बाढ़ पीड़ितों से मिलकर भावुक हुई वसुंधरा राजे, कहा- आपके आंसू मेरे आंसू - आज तक

राजस्थान की मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे सोमवार को एक बार फिर राजस्थान के बाढ़ प्रभावित इलाकों का दौरा करने पहुंचीं. जालोर के हेलीपैड पर ही सारे अधिकारियों की मीटिंग ली और उफनते बाढ़ के पानी का जायजा लिया. सीएम राजे ने बाढ़ के हालात को जानने के लिए अधिकारियों के साथ बैठक की और राहत व बचाव कार्यों की समीक्षा भी की. जालोर स्टेडियम में मीडिया से भी रूबरु होते हुए राजे ने कहा कि बाढ़ से प्रभावित हुए इलाकों में राहत पहुंचाना हमारा मकसद है. सरकार हर संभव मदद कर रही है. राजे ने बताया कि करीब 11000 लोगों को सुरक्षित जगहों पर पहुंचाया गया है. 46 लोगों को वायु सेना ने एयर ...

9वां दिन : 5 जिलों के 10000 से ज्यादा लोग अब भी पानी में - दैनिक भास्कर

भास्कर न्यूज. प्रदेश के विभिन्न अंचलों से पिछले9 दिन से पानी से घिरे मारवाड़ के पांच जिलों पाली, बाड़मेर, जैसलमेर,... भास्कर न्यूज. प्रदेश के विभिन्न अंचलों से पिछले9 दिन से पानी से घिरे मारवाड़ के पांच जिलों पाली, बाड़मेर, जैसलमेर, सिरोही जालोर में रविवार को बारिश कुछ हद तक थमी रही, लेकिन बाढ़ के हालात जस के तस बने हुए हैं। इन जिलों के बिजली-पानी और रास्ते डूबे हुए हैं। दस हजार से ज्यादा लोग प्रभावित हैं। गुजरात और प्रदेश के अन्य जिलों से संपर्क कटा हुआ है। जिला प्रशासन, पुलिस, एनडीआरएफ, सेना की टीमें पानी में फंसे लोगों को बचाने में जुटे हुए हैं। वर्षाजनित हादसों ...

आज बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों का दौरा करेंगी मुख्यमंत्री - दैनिक भास्कर

पाली | जिलेमें भारी बारिश से पैदा हुए बाढ़ के हालात को लेकर मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे साेमवार को हवाई सर्वेक्षण कर... आज बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों का दौरा करेंगी मुख्यमंत्री. पाली | जिलेमें भारी बारिश से पैदा हुए बाढ़ के हालात को लेकर मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे साेमवार को हवाई सर्वेक्षण कर सकती है। वे पाली के साथ जालोर तथा सिरोही भी जाएगी। हालांकि इस बारे में अधिकारिक पुष्टि नहीं हो पाई है। जानकारी के अनुसार जिले में अतिवृष्टि से प्रभावित इलाकों का हवाई सर्वेक्षण करने के लिए शुक्रवार को सरकारी हेलीकॉप्टर से हवाई सर्वेक्षण करने के लिए पाली आई थी, मगर भारी बारिश ...

पाली,जालोर सिरोही में 40 से ज्यादा जीएसएस ठप - दैनिक भास्कर

बाढ़से प्रभावित मारवाड़ के तीन जिलों पाली, जालोर सिरोही में सप्ताह भर से हो रही बारिश बंद नहीं होने से यहां बिजली... पाली,जालोर सिरोही में 40 से ज्यादा जीएसएस ठप. बाढ़से प्रभावित मारवाड़ के तीन जिलों पाली, जालोर सिरोही में सप्ताह भर से हो रही बारिश बंद नहीं होने से यहां बिजली आपूर्ति बहाल नहीं हो सकी है। डिस्कॉम के अनुसार इन जिलों में बाढ़ से बिजली तंत्र को साढ़े सात करोड़ रुपए से ज्यादा का नुकसान हुआ है। वहीं बरसात से डेमेज हुई लाइन, पोल तथा ट्रांसफार्मर को सुधारने के लिए तीनों जिलों के एसई 2500 से ज्यादा तकनीकी कर्मचारी 200 इंजीनियर्स के साथ बिजली ...

मारवाड़ में बारिश थमी, लेकिन अब भी डूबे हैं कई गांव, फंसे हैं सैकड़ों लोग - दैनिक भास्कर

भास्कर न्यूज. प्रदेश के विभिन्न अंचलों से पिछले9 दिन से पानी से घिरे मारवाड़ के पांच जिलों पाली, बाड़मेर, जैसलमेर,... मारवाड़ में बारिश थमी, लेकिन अब भी डूबे हैं कई गांव, फंसे हैं सैकड़ों. भास्कर न्यूज. प्रदेश के विभिन्न अंचलों से पिछले9 दिन से पानी से घिरे मारवाड़ के पांच जिलों पाली, बाड़मेर, जैसलमेर, सिरोही जालोर में रविवार को बारिश कुछ हद तक थमी रही, लेकिन बाढ़ के हालात जस के तस बने हुए हैं। इन जिलों के सैकड़ों गांवों में बिजली आपूर्ति ठप है। गुजरात और प्रदेश के अन्य जिलों से संपर्क कटा हुआ है। जिला प्रशासन, पुलिस, एनडीआरएफ, सेना की टीमें पानी में फंसे लोगों को ...

बाढ़ में मरने वालों को एक लाख की सहायता - खास खबर

जयपुर। मुख्यमंत्री श्रीमती वसुन्धरा राजे ने बाढ़ प्रभावित जालोर, सिरोही, पाली एवं बाड़मेर जिलों में आपदा प्रभावितों को मुख्यमंत्री राहत कोष से मिलने वाली सहायता राशि बढ़ाने की घोषणा की है। श्रीमती राजे ने इन क्षेत्रों में बाढ़ से मारे गये लोगों के परिजनों को 1-1 लाख रुपये, गंभीर घायलों को 25 हजार और सामान्य घायलों को 10 हजार रुपये प्रति व्यक्ति सहायता राशि देने के निर्देश दिए हैं। श्रीमती राजे ने सोमवार को जालोर एवं सिरोही सहित बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों से लौटकर मुख्यमंत्री निवास पर एक उच्च स्तरीय बैठक ली, जिसमें आपदा एवं राहत कार्याें की समीक्षा की।

बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों में मृतकों को राहत हेतु मिलेंगे एक लाख रुपये - Sanjeevni Today

जयपुर। मुख्यमंत्री वसुन्धरा राजे ने बाढ़ प्रभावित जालोर, सिरोही, पाली एवं बाड़मेर जिलों में आपदा प्रभावितों को मुख्यमंत्री राहत कोष से मिलने वाली सहायता राशि बढ़ाने की घोषणा की है। राजे ने इन क्षेत्रों में बाढ़ से मारे गये लोगों के परिजनों को 1-1 लाख रुपये, गंभीर घायलों को 25 हजार और सामान्य घायलों को 10 हजार रुपये प्रति व्यक्ति सहायता राशि देने के निर्देश दिए हैं। राजे ने सोमवार को जालोर एवं सिरोही सहित बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों से लौटकर मुख्यमंत्री निवास पर एक उच्च स्तरीय बैठक ली, जिसमें आपदा एवं राहत कार्याें की समीक्षा की। उन्होंने बाढ़ प्रभावित गांवों ...

बाढ़ प्रभावितों को मुआवजा: मृतकों के परिजनों को केंद्र देगा दो लाख और राज्य देगा एक लाख रुपए - अमर उजाला

केंद्र सरकार के बाद राज्य सरकार ने बाढ़ में मारे गए लोगों के परिजनों और घायलों के लिए सहायता राशि की घोषणा की है। मुख्यमंत्री वसुन्धरा राजे ने बाढ़ प्रभावित जालोर, सिरोही, पाली एवं बाड़मेर जिलों में आपदा प्रभावितों को मुख्यमंत्री राहत कोष से मिलने वाली सहायता राशि बढ़ाने की घोषणा की है। राजे ने इन क्षेत्रों में बाढ़ से मारे गये लोगों के परिजनों को 1-1 लाख रुपए, गंभीर घायलों को 25 हजार और सामान्य घायलों को 10 हजार रुपए प्रति व्यक्ति सहायता राशि देने के निर्देश दिए हैं। राजे ने सोमवार को जालोर एवं सिरोही सहित बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों से लौटकर मुख्यमंत्री ...

बाढ़ में मरने वालों के परिजनों को एक लाख, घायलों को भी नकद राशि जानिए पूरी खबर - Rajasthan Patrika

जालोर. अपने दौरे के बाद मुख्यमंत्री ने बाढ़ से प्रभावित चार जिलों बाड़मेर, सिरोही, पाली और जालोर के लिए आर्थिक सहायता की घोषणा सीएम रिलीफ फण्ड से देने की घोषणा की है। मुख्यमंत्री के विशेषाधिकारी ने बताया कि बाढ़ में मरने वालों के परिजनों को एक लाख, गंभीर रूप से घायलों को 25 हजार और सामान्य घायल को दस हजार की नकद राशि दी जाएगी। सीएम ने जालोर जिले में हुए नुकसान को शीघ्र ठीक करने के लिए अधिकारियों को निर्देश दिए और आपदा राहत कार्यों की समीक्षा की।

बाढ़ पीड़ितों के आंसू मेरे आंसू- वसुंधरा राजे - Janprahari Express (कटूपहास) (प्रेस विज्ञप्ति) (ब्लॉग)

जालोर. मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने जालोर एवं सिरोही में अधिकारियों की बैठक लेते हुए कहा कि बाढ़ पीड़ितों का दर्द मेरा दर्द है, उनके आंसू मेरे आंसू हैं। उन्हें अतिशीघ्र राहत पहुंचाना मेरी पहली प्राथमिकता है, इसमें किसी प्रकार की देरी बर्दाश्त नहीं की जाएगी। राजे ने कहा कि जब से प्रदेश के ये जिले भारी बारिश के कारण प्राकृतिक आपदा का सामना कर रहे है तब से वे एक क्षण के लिए भी लोगों की तकलीफ से खुद को दूर नहीं कर पाईं हैं और राहत-बचाव कार्यों की पल-पल जानकारी ले रही हैं। मुख्यमंत्री ने कहा कि 26 जुलाई को मैंने वीडियो काॅन्फ्रेंस से जिला कलक्टरों एवं अन्य ...

बाढ़ पीड़ितों के आंसू मेरे आंसू, हालात देखकर बोलीं मुख्यमंत्री - अमर उजाला

बाढ़ पीड़ितों का हाल देखकर सीएम भावुक हो गईं और कहा कि बाढ़ पीड़ितों के आंसू मेरे आंसू हैं। राजस्थान के दक्षिण-पश्चिम चार जिलों में बाढ़ के हालातों के चलते मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने आज जालोर और सिरोही का दौरा किया। इस दौरान उन्होंने बाढ़ पीड़ितों और अधिकारियों से बातचीत कर स्थिति का जायजा लिया। जालोर एवं सिरोही में अधिकारियों की बैठक में राजे ने कहा कि बाढ़ पीड़ितों का दर्द मेरा दर्द है, उनके आंसू मेरे आंसू हैं। मुख्यमंत्री ने कहा कि बाढ़ प्रभावितों को अतिशीघ्र राहत पहुंचाना मेरी पहली प्राथमिकता है, इसमें किसी प्रकार की देरी बर्दाश्त नहीं की ...

बाढ़ से नुकसान रोकने के लिए सरकार करेगी स्थाई समाधान - खास खबर

जालोर/सिरोही। मुख्यमंत्री वसुन्धरा राजे ने कहा है कि प्रदेश के बाढ़ संभावित इलाकों को नुकसान से बचाने के लिए स्थाई समाधान किया जाएगा। उन्होंने कहा कि प्रदेश में ऐसे कई जिले हैं जहां बार-बार बाढ़ के हालात उत्पन्न होते हैं और जन जीवन प्रभावित होता है। ऐसे सभी जिलों को बाढ़ से बचाने के लिए स्थाई हल निकाला जाएगा। मुख्यमंत्री सोमवार को जालोर और सिरोही में पत्रकारों को सम्बोधित कर रही थीं। सीएम राजे ने कहा कि 24-25 जुलाई को बाढ़ की स्थिति बनते ही मैंने प्रभावित इलाकों में प्रभारी मंत्रियों और प्रभारी सचिवों को भेज दिया था, जो वहां लगातार पीड़ितों से मिल रहे ...

वसुंधरा राजे ने लगाई एलएंडटी के अधिकारियों को कड़ी फटकार - News18 इंडिया

मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने आज सिरोही दौरे पर बाढ़ प्रभावित इलाकों का हवाई जायजा लिया. सिरोही पहुंचकर उन्होंने अधिकारियों की बैठक ली और एलएंडटी के अधिकारियों को जमकर फटकार लगाई. मुख्यमंत्री राजे ने टर्मिनल भवन में एलएंडटी के अधिकारियों को जमकर फटकार लगाई. उन्होंने कहा कि टनल खराब होने के बावजूद जनता से पैसे वसूलने के संबंध में उन्हें लताड़ लगाई. मुख्यमंत्रा के इस बयान पर कंपनी के अधिकारी कुछ जवाब नहीं दे पाए. इसके साथ ही मुख्यमंत्री ने जिले में खराब हुई फसल के बारे में भी जिला कलेक्टर संदेश नायक से फीडबैक मांगा. मुख्यमंत्री ने निर्देश दिए कि जिले में ...

CM राजे ने किया बाढ़ग्रस्त इलाकों का दौरा, बोलीं- हर नुकसान की होगी भरपाई - News18 इंडिया

पिछले एक सप्ताह से पश्चिमी राजस्थान में बारिश आफत बन सामने आई है. चार जिलों में सैकड़ों गांव बाढ़ की चपेट में है. इस बीच मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे सोमवार को पूरे दिन बाढ़ प्रभावित इलाकों का तूफानी दौरा करने पहुंची थीं. पहले जालौर फिर सिरोही में बैठक कर बाढ़ पीड़ितों को तुरंत राहत पहुंचाने का आदेश दिए. मौसम का साथ मिलते ही सीएम राजे बाढ़ प्रभावित इलाकों में हालात का जायजा लेने पहुंची. सीएम सुबह साढे़ 11 बजे जालौर स्टेडियम पहुंची. स्टेडियम में उतरते ही प्रशासन और जनप्रतिनिधि से मुलाकात की. उसके बाद तुरंत बाढ़ प्रभावित इलाकों का दौरा करने पहुंची. आधे घंटे तक ...

जवाई नदी का पुल टूटा, जायजा लेने पहुंची सीएम राजे - EenaduIndia Hindi

जालौर। राजस्थान में भारी बारिश के कारण जन-जीवन अस्त-व्यस्त हो गया है। बाढ़ के कारण कई गांवों के लोग बेघर हो गए हैं। वहीं, बारिश के कारण सिरोही, पाली और जालौर के कई गांव जलमग्न हो गए हैं। सीएम राजे आजे बाढ़ प्रभावित क्षेत्र का दौरा करने के लिए जालौर पहुंची है। जिले में भारी बारिश के कारण जवाई नदी पर बना पुल टूट गया है। पुल टूटने के कारण कई गांवों का संपर्क टूट गया है। सीएम राजे ने मौके पर पहुंचकर हालात का जायजा लिया। गौरतलब है कि राजस्थान में लगातार बारिश से बाढ़ जैसे हालात हैं। पश्चिमी प्रदेश में बाढ़ से भारी तबाही हुई है। बाढ़ से मुख्यत: पाली, सिरोही, जालोर, उदयपुर, ...

सीएम राजे का बाढ़ प्रभावित क्षेत्रो का दौरा: जालोर में बैठक कर अधिकारियों से लिया फीडबैक, हवाई सर्वेक्षण के लिए सांचौर रवाना - Rajasthan Khoj Khabar

जालोर: मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे सोमवार को जालोर जिले के बाढग़्रस्त इलाकों का दौरा करने सबसे पहले जालोर पहुंची. यहा पर उन्होंने अधिकारियों व बीजेपी प्रतिनिधियों से बाढ़ हालातो की जानकारी ली. हेलीपैड से सीएम सीधे जिले के लेटा स्थित सांकरणा के बीच जवाई नदी के क्षतिग्रस्त पुलिया देखने पहुंची. जहा पर करीब 20 मिनिट जिला कलेक्टर से चर्चा की. जिसके बाद सीएम जालोर स्टेडियम पहुंची जहा अधिकारियो व जनप्रतिनिधियो के साथ बाढ़ ग्रस्त इलाकों का फीड़बैक लिया गया. सीएम राजे ने बाढ़ हालातो को जानने के लिए अधिकारियो के साथ बैठक की. इस दौरान उन्होंने भामाशाहो व ...

आखिरकार PM मोदी ने भी ली राजस्थान की सुध, बाढ़ से मरने वालों को दो-दो लाख देने की घोषणा - Rajasthan Patrika

पीएम मोदी ने राजस्थान में बाढ़ से मरने वाले लोगों के परिजनों को दो-दो लाख रुपय की सहायता राशि देने की घोषणा की है। Related News. प्रदेश के बाढ़ पीडि़तों को सरकार देने जा रही है ये सहायता, केंद्र सरकार से की ऐसी मांग · बाढ़ग्रस्त जिलों का हवाई सर्वेक्षण करने निकलीं मुख्यमंत्री, व्यवस्थाओं का ले रहीं ज़ायज़ा · कोई सरहद ना इन्हें रोके... पाकिस्तान जाकर फिर लौट रहा है लूणी आैर जवार्इ नदियों का पानी. नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने राजस्थान में बाढ़ से मरने वाले लोगों के परिजनों को दो-दो लाख रुपय की सहायता राशि देने की घोषणा की है। पीएम मोदी ने राजस्थान के ...

रेगिस्तान में बाढ़ से तबाही, 10 हजार से ज्यादा लोग प्रभावित - आज तक

राजस्थान में लगातार नौवें दिन भी बाढ़ से बिगड़े हालात में सुधारे नहीं हैं. राज्य के 6 जिलों पाली, जालोर, सिरोही, बाड़मेर, जोधपुर और जैसलमेर के करीब 2000 लोग अब भी बाढ़ की गिरफ्त में हैं. हालांकि रविवार को इन इलाकों में बारिश कम हुई है लेकिन अब भी बाढ़ के हालात बने हुए हैं. सेंना, एनडीआरएफ की टीम चौबीसों घंटे लोगों को पानी से निकालने में लगी हुई हैं. राजस्थान में बारिश की वजह से अबतक 41 लोगों की मौत हो चुकी है. बाढ़ से बाधित बाड़मेर. बाड़मेर में तो 15 साल का रिकार्ड टूट गया है और 17 इंच बारिश हुई है जिससे लूणी नदी उफान पर है. बाड़मेर के 35 गावों के 3000 लोग बाढ़ से ...

मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे पहुंची जालोर, बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों का हवाई दौरा - Mahanagar Times

जालोर। मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने सोमवार को बाढ़ प्रभावित जालोर का हवाई दौरा किया। मारवाड़ के जालोर, सिरोही, पाली और बाड़मेर आदि जिले पिछले 10 दिनों से बाढ़ का दंश झेल रहे हैं। बाढ़ के हालात जानने के लिए मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने हवाई सर्वे किया। उधर केन्द्र सरकार ने राजस्थान के बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों में मदद की घोषणा की है। पीएम नरेंद्र मोदी बाढ़ त्रासदी में मारे गए लोगों के परिजनों को 2-2 लाख रुपए की मदद देंगे। वहीं घायलों को 50-50 हजार रुपए की अार्थिक सहायता दी जाएगी। मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने रविवार को प्रदेश के बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों में हालात से ...