुए कमल के फूल में रंग क्या भरा? इसपर राजनीतिक बहस शुरू हो चुकी है। पटना [जेएनएन]। पटना पुस्तक मेले के उद्घाटन के अवसर पर पद्मश्री बउआ देवी ने कमल का फूल बनाया और उस फूल में सीएम नीतीश कुमार ने गेरूआ रंग क्या भरा? कल दिनभर सोशल मीडिया साइट्स पर तरह-तरह की बातें होती रहीं, इसके बाद आज इस मामले पर बिहार में सियासत भी गर्म हो चुकी है। केंद्रीय मंत्री और बीजेपी के बड़बोले नेता गिरिराज सिंह ने इस पर चुटकी लेते हुए कहा कि नीतीश कुमार कमल के फूल में अपना राजनीतिक रंग भर रहे थे और वो लालू जी को बार-बार जरूर दिखाते ...

नीतीश कुमार ने 'कमल' में रंग भरा, फोटो हुई वायरल - Webdunia Hindi

राजनेताओं की किस हरकतर या गतिविधियों को क्या रंग दे दिया जाता कुछ कहा नहीं जा सकता। अब बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने पटना के गांधी मैदान में आयोजित पुस्तक मेले के उद्घाटन के बाद पद्मश्री बौआ देवी के बनाए कमल के फूल में जैसे ही रंग भरा, मीडिया और राजनीतिक हलकों में इसके मायने निकाले जाने लगे। पटना में 350वें प्रकाश पर्व पर नीतीश और नरेंद्र मोदी जब एक मंच से एक-दूसरे की खुलकर तारीफ कर रहे थे तब भी कई तरह के कयास लगाए जाने लगे थे। हालांकि अब जब उन्होंने कमल में रंग भरा तो यह चर्चा का विषय बन गया और उनकी रंग भरने की यह तस्वीर वायरल हो गई। दरअसल, पटना में नीतीश ...

नीतीश कुमार ने 'कमल' पर चलाई कूंची, गिरिराज बोले- राजनीतिक रंग भरा - Catch Hindi

बिहार के सीएम नीतीश कुमार की हाल के दिनों में अपनी पुरानी सहयोगी पार्टी बीजेपी से कथित रूप से पींगें बढ़ाने की अक्सर चर्चा रहती है. पटना में 350वें प्रकाश पर्व पर नीतीश और पीएम मोदी एक मंच से एक-दूसरे की खुलकर तारीफ कर चुके हैं. अब नीतीश कुमार की एक ताज़ा तस्वीर ने एक बार फिर चर्चाओं को जन्म दिया है. पटना में नीतीश कुमार ने पुस्तक मेले का उद्घाटन करते हुए बीजेपी के चुनाव चिन्ह 'कमल' पर कूंची चलाते हुए रंग भर दिया. पटना पुस्तक मेले की यह तस्वीर सोशल मीडिया पर खूब वायरल हो रही है. इस तस्वीर के बाद सियासी सुगबुगाहट का दौर फिर तेज हो गया. बिहार में आरजेडी के साथ नीतीश कुमार ...

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने 'कमल' में रंग भरा, सोशल मीडिया पर वायरल - एनडीटीवी खबर

पटना: बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने शनिवार को पटना में आयोजित पुस्तक मेले में पद्मश्री बउआ देवी द्वारा कैनवास पर उकेरी गई 'कमल फूल' में कूची उठाकर लाल रंग क्या भरा, यह तस्वीर सोशल मीडिया पर वायरल हो गई. नीतीश ने भले ही एक कलाकृति में रंग भरा हो, लेकिन उसे भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) का चुनाव चिह्न् मानते हुए उसमें उनके द्वारा रंग भरे जाने को लेकर तरह-तरह के कमेंट सोशल मीडिया में आने लगे. मुख्यमंत्री पटना पुस्तक मेला परिसर स्थित 'कलाग्राम' में प्रवेश कर रहे थे, तभी पद्म पुरस्कार से सम्मानित मिथिला पेंटिंग की जानीमानी कलाकार बउआ देवी ने कैनवास पर कमल फूल की ...

सीएम नीतीश की 'कमल' पेंटिंग पर गिरिराज ने लालू को लपेटा - Live हिन्दुस्तान

केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह ने सीएम नीतीश कुमार की 'कमल' वाली पेंटिंग पर निशाने साधते हुए लालू प्रसाद यादव को भी लपेटे में ले लिया है। दरअसल पुस्तक मेला में सीएम नीतीश कुमार ने एक तस्वीर में रंग भरा जो कमल का फूल था। यह तस्वीर सोशल मीडिया पर काफी वायरल हो रही है। इसी तस्वीर पर गिरिराज ने कहा कि 'नीतीश अपनी राजनीतिक रंग भर रहे थें, लालू जी को बार-बार वो जरूर दिखाते हैं कि मैं स्वतंत्र हूं।' वहीं, इसी तस्वीर पर जेडीयू के पवन वर्मा ने कहा कि' ये बहुत ही हंसनीय है। जो लोग भी वहां रंग भर रहे थे वे अच्छी तरह जानते हैं कि उसमें ऐसा कुछ भी नहीं था।' 1 · 2 · Next. AddThis Sharing Buttons.

नीतीश ने कमल के फूल में भरा रंग, सोशल मीडिया पर लोगों ने लिया मज़ा - inKhabar

पटना : बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की एक फोटो दो दिन से सोशल मीडिया पर खूब वायरल हो रही है. फोटो में नीतीश एक कैनवास पर कमल के फूल में रंग भरते नजर आ रहे हैं. दरअसल वायरल हो रही नीतीश की यह फोटो पटना के गांधी मैदान में आयोजित पुस्तक मेले की है. शनिवार को मेले के उद्घाटन के बाद पद्मश्री बौआ देवी के बनाए कमल के फूल में नीतीश ने रंग भरा, उसके बाद से ही राजनीतिक कयास शुरू हो गए. बजट से काफी निराशा मिली, बिहार के लिए कुछ भी नहीं था: नीतीश कुमार. किसी ने कहा कि नीतीश जी की ये फोटो कहीं उनके भगवाकरण का संकेत तो नहीं है तो किसी ने कहा सर आप बीजेपी के साथ ही अच्छे लगते ...

नितीश कुमार ने “कमल” में भरा रंग, जाने क्या है मामला - Khabar NonStop

पटना। बिहार के मुख्यमंत्री नितीश कुमार अक्सर बीजेपी को लेकर चर्चाओं में रहते हैं। अभी हाल ही में पटना में हुए प्रकाशउत्सव के दौरान भी नितीश और मोदी एक दूसरे की तारीफ करते नजर आये थे। अब एक बार फिर नितीश कुमार बीजेपी को लेकर चर्चा में हैं। इस बार मौका था पटना में पुस्तक मेले का जहां सीएम नितीश कुमार ने कमल के फूल में लाल रंग भर दिया जिसके बाद से ही यह फोटो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है।अब नेताओं के द्वारा इस फोटो को लेकर तरह-तरह के कयास लगाए जा रहे हैं।

पुस्तक मेला: जब नीतीश ने भरा 'कमल' में रंग, सोशल साइट पर वायरल हुई फोटो - पंजाब केसरी

पटना: पटना के गांधी मैदान में 23वें वार्षिक पुस्तक मेला का उद्घाटन करते हुए बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा कि पुस्तक मेला एक सांस्कृति कार्यक्रम है इसके माध्यम से जन चेतना का संचार होता है। इसी दौरान पुस्तक मेले में कैनवास पर उकेरी गई 'कमल फूल' में ब्रश उठाकर लाल रंग भर दिया। नीतीश की यह फोटो सोशल मीडिया पर वायरल हो गई है। नीतीश के रंग भरने को भाजपा के चुनाव चिह्न कमल से जोड़ देखा गया और उसके राजनीतिक मायने निकालने शुरू कर दिए। इन दिनों नीतीश और पीएम मोदी के बीच भी काफी नजदीकियां बढ़ रही हैं। नीतीश ने मोदी सरकार के नोटबंदी का भी समर्थन किया था।

नीतीश ने 'कमल' में भरा रंग, फोटो वायरल होने पर सियासत शुरू - आज तक

बिहार के मुख्यमंत्री वैसे तो अब एनडीए का हिस्सा नहीं हैं, बावजूद इसके वो अलग-अलग मौकों पर मोदी सरकार की तारीफ करते रहते हैं. हाल ही में आयोजित प्रकाश पर्व के दौरान भी नीतीश कुमार और नरेंद्र मोदी एक-दूसरे की तारीफों के पुल बांधते नजर आए. इस बार तारीफ से आगे बढ़कर नीतीश कुमार ने बीजेपी के चुनाव चिन्ह 'कमल' में रंग भर दिया. मौका था पटना में आयोजित पुस्तक मेले का, जहां नीतीश कुमार ने कमल के फूल में लाल रंग भरा. ये तस्वीर सोशल मीडिया पर वायरल हो रही हैं. इस तस्वीर को देखने के बाद इसके पीछे कई तरह की कयास भी लगाए जा रहे हैं. बिहार में आरजेडी के साथ नीतीश सत्ता जरूर चला रहे ...

नीतीश कुमार ने कमल के फूल में भरा रंग - अमर उजाला

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार शनिवार को चित्रकार के रूप में दिखे। उन्होंने हाथ में कूची थामी और कैनवास पर रंग बिखेरे। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पटना के गांधी मैदान में आयोजित पुस्तक मेले के उद्घाटन के बाद पद्मश्री बौआ देवी के बनाए कमल के फूल में जैसे ही रंग भरा, राजनीतिक पंडित इसके राजनीतिक अर्थ तलाशने लगे। वैसे नीतीश कुमार ने कहा कि बिहारियों का मन और मिजाज पढ़ने का होता है और ये हमेशा से उनकी पहचान रही है। दरअसल, नीतीश से पूर्व उस कैनवास पर पद्म पुरस्कार से सम्मानित बौआ देवी ने मिथिला शैली में एक कमल की कलाकृति बनाई थी, नीतीश कुमार ने उसी कमल के फूल में कूची से ...

नीतीश कुमार ने 'कमल' में भरा रंग, निकाले जाने लगे राजनीतिक मायने - News State

पटना में आयोजित पुस्तक मेले के दौरान मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कमल का फूल के एक फोटो में रंग भरा। कमल के फूल की ड्राइंग पर लाल रंग भरते हुए और उस पर हस्ताक्षर करते हुए दिखे। राष्ट्रपति पुरस्कार से सम्मानित बउआ देवी पटना पुस्तक मेले के दौरान एक कमल के फूल की ड्राइंग बनाई। ड्राइंग बनाने के बाद उन्होंने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को उसपर ऑटोग्राफ मांगा। सीएम नीतीश कुमार को कमल का फूल का ड्राइंग इतना पसंद आया कि उन्होंने कमल के फूल की ड्राइंग पर लाल रंग भरकर ऑटोग्राफ दिया। इस फूल में रंग भरने के बाद अब इसके कई राजनीतिक मायने निकाले जा रहे हैं। बिहार में दस दिनों तक चलने ...