सुर्खियां

भुगतान में हुई देरी तो किसानों ने नहीं बेचा गेहूं, सिर्फ 65% ही हो पाई खरीदी - दैनिक भास्कर

भुगतान में हुई देरी तो किसानों ने नहीं बेचा गेहूं, सिर्फ 65% ही हो पाई खरीदीदैनिक भास्करगेहूं का समर्थन मूल्य, बाजार भाव के बराबर होने के कारण तथा सरकारी खरीद सिस्टम में खामियों के चलते इस बार गेहूं खरीदी का लक्ष्य 65 फीसदी ही पूरा हो सका है। जिन 7334 किसानों ने सोसाइटियों को गेहूं बेचा उनमें से 2000 किसानों को अभी तक गेहूं का साढ़े आठ करोड़ रुपए का भुगतान 31 मई तक नहीं हो सका है। 27 मई तक जिले के 30 खरीद केन्द्रों पर पांच लाख 71 हजार 271 क्विंटल गेहूं की खरीद ही हो सकी है। जबकि इस बार नौ लाख 50 हजार क्विंटल गेहूं खरीदने का लक्ष्य मुरैना को मिला था। इस पर समर्थन मूल्य पर गेहूं खरीदी का 65 फीसदी लक्ष्य ही पूरा हो सका है। 2017 में गेहूं बेचने के लिए 10120 ...और अधिक »

किसानों को सरकारी खरीद केंद्रों पर अपनी फसल बेचना पड़ा महंगा, 1 करोड़ के चेक बाउंस - इंडिया संवाद;

किसानों को सरकारी खरीद केंद्रों पर अपनी फसल बेचना पड़ा महंगा, 1 करोड़ के चेक बाउंस - इंडिया संवाद

इंडिया संवादकिसानों को सरकारी खरीद केंद्रों पर अपनी फसल बेचना पड़ा महंगा, 1 करोड़ के चेक बाउंसइंडिया संवाददेहरादून: देवभूमि उत्तराखण्ड के लक्सर तहसील में किसानों को सरकारी केंद्रों में अपना गेहूं बेचना बहुत ज़्यादा महंगा पड़ गया. उन्‍हें मिले सारे चेक बाउंस हो गए हैं. दरअसल, सरकारी केंद्रों पर हुई गेहूं की खरीद के बदले में किसानों को सहकारिता विभाग ने चेक दिए थे. जो क़रीब 1 करोड़ के थे. लेकिन किसानों को उस वक़्त झटका लगा जब विभाग द्वारा किसानों को मिले चेक बाउंस हो गए. दरअसल, हर साल सहकारिता विभाग किसानों से समर्थन मूल्य पर धान और गेहूं खरीदता है. इस साल गेहूं का समर्थन मूल्य 1625 रुपए प्रति क्‍विंटल निर्धारित था, जबकि बाज़ार में यही गेहूं करीब 1600 रुपए प्रति क्‍विंटल ...और अधिक »

दूसरे के खाते में भेज दी गेहूं खरीद की रकम - दैनिक जागरण

दूसरे के खाते में भेज दी गेहूं खरीद की रकमदैनिक जागरणजागरण संवाददाता, कन्नौज : किसान को क्रय केंद्र प्रभारी की लापरवाही भारी पड़ गई। गेहूं खरीद की रकम दूस. जागरण संवाददाता, कन्नौज : किसान को क्रय केंद्र प्रभारी की लापरवाही भारी पड़ गई। गेहूं खरीद की रकम दूसरे किसान के खाते में भेजने से उसको हजारों रुपये की चपत लगी है। पीड़ित किसान रकम वापसी के लिए दर-दर की ठोकरें खा रहा है। महाबली पुरवा के किसान रामचंद्र पुत्र पुत्तू लाल ने बताया कि 11 मई को मंडी समिति में बने पीसीएफ क्रय केंद्र पर 38 ¨क्वटल गेहूं बेचा था। गेहूं खरीद के 62,130 रुपये उसके एसबीआई सिटी ब्रांच खाता के बजाय मकरंद नगर शाखा के रामचंद्र पुत्र सोने लाल के खाते में ...और अधिक »

दो दिनों से पानी की भेंट चढ़ रहा किसानों का 700 बोरी गेहूं - खास खबर;

दो दिनों से पानी की भेंट चढ़ रहा किसानों का 700 बोरी गेहूं - खास खबर

खास खबरदो दिनों से पानी की भेंट चढ़ रहा किसानों का 700 बोरी गेहूंखास खबरअमेठी। शासन का खुला निर्देश है कि क्रय केंद्रों पर किसानों का अधिक से अधिक गेहूं खरीदा जाए, किसानों को किसी तरह का जोखिम ना उठना पड़े। लेकिन किसानों से खरीदे गए गेहूं को क्रय केंद्र पर रखने का व्यापक प्रबंध नहीं है। वो भी तब जब मौसम ने करवट बदल ली है। यही कारण है कि यहां सिंहपुर के सेमरौता में किसानों का 700 बोरी गेहूं दो दिनों से पानी की भेट चढ़ रहा है। ये है पूरा मामला जानकारी के अनुसार शासन-प्रशासन द्वारा किसानों को अपनी फसल का सही मूल्य दिलाने के लिये साधन सहकारी समिति सेमरौता को गेहूं क्रय केन्द्र बनाया गया था। जहां पर भण्डारण का कोई इंतजाम नही है समिति ...और अधिक »