समाज में जब तक भेदभाव कायम है, तब तक आरक्षण की जरूरत: मोहन भागवत - Jansatta

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) के प्रमुख मोहन भागवत ने आरक्षण की वकालत करते हुए कहा कि समाज में जब तक सामाजिक भेदभाव कायम है, तब तक आरक्षण की जरूरत है... Author भाषा नागपुर | December 17, 2015 15:59 pm. 0. Shares. Facebook · Twitter · Google Plus · Whatsapp. कोलकाता में एक कार्यक्रम को संबोधित करते संघ प्रमुख मोहन भागवत। (पीटीआई फाइल फोटो). आरक्षण प्रणाली की समीक्षा के अपने पूर्व के बयान से पलटते हुए आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत ने कहा है कि जब तक सामाजिक भेदभाव है तब तक देश में आरक्षण जारी रहना चाहिए और संघ इसे खत्म किए जाने के पक्ष में नहीं है। भागवत ने बुधवार शाम यहां 'सामाजिक समरसता' ...

जब तक समाज में भेदभाव है, आरक्षण भी जरूरी है: मोहन भागवत - Khabar IndiaTV

नई दिल्ली: आरक्षण नीति की समीक्षा करने से जुड़ा एक बयान देने के कारण हाल ही में विवादों में घिरे रहे राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (RSS) के प्रमुख मोहन भागवत ने आरक्षण की वकालत करते हुए कहा कि समाज में जब तक सामाजिक भेदभाव कायम है, तब तक आरक्षण की जरूरत है। RSS की ओर से किए गए एक ट्वीट में भागवत के हवाले से कहा गया है, 'समाज में जब तक सामाजिक भेदभाव कायम है, तब तक आरक्षण की जरूरत है।' एक अन्य ट्वीट में आरएसएस ने कहा, 'हमें समाज में जाति के आधार पर होने वाले भेदभाव को खत्म करने की खातिर मिलकर काम करने की जरूरत है।' भागवत ने हाल ही में दिए एक इंटरव्यू में आरक्षण की मौजूदा नीति की ...

आरक्षण पर मोहन भागवत का यू टर्न, कहा- जब तक भेदभाव रहेगा तब तक आरक्षण जारी रहेगा - आज तक

बिहार विधानसभा चुनाव में बीजेपी की करारी शि‍कस्त के बाद संघ प्रमुख मोहन भागवत ने आरक्षण के मुद्दे पर यू-टर्न ले लिया है. चुनावी महौल में आरक्षण की समीक्षा की बात कहकर सरगर्मी बढ़ाने वाले भागवत ने बुधवार को कहा कि जब तक सामाजिक भेदभाव रहेगा, तब तक आरक्षण बना रहेगा. नागपुर में एक कार्यक्रम के दौरान मोहन भागवत ने अपने पूर्व के बयान पर सफाई देते हुए कहा, 'संघ का मानना है कि जब तक सामाजिक भेदभाव है, तब तक आरक्षण की व्यवस्था चलेगी. जिस दिन सामाजिक भेदभाव समाप्त हो गया और जिस दिन खुद सामाजिक भेदभाव से पीड़ित लोग ऐसा कहेंगे, उसी दिन आरक्षण की व्यवस्था को दूर किया जाएगा ...