This RSS feed URL is deprecated

आठ बुनियादी उद्योग की वृद्धि दर अप्रैल में घट कर 2.5 प्रतिशत रही - नवभारत टाइम्स

(यह आर्टिकल एजेंसी फीड से ऑटो-अपलोड हुआ है। इसे नवभारतटाइम्स.कॉम की टीम ने एडिट नहीं किया है।) भाषा | Updated: May 31, 2017, 10:30PM IST. TimesPoints. 8. 0. 1. 0 Added. लॉगिन करें और पाएं. 1 Point. लॉगिन करें. :चौथे पैरा में आंकड़े में सुधार के साथ: नयी दिल्ली, 31 मई :भाषा: कोयला, कच्चा तेल तथा सीमेंट उत्पादन में गिरावट के चलते आठ बुनियादी उद्योगों की वृद्धि दर अप्रैल में घटकर 2.5 प्रतिशत रही। इन उद्योगों ने पिछले साल अप्रैल में 8.7 प्रतिशत वृद्धि दर्ज की थी। इनमें उद्योग कोयला, कच्चा तेल, प्राकृतिक गैस, रिफाइनरी उत्पाद, उर्वरक, इस्पात, सीमेंट और बिजली शामिल हैं। यहां आज जारी सरकारी आंकड़ों के अनुसार कोयला, कच्चा तेल तथा सीमेंट उत्पादन में क्रमश: 3.8 प्रतिशत, 0 ...और अधिक »

नोटबंदी: इन 8 उद्योगों में गिरावट से सिर्फ GDP नहीं कारोबार भी चौपट हुआ - आज तक

कोयला,कच्चा तेल और गैस उत्पादन में बीते कई महीनों से दर्ज हो रही गिरावट ने वित्त वर्ष 2016-17 की चौथी तिमाही (जनवरी-मार्च) में अर्थव्यवस्था की रफ्तार को रोक दिया है. इसके चलते देश के 8 कोर सेक्टर्स में ग्रोथ अप्रैल में तीन महीने के निचले स्तर पर पहुंच गई. नए वित्त वर्ष 2017-18 के पहले महीने अप्रैल में इन 8 सेक्टर्स की ग्रोथ महज 2.5 फीसदी रही जबकि मार्च 2017 में यह 5.3 फीसदी और पिछले वर्ष अप्रैल में यह 8.7 फीसदी रही. कोर सेक्टर में इस गिरावट का सीधा असर 1 जून को आए मैन्यूफैक्चरिंग क्षेत्र के आंकड़ों (पीएमआई) पर भी साफ दिखाई दे रहा है. गुरुवार को आए मई पीएमआई आंकड़े तीन महीने के निचले स्तर पर हैं. निक्केई द्वारा जारी इन पीएमआई आंकड़ों के मुताबिक अप्रैल में पीएमआई 52.5 ...और अधिक »

अप्रैल में आठ बुनियादी उद्योगों की बढ़ोतरी दर 2.5% घटी - Sanjeevni Today

नई दिल्ली। कोयला, कच्चा तेल और सीमेंट उत्पादन में गिरावट के चलते आठ बुनियादी उद्योगों की बढ़ोतरी दर अप्रैल में घटकर 2.5% हो रही है। इससे पहले इन उद्योगों में पिछले साल अप्रैल में 8.7% बढ़ोतरी दर्ज की गई थी। बुधवार को सरकारी आंकड़ों के मुताबिक कोयला, कच्चा तेल और सीमेंट उत्पादन में क्रमशः 3.8%, 0.6% और 3.7% गिरावट आई है। जयपुर में मात्र 2 लाख में 100 वर्गगज का प्लाट ख़रीदे रेट सिमित समय के लिए Call: 09314166166. प्रमुख क्षेत्रों में धीमी बढ़ोतरी से औद्योगिक उत्पादन सूचकांक (IIP) पर भी प्रभाव पड़ता है, क्योंकि कुल औद्योगिक उत्पादन में इन क्षेत्रों का योगदान लगभग 41% है। रिफाइनरी उत्पाद और बिजली उत्पादन की वृद्धि दर अप्रैल में घटकर 0.2% और 4.7% हो गई जो पिछले साल ...और अधिक »