पत्रकार पूजा तिवारी खुदकुशी केस में आया एक नया मोड़ - आज तक

फरीदाबाद की चर्चित पत्रकार पूजा तिवारी खुदकुशी केस में एक नया मोड़ आ गया है. पूजा के सुसाइड नोट की फोरेंसिक जांच में उसके सही होने की पुष्टि हो गई है. सुसाइड नोट की राइटिंग पूजा तिवारी की ही है. उसकी लिखावट की जांच हो गई है. इस बात का खुलासा पुलिस आयुक्त हनीफ कुरैशी ने किया है. खुदकुशी से पहले पूजा ने अपने माता-पिता को एक चिट्ठी लिखी थी. उसमें उसने लिखा कि उसके इस कदम के लिए कोई जिम्मेदार नहीं है. उसने लिखा था कि डॉक्टर अरूण और अर्चना गोयल भ्रूण हत्या के लिए दोषी हैं. उनके खिलाफ कार्रवाई होनी चाहिए. पूजा ने अंत में लिखा कि 'बहुत थक चुकी हूं, अब और हिम्मत नहीं'.

पूजा तिवारी ने ही लिखा था स्यूसाइड नोट ! - नवभारत टाइम्स

लेडी जर्नलिस्ट पूजा तिवारी मौत प्रकरण में नया मोड़ आ गया है। पूजा तिवारी की मौत के बाद पुलिस को मिले स्यूसाइड नोट की फरेसिंक रिपोर्ट आ गई है। स्यूसाइड नोट को राइटिंग मिलान के लिए मधुबन भेजा गया था। मामले की जांच कर रही एसआईटी व पुलिस अधिकारी रिपोर्ट के संबंध में जानकारी देने से इनकार कर रही है। हालांकि चर्चा है कि मौत होने से पहले लिखे गए स्यूसाइड नोट की राइटिंग पूजा तिवारी की ही है। अब इस स्यूसाइड नोट की लिखावट सही मिलने के बाद जांच की दिशा और दशा दोनों ही बदल गई है। गौरतलब है कि वेब पोर्टल में काम करने वाली लेडी जर्नलिस्ट पूजा की 1 मई की रात सेक्टर 46 के ...

पत्रकार पूजा तिवारी ने ही लिखा था सुसाइड नोट, फॉरेंसिक साइंस रिपोर्ट ने सूरजकुंड थाना पुलिस को रिपोर्ट भेजी - Live हिन्दुस्तान

सोमवार को पत्रकार पूजा तिवारी की मौत के मामले में सुसाइड नोट की फॉरेंसिक साइंस लैब की रिपोर्ट आ गई है। रिपोर्ट में सुसाइड नोट को पूजा तिवारी द्वारा लिखा बताया गया है। सुसाइड नोट की रिपोर्ट से अब डॉक्टर दंपति समेत चार लोगों को पुलिस जांच का सामना करना होगा। पूजा तिवारी की मौत के मामले में सूरजकुंड थाना पुलिस ने पांच मई को आरोपी इंस्पेक्टर अमित कुमार को गिरफ्तार किया था। उस वक्त आरोपी ने पूजा तिवारी द्वारा लिखा गया एक सुसाइड नोट पुलिस को सौंपा था। सुसाइड नोट की सत्यता का पता लगाने पुलिस ने सुसाइड नोट और पूजा तिवारी की लिखाई का नमूना मधुबन फॉरेंसिक ...

सुइसाइड नोट में पूजा की ही है हैंडराइटिंग, फॉरेंसिक रिपोर्ट जारी - अमर उजाला

पत्रकार पूजा तिवारी की मौत के चार दिन बाद सामने आए सुइसाइड नोट की फोरेंसिक जांच रिपोर्ट आ चुकी है। सूत्रों के मुताबिक सुइसाइड नोट में पूजा की ही हैंडराइटिंग है, हालांकि जांच अधिकारी तफ्तीश का मामला बता कर रिपोर्ट के बारे में कुछ भी बताने से इनकार कर रहे हैं। मालूम हो कि सुइसाइड नोट में पूजा ने अपनी मौत का जिम्मेदार डॉ. अनिल गोयल उनकी पत्नी और एक न्यूज पोर्टल के संचालक को बताया था। नोट की सत्यता साबित होने के बाद पुलिस इन पर शिकंजा कस सकती है। पत्रकार पूजा तिवारी ने भ्रूण हत्या के खिलाफ एक स्टिंग ऑपरेशन किया था। स्टिंग में किसी डॉ. धवल ने गर्भपात कराने के ...