आज से रियल एस्टेट एक्ट लागू, बिल्डरों पर कसेगी नकेल, जानें फायदें - खास खबर

नई दिल्ली। आज 1 मई 2017 से रियल एस्टेट (रेग्युलेशन एंड डिवेलपमेंट) एक्ट, 2016 पूरे देश में लागू हो गया है। इस बिल से बिल्डरों की मनमानी पर नकेल कसेगी। इस बिल से घर खरीदना बेहद ही सुरक्षित हो जाएगा। रियल एस्टेट रेग्युलेशन एक्ट के लागू होने से सभी बिल्डर्स कानून के दायरे में आ जाएंगे, इसके बाद आपके साथ फ्रॉड नहीं होगा और तय समय पर आपको आपका मकान मिल जाएगा। गौरतलब है कि पहले पैसा लेने के बावजूद आपको घर मिलेगा या नहीं, इसका कोई भरोसा नहीं था। अभी तीन केंद्रशासित प्रदेशों दिल्ली, अंडमान-निकोबार आइलैंड और चंडीगढ़ ने अंतरिम अथॉरिटी गठित की है। वहीं, हरियाणा, राजस्थान ...

आज से एक पारी में चलेगा एसके अस्पताल, नए रियल एस्टेट एक्ट के बाद बिल्डर्स नहीं कर पाएंगे मनमानी - दैनिक भास्कर

1 मई से वीआईपी लाल बत्ती का इस्‍तेमाल नहीं कर पाएंगे। एम्बुलेंस, पुलिस और फायर सर्विस की गाड़ियों पर नीली बत्ती लगा सकेंगे। हालांकि सरकार की घोषणा के बाद से ही ज्यादातर ने लाल बत्ती हटा ली थी। हम पर असर : गाड़ीपर कोई भी व्यक्ति लाल बत्ती इस्तेमाल नहीं कर सकेगा। ऐसा करने वालों के खिलाफ कानूनी कार्रवाई की जाएगी। हम पर असर : मुख्यमंत्रीआवास योजना में आधा दर्जन प्रोजेक्ट शहर में चल रहे हैं। अन्य प्रोजेक्ट भी चल रहे हैं। खरीदारों को नए अधिकार मिलेंगे। वे बिल्डर्स की मनमानी के खिलाफ रेगुलेटरी अथॉरिटी में जा सकेंगे। हम पर असर : नयाफैसला मरीजों के लिए मुसीबत बन सकता है ...

रियल एस्टेट कानून आज से अमल में, बिल्डरों पर सख्ती, ग्राहकों का फायदा - दैनिक भास्कर

नई दिल्ली/भोपाल. फ्लैट-मकान के खरीदारों के हकों की रक्षा वाला रियल एस्टेट रेगुलेशन कानून-2016 सोमवार (1 मई) से लागू होगा। लेकिन अभी तक मध्यप्रदेश समेत सिर्फ 12 राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों ने नियम नोटिफाई किए हैं। रेरा में रेगुलेटर की नियुक्ति कर नियम बनाने वाला मध्यप्रदेश देश का पहला राज्य है। यह अथॉरिटी केंद्र के मॉडल कानून के मुताबिक नियम बनाएगी। अथॉरिटी को ही ग्राहक शिकायत करेंगे। रजिस्ट्रेशन नहीं कराने पर डेवलपर को हो सकती है जेल.. इस एक्ट में अपार्टमेंट या घर की बिक्री के पांच साल तक बिल्डिंग में खामी सामने आती है तो डेवलपर उसे 30 दिन के भीतर दुरुस्त ...

बिल्डरों के लिए बदली रियल एस्टेट बिल की गाइडलाइन! - नवभारत टाइम्स

बिल्डरों को फायदा पहुंचाने के लिए आवास विभाग के कुछ अधिकारियों ने रियल एस्टेट ऐक्ट-2016 की गाइडलाइन में बड़ा फेरबदल करने की कोशिश की। आरोप है कि फेरबदल के जरिए प्रदेश में चल रहे बिल्डरों के वो प्रॉजेक्ट ऐक्ट के दायरे से बाहर निकालने की तैयारी थी, जिनका कम्प्लिशन सर्टिफिकेट अप्रैल 2017 तक नहीं जारी हुआ है। जबकि आवास विभाग के कुछ अधिकारियों के मुताबिक ऐक्ट में वह भी ऑनगोइंग प्रॉजेक्ट दायरे में आएंगे जिनका कम्प्लिशन सर्टिफिकेट मई 2016 तक नहीं जारी हुआ है। अधिकारियों के इस खेल का खुलासा आवास विभाग में आई कुछ शिकायतों की पड़ताल में हुआ। इसके बाद प्रमुख सचिव ...

इधर, एचडीएफसी के चेयरमैन पारेख बोले- प्रोजेक्ट मंजूरी का समय घटे तो सस्ते होंगे फ्लैट - दैनिक भास्कर

एकमई से रियल एस्टेट कानून लागू होने के बाद डेवलपर्स को मकानों की मांग बढ़ने की उम्मीद है। डेवलपर्स मानते हैं कि यह कानून खरीददारों को बेईमान कंपनियों से बचाएगा, जबकि बड़ी संख्या में बने हुए मकानों के अब तक नहीं बिकने की वजह से दाम स्थिर बने रहेंगे। रियल एस्टेट कानून के तहत रियल एस्टेट प्रोजेक्ट का पंजीकरण जरूरी होगा और रेगुलेटर वेबसाइट पर प्रोजेक्ट की विस्तृत जानकारी देनी होगी। रियल एस्टेट डवलपर्स के दो बड़े संगठन क्रेडाई और नारेडको का मानना है कि इस कानून के लागू होने से रियल एस्टेट क्षेत्र के कामकाज के तौर तरीकों में एक बड़ा बदलाव आएगा। हालांकि शुरुआत में ...

डेवलपरों को उम्मीद रेरा से बढ़ेगी मकानों की मांग - दैनिक जागरण

डेवलपरों को उम्मीद है कि एक मई से रियल एस्टेट (विनियमन व विकास) अधिनियम यानी रेरा के लागू होने से मकानों की मांग में तेजी आएगी। नई दिल्ली (पीटीआई)। डेवलपरों को उम्मीद है कि एक मई से रियल एस्टेट (विनियमन व विकास) अधिनियम यानी रेरा के लागू होने से मकानों की मांग में तेजी आएगी। यह कानून खरीदारों को जालसाज कंपनियों से बचाएगा। जबकि बड़ी संख्या में बने हुए मकानों के अब तक नहीं बिकने की वजह से दाम स्थिर बने रहेंगे। रियल एस्टेट डेवलपरों के दो शीर्ष संगठन क्रेडाई और नारेडको को लगता है कि इस कानून के लागू होने से भारतीय रियल एस्टेट क्षेत्र के कामकाज के तौर-तरीकों में ...

अब नहीं चलेगी बिल्डरों की मनमानी, आज से लागू हुआ रीयल एस्टेट कानून - अमर उजाला

देश भर में सपनों का घर खरीदने वालों के लिए खुशखबरी है। रीयल एस्टेट रेग्युलेशन एक्ट (रेरा) सोमवार से लागू हो रहा है। केंद्र सरकार का दावा है कि इसके बाद देश का रीयल एस्टेट सेक्टर नए दौर में पहुंचेगा। इससे फ्लैट के खरीददारों को बड़ी राहत मिलने जा रही है। मंत्रालय के अधिकारी बताते हैं कि कानून लागू होने के बाद बिल्डर किसी भी हालत में खरीददार से धोखाधड़ी नहीं कर सकेगा। नियम तोड़ने पर बिल्डर को तीन साल तक की जेल हो सकती है। दरअसल, बीते साल मार्च में राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने रेरा पर मुहर लगा दी थी। इसके बाद एक्ट के 59 प्रावधान एक मई 2016 को लागू भी हो गए थे। इस बीच, एक्ट के अधीन ...

रीयल एस्टेट कानून आज से लागू- अब कसेगा देशभर के बिल्डरों पर शिकंजा - Jansatta

सरकार ने इस कानून के क्रियान्वयन को एक ऐसे युग की शुरुआत कहा है जहां खरीदार बाजार का बादशाह होगा। Author जनसत्ता नई दिल्ली | May 1, 2017 02:27 am. 87. Shares. Facebook · Twitter · Google Plus · Whatsapp. यह बिल किराए पर घर खोज रहे लोगों के लिए लागू नहीं होगा। सोमवार से दो नए कानून प्रभावी होने जा रहे हैं। इनमें कहने को तो केंद्र का बनाया बहुप्रतीक्षित रीयल एस्टेट कानून भी है लेकिन हकीकत यह है कि केवल 13 राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों ने ही इस कानून के तहत नियमों को अधिसूचित किया है। जबकि इसे एक मई से सारे देश में लागू करने की बात तय हुई थी। इस बीच, केंद्रीय आवास मंत्री वेंकैया नायडू ने ...

आज से नहीं चलेगी बिल्डरों की मनमानी, खरीदार बने रियल एस्टेट के किंग - आज तक

अगर आप घर खरीदने की सोच रहे हैं लेकिन बिल्डरों द्वारा प्रोजेक्ट लेट किए जाने या घटिया निर्माण की आशंका से डरे हुए हैं तो आपकी ये चिंता अब दूर हो जाएगी. अगर आपने किसी प्रोजेक्ट में अपनी जमापूंजी लगाई हुई है और समय सीमा बीत जाने के बावजूद आपको फ्लैट नहीं मिला है और न ही आपकी कहीं कोई सुनवाई हो रही है तो आपके लिए भी अच्छी खबर है. एक मई से बहुप्रतीक्षित रियल एस्टेट एक्ट यानी रेरा लागू हो रहा है. बिल्डरों की मनमानी से निजात दिलाने और बॉयर्स को शोषण से बचाने का ये क्रांतिकारी कानून पिछले साल मार्च में संसद में पास हुआ था और आज यानी एक मई से ये लागू हो गया है. रेरा से ...

निवेशकों से किया वादा करना होगा पूरा, रेरा लागू होने का बेसब्री से इंतजार - दैनिक जागरण

डेवलपर्स का मानना है कि रेरा के तहत जो अधिकार निवेशकों को मिलेंगे, उनका इस्तेमाल लोग डेवलपर्स को जान-बूझ कर मुश्किल में डालने के लिए नहीं करेंगे। नोएडा [जेएनएन]। खरीदार और डेवलपर्स रियल एस्टेट (रेगुलेशन एंड डेवलपमेंट) एक्ट (रेरा) के लागू होने का बेसब्री से इंतजार कर रहे हैं। सोमवार से लागू होने जा रहे रेरा से न केवल खरीदारों के चेहरे खिल उठेंगे, बल्कि रियल एस्टेट मार्केट में भी कई परिवर्तन देखने को मिलेंगे। इसका लाभ खरीदार और बिल्डर दोनों को होगा। निवेशकों को कई अधिकार भी मिलेंगे, जो उनके हितों की रक्षा के लिए काफी कारगर होंगे। बुकिंग के समय निवेशकों से लिखित में ...

आज से देशभर में लागू होगा रियल एस्टेट कानून - Hari Bhoomi (कटूपहास) (प्रेस विज्ञप्ति) (सदस्यता) (ब्लॉग)

एक मई से देशभर में लागू हो रहे रियल एस्टेट कानून से जहां बिल्डरों व प्रोपर्टी डीलरों पर शिकंजा कसना शुरू हो जाएगा, वहीं घर का सपना संजोए लोगों को बड़ी राहत मिलेगी। माना जा रहा है कि ये कानून देश के रीयल एस्टेट क्षेत्र की तस्वीर बदल देगा। संसद द्वारा पिछले साल बजट सत्र के दौरान मई में नए रियल एस्टेट यानि भू-संपदा (विनियमन और विकास) विधेयक को पारित कर दिया गया था, जिससे रियल एस्टेट क्षेत्र में घर का सपना देखने वालों की राह आसान नजर आने लगी थी। इस नए कानून को देशभर में कल एक मई से लागू किया जा रहा है। रियल एस्टेट कानून राज्यों की सूची में शामिल है, इसलिए एक मई से सभी ...

चंडीगढ़ में आज से लागू होगा रियल एस्टेट एक्ट - दैनिक जागरण

जागरण संवाददाता, चंडीगढ़ : यूटी में रियल एस्टेट एक्ट सोमवार से लागू होगा। प्रशासन एक्ट को अपना कर पह. जागरण संवाददाता, चंडीगढ़ : यूटी में रियल एस्टेट एक्ट सोमवार से लागू होगा। प्रशासन एक्ट को अपना कर पहले ही रियल एस्टेट रेगुलेटरी अथॉरिटी बना चुका है। पंजाब ने अभी तक एक्ट को नोटिफाई नहीं किया है। इसका सीधा असर चंडीगढ़ पर भी पड़ेगा। शहर में रियल एस्टेट से जुड़े बड़े प्रोजेक्ट नहीं हैं। पेरीफेरी एरिया डेराबस्सी, नयागांव, जीरकपुर और पंचकूला में हाउसिंग के बड़े प्रोजेक्ट चल रहे हैं। यहां चंडीगढ़ के हजारों लोगों ने प्लॉट-फ्लैट खरीदे हैं या खरीदने की तैयारी में हैं। लेकिन, एक्ट ...

रेरा से मकानों की मांग बढ़ेगी, खरीददारों का बचाव होगा: मानता है रियलिटी क्षेत्र - नवभारत टाइम्स

नयी दिल्ली, 30 अप्रैल :: डेवलपरों को उम्मीद है कि एक मई से रीयल एस्टेट कानून लागू होने से मकानों की मांग में तेजी आएगी क्योंकि यह कानून खरीददारों को बेईमान कंपनियों से बचाएगा जबकि दाम बड़ी संख्या मेें बने हुए मकानों के अबतक नहीं बिकने की वजह से स्थिर बने रहेंगे। । रीयल एस्टेट डेवलपरों के दो बड़े शीर्ष निकाय- के्रडाई और नारेडको महसूस करते हैं कि इस कानून के लागू होने से भारतीय रीयल एस्टेट क्षेत्र के कामकाज के तौर तरीकों में एक बड़ा बदलाव आएगा, हालांकि उन्हें उसमें प्रारंभिक कठिनाइयां नजर आती हैं। ये दोनों संगठन चाहते थे कि सरकार वर्तमान परियोजनाओं को रीयल एस्टेट ...

रियल एस्टेट क्षेत्र में रेरा अधिनियम लागू होगा एक मई से, प्रॉपर्टी कारोबार बनेगा विश्वनीय - Sanjeevni Today

नई दिल्ली। जिस तरह से हर एक खेल में कोई न कोई रेफरी होता ही है उसी प्रकार से रियल एस्टेट के कारोबार में भी अब रेफरी की भूमिका केंद्र सरकार के एक अधिनियम से एक मई को लागू होने वाली है। उपभोक्ताओं के अधिकार की सुरक्षा और पारदर्शिता लाने के वादे के साथ बहुत-प्रतीक्षित रियल एस्टेट अधिनियम रेरा (RERA) एक मई 2017 से से लागू हो रहा है। यह अधिनियम अब तक केवल 13 राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों ने ही अधिसूचित किया है। टोंक रोड़, जयपुर में प्लाट खरीदने का सबसे सही समय, ये मौका फिर नहीं मिलेगा, मात्र 2 लाख में 100 गज का प्लाट, कॉल: 09314188188. केंद्र सरकार ने उपभोक्ता-केंद्रित इस ...

सख्तः अब बिल्डरों की बदमाशी पर लगेगी रोक, 1 मई से कानून होगा लागू - Hindustan हिंदी

केंद्रीय शहरी विकास मंत्री एम वेंकैया नायडू ने रविवार को कहा कि सोमवार से रियल स्टेट अधिनियम, 2016 लागू होगा जिसमें खरीदार राजा होगा। नायडू ने एक संवाददाता सम्मेलन में यहां कहा कि अधिनियम के तहत डेवलपर्स और खरीदारों को निवेश करने को लेकर विश्वास का वातावरण बनाने में मदद मिलेगी। उन्होंने कहा कि इस अधिनियम से खरीदारों तथा डेवलपर्स दोनों की स्थिति जीत वाली होगी। इसमें खरीदारों, डेवलपर्स तथा रियल स्टेट एजेंटों के अधिकार और दायित्व साफ तौर पर परिभाषित होंगे और कोई भी असंतुष्ट पार्टी नियमों के उल्लंघन के मामले में हर्जाने की मांग कर सकती है। शहरी मंत्री ने ...

एक मई से बिल्डरों पर लगाम लगाने वाला रेरा एक्ट लागू - Janprahari Express (कटूपहास) (प्रेस विज्ञप्ति) (ब्लॉग)

जयपुर। ग्राहकों से पैसा लेकर भी तय समय पर मकान नहीं देने वाले और टिकाऊ मकान नहीं देने वाले बिल्डरों व रियल एस्टेट कंपनियों की खैर नहीं है। मकान का सपना देखने वाले लोगों से धोखाधड़ी करने वाले बिल्डरों व रियल स्टेट कंपनियों की गलत कारगुजारियों पर लगाम लगाने के लिए संसद से पारित रेरा एक्ट एक मई से लागू हो जाएगा। इस एक्ट के लागू होने के बाद अब ना केवल ग्राहकों की सुरक्षा होगी, बल्कि तय समय पर मकान नहीं देने वाले बिल्डरों व कंपनियों पर आपराधिक कार्रवाई भी हो सकेंगी, साथ ही ग्राहकों ब्याज समेत उनका पैसा भी दिलाया जा सकेगा। एक मई रियल एस्टेट: रेग्युलेशन एण्ड डवलपमेंट ...

पढ़े! कल से किन नियमों में हो रहा है बदलाव - Patrika

होशंगाबाद. प्रदेश में 1 मई से नए नियम लागू हो रहे हैं। पॉलीथिन पर पूर्णत: रोक, रियल एस्टेट सेक्टर में लागू एक्ट सहित लाल बत्ती का इस्तेमाल अब वीवीआईपी नहीं कर सकेंगे। मध्यप्रदेश सरकार के मुखिया शिवराज सिंह चौहान के द्वारा की गई घोषणा के बाद सोमवार से पॉलीथिन पर पूर्णत: प्रतिबंध लग जाएगा। साथ ही केंद्र सरकार द्वारा लालबत्ती लगाने पर भी नियम लागू कर दिया है अब कोई भी बड़ा अधिकारी, जनप्रतिनिधि लालबत्ती का इस्तेमाल नहीं कर सकेगा। मुनाफा के चक्कर में अमानक पॉलीथीन का उपयोग : मुख्यमंत्री ने पूरे प्रदेश में एक मई से पॉलीथिन बंद करने की घोषणा जरूर कर दी है। शहर में ...

अब लाइन पर आएगा “रियल एस्टेट” - Youthens News (कटूपहास)

अब सरकार घर खरीदारों की भी रक्षा करेगी। रियल एस्टेट के हालात बदलने वाले हैं। क्योंकि 1 मई से रियल एस्टेट सेक्टर को अब सबक मिलने वाला है। आपको बता दें कि पिछले कुछ सालों से रियल एस्टेट में कई गड़कडिय़ां सामने आई हैं, जिसके चलते घर खरीदारों को परेशानी का सामना करना पड़ा है। ऐसा इसलिए होता आया है क्योंकि अब तक रियल एस्टेट की कोई अपनी रैग्यूलेटरी नहीं थी, लेकिन अब सरकार इन पर नकेल कसने के लिए इसे अपना रैगयूलेटर देने वाली है। सोमवार से रियल एस्टेट एक्ट 2016 पूरे देश में लागू हो जाएगा। हर राज्य और केंद्र शासित प्रदेशों को अपना रेगुलेटरी ऑथारिटी बनाना होगा, जो एक्ट के ...

RERA लागू होने से पहले रियल एस्‍टेट के कर्जदाताओं में असुरक्षा का माहौल, लोन की सुरक्षा पर मांगी सफाई - IndiaTV Paisa

हाउसिंग कंपनियों के प्रमोटर्स और बिल्डरों को कर्ज देने वाले बैंक और वित्तीय संस्थाएं नई RERA व्यवस्था में असुरिक्षत महसूस कर रही हैं। Manish Mishra | Apr 30, 2017 | 4:22 PM. RERA लागू होने से पहले रियल एस्‍टेट के कर्जदाताओं में असुरक्षा का माहौल, लोन की. ×. कोलकाता। हाउसिंग कंपनियों के प्रमोटर्स और बिल्डरों को कर्ज देने वाले बैंक और वित्तीय संस्थाएं नई RERA (रियल एस्टेट नियमन एवं विकास अधिनियम, 2016) व्यवस्था में असुरिक्षत महसूस कर रही हैं और उन्होंने अपने लोन की सुरक्षा को लेकर सफाई मांगी है। रियल एस्टेट प्रोजेक्‍ट्स के लिए डेवलपरों को ऋण देने वाले ये कर्जदाता महसूस करते ...

1 मई से लागू हो जाएगा रियल एस्टेट रैगुलेशन एक्ट - Sanjeevni Today

नई दिल्ली। आप अगर घर खरीदने का प्लान बना रहे हैं तो 1 मई तक इंतजार करें। क्योंकि, 1 मई से रियल एस्टेट रैगुलेशन एक्ट लागू हो जाएगा। यह एक्ट रियल एस्टेट बिल्डरों के लिए भी कई नए नियम लेकर आया है। यह बिल राज्यसभा में गत वर्ष पास किया गया था जिसका अहम उद्देश्य बिल्डरों की मनमानी को रोकना और यूजर्स को फायदा पहुंचाना है।रियल एस्टेट रैगुलेटर की तैयारी अंतिम चरण में है। रेरा को लेकर सभी राज्यों में तैयारियां जोरों पर हैं। रेरा के नियमों को कुछ राज्यों ने नोटीफाई किया है। जबकि, अन्य राज्यों में ड्राफ्ट लैवल पर काम जारी है। टोंक रोड़, जयपुर में प्लाट खरीदने का सबसे सही समय, ये ...