सालों इंतजार के बाद वायुसेना को मिलेगी घातक मिसाइल, लड़ाकू विमानों को भी कर देगी ढेर - India.com हिंदी

नई दिल्ली| भारतीय सेना को बरसों की प्रतीक्षा के बाद आखिरकार 2020 तक मध्यम दूरी की सतह से हवा में प्रहार करने वाली आधुनिक मिसाइल (एमआरएसएएम) प्रणाली मिलेगी. यह करीब 70 किलोमीटर के दायरे में बैलिस्टिक मिसाइलों, लड़ाकू विमानों और हेलीकॉप्टरों को मार गिराने में सक्षम होगी. सेना के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि रक्षा अनुसंधान और विकास संगठन (डीआरडीओ) इस मिसाइल प्रणाली का उत्पादन इस्राइल एयरोस्पेस इंडस्ट्रीज (आईएआई) के साथ मिलकर करेगा. मीडिया को जानकारी देने के लिए अधिकृत नहीं होने के कारण अधिकारी ने नाम जाहिर नहीं होने के अनुरोध के साथ बताया कि ...

सेना को मिलेगी 70 किमी. मार करने वाली मिसाइल - नवभारत टाइम्स

सालों के इंतजार के बाद देश की आर्मी को अपना अडवांस्ड 'मीडियम रेंज सरफेस एयर मिसाइल' (एमआरएसएएम) सिस्टम 2020 तक मिल जाएगा। इसके बाद हवा में 70 किलोमीटर तक की दूरी के बैलिस्टिक मिसाइल, फाइटर जेट और हमलावर हेलिकॉप्टर को टारगेट करना आसान हो जाएगा। इस सिस्टम को डीआरडीओ और इस्राइल एयरोस्पेस इंडस्ट्रीज (आईएआई) मिलकर विकसित करेंगे। यह जानकारी आर्मी के एक वरिष्ठ ऑफिसर ने दी। उन्होंने बताया कि यह सिस्टम देश की सेना को अडवांस्ड बनाने में मील का पत्थर साबित होगा। नाम न छापने की शर्त पर सेना के एक अधिकारी ने बताया कि एमआरएसएएम सिस्टम दुश्मन के एयरक्राफ्ट, हेलिकॉप्टर, ...

2020 तक मिलेगा एडवांस्ड मीडियम रेंज मिसाइल सिस्टम - दैनिक भास्कर

सेना को लंबे इंतजार के बाद जमीन से हवा में मार करने वाला एडवांस्ड मीडियम रेंज मिसाइल (एमआरएसएएम) सिस्टम हासिल होने... सेना को लंबे इंतजार के बाद जमीन से हवा में मार करने वाला एडवांस्ड मीडियम रेंज मिसाइल (एमआरएसएएम) सिस्टम हासिल होने जा रहा है। तीन साल में 2020 तक ये सेना को मिल जाएंगी। ये मिसाइलें 70 किमी रेंज में बैलिस्टिक मिसाइल, लड़ाकू विमान और अटैक हेलिकॉप्टर को गिरा सकेंगी। सेना के एक अधिकारी ने बताया कि रक्षा अनुसंधान एवं विकास संगठन (डीआरडीओ) इजरायल एयरोस्पेस इंडस्ट्रीज (आईएआई) के साथ मिलकर इस मिसाइल सिस्टम को विकसित करेगा। इस प्रोजेक्ट के लिए ...

दुश्मनों के मिसाइल-एयरक्राफ्ट होंगे बेदम, भारत पर नाकाम होंगे दुश्मनों के हवाई हमले - राष्ट्रीय खबर

इंडियन आर्मी की डिफेंस पावर अब और मजबूत होने वाली है। अगले तीन सालों में भारत रक्षा क्षेत्र में बड़ी उपलब्धि हासिल कर लेगा। भारत को 2020 तक मिसाइल सिस्टम (MRSAM) मिलेगा। इससे आर्मी की एयर डिफेंस पावर मजबूत होगी।ये मिसाइल 70 किलोमीटर तक दुश्मन की मिसाइल, फाइटर प्लेन और अटैक हेलिकॉप्टर्स को मार गिरानेमें सक्षम होगी। इस मिसाइल सिस्टम को डिफेंस रिसर्च एंड डेवलपमेंट ऑर्गेनाइजेशन (DRDO) और इजरायल एयरोस्पेसइंडस्ट्रीज (IAI) मिलकर तैयार करेंगे। फिलहाल इसके पुराने वर्जन एयरफोर्स और नेवी के पास मौजूद हैं। मिसाइल की क्या क्या खासियतहै जरा गौर करते हैं। अगले तीन सालों ...

भारतीय सेना में शामिल होगी ये मिसाइल, हवा में ही उड़ा देगी दुश्मनों को - Oneindia Hindi

नई दिल्ली। भारतीय सेना को 2020 के अंत तक जमीन से हवा में मार करने वाली आधुनिक तकनीक वाली मीडियम रेंज मिसाइल मिल जाएगा। इस मिसाइल की मदद से भारतीय सेना 70 किलोमीटर दूर तक की बैलेस्टिक मिसाइल, लड़ाकू जहाज और हेलिकॉप्टर को मार गिराने में सक्षम हो जाएगी। इस मिसाइल को इजरायल एयरोस्पेस इंडस्ट्रीज के साथ मिलकर डीआरडीओ विकसित करेगा। indian army,missile,india,भारतीय सेना,मिसाइल,भारत. फाइल फोटो. सेना के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि यह मिसाइल सेना को आधुनिक बनाने में महती भूमिका निभाएंगी। अधिकारी ने बताया कि इस मिसाइल में एमआरएसएएम (MRSAM) सिस्टम लगा होगा।

आ रही है ऐसी वायु मिसाइल, फाइटर जेट और लड़ाकू हेलीकॉप्टरों को मारेगी 70 किमी पहले ही - Tarunmitra

नई दिल्ली। यह एडवांस मिसाइल प्रणाली करीब 70 किलोमीटर की दूरी से बैलेस्टिक मिसाइलों से लेकर फाइटर जेट विमानों और लड़ाकू हेलीकॉप्टरों को मार गिराने में सक्षम होगी। भारतीय वायुसेना को सालों के लंबे इंतजार के बाद वर्ष 2020 तक अत्याधुनिक मध्यम रेंज की सतह से वायु में मार करने वाली वायु मिसाइल (एमआरएसएएम) प्रणाली हासिल हो जाएगी। एक वरिष्ठ सैन्य अधिकारी ने बताया कि यह मिसाइल प्रणाली देश का प्रमुख रक्षा अनुसंधान संगठन (डीआरडीओ) और इजरायल एयरोस्पेस इंडस्ट्रीज (आइएआइ) मिलकर बनाएंगे। डीआरडीओ ने आइएआइ के साथ इसके निर्माण के लिये 17,000 करोड़ रुपये का सौदा किया है ...

इंडियन आर्मी को अगले 3 सालों में मिलेगा एडवांस मिसाइल सिस्टम - अमर उजाला

भारतीय सेना को सालों लंबे इंतजार के बाद अंतत: 2020 तक मध्यम दूरी की सतह से हवा में वार करने वाली अत्याधुनिक मिसाइल (एमआरएसएएम) प्रणाली मिल जाएगी, जो करीब 70 किलोमीटर के दायरे में बैलिस्टिक मिसाइलों, लड़ाकू विमानों और हेलीकॉप्टरों को मार गिराने में सक्षम होगी। सेना के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया, 'रक्षा अनुसंधान एवं विकास संगठन (डीआरडीओ) एमआरएसएएम का उत्पादन इजरायल एयरोस्पेस इंडस्ट्रीज (आईएआई) के साथ मिलकर करेगा।' अधिकारी ने नाम गोपनीय रखने की शर्त पर बताया कि एमआरएसएएम प्रणाली शत्रु पक्ष की बैलिस्टिक मिसाइलों, विमानों, हेलीकॉप्टरों, ड्रोनों, निगरानी ...

बढ़ेगा सेना का मनोबल, 2020 तक मिलेगी मीडियम रेंज मिसाइल - नवभारत टाइम्स

सालों के इंतजार के बाद देश की आर्मी को अपना अडवांस्ड 'मीडियम रेंज सरफेस एयर मिसाइल' (एमआरएसएएम) सिस्टम 2020 तक मिल जाएगा। इसके बाद हवा में 70 किलोमीटर तक की दूरी के बैलेस्टिक मिसाइल, फाइटर जैट और हमलावर हेलिकॉप्टर को टारगेट करना आसान हो जाएगा। इस सिस्टम को डीआरडीओ (डिफेंस रिसर्च ऐंड डिवेलपमेंट ऑर्गनाइज़ेशन) और इजरायल एयरोस्पेस इंडस्ट्रीज (आईएआई) मिलकर डिवेलप करेंगे। यह जानकारी आर्मी के एक सीनियर ऑफिसर ने दी। उन्होंने बताया कि यह सिस्टम देश की सेना को अडवांस्ड बनाने में मील का पत्थर साबित होगा। नाम न छापने की शर्त पर सेना के एक अधिकारी ने बताया कि ...

मजबूत होगी देश की सेना, दुश्मनों के छक्के छुड़ाएगी ये मिसाइल - दैनिक जागरण

एडवांस मिसाइल प्रणाली करीब 70 किलोमीटर की दूरी से बैलेस्टिक मिसाइलों से लेकर फाइटर जेट विमानों और लड़ाकू हेलीकॉप्टरों को मार गिराने में सक्षम होगी। नई दिल्ली, प्रेट्र। भारतीय वायुसेना को सालों के लंबे इंतजार के बाद वर्ष 2020 तक अत्याधुनिक मध्यम रेंज की सतह से वायु में मार करने वाली वायु मिसाइल (एमआरएसएएम) प्रणाली हासिल हो जाएगी। यह एडवांस मिसाइल प्रणाली करीब 70 किलोमीटर की दूरी से बैलेस्टिक मिसाइलों से लेकर फाइटर जेट विमानों और लड़ाकू हेलीकॉप्टरों को मार गिराने में सक्षम होगी। एक वरिष्ठ सैन्य अधिकारी ने बताया कि यह मिसाइल प्रणाली देश का प्रमुख रक्षा ...

3 साल में मिलेगा एडवांस मिसाइल सिस्टम, 70 km तक हमले को नाकाम करेगा - दैनिक भास्कर

नई दिल्ली.इंडियन आर्मी को 2020 तक जमीन से हवा में मार करने वाला एडवांस मिसाइल सिस्टम (MRSAM) मिलेगा। इससे आर्मी की एयर डिफेंस पावर मजबूत होगी। ये मिसाइल 70 किलोमीटर तक दुश्मन की मिसाइल, फाइटर जेट्स और अटैक हेलिकॉप्टर्स को मार गिराने में सक्षम होगी। इस मिसाइल सिस्टम को डिफेंस रिसर्च एंड डेवलपमेंट ऑर्गेनाइजेशन (DRDO) और इजरायल एयरोस्पेस इंडस्ट्रीज (IAI) मिलकर तैयार करेंगे। फिलहाल इसके पुराने वर्जन एयरफोर्स और नेवी के पास मौजूद हैं। क्या है मिसाइल की खासियत... - न्यूज एजेंसी के मुताबिक, डीआरडीओ के एक सीनियर अफसर ने बताया कि मीडियम रेंज एडवांस मिसाइल सिस्टम ...

3 साल में मिलेगा एडवांस मिसाइल सिस्टम, 70 km दूरी तक हमले को नाकाम करेगा - दैनिक भास्कर

नई दिल्ली.इंडियन आर्मी को 2020 तक जमीन से हवा में मार करने वाला एडवांस मिसाइल सिस्टम (MRSAM) मिलेगा। इससे आर्मी की एयर पावर को मजबूती मिलेगी। ये मिसाइल 70 किलोमीटर तक दुश्मन की मिसाइल, फाइटर जेट्स और अटैक हेलिकॉप्टर्स को मार गिराने में सक्षम होगी। मिसाइल सिस्टम को डीआरडीओ और इजरायल एयरोस्पेस इंडस्ट्रीज (IAI) मिलकर तैयार कर रहे हैं। फिलहाल इसके पुराने वर्जन एयरफोर्स और नेवी के पास मौजूद हैं। क्या है मिसाइल की खासियत... - न्यूज एजेंसी के मुताबिक, डीआरडीओ के एक सीनियर अफसर ने बताया कि मीडियम रेंज एडवांस मिसाइल सिस्टम अगले तीन साल में तैयार हो जाएगा। यह दुश्मन ...