सरदार सरोवर बांध : डेडलाइन, यहां किसी घर में नहीं जला चूल्हा - Patrika

बड़वानी/धार/भोपाल। सरदार सरोवर बांध के डूब प्रभावितों को सोमवार को सुप्रीम कोर्ट से राहत नहीं मिली। नर्मदा बचाओ आंदोलन की याचिका पर कोर्ट 8 अगस्त को सुनवाई करेगा। डूब प्रभावितों के पुनर्वास के लिए तय डेडलाइन सोमवार को पूरी हो गई। बांध का पानी डूब प्रभावित घरों की दहलीज तक 20 अगस्त के बाद पहुंचना शुरू होगा। तब तक बांध में पानी 130 मीटर तक पहुंचेगा। सरकार ने दावा किया है कि डूब प्रभावित क्षेत्र में सिर्फ सात हजार परिवार शेष रह गए हैं। जिनमें से दो हजार परिवारों ने अपने मकान पुनर्वास क्षेत्र में बनवा लिए हैं। ऐसे में सिर्फ पांच हजार परिवार ही शेष रह गए हैं। स्टे नहीं है ...

अभी डूब में कोई नहीं, तीन महीने बाद खेती भी कर सकेंगे विस्थापित - Nai Dunia

भोपाल। सरदार सरोवर डैम के डूब प्रभावितों के विस्थापन की आखिरी तारीख खत्म हो गई। अब सरकार का दावा है कि धार जिले के 37 और बड़वानी के 34 गांवों के लगभग 4996 परिवार अपना घर नहीं छोड़ रहे हैं। इन सभी लोगों को मुआवजा दिया जा चुका है और इनमें से 2 हजार परिवार ने अपनी जगह छोड़ने के लिए वचन पत्र भी भर दिया है। सरकार के मुताबिक इनमें से करीब 1500 परिवार ऐसी जगह रहते हैं, जहां 100 साल में एक बार डैम का बैक वॉटर पहुंचेगा, इसलिए इन्हें हटाने की कोशिश नहीं की जा रही है। वहीं लगभग 3500 परिवार की जमीन सिर्फ बारिश के दौरान ही डूब में रहेगी। बाकि समय वे लोग अपनी जमीन पर खेती कर सकते हैं।

मप्र के डूब प्रभावितों के घरों के नहीं जले चूल्हे, पाटकर का उपवास पांचवे दिन जारी - Khabar IndiaTV

नर्मदा नदी पर बने सरदार सरोवर बांध (एसएसडी) के गेट बंद होने से मध्यप्रदेश के डूब में आने वाले 40,000 प्रभावित परिवारों के घरों में आज चूल्हा नहीं जला। वहीं डूब प्रभावितों के उचित पुर्नवास की मांग को लेकर बड़वानी जिले में नर्मदा... Reported by: Bhasha [Updated:31 Jul 2017, 10:20 PM IST]. मप्र के डूब प्रभावितों के घरों के नहीं जले चूल्हे, पाटकर का उपवास पांचवे दिन. ×. भोपाल: नर्मदा नदी पर बने सरदार सरोवर बांध (एसएसडी) के गेट बंद होने से मध्यप्रदेश के डूब में आने वाले 40,000 प्रभावित परिवारों के घरों में आज चूल्हा नहीं जला। वहीं डूब प्रभावितों के उचित पुर्नवास की मांग को लेकर बड़वानी जिले में ...

सरदार सरोवर बांध मामले पर पुलिस अलर्ट, PHQ से की जा रही निगरानी - News18 इंडिया

सरदार सरोवर बांध के डूब प्रभावित इलाके में कानून और सुरक्षा व्यवस्था को लेकर पुलिस अलर्ट है. बड़वानी में आंदोलनकारियों के मूवमेंट के मद्देनजर अतिरिक्त फोर्स तैनात कर दिया है. पुलिस मुख्यालय से सुरक्षा पर नजर रखी जा रही है. जानकारी के अनुसार, चिखलदा क्षेत्र में आंदोलनकारियों ने चक्काजाम किया था. लेकिन वक्त रहते पुलिस ने जाम खुलवा दिया. इंटेलिजेंस आईजी मकरंद देउस्कर ने बताया कि आंदोलनकारियों के नाम पर हिंसा फैलाने की कोशिश करने वाले उपद्रवियों पर पुलिस की नज़र है. पुलिस मुख्यालय से डीजीपी ऋषि शुक्ला समेत तमाम अधिकारी मॉनिटरिंग कर रहे हैं. मकरंद देउस्कर ने ...

डूब प्रभावितों ने बड़वानी जिले में दो घंटे रोका राष्ट्रीय राजमार्ग - Nai Dunia

बड़वानी। सरदार सरोवर परियोजना को लेकर सुप्रीम कोर्ट द्वारा पूर्ण पुनर्वास को लेकर दी गई अंतिम तारीख 31 जुलाई सोमवार का दिन हंगामेदार रहा। डूब प्रभावितों ने गतिविधियां तेज करते हुए बड़वानी-धार जिले की सीमा पर दो स्थानों पर रास्ता रोका। इस दौरान खंडवा-वड़ोदरा नेशनल हाईवे पर दो घंटे रास्ता रोक प्रदर्शन किया गया। इससे धरना स्थल के दोनों ओर वाहनों की लंबी कतारें लग गई। हालांकि इस दौरान भी बीमारों और एम्बुलेंस आदि को जाने दिया गया। पुनर्वास बसाहटों में समस्त सुविधाओं की मांग को लेकर सोमवार को बड़वानी-धार जिले के डूब प्रभावितों और नर्मदा बचाओ आंदोलन ...

सरदार सरोवर बांध: डूब प्रभावितों ने लगाया हाईवे पर जाम - News18 इंडिया

सरदार सरोवर डूब प्रभावितों ने आज सुबह से ही चूल्हा बंद सत्याग्रह शुरू किया जिसके बाद सुबह दस बजे से बारह बजे तक सांकेतिक चक्काजाम कर अपना विरोध दर्ज कराया. जाम लगने के बाद से ही खंडवा बडौदा स्टेट हाइवे 26 पर राजघाट और कसरावद दोनों ही रास्तों को बंद कर दिया. जिसमें सैकड़ो यात्री परेशान होते नजर आए. मीडिया ने जब इन लोगों से बात की तो उन्होंने डूब प्रभावितों की मांगो को जायज बताते हुए कहा कि जब कोई कालोनाइजर किसी कालोनी को तैयार करने की परमिशन मांगता है तो उसे कालोनी में समस्त मूलभूत सुविधाओं को मुहैया करने पर ही परमिशन दी जाती है. ऐसे में पुनर्वास स्थलों पर बगैर ...

डूब प्रभावितों को SC से बड़ी राहत, पुनर्वास की अंतिम तारीख बढ़ी - Nai Dunia

बड़वानी। सरदार सरोवर बांध परियोजना के डूब प्रभावितों को गांव खाली करने की डेटलाइन के अंतिम दिन 31 जुलाई को सुप्रीम कोर्ट ने प्रभावितों को 8 दिन की राहत दी है। सोमवार को सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद दोपहर को हुई चर्चा में नमर्दा बचाओ आंदोलन की नेत्री मेधा पाटकर ने कहा कि अभी अनशन जारी रहेगा। कोर्ट के फैसले को देखते हुए प्रशासन द्वारा 8 अगस्त तक कोई सख्ती प्रभावितों के साथ नहीं करनी चाहिए। अभी कोर्ट का पूरा फैसला समझने के बाद आगे क्या करना है वो तय करेंगे। सोमवार को पुर्नवास को लेकर सुप्रीम कोर्ट में हुई सुनवाई में मुख्य न्यायधीश ने अंतरिम फैसला सुनाते हुए 8 ...

कफन के भीतर थी जिंदा महिलाएं, इसलिए जीते जी ओढ़ लिया कफन - दैनिक भास्कर

नर्मदा घाटी में सरदार सरोवर बांध के डूब प्रभावितों के पुनर्वास का सोमवार को आखिरी दिन है। Replay. Prev; |; View Again. कफन के भीतर थी जिंदा महिलाएं, इसलिए जीते जी ओढ़ लिया कफन. +10और स्लाइड देखें. कफन ओढ़कर किया विरोध। इंदौर/बड़वानी/धार।नर्मदा घाटी में सरदार सरोवर बांध के डूब प्रभावितों के पुनर्वास का सोमवार को आखिरी दिन था जिसे सुप्रीम कोर्ट ने बढ़ाकर 8 अगस्त कर दिया है। उधर प्रभावितों ने सुबह नर्मदा बचाओ आंदोलन के कार्यकर्ताओं के साथ खंडवा-बड़ौदा हाईवे पर चक्काजाम कर सरकार के खिलाफ जमकर नारे लगाए। इसके पहले कारंजा चौक पर कफन सत्याग्रह किया गया। इसमें 10 ...

जिंदा हैं पर कफन ओढ़कर कर रहे आंदोलन - Patrika

आज आखिरी दिन, डूब क्षेत्र से नहीं हटे 9 हजार परिवार, अफसर दिख रहे लाचार। भूख हड़ताल पर बैठीं मेधा पाटकर की तबीयत बिगड़ी, बोलीं-आज घाटी में नहीं जलेगा चूल्हा। इंदौर/बड़वानी/धार. गुजरात में सरदार सरोवर के डूब क्षेत्र में आने वाले प्रदेश के गांवों को खाली कराने में सुप्रीम कोर्ट की डेडलाइन (31 जुलाई) का आज आखिरी दिन है, पर सरकारी आंकड़ों में अब तक करीब 9 हजार परिवार डूब क्षेत्र से नहीं हटे हैं। पुनर्वास का बाकी काम सोमवार को कैसे पूरा होगा, इसे लेकर न तो प्रशासन की तैयारी है और अफसर भी लाचार नजर आ रहे हैं। jal satyagrah. संपूर्ण पुनर्वास की मांग को लेकर रविवार को डूब प्रभावितों ...

4 हजार लोग उपवास पर बच्चे भी नहीं खाएंगे खाना - Pradesh Today

धार/बड़वानी/भोपाल, ब्यूरो। सरदार सरोवर बांध के गेट बंद करने की आज डेडलाइन हैं। यहां पर डूब क्षेत्र में आने वाले लोगों का लगातार धरना-प्रदर्शन जारी है। धार जिले में ही करीब चार हजार लोग धरने पर बैठे हुए हैं। वहीं बड़वानी में आज डूब प्रभावितों ने चूल्हा बंद प्रदर्शन शुरू किया है। वे आज अपने घरों में खाना नहीं बनाएंगे। बच्चे-बुजुर्ग कोई खाना नहीं खाएगा। इधर बांध में पानी का लेवल धीरे-धीरे बढ़ रहा है। हालांकि, अभी डूब क्षेत्र का पहला घर डूबने में ही करीब सात मीटर पानी दूर कम है। बड़वानी के 57 और धार के 78 गांव इस बांध से प्रभावित हो रहे हैं। प्रदेश में इन दोनों जिलों के सबसे ज्यादा ...

सरदार सरोवर बांध बड़वानी के डूब प्रभावितों ने कफन औढ़कर दी सरकार को चुनौती - Patrika

बड़वानी. सरदार सरोवर बांध के डूब गांवों को खाली कराने में सुप्रीम कोर्ट की डेडलाइन से अब 24 घंटे भी बाकी नहीं बचे है। 31 जुलाई तक प्रशासन को गांवों का पुनर्वास करना है। अब तक आधे से ज्यादा परिवार डूब गांवों में ही निवासरत है। संपूर्ण पुनर्वास की मांग को लेकर नबआं और डूब प्रभावित विभिन्न आंदोलन भी चला रहे है। रविवार को डूब प्रभावितों ने जहां बड़वानी में कफन औढ़कर सरकार को चुनौती दी। वहीं, चिखल्दा में पानी में उतरकर सरकार को ललकारा। उधर चिखल्दा में चार दिन से अमरण अनशन पर बैठे अनशनकारियों की तबीयत भी बिगडऩे लगी है। 31 जुलाई बड़वानी, धार, खरगोन और अलीराजपुर के 178 ...

'प्रधानमंत्री हस्तक्षेप करें, विस्थापन पूरा होने तक गेट बंद करने पर रोक लगाएं' - EenaduIndia Hindi

भोपाल। सरदार सरोवर बांध के विस्थापितों को मिली 31 जुलाई तक की मोहलत आज समाप्त हो जाएगी। सरकार ने विस्थापन की तैयारी कर ली है। संभवत आज सरकार सख्ती से विस्थापन की प्रक्रिया तेज कर सकती है। इन हालातों में मध्यप्रदेश के नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी से हस्तक्षेप की मांग की है। नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी से मांग की है कि वे सरदार सरोवर बांध की ऊंचाई के कारण डूब रहे विस्थापितों के मुद्दे पर हस्तक्षेप कर विस्थापन प्रक्रिया पूरी होने तक गेट बंद करने पर रोक लगाएं।

डूब प्रभावितों ने कफन आंदोलन व जल सत्याग्रह कर जताया विरोध - Nai Dunia

बड़वानी-धार। सुप्रीम कोर्ट द्वारा सरदार सरोवर परियोजना के डूब क्षेत्र में पूर्ण पुनर्वास के लिए तय की गई डेडलाइन का सोमवार को अंतिम दिन है। इससे पूर्व नर्मदा बचाओ आंदोलन, उनसे जुड़े डूब प्रभावितों और प्रशासन ने तैयारियां तेज कर दी हैं। रविवार को डूब प्रभावितों ने बड़वानी में कफन आंदोलन किया और धार जिले के चिखल्दा में जल सत्याग्रह। चिखल्दा में ही नर्मदा बचाओ आंदोलन नेत्री मेधा पाटकर सहित 12 लोगों का अनिश्चितकालीन अनशन चौथे दिन रविवार को भी जारी रहा। उल्लेखनीय है कि दोनों ही जिलों में प्रशासन की टीम के साथ-साथ पुलिस बल भी तैनात है। एक अगस्त से डूब क्षेत्र में ...

डूब प्रभावितों ने किया जल सत्याग्रह, नर्मदा नदी में खड़े होकर की नारेबाजी - Nai Dunia

सरदार सरोवर परियोजना की डूब से प्रभावित परिवारों ने अपनी विभिन्ना मांगों को लेकर जल सत्याग्रह किया। करीब दो घंटे तक नर्मदा में खड़े रहकर नारेबाजी की। प्रभावितों ने बताया कि प्रशासन हमारी मांगें नहीं मान रहा है। इसे लेकर यह सत्याग्रह किया जा रहा है। जब तक हमारी मांगें नहीं मानी जाएगी, तब तक हम वचन पत्र नहीं भरेंगे। रविवार दोपहर करीब 3 बजे नर्मदा की बड़ी धारा में श्मशान घाट क्षेत्र में डूब प्रभावित मांझी कहार समाज के लोगों ने नर्मदा में जल सत्याग्रह किया। करीब 1 घंटे पश्चात नायब तहसीलदार निर्मल शर्मा, पटवारी आलोक जोशी व कमलेश सेन मौके पर पहुंचे। कुछ देर पश्चात ...

डूब प्रभावितों ने जल सत्याग्रह कर जताया विरोध - Patrika

धार.सरदार सरोवर बांध परियोजना के डूब क्षेत्र के प्रभावित अपनी मांगों पर रविवार को भी अडिग रहे। उनके ऊपर न तो प्रशासन की समझाइश का असर हो रहा है और न ही सरकार की ओर से दिए गए पांच लाख 80 हजार रुपए के नए पैकेज व अन्य घोषणाओं का। ग्रामीण डूब प्रभावितों ने रविवार को धरमपुरी और चिखल्दा में नर्मदा नदी में खड़े रहकर जल सत्याग्रह किया। धरमपुरी में एक घंटे तो चिखल्दा में 4 घंटे तक जल सत्याग्रह किया गया। ग्रामीणों ने प्रशासन व सरकार को चेतावनी दी है कि अगर उनकी मांगों को गंभीरता से नहीं लिया गया तो वे अनिश्चितकाल के लिए जल सत्याग्रह शुरू कर देंगे। वहीं मेधा पाटकर का कहना है कि ...

सरदार सरोवर बांध : डूब प्रभावितों का कफन आंदोलन व जल सत्याग्रह - Nai Dunia

सुप्रीम कोर्ट द्वारा सरदार सरोवर परियोजना के डूब क्षेत्र में पूर्ण पुनर्वास के लिए तय की गई डेडलाइन का सोमवार को अंतिम दिन है। इससे पूर्व नर्मदा बचाओ आंदोलन, उनसे जुड़े डूब प्रभावितों और प्रशासन ने तैयारियां तेज कर दी हैं। कफन आंदोलन में जहां 10 लोगों ने कफन ओढ़े, वहीं करीब 150 से 200 डूब प्रभावितों ने डूब के फैसले पर आंसू भी बहाए। संबंधित फोटो. बड़वानी में पेड़ों को बचाने के लिए ग्रामीणों ने ऐसे किया आंदोलन · खंडवा : न्‍याय की आस में घरबार छोड़ा, जारी है जल-सत्‍याग्रह · निसरपुर : बची हुई है सिर्फ 14 दिन की कहानी. ताज़ा तस्वीरें. 'इंदू सरकार' के सबसे विवादित किरदार की ...

सरदार सरोवर बांध के प्रभावितो के 'कफन सत्याग्रह' से बीजेपी सरकार पर आफत - Janwarta

भोपाल। सरदार सरोवर बांध के डूब क्षेत्र के प्रभावितों के लिये मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कई सौगातों की घोषणा की, बावजूद इसके नर्मदा बचाओ आंदोलन की नेता मेधा पाटकर ने अपना आन्दोलन जारी रखा। मेधा ने अपना अनिश्चितकालीन उपवास रविवार को भी जारी रखा। मेधा के अलावा सरदार सरोवर बांध के प्रभावित लोगों ने मांग जारी रखी और प्रदर्शन किया। रविवार को धार जिले में जल सत्याग्रह कर उनके प्रदर्शन ने बड़ा रूप लिया। बडवानी जिले में कफन सत्याग्रह कर लोगों ने प्रदर्शन किया। बता दें कि नवागाम के पास गुजरात में नर्मदा नदी पर बने सरदार सरोवर बांध के गेटों को पिछले ...

अजय सिंह ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी से की सरदार सरोवर बांध में हस्तक्षेप करने की मांग - नवभारत टाइम्स

(यह आर्टिकल एजेंसी फीड से ऑटो-अपलोड हुआ है। इसे नवभारतटाइम्स.कॉम की टीम ने एडिट नहीं किया है।) भाषा | Updated: Jul 30, 2017, 08:15PM IST. height:250px. भोपाल, 30 जुलाई :भाषा: मध्यप्रदेश विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी से मांग की है कि वह सरदार सरोवर बांध की चपेट में आने से डूब रहे प्रदेश के विस्थापितों के मुद्दे पर हस्तक्षेप कर विस्थापन प्रक््िरुया पूरी होने तक इस बांध के गेट बंद करने पर रोक लगाएं। सिंह ने आज यहां एक बयान में कहा, सरदार सरोवर बांध की उुंचाई के कारण डूब रहे विस्थापितों के मुद्दे पर प्रधानमंत्री हस्तक्षेप करें और विस्थापन प्रक््िरुया ...

सरदार सरोवर बांध: मेधा का उपवास चौथे दिन जारी, विस्थापितों ने किया कफन सत्याग्रह एवं जल सत्याग्रह - नवभारत टाइम्स

(यह आर्टिकल एजेंसी फीड से ऑटो-अपलोड हुआ है। इसे नवभारतटाइम्स.कॉम की टीम ने एडिट नहीं किया है।) भाषा | Updated: Jul 30, 2017, 05:55PM IST. और जानें: Patan University | Patan | IAF Cheetah | IAF | Gujarat | gautam narain | abiyana. height:250px. भोपाल, 30 जुलाई :भाषा: सरदार सरोवर बांध के डूब क्षेत्र के प्रभावितों के लिये मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान द्वारा कल अनेक सौगातों की घोषणा करने के बाद भी नर्मदा बचाओ आंदोलन की नेता मेधा पाटकर ने इस बांध से हुए विस्थापितों के लिए उचित पुनर्वास को लेकर किया गया अपना अनिश्चितकालीन उपवास आज चौथे दिन भी जारी रखा। मेधा के अलावा सरदार सरोवर बांध ...