भाई की मौत से थी दुखी, जलती चिता में कूदकर बहन ने दे दी जान - नवभारत टाइम्स

भाई की मौत का गम उसे बर्दाश्त नहीं हुआ। जब कुछ समझ में नहीं आया तो उसने भाई की जलती हुई चिता में ही छलांग लगा दी। राजस्थान के डुंगरपुर जिले की इस घटना में 28 साल की महिला की मौत हो गई। पुलिस ने बताया कि मृतका का नाम दुर्गा था और वह तीन बच्चों की मां थी। वह पिछले दो-तीन सालों से अपने भाई वेलाराम मानत (35 साल) के साथ रहती थी। गुरुवार रात एक रोड ऐक्सिडेंट में वेलाराम की मौत हो गई। शुक्रवार को उसके गांव सतिरामपुर में अंतिम संस्कार किया जा रहा था। पुलिस ने बताया कि वेलाराम की चिता को आग देने के बाद सारे संबंधी अपने-अपने घरों को लौट गए। इसी दौरान महिला भी अंतिम ...और अधिक »

राजस्थान: भाई की मौत के सदमे में जलती चिता में कूदकर बहन ने दी जान - Khabar IndiaTV

जयपुर: राजस्थान के डूंगरपुर जिले के सतीरामपुर गांव में एक 28 वर्षीय महिला ने भाई की मौत के सदमे में भाई की ही जलती चिता में कूदने से मौत हो गई। पुलिस ने बताया कि दो-तीन साल से तीन बच्चों की विमंदित मां दुर्गा 28 अपने भाई वेलाराम मनात 3 के साथ रह रही थी। वेलाराम गत गुरुवार को एक सड़क हादसे में घायल को गया था, जिसकी इलाज के दौरान कल मौत हो गई थी। कल उसका अंतिम संस्कार किया गया। उन्होंने बताया कि सडक हादसे के बाद से ही वेलाराम की विमंदित बहन दुर्गा अवसाद में थी। जैसे ही ग्रामीण वेलाराम का अंतिम संस्कार करके वापस लौटे, दुर्गा श्मशान गई और भाई की जलती चिता पर छलांग ...और अधिक »

भाई की जलती चिता में कूदकर बहन ने दी जान - पर्दाफाश

जयपुर। राजस्थान के डूंगरपुर जिले के सतीरामपुर गांव से एक हृदयविदारक घटना सामने आई है। यहां एक महिला अपने भाई की मौत से इतनी दुखी हुई कि उसने भाई की ही जलती चिता में कूद कर अपनी जान देदी। पुलिस के मुताबिक, 28 वर्षीय दुर्गा थोड़ी मंद बुद्धि थी। वह अपने तीन बच्चों के साथ अपने भाई वेलाराम के घर ही रहती थी। गुरुवार को वेलाराम एक सड़क दुर्घटना में घायल हो गया था, जिसकी कल इलाज के दौरान मौत हो गई। कल उसका अंतिम संस्कार किया गया। पुलिस के मुताबिक, दुर्गा अपने भाई के घायल होने के बाद से ही अवसाद में थी। लोग जैसे ही वेलाराम का अंतिम संस्कार कर हटे वैसे ही दुर्गा ने अपने भाई की ...और अधिक »

भाई-बहन का प्यार... भाई की जलती चिता में कूदी बहन - Sanjeevni Today

डूंगरपुर। जिले के सतीरामपुर शुक्रवार को एेसा हादसा हुआ जो सभी एकाबागरी अचंभित कर गया और भाई-बहन के स्नेह की मिसाल दे गया। असल में जिले में एक बहन ने अपने भाई की मौत पर खुद भी मौत को गले लगा लिया। वो भी मौत एेसी की देखने और सुनने वालों की रूह कांप जाए। JAIPUR: PLOT & FARM HOUSE IN: 1300/- प्रति वर्गगज बुक करे: 18002749299. असल में यहां भाई की मौत के बाद एक बहन ने खुद को भाई की ही चिंत में झोंक दिया। और देखते-देखते राख बन गई। गुरुवार रात को वेला मनात की डूंगरपुर रेलवे स्टेशन के पास सड़क दुर्घटना में मौत हो गई थी। जिसका पोस्टमार्टम शुक्रवार को हुआ और दोपहर बाद शव परिजनों को ...और अधिक »

भाई की चिता पर लेटी बहन, बहन के लिए दोे भाइयों ने दी जान - Nai Dunia

जयपुर। राजस्थान में एक बहन अपने भाई की मौत से इतना व्यथित हुई कि भाई की चिता पर लेट कर जान दे दी और दो भाई अपनी बहन की चप्पल लाने के लिए तलाई में कूद गए। इन दोनों की भी जान चली गई। बहन के चिता पर लेटने की घटना डूंगरपुर के सतीरामपुर गांव में हुई। यहां के वेलाराम की गुरूवार रात मौत हो गई थी। शुक्रवार शाम गांव वाले उनका दाह संस्कार कर लौट रहे थे। इसी दौरान उनकी बहन दुर्गा बहुत व्यथित हो गई और भाई की चिता पर जा कर लेट गई। गांव वाले जब तक उसे बचाते, वह काफी जल गई थी और उसकी मौत हो गई। दुर्गा की मानसिक स्थिति ठीक नहीं थी। गांव का नाम है 'गंदा', लड़की की गुजारिश पर मोदी ने बदलवाया.और अधिक »

भाई की मौत से दुखी बहन कूदी जलती चिता में - खास खबर

जयपुर। डूंगरपुर सदर थाना क्षेत्र के सतिरामपुर गांव में एक बहन ने शुक्रवार को श्मशान पर अपने भाई की चिता में कूदकर जान दे दी। उल्लेखनीय है कि वेलाराम मनात(35) की गुरूवार को एक हादसे में मौत के बाद से उसकी बहन दुर्गा (29) सदमे थी। ग्रामीणों के अनुसार भाई के गम में दुर्गा ने ये कदम उठाया है। सदर थाना पुलिस के अनुसार सतिरामपुर निवासी वेलाराम मनात की सडक दुर्घटना में मौत हो गई थी। इसके बाद परिजन सतिरामपुर श्मशान घाट पर वेलाराम के शव के अंतिम संस्कार के लिए लाए थे। इस दौरान चिता के आधी जल जाने के बाद परिजन घर लौट गए। Next ...और अधिक »

भाई की चिता में कूदकर महिला ने दी जान - News Track

जयपुर: राजस्थान में एक बहुत ही दर्दनाक हादसे की जानकारी मिली है. खबर है कि राजस्थान के डूंगरपुर जिले के सतीरामपुर गांव में एक 28 साल की महिला अपने भाई की मौत के सदमे को बर्दास्त नहीं कर पाई. और महिला ने भाई की मौत के सदमे में भाई की ही जलती चिता में कूदकर जान दे दी. पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार दो तीन साल से तीन बच्चों की मंद बुद्धि मां दुर्गा (28) अपने भाई वेलाराम मनात (3) के साथ रहकर गुजर बसर कर रही थी. वेलाराम गत गुरूवार को एक सडक दुर्घटना में घायल को गया था, जिसका इलाज चल रहा था और इलाज के दौरान कल मौत हो गई थी. उसका कल ही अंतिम संस्कार किया गया. गौरतलब है कि सड़क ...और अधिक »

भाई की चिता में कूदकर बहन ने दी जान - EenaduIndia Hindi

डूंगरपुर। जिला मुख्यालय से सटे गांव सती रामपुर में उस समय हड़कंप मच गया। जब ग्रामीणों ने सड़क दुर्घटना में मारे गए एक युवक के जलती चिता पर एक महिला को जलते हुए देखा। उसके बाद लोग इकठ्ठे हुए और मौके पर पहुंची सदर थाना पुलिस ने जैसे तैसे अधजले शव को चिता से बाहर निकाला और मौके पर ही पोस्टमार्टम करवाया गया। सदर थानाधिकारी विनोद कुमार ने बताया कि सती रामपुर निवासी वेलाराम मनात की बीती रात सड़क दुर्घटना में मौत हो गई थी। शुक्रवार को सामान्य चिकित्सालय डूंगरपुर में पोस्टमार्टम एवं आवश्यक कार्यवाही के बाद परिजन शव को गांव ले गए और अंतिम संस्कार की तैयारी की। गांव के ...और अधिक »

भाई- बहन का ऐसा प्यार पहले नहीं देखा होगा आपने, एक साथ छोड़ी दुनिया - पंजाब केसरी

नई दिल्ली: सदर थाना क्षेत्र के सतीरामपुर गांव में दिल दहला देने वाली घटना देखने को मिली जहां भाई की मौत का सदमा सहन न कर सकी बहन चुपचाप श्मशान जाकर उसकी चिता पर लेट गई। जिससे बहन की जीवित ही जलने से मौत हो गई। जानकारी मुताबिक सतीरामपुर निवासी वेलाराम (35) पुत्र नारायण मनात मोटर साइकिल से अपने गांव जा रहा था। रेलवे स्टेशन के निकट दुर्घटना में वह गंभीर रूप से घायल हो गया था। इलाज के दौरान अस्पताल में नारायण की मौत हो गई। जिसके बाद गांव के तालाब के पास स्थित शमशान घाट में नारायण का अंतिम संस्कार कर दिया गया। इसी दौरान नारायण की बहन दुर्गा भाई की मौत का सदमा सहन न ...और अधिक »

बड़े भाई की चिता पर जिंदा जल गई बहन - दैनिक भास्कर

डूंगरपुर।सड़क दुर्घटना में भाई की मौत के बाद बहिन सदमा सहन नहीं कर पाई और उसके दाह संस्कार में शामिल लोगों के घर लौटने के बाद चुपचाप श्मशान जाकर उसकी चिता पर लेट गई। बहन की जीवित ही जलने से मौत हो गई। घटना शहर से 5 किमी दूर सतीरामपुर श्मशान घाट की है। हालांकि, सूचना मिलने के बाद ग्रामीण भी मौके पर पहुंचे, लेकिन तब तक महिला दुर्गा का शरीर इतना जल चुका था कि उसकी सांसें थम चुकी थीं। यूं हुई हृदय विदारक घटना... - पुलिस के अनुसार सतीरामपुर निवासी वेलाराम मनात (35) की गुरुवार शाम को रेलवे स्टेशन के पास सड़क हादसे में मौत हो गई थी। - शुक्रवार सुबह जिला अस्पताल के मुर्दाघर से ...और अधिक »