Shop With US Online NewsJS

This RSS feed URL is deprecated

दुनिया को दहलाने वाला जीका वायरस है क्या? - Firstpost Hindi

कई देशों में दहशत फैलाने वाला जीका वायरस भारत भी पहुंच गया है. गुजरात में जीका वायरस के तीन मरीज सामने आए हैं. विश्व स्वास्थ्य संगठन ने पिछले साल ही जीका वायरस को लेकर दुनिया भर के लोगों की सेहत के लिए खतरा बताकर आगाह किया था. इस वायरस को लेकर WHO ने इमरजेंसी एलर्ट जारी किया था. जीका वायरस की शिकार ज्यादातर गर्भवती महिलाएं होती हैं. इनके बच्चे अविकसित दिमाग के साथ पैदा होते हैं. सबसे पहले लैटिन अमेरिकी देशों में इस बीमारी का पता चला था. ब्राजील के कई राज्यों में इसके चलते इमरजेंसी का एलान कर दिया गया था. कई देशों ने तो नागरिकों को सलाह दी थी कि वो अभी ...और अधिक »

जीका को लेकर स्वास्थ्य विभाग ने जारी किया अलर्ट - Hindustan हिंदी

देश में जीका के पहले मामले की विश्व स्वास्थ्य संगठन ने पुष्टि की है, जिसके बाद अन्य राज्यों के लिए भी अलर्ट जारी कर दिया गया है। अंतराज्यीय वाहनों और एअरपोर्ट पर विशेष स्कैनिंग की जा रही है। किसी भी संभावित मरीज के पाए जाने पर सीधे एअरपोर्ट से केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय और राष्ट्रीय मच्छर जनित रोग बचाव विभाग को सूचित करने के लिए कहा गया है। स्वास्थ्य मंत्रालय के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि जीका का मामला हालांकि इस वर्ष जनवरी महीने में देखा गया था, जिसके बाद विश्व स्वास्थ्य संगठन ने बीते सप्ताह इसकी पुष्टि की है। अहमदाबाद की ओर जाने वाली फ्लाइट और ...और अधिक »

भारत के अहमदाबाद में ज़ीका वायरस के तीन मामले, WHO ने लगाई मुहर - Zee News हिन्दी

नई दिल्ली: विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) ने एक गर्भवती महिला समेत तीन लोगों में जीका वायरस के मामलों की पुष्टि की है. ये मामले गुजरात के अहमदाबाद से सामने आए हैं, जो देश में पहला मामला है. सभी मामले शहर के बापूनगर इलाके से रिपोर्ट हुए हैं. डब्ल्यूएचओ ने एक वक्तव्य में कहा, 'स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय.. भारत सरकार ने गुजरात के अहमदाबाद जिले के बापूनगर क्षेत्र में जीका वायरस से बीमारी के प्रयोगशाला में पुष्ट तीन मामलों की जानकारी दी है.' हालांकि, डब्ल्यूएचओ ने मौजूदा उपलब्ध सूचना के आधार पर भारत के लिए किसी यात्रा या व्यापार पाबंदी की अनुशंसा नहीं ...और अधिक »

भारत में खतरनाक जीका की दस्तक, ऐसे करें बचाव - नवभारत टाइम्स

देश में अब तक जीका वाइरस के तीन केस सामने आए हैं। इस वायरस का पहला केस पिछले साल फरवरी में सामने आया। दूसरा केस नवंबर में और तीसरा इस साल जनवरी में। ये तीनों ही केस अमदाबाद के बापू नगर एरिया से पाए गए हैं। यह जानकारी परिवार कल्याण मंत्रालय द्वारा 15 मई को वर्ल्ड हेल्थ ऑर्गेनाइजेशन (डब्लूएचओ) को भेजी गई रिपोर्ट में दी गई। इस वाइरस के संबंध में डब्लूएचओ द्वारा जारी चेतावनी में कहा गया है कि गर्भवती महिलाओं में इस वाइरस का असर भविष्य में अविकसित दिमाग वाले बच्चों के तौर पर सामने आ सकता है। विश्व स्वास्थ्य संगठन ने जीका वाइरस से बचने के लिए मच्छरों से बचाव की सलाह दी है ...और अधिक »

खबरदारः जीका वायरस ने भारत में दी दस्तक, तीन मामले सामने आए - Hindustan हिंदी

देश में पहली बार जीका वायरस के तीन मामले सामने आए हैं। विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) ने इस संबंध में जानकारी देते हुए बताया कि तीनों मामले अहमदाबाद के बापूनगर इलाके से हैं। इनमें एक गर्भवती महिला भी शामिल है, जिसने जनवरी में जांच कराई थी। डब्ल्यूएचओ के मुताबिक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय ने भी इसकी पुष्टि की है। सबसे पहला मामला पिछले साल फरवरी में, दूसरा नवंबर और तीसरा मामला इसी साल जनवरी में सामने आया है। हालांकि जीका वायरस का कोई नया मामला सामने नहीं आया है। अहमदाबाद के बीजे मेडिकल कॉलेज में आरटी-पीसीआर टेस्ट के माध्यम से जीका वायरस के ...और अधिक »

देश में पहली बार सामने आए जीका वायरस के मामले से सनसनी, लेकिन डरने की बात नहीं - एनडीटीवी खबर

जीका वायरस मच्छर से फैलता है और इसके लक्षण डेंगू और चिकनगुनिया की तरह ही होते हैं. जिसमें बुखार आना, जोड़ों में दर्द, आंखें लाल हो जाना औऱ शरीर पर लाल निशान हो जाना वगैरह होते हैं. Reported by: राजीव पाठक, Edited by: प्रवीण प्रसाद सिंह, Updated: 28 मई, 2017 9:14 PM. Share. ईमेल करें. टिप्पणियां. देश में पहली बार सामने आए जीका वायरस के मामले से सनसनी, लेकिन डरने की. प्रतीकात्‍मक तस्‍वीर. अहमदाबाद: विश्‍व स्‍वास्‍थ्‍य संगठन ने जब दुनिया के सामने रखा कि भारत में भी जीका वायरस के केस सामने आए हैं तो स्वाभाविक रूप से सनसनी फैल गई. लेकिन ये जानकारी राज्य प्रशासन के सामने पहले से थी और ...और अधिक »

जीका वायरस की भारत में दस्तक, सामने आए तीन मामले, WHO ने की पुष्टि - India.com हिंदी

नई दिल्ली। जीका वायरस का नाम सुन हर कोई सहम जाता है. अभी तक यह वायरस विदेशों में ही होता था लेकिन पहली बार इसने भारत में दस्तक दी है. देश में पहली बार जीका वायरस के तीन मामले सामने आए हैं और इन तीनों ही मामलों की पुष्टि विश्व स्वास्थ्य संगठन यानी WHO ने भी कर दी है. जीका वायरस के तीनों ही मामले अहमदाबाद से सामने आए हैं. बताया जा रहा है कि एक गर्भवती महिला ने जनवरी महीने में इससे जुड़ी जांच कराई थी. दावा किया जा रहा है कि ये तीनों ही मामले अहमदाबाद के बापूनगर इलाके के हैं. डब्ल्यूएचओ की साइट के मुताबिक देश के स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय ने गुजरात में ...और अधिक »

जीका वाइरस ने भारत में दी दस्तक, WHO ने अहमदाबाद में 3 मरीजों की पुष्टि की - नवभारत टाइम्स

पिछले साल ब्राजील समेत कई दक्षिण अमेरिकी देशों में दहशत मचाने के बाद जीका वाइरस ने भारत में भी दस्तक दे दी है। विश्व स्वास्थ्य संगठन ने गुजरात में 3 लोगों के जीका वाइरस से पीड़ित होने की पुष्टि की है। भारत में इस वाइरस के पाए जाने का ये पहला मामला है। तीनों ही मरीज अहमदाबाद के बापूनगर इलाके के रहने वाले हैं। विश्व स्वास्थ्य संगठन की वेबसाइट पर छपी रिपोर्ट में बताया गया है कि अहमदाबाद के बीज.जे. मेडिकल कॉलेज (BJMC) ने 10 से 16 फरवरी 1016 के बीच 93 ब्लड सैंपल इकट्ठे किए थे। इनमें से एक 64 साल के बुजुर्ग में जीका वाइरस पाए गए। यह भारत में जीका वाइरस के संक्रमण का पहला केस है।और अधिक »

जीका वायरस की दस्तक से देश भर में दहशत, बरतें सावधानी, अपनाए ये आसान उपाय - India.com हिंदी

नई दिल्ली। देश में जीका वायरस दस्तक दे चुका है. गुजरात के अहमदाबाद से इसके ताजा तरीन तीन मामले सामने आए हैं. इस खबर को सुन हर कोई सहम सा गया है. अभी तक यह वायरस विदेशों में ही होता था लेकिन पहली बार इसने भारत में दस्तक दी है. देश में पहली बार जीका वायरस के तीन मामले सामने आए हैं और इन तीनों ही मामलों की पुष्टि विश्व स्वास्थ्य संगठन यानी WHO ने भी कर दी है. सबसे खास बात यह है कि जीका वायरस के तीनों ही मामले अहमदाबाद से सामने आए हैं. पश्चिमी देशों के बाद अब भारत में जीका की दस्तक. लैटिन अमेरिका के कई देशों को अपनी चपेट में ले चुका जीका वायरस अब धीरे-धीरे भारत में भी ...और अधिक »

जीका वायरस का खतरा मंडराया: जानें लक्षण और बचाव के उपाय - Hindustan हिंदी

Last updated: Mon, 29 May 2017 10:30 AM IST. 1/2. जानलेवा है जीका वायरस. विश्व स्वास्थ्य संगठन ने देश में जीका की दस्तक की पुष्टि कर दी है। इसकी कोई दवा या इलाज नहीं है। ऐसे में मच्छरों से बचकर ही इस बीमारी से दूर रहा जा सकता है। तुलसी, लेमन ग्रास, लेवेंडर, पुदीना और रोजमैरी आदि पौधों को घर में लगाकर आप मच्छरों को खुद से दूर रख सकते हैं। जीका को जानें यह एक प्रकार का वायरस है, जो एडीज एजिप्टी और एडीज एल्बोपिक्ट्स नाम की मादा मच्छरों के काटने से फैलता है। ये डेंगू और चिकनगुनिया फैलाने वाले एडीज मच्छरों की प्रजातियां हैं। मानव शरीर में प्रवेश के बाद यह वायरस अपनी संख्या बढ़ाने के ...और अधिक »