जीका वायरस की भारत में दस्तक, तीन लाेगों को बनाया शिकार, WHO ने की पुष्टि - Raftaar

अहमदाबाद। दुनिया के कई हिस्सों में तबाही मचाने के बाद जीका वायरस ने अब भारत में दस्तक दे दी है। वायरस ने यहां अहमदाबाद के तीन लोगों को चपेट में ले लिया है डब्लयूएचओ ने इसकी पुष्टि की है। जीका ने अपना पहला शिकार एक गर्भवती महिला को जनवरी माह में बनाया। वायरस से प्रभावित सभी तीनों लोग अहमदाबाद के बापूनगर इलाके के हैं। बता दें भारत सरकार के स्वास्थ्य एंव परिवार कल्याण मंत्रालय ने जीका वायरस की पुष्टि करते हुए बताया कि लैब की रिपोर्ट में बापू नगर इलाके के 3 लोगों में जीका वायरस मिला है। ये अन्तिम रिपोर्ट पुणे के नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ वायरोलॉजी की नेशनल रेफरेंस ...

जानिए क्‍या है जीका वायरस, कैसे करें इससे बचाव - Hari Boomi (कटूपहास) (प्रेस विज्ञप्ति)

पिछले साल ब्राजील समेत कई दक्षिण अमेरिकी देशों में दहशत मचाने के बाद जीका वायरस ने भारत में भी दस्तक दे दी है। विश्व स्वास्थ्य संगठन ने गुजरात में 3 लोगों के जीका वायरस से पीड़ित होने की पुष्टि की है। भारत में इस वाइरस के पाए जाने का ये पहला मामला है। तीनों ही मरीज अहमदाबाद के बापूनगर इलाके के रहने वाले हैं। विश्व स्वास्थ्य संगठन की वेबसाइट पर छपी रिपोर्ट में बताया गया है कि अहमदाबाद के बीज.जे. मेडिकल कॉलेज ने 10 से 16 फरवरी 1016 के बीच 93 ब्लड सैंपल इकट्ठे किए थे। इनमें से एक 64 साल के बुजुर्ग में जीका वाइरस पाए गए। यह भारत में जीका वाइरस के संक्रमण का पहला केस है।

भारत में पहली बार जीका वायरस मिला, मिले 3 मरीज - Hari Boomi (कटूपहास) (प्रेस विज्ञप्ति)

दुनिया के कई हिस्सों में तबाही मचाने के बाद पहली बार जीका वायरस ने भारत में दस्तक दी है। इसकी मौजूदगी के शुरुआती प्रमाण अहमदाबाद में मिले हैं। यहां 3 लोगों के जीका वायरस से प्रभावित होने की पुष्टि डब्ल्यूएचओ ने भी कर दी है। मीडिया जानकारी के मुताबिक, अहमदाबाद में जीका वायरस के होने की पहली खबर जनवरी में सामने आई थी, जो अब तक 3 लोगों तक पहुंच चुका है। जनवरी माह में जीका ने अपना पहला शिकार एक गर्भवती महिला को बनाया। भारत सरकार के स्वास्थ्य एंव परिवार कल्याण मंत्रालय ने जीका वायरस की पुष्टि करते हुए कहा है कि लैब की रिपोर्ट में बापू नगर इलाके के 3 लोगों में जीका ...

भारत पहुँचा ज़ीका, गुजरात में तीन मामले - BBC हिंदी

भारत में पहली बार ज़ीका वायरस के संक्रमण के मामलों की पुष्टि हुई है. विश्व स्वास्थ्य संगठन ने कहा है कि गुजरात के अहमदाबाद में ज़ीका संक्रमण के तीन मामलों का पता चला है. इनमें एक गर्भवती महिला शामिल है. तीनों ही मामले शहर के बापूनगर इलाक़े के हैं. ये सभी मामले पिछले साल के हैं. डब्ल्यूएचओ ने इन मामलों के आधार पर भारत में यात्रा को लेकर किसी तरह की चेतावनी जारी नहीं की है. मगर संगठन ने कहा है कि इन मामलों की पुष्टि होना अपने आप में महत्वपूर्ण है क्योंकि इनसे पहली बार भारत में ज़ीका संक्रमण की पुष्टि हुई है और ये इस बात का प्रमाण भई है कि ज़ीका भारत में मौजूद है.

भारत में जीका वायरस से 3 संक्रमित, विश्‍व स्‍वास्‍थ्‍य संगठन ने की पुष्टि - Nai Dunia

नई दिल्ली। विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्लूएचओ) ने पहली बार भारत में जीका वायरस के संक्रमण की पुष्टि की है। गुजरात के अहमदाबाद शहर में एक गर्भवती महिला समेत तीन लोग इस संक्रमण के शिकार पाए गए हैं। वैश्विक स्वास्थ्य संस्था डब्लूएचओ के अनुसार अहमदाबाद में पाए गए यह तीनों ही मामले शहर के बापूनगर इलाके के हैं। केंद्र सरकार के स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय ने अहमदाबाद जिले के बापूनगर के इन तीनों मामलों की पुष्टि लैब परीक्षण के नतीजों में हुई है। जीका वायरस के तीन मामलों की पुष्टि के बाद हालांकि डब्लूएचओ ने पर्यटकों और व्यापारियों को फिलहाल भारत आने से नहीं रोका ...

भारत में जानलेवा जीका वायरस ने दी दस्तक, WHO ने की तीन मामलों की पुष्टि - Oneindia Hindi

नई दिल्ली। भारत में जानलेवा जीका वायरस ने दस्तक दे दी है। विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) ने इस बात की पुष्टि करते हुए कहा है कि देश में जीका वायरस के तीन मामले सामने आए हैं। ये तीनों ही मामले गुजरात के अहमदाबाद जिले में मिले हैं। पिछले साल ब्राजील समेत कई देशों में जीका वायरस ने जमकर दहशत मचाई थी। उस समय भारत इससे बचा रह गया था लेकिन इस बार डब्ल्यूएचओ ने जिस तरह से जानलेवा जीका वायरस के भारत में दस्तक देने की पुष्टि की है, इससे केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय और गुजरात स्वास्थ्य मंत्रालय सक्रिय हो गया है।

भारत में पहली बार सामने आए जीका वायरस के तीन मामले, WHO ने की पुष्टि - एनडीटीवी खबर

ये मामले गुजरात के अहमदाबाद से सामने आए हैं, जो देश में पहला मामला है. सभी मामले शहर के बापूनगर इलाके से रिपोर्ट हुए हैं. भाषा, अंतिम अपडेट: शनिवार मई 27, 2017 11:20 PM IST. ईमेल करें. टिप्पणियां. भारत में पहली बार सामने आए जीका वायरस के तीन मामले, WHO ने की पुष्टि. डब्ल्यूएचओ ने भारत में जीका वायरस के तीन मामलों की पुष्टि की है. खास बातें. एक गर्भवती महिला समेत तीन लोगों में जीका वायरस के मामलों की पुष्टि; ये सभी मामले गुजरात के अहमदाबाद के बापूनगर से सामने आए हैं; WHO ने भारत के लिए किसी यात्रा या व्यापार पाबंदी की अनुशंसा नहीं की है. नई दिल्ली: विश्व स्वास्थ्य ...

स्वास्थ्य मंत्री का दावा, 'गुजरात में जीका का प्रभाव नहीं' - EenaduIndia Hindi

अहमदाबाद। गुजरात सरकार ने उन खबरों का खंडन किया है, जिसमें दावा किया गया था कि राज्य में जीका वायरस से प्रभावित तीन मरीज पाए गए हैं। राज्य के स्वास्थ्य मंत्री शंकर चौधरी ने बताया कि हमें इसकी सूचना मिली की कुछ मरीज ऐसे हैं, जो जीका वायरस से ग्रस्त हैं। इसकी जानकारी मिलते है विश्व स्वास्थ्य संगठन द्वारा निर्धारित मानकों के अनुरूप कदम उठाए गए। हमने समय रहते ही सही दिशा में जल्दी कार्रवाई की। अभी राज्ये में जीका वायरस की कोई शिकायत नहीं है। किसी को भी कोई चिंता करने की जरूरत नहीं है। ये भी पढ़ें 'जल्द ही AIR INDIA का ऑपरेशन निजी हाथों में' · मोदी के साथ नीतीश ने ...

जीका वायरस ने भारत में दी दस्तक, तीन लोगों में वायरस की पुष्टि - Times Bull

दुनियाभर में तबाही मचाने वाला जीका वायरस ( Zika Virus ) अब भारत पहुंच चुका है। अब तक भारत इस खतरनाक वायरस की चपेट से परे था। विश्व स्वास्थ्य संगठन(डब्ल्यूएचओ) ने गुजरात के अहमदाबाद में तीन लोगों में जीका वायरस की पुष्टि की है। इनमें से एक गर्भवती महिला है। इस महिला की जांच जनवरी में की गई थी। यह तीनों ही लोग अहमदाबाद के बापूनगर के रहने वाले है। भारत सरकार के स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय ने भी अपनी वेबसाइट पर जीका वायरस के तीन मामलों की पुष्टि की है। वेबसाइट पर रिपोर्ट उपलब्ध है, जिसके अनुसार पुणे की नेशनल रेफरेंस लैबोरेटरी ने फाइनल नतीजे दिए हैं, इसमें तीनों ...

खबरदारः जीका वायरस ने भारत में दी दस्तक, तीन मामले सामने आए - Hindustan हिंदी

देश में पहली बार जीका वायरस के तीन मामले सामने आए हैं। विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) ने इस संबंध में जानकारी देते हुए बताया कि तीनों मामले अहमदाबाद के बापूनगर इलाके से हैं। इनमें एक गर्भवती महिला भी शामिल है, जिसने जनवरी में जांच कराई थी। डब्ल्यूएचओ के मुताबिक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय ने भी इसकी पुष्टि की है। सबसे पहला मामला पिछले साल फरवरी में, दूसरा नवंबर और तीसरा मामला इसी साल जनवरी में सामने आया है। हालांकि जीका वायरस का कोई नया मामला सामने नहीं आया है। अहमदाबाद के बीजे मेडिकल कॉलेज में आरटी-पीसीआर टेस्ट के माध्यम से जीका वायरस के ...

जीका वायरस की दस्तक से देश भर में दहशत, बरतें सावधानी, अपनाए ये आसान उपाय - India.com हिंदी

अमेरिका, अफ्रिका के बाद अब भारत में जीका के मामले सामने आए हैं, WHO ने तीन मामलों की पुष्टि की है। By Komal Badodekar | Published: May 27, 2017 10:20 PM IST Email. 0 Shares. Facebook share; Twitter share; Share on Google+ · Share on Whatsapp. Comments. zika. नई दिल्ली। देश में जीका वायरस दस्तक दे चुका है. गुजरात के अहमदाबाद से इसके ताजा तरीन तीन मामले सामने आए हैं. इस खबर को सुन हर कोई सहम सा गया है. अभी तक यह वायरस विदेशों में ही होता था लेकिन पहली बार इसने भारत में दस्तक दी है. देश में पहली बार जीका वायरस के तीन मामले सामने आए हैं और इन तीनों ही मामलों की पुष्टि विश्व स्वास्थ्य संगठन यानी WHO ने ...

सावधान! भारत में जीका वायरस की दस्तक, WHO ने 3 मामलों की पुष्टी की - Quint Hindi

ब्राजील समेत कई दक्षिण अमेरिकी देशों में कई लोगों की जिंदगी छीन लेने वाला जीका वायरस अब भारत पहुंच गया है. WHO (विश्व स्वास्थ्य संगठन) ने अहमदाबाद में तीन लोगों के जीका वायरस से पीड़ित होने की पुष्टि की है. तीनों ही मरीज अहमदाबाद के बापूनगर इलाके के रहने वाले हैं. WHO की साइट के मुताबिक देश के स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय ने गुजरात में अहमदाबाद के बापूनगर इलाके में जीका वायरस के तीन मामले पाए हैं. अहमदाबाद के बीजे मेडिकल कॉलेज में आरटी-पीसीआर टेस्ट के माध्यम से जीका वायरस के मामलों की पुष्टि की गई है. विश्व स्वास्थ्य संगठन ने जीका वाइरस से बचाव की ...

डेंगू व चिकनगुनिया के बीच जीका वायरस का खतरा - दैनिक जागरण

राज्य ब्यूरो, नई दिल्ली : दिल्ली में लोग डेंगू व चिकनगुनिया से पहले से ही त्रस्त है। अब भारत में ज. राज्य ब्यूरो, नई दिल्ली : दिल्ली में लोग डेंगू व चिकनगुनिया से पहले से ही त्रस्त है। अब भारत में जीका वायरस के दस्तक से नया खतरा सामने आ गया है। इसका वायरस भी दिल्ली का जानी दुश्मन डेंगू व चिकनगुनिया फैलाने वाले एडीज एजिप्टी मच्छरों के काटने से ही फैलता है। दिल्ली में एडीज मच्छरों की मौजूदगी अधिक है। ऐसे में दिल्ली में जीका बुखार फैला तो उसकी रोकथाम मुश्किल हो जाएगी और यह स्वास्थ्य के लिए बड़ा खतरा साबित हो सकता है। एडीज मच्छर की मौजूदगी का ही नतीजा है कि ...

भारत में जीका वायरस की आहट, तीन मामलों की हुई पुष्टि - आज तक

विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) ने शनिवार को गुजरात के अहमदाबाद में मच्छर जनित जीका वायरस से जुड़े तीन मामलों के होने की पुष्टि की है. इन तीन मामलों में एक गर्भवती महिला भी शामिल हैं. जानिए क्‍या है जीका वायरस. स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय ने जांच रिपोर्ट के आधार पर इन मामलों की पुष्टि की है. एएनआई के मुताबिक गुजरात में अहमदाबाद के बापूनगर इलाके में ये तीन मामले सामने आए हैं. बता दें कि यह वायरस एडीस एजिप्टी मच्छर के काटने से फैलता है. इसके अलावा इसी मच्छर के काटने से डेंगू और चिकनगुनिया जैसे रोग भी फैलते हैं. विश्व स्वास्थ्य संगठन के मुताबिक 64 साल ...

देश में सामने आए जीका वायरस के तीन मामले, WHO ने की पुष्टि - दैनिक जागरण

विश्व स्वास्थय संगठन(डब्ल्यूएचओ) ने गुजरात के अहमदाबाद में जीका वायरस के तीन मामलों की पुष्टि की है। नई दिल्ली, प्रेट्र। विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्लूएचओ) ने पहली बार भारत में जीका वायरस के संक्रमण की पुष्टि की है। गुजरात के अहमदाबाद शहर में एक गर्भवती महिला समेत तीन लोग इस संक्रमण के शिकार पाए गए हैं। वैश्विक स्वास्थ्य संस्था डब्लूएचओ के अनुसार अहमदाबाद में पाए गए यह तीनों ही मामले शहर के बापूनगर इलाके के हैं। केंद्र सरकार के स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय ने अहमदाबाद जिले के बापूनगर के इन तीनों मामलों की पुष्टि लैब परीक्षण के नतीजों में हुई है। जीका वायरस ...

WHO ने जीका वायरस के अहमदाबाद में तीन केस बताए - News Track

अहमदाबाद. वर्ल्ड हेल्थ ऑर्गनाइजेशन ने भारत में जीका वायरस के तीन केस की पुष्टि कर दी है. चौंकने वाली बात तो ये है कि ये तीनो मामले अहमदाबाद के है. इन तीनो मरीज में एक प्रेग्नेंट महिला भी शामिल है, जिसका लैब टेस्ट जनवरी में करवाया गया था. जानकारी दे दे कि जीका वायरस मच्छर से फैलता है. यह वायरस नवजात बच्चो में होता है, इस बीमारी में बच्चो का सिर छोटा रह जाता है. उनका ब्रेन भी पूरी तरह डेवलप नहीं हो पाता. एडीस ऐजिप्टी नाम का मच्छर जो यलो फीवर, डेंगू और चिकनगुनिया फ़ैलाने के लिए जिम्मेदार है और इसी के कारण जीका वायरस भी फैलता है. ब्राजील में 2015 में जीका वायरस के ...

सावधान! भारत में जीका वायरस ने दी दस्तक, WHO ने की 3 मामलों की पुष्टि - Navodaya Times

Navodayatimes नई दिल्ली/टीम डिजिटल। पिछले साल ब्राजील समेत कई दक्षिण अमेरिकी देशों में दहशत मचाने के बाद जीका वायरस ने अब भारत में भी दस्तक दे दी है। डब्ल्यूएचओ ने एक गर्भवती महिला समेत तीन लोगों के जीका वायरस से प्रभावित होने की पुष्टि की है और तीनों ही मरीज गुजरात के अहमदाबाद के बापूनगर इलाके के रहने वाले हैं। डब्ल्यूएचओ ने भी इस खबर की पुष्टि करते हुए अपनी वेबसाइट पर इस रिपोर्ट को साझा किया है। कहीं आप भी तो नहीं हो रहे ई-रिलेशनशिप के शिकार. अहमदाबाद के बी.जे. मेडिकल कॉलेज (BJMC) ने पिछले साल 10 से 16 फरवरी के बीच 93 ब्लड सैंपल इकट्ठे किए थे। जिनकी मेडिकल रिपोर्ट ...

जीका वायरस की भारत में दस्तक, सामने आए तीन मामले, WHO ने की पुष्टि - India.com हिंदी

भारत में पहली बार जीका वायरस के तीन मामले सामने आए हैं जिसकी पुष्टी WHO ने की है। By Komal Badodekar | Updated: May 27, 2017 8:47 PM IST Email. 0 Shares. Facebook share; Twitter share; Share on Google+ · Share on Whatsapp. Comments. file photo. नई दिल्ली। जीका वायरस का नाम सुन हर कोई सहम जाता है. अभी तक यह वायरस विदेशों में ही होता था लेकिन पहली बार इसने भारत में दस्तक दी है. देश में पहली बार जीका वायरस के तीन मामले सामने आए हैं और इन तीनों ही मामलों की पुष्टि विश्व स्वास्थ्य संगठन यानी WHO ने भी कर दी है. जीका वायरस के तीनों ही मामले अहमदाबाद से सामने आए हैं. बताया जा रहा है कि एक गर्भवती महिला ने ...

जीका वायरस भारत पहुंचा, सरकार और डब्ल्यूएचओ ने पुष्टि की - सत्याग्रह

बुनियादी स्वास्थ्य सुविधाओं की कमी से जूझ रहे भारत के लिए एक बुरी खबर है. गुजरात के अहमदाबाद स्थित बापूनगर में जीका वायरस के तीन मामले सामने आए हैं. इस वायरस से संक्रमित लोगों में एक गर्भवती महिला भी है. यह जानकारी विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) ने दी. केंद्रीय स्वास्थ्य एंव परिवार कल्याण मंत्रालय ने भी इसकी पुष्टि की है. डब्ल्यूएचओ के मुताबिक स्थिति की समीक्षा के लिए मंत्रालय के सचिव की अध्यक्षता में एक अंतर- मंत्रालयीय कार्य दल का गठन किया गया है. बताया जाता है कि अहमदाबाद स्थित बीजे मेडिकल कॉलेज में 10 से 16 फरवरी 2016 के बीच 93 ब्लड सैंपल इकट्ठे किए थे ...