महिलाएं शराब ठेकेदारों के खिलाफ डटीं...नहीं चलने देंगी शराब दुकानें - दैनिक भास्कर

महिलाएं शराब ठेकेदारों के खिलाफ डटी हुई हैं। स्नेह नगर की महिलाएं शराब दुकान खोलने के खिलाफ बाकायदा शिफ्ट में दिन-रात टेंट में धरना दे रही हैं। गांधीनगर की महिलाएं महीनेभर से स्कूल के सामने स्थित दुकान हटवाने के लिए अड़ी हैं। धरने के लिए उन्हें ठेकेदार ने टेंट नहीं लगाने दिया तो दरी बिछाकर धरना दे दिया। उधर सैलाना में महिला पार्षद ने क्षेत्र की महिलाओं की समस्या देखी और शराब दुकान हटवाने के खिलाफ डट गईं। सैलाना :शराबियों की हरकतों ने लोगों की नाक में दम कर दिया है, दहशत में रहते बच्चे बस स्टैंड पर वर्षों से शराब की दुकान है। शराबियों ने क्षेत्र के लोगों की नाक में ...

शराबी ने छात्रा को छेड़ा तो महिलाओं ने शराब दुकान में आग लगाई - Nai Dunia

ग्राम भीमपुरा में शराबियों द्वारा एक छात्रा के साथ छेड़छाड़ करने से आक्रोशित महिलाओं ने रविवार को गांव में चल रही शराब दुकान में तोड़फोड़ कर आग लगा दी। शराब दुकान हटाने की मांग को लेकर महिलाओं ने करीब पांच घंटे तक हंगामा किया। आक्रोशित महिलाओं ने आग बुझाने पहुंची दकमल और पुलिसकर्मियों पर पथराव किया, जिसमें टीआई सहित पांच पुलिसकर्मी और एक दमकल कर्मी घायल हो गया। जानकारी के अनुसार ग्राम भीमपुरा में रविवार की सुबह करीब 10 बजे बड़ी संख्या में ग्रामीण महिलाएं एकत्रित होकर ग्राम में चल रही शराब दुकान को हटाने के लिए नारेबाजी करने लगी। इसके बाद आक्रोशित ...

महिलाओं ने नहीं खुलने दी शराब दुकान - Nai Dunia

लालचौकी क्षेत्र में शराब दुकान का विरोध जारी है। धरने पर बैठी महिलाओं ने रविवार को दुकान का ताला नहीं खोलने दिया। उन्होंने जिला प्रशासन व पुलिस को चूड़ियां दिखाकर विरोध किया है। इस दौरान पुलिस व प्रशासन के खिलाफ जमकर नारेबाजी की गई। लालचौकी क्षेत्र में मालवीया धर्मशाला के पास किराए के मकान में खुली शराब दुकान का महिलाओं द्वारा विरोध किया जा रहा है। शराब दुकान सिहाड़ा रोड स्थित प्रणाम सिटी से लालचौकी में शिफ्ट की गई है। इसके बाद से महिलाएं दुकान के विरोध में है। पिछले एक सप्ताह से अलग-अलग तरीके से महिलाएं दुकान का विरोध कर रही है। रविवार को भी महिलाएं ...

शराब के खिलाफ सात गांवों की महिलाएं सड़कों पर उतरी - दैनिक जागरण

संवाद सूत्र, थल : थल में शराब के खिलाफ महिलाओं का आंदोलन तेज हो गया है। सात गांवों की महिलाओं ने. संवाद सूत्र, थल : थल में शराब के खिलाफ महिलाओं का आंदोलन तेज हो गया है। सात गांवों की महिलाओं ने थल बाजार में जुलूस निकाल कर शराब के खिलाफ जबरदस्त नारेबाजी की। इस दौरान थल में शराब की दुकान नहीं खुलने देने का ऐलान किया। विगत 25 दिनों से शराब के खिलाफ आंदोलन कर रही महिलाओं के समर्थन में रविवार को आसपास के सात गांवों आमथल, सत्यालगांव, डुंगरी, जोग्यूड़ा थल, गर्जिला, चौनीपातल की महिलाएं सड़कों पर उतर गई । रविवार सायं को महिलाओं ने थल बाजार में जुलूस निकाल कर ...

शराब की दुकान हटाने को मुखर मातृशक्ति - दैनिक जागरण

संवाद सहयोगी, चम्पावत : जूप में आरएफसी गोदाम के पास शराब की दुकान हटाने को लेकर मातृशक्ति मुखर हैं। महिलाओं ने तीसरे दिन भी प्रदर्शन करते हुए शराब की दुकान हटाने की पुरजोर मांग की। महिलाओं ने एलान किया कि जब तक दुकान नहीं हटेगी, वह आंदोलन पर डटे रहेंगी। आरएफसी गोदाम के पास एकत्रित हुई महिलाओं ने कहा कि सरकार को शराब पर पूर्ण पाबंदी लगा देनी चाहिए। शराब के कारण कई परिवार उजड़ गए हैं और कइयों की जिंदगी बर्बाद हो गई हैं। आक्रोशित महिलाओं ने शराब की दुकान हटाए जाने को लेकर जोरदार प्रदर्शन किया और एलान किया कि जब तक शराब की दुकान यहां से हट नहीं जाती, वह आंदोलन पर डटी ...

शराब के बजाए राशन और साफ पानी दे सरकार - अमर उजाला

शराब विरोधी आंदोलन में सक्रिय महिलाओं का कहना है कि सरकार को सबसे पहले सरकारी दुकानों में राशन, हर व्यक्ति को साफ पानी और समय पर रसोईगैस की सप्लाई करनी चाहिए। शराब की जरूरत किसी को नहीं है। यह सरकार को राजस्व देती है और गरीबों के घरों को उजाड़ती है। महिलाओं ने कहा कि पहाड़ के लोग बुनियादी सुविधाओं के लिए परेशान हैं। सड़क, स्कूल, बिजली, पानी, स्वास्थ्य की स्थिति ठीक नहीं है। सरकार ने कभी इन जरूरी मुद्दों को हल करने की चिंता नहीं की। सरकार हर हाल में शराब की दुकान खोलना चाहती है, ताकि अपनी आमदनी बढ़ा सके। Sponsored Links Sponsored Links · Promoted Links Promoted Links.

प्रेमनगर में बंद कराई शराब की दुकान - दैनिक जागरण

देहरादून: दून में भी शराब के ठेकों का विरोध लगातार जारी है। रविवार को प्रेमगनर में ठाकुरपुर रोड पर ख. देहरादून: दून में भी शराब के ठेकों का विरोध लगातार जारी है। रविवार को प्रेमगनर में ठाकुरपुर रोड पर खुले ठेके के विरोध में स्थानीय लोगों व भाजयुमो कार्यकर्ताओं ने प्रदर्शन किया और दुकान को बंद करा दिया। प्रदर्शनकारियों ने चेतावनी दी कि अगर दोबारा दुकान खोली गई तो उग्र प्रदर्शन किया जाएगा। भाजयुमो के महानगर महामंत्री राजेश रावत के नेतृत्व में स्थानीय लोग शराब की दुकान पर पहुंचे और नारेबाजी करते हुए वहीं धरने पर बैठ गए। दुकान संचालक ने दोबारा दुकान न खोलने का आश्वासन ...

सीहोर जिले में महिलाओं ने शराब दुकान में तोड़फोड़ कर लगाई आग - Nai Dunia

सीहोर, आष्टा। ग्राम भीमपुरा में शराबियों द्वारा एक छात्रा के साथ छेड़छाड़ करने से आक्रोशित महिलाओं ने रविवार को गांव में चल रही शराब दुकान में तोड़फोड़ कर आग लगा दी। शराब दुकान हटाने की मांग को लेकर महिलाओं ने करीब पांच घंटे तक हंगामा किया। आक्रोशित महिलाओं ने आग बुझाने पहुंची दकमल और पुलिसकर्मियों पर पथराव किया। जिसमें टीआई सहित पांच पुलिस कर्मी और एक दमकल कर्मी घायल हो गया। जानकारी के अनुसार ग्राम भीमपुरा में रविवार की सुबह करीब 10 बजे बड़ी संख्या में ग्रामीण महिलाएं एकत्रित होकर ग्राम में चल रही शराब दुकान को हटाने के लिए नारेबाजी करने लगी।

ठेके को लेकर लोगों ने अलग-अलग जगहों पर जताया विरोध - दैनिक जागरण

शराब के ठेके को लेकर पर्वतीया कॉलोनी के लोगों ने अलग-अलग जगहों पर विरोध जताया। पर्वतीया कॉलोनी में लोगों ने विरोध जताते हुए कहा कि रिहायशी इलाके में पहले ही ठेका खुला हुआ था। अब आबकारी विभाग नया ठेका खोलने के प्रयास में हैं। लोगों का कहना था कि नया ठेका किसी भी हालत में नहीं खुलने दिया जाएगा। इस तरह सूरजकुंड स्थित चार्मवुड सोसायटी में शराब का ठेका खोलने को लेकर स्थानीय लोगों ने विरोध प्रदर्शन किया। सोसायटी के अंदर शराब की दुकान का निर्माण जारी रहने से गुस्साएं लोगों ने रैली निकाल कर विरोध जताया। इस दौरान लोगों ने ठेकेदार और प्रशासन पर मिलीभगत का ...

शराब ठेका हटाने को लेकर आरोप-प्रत्यारोप - दैनिक जागरण

संवाद सहयोगी, रुद्रपुर : शराब का ठेका इंदिरा कॉलोनी से हटाने की मांग को लेकर आरोप-प्रत्यारोप का दौर शुरू हो गया है। भवन स्वामी ने एसएसपी को पत्र लिखकर पूर्व सभासद पर तोहमत मढ़ी और मामले की निष्पक्ष जांच की मांग की। पिछले तीन दिन से शराब का ठेका इंदिरा कॉलोनी से हटाने को लेकर आंदोलन चल रहा है। महिलाओं सहित मोहल्लेवासी धरने पर हैं। रविवार को चौथे दिन भी शराब के खिलाफ आंदोलन जारी रहा। मोहल्लेवासियों का कहना है कि ठेका मोहल्ले के बीच नियमों का खुला उल्लंघन कर संचालित किया जा रहा है। उसके बाद भी आबकारी व जिला प्रशासन उनकी जायज मांगों को सुनने को तैयार नहीं ...

ठेका खोलने के विरोध में लोगों ने गर्ग कॉलोनी में लगाया जाम - दैनिक जागरण

जागरण संवाददाता, बल्लभगढ़: बल्लभगढ़ में खुले शराब के ठेकों का लोग लगातार विरोध कर रहे हैं। रविवार. जागरण संवाददाता, बल्लभगढ़: बल्लभगढ़ में खुले शराब के ठेकों का लोग लगातार विरोध कर रहे हैं। रविवार को गर्ग कॉलोनी के पास गुर्जर चौक पर खुले शराब के ठेके का लोगों ने जमकर विरोध किया और सड़क पर जाम लगा दिया। थाना शहर प्रभारी योगवेंद्र ¨सह पुलिस बल के साथ मौके पर पहुंचे और लोगों को समझाकर जाम खुलवाया। तीन दिन से लोगों ने अलग-अलग जगह पर ठेकों का विरोध किया है। शुक्रवार को यादव कॉलोनी के लोगों ने मोहना मार्ग पर ठेके विरोध में ट्रैफिक जाम किया। शनिवार को भाटिया कॉलोनी ...

धनोल्टी में महिलाओं ने तोड़ी शराब की पेटियां - दैनिक जागरण

संवाद सहयोगी, नई टिहरी : धनोल्टी तहसील के समीप अंग्रेजी शराब की दुकान खुलने पर स्थानीय महिलाएं भड़क उठीं और उन्होंने मौके पर पहुंच शराब की कई पेटियां तोड़ डाली। मौके पर पहुंचे तहसीलदार व पुलिस प्रशासन ने किसी तरह मामला शांत करवाया। महिलाओं ने चेतावनी दी है कि यदि यहां पर शराब की दुकान खोली गई तो वह उग्र आंदोलन को बाध्य होंगी। रविवार को स्थानीय महिलाओं को जैसे ही धनोल्टी के समीप शराब की दुकान खुलने की भनक लगी तो वे शाम करीब चार बजे दुकान पर आ धमकी। उन्होंने दुकान में रखी तेरह पेटी अंग्रेजी शराब व सात पेटी बीयर तोड़ डाली। महिलाओं के तेवर देख संचालक दुकान बंद ...

महिलाओं ने शराब ठेके पर की तोड़फोड़ - दैनिक जागरण

संवाद सहयोगी, पलवल : जिले में आबादी में खुले शराब के ठेकों का विरोध लगातार जारी है। अब गांव टीकरी ब्. संवाद सहयोगी, पलवल : जिले में आबादी में खुले शराब के ठेकों का विरोध लगातार जारी है। अब गांव टीकरी ब्राह्मण की महिलाओं ने गांव के खुले के शराब के ठेके का विरोध शुरू कर दिया है। रविवार की दोपहर गांव की महिलाओं ने शराब के ठेके पर जमकर तोड़फोड़ की तथा शराब की बोतलों की पेटियों को बाहर रोड पर फेंककर आग लगाने का भी प्रयास किया। सूचना मिलने पर मौके पर पहुंची पुलिस ने महिलाओं को समझा-बुझा कर मामले को शांत करवाया। महिलाओं का आरोप था कि आबादी में शराब का ठेका खुलने ...

हाईवे के 500 मीटर के अंदर खोले शराब के तीन ठेके - दैनिक जागरण

जालंधर-जम्मू राष्ट्रीय मार्ग पर पड़ते कस्बा भोगपुर में हाईकोर्ट के आदेशों की सरेआम धज्जियां उड़ाई जा रही हैं। आबकारी और कर विभाग की मिलीभगत से शराब ठेकेदारों ने हाईकोर्ट द्वारा शराब ठेकों को राष्ट्रीय मार्ग से 500 मीटर से अधिक दूरी पर खोलने के आदेश का मजाक उड़ाते हुए शहर के पांच ठेकों में से तीन ठेकों को राष्ट्रीय मार्ग के पास खोल दिया है। ये ठेके राष्ट्रीय मार्ग से 500 सौ मीटर की दूरी से पहले ही खोले गए हैं। भोगपुर में शराब का कुछ दिन पहले एक ठेका भोगपुर-लोहारा रोड पर खोला गया है। यहां पर गुरुद्वारा साहिब श्री गुरु नानक यादगार बिल्कुल नजदीक है। इसके नजदीक अहाते ...

खूनीबड़ में शराब की दुकान खोलने पर भड़की महिलाएं - दैनिक जागरण

संवाद सहयोगी, कोटद्वार : भाबर क्षेत्र स्थित खूनीबड़ कृषि मंडी परिसर में शराब की दुकान खोलने के विरोध में महिलाओं ने धरना-प्रदर्शन किया। प्रदर्शनकारी महिलाओं ने मौके पर पहुंची प्रशासनिक व आबकारी विभाग की टीम से स्पष्ट कहा कि यदि शासन को शराब से होने वाले राजस्व की ¨चता है तो तहसील परिसर में शराब की दुकान खुलवा दे। शनिवार शाम को खूनीबड़ स्थित कृषि मंडी परिसर में शराब की दुकान खोली गई, जिसकी जानकारी महिलाओं को रविवार सुबह हुई। इसके बाद खूनीबड़ व दुर्गापुरी की महिलाएं ग्राम प्रधान बीरेंद्र ¨सह रावत के नेतृत्व में नारेबाजी करते हुए मंडी परिसर पहुंची, यहां ...

लोगों ने रखी शराब का ठेका हटाने की मांग तो पुलिस बोली नहीं हटेगा - Patrika

गाजियाबाद। शराब बंदी खिलाफ लोगों का गुस्सा थमने का नाम नही ले रहा है। आये दिन कहीं ना कहीं लोग शराबबंदी को लेकर प्रदर्शन करते दिखाई दे रहे हैं। रविवार को गाजियाबाद के विजय नगर थाना क्षेत्र के बिहारीपुरम आवासीय कॉलोनी में अवैध रूप से खोले गए देशी शराब ठेका को हटाने की मांग को लेकर कॉलोनी वासियों ने राज्यमंत्री अतुल गर्ग से गुहार लगाई व जिला मुख्यालय पहुंचकर नगर मजिस्ट्रेट को ज्ञापन सौंपा। स्कूल के पास शराब बिकने से रोष. कॉलोनीवासियों का कहना है कि कहा कि बिहारीपुरम स्थित सर्वोदय इंटर कॉलिज के पास एक मकान में 26 अप्रैल को देशी शराब ठेका खोल दिया गया।

शराब की दुकानों को लेकर महिलाओं ने किया जमकर किया विरोध प्रदर्शन - First India News

अलवर| शराब ठेका खुलने पर कॉलोनी वासियों ने विरोध जताया और ठेका नहीं खुलने के खिलाफ दो दिन पहले sdm को दिया ज्ञापन था, उसके बाद भी शराब ठेका खुला। मामला नारनोल रोड़ का है| जहां पर पास ही तीन स्कूल का होना और पास ही कॉलोनी बनी होने से शराब ठेका खुलने के कारण सभी कॉलोनी वालो ने रविवार को शराब ठेके के सामने जाकर विरोध जताया और महिलाओं ने शराब ठेके के सेल्समेन से हाथा पाई की और कहा कि अगर आज शाम तक ठेका नहीं हटा तो कुछ भी हो सकता है। मामले की जानकारी लगते ही मौके पर पहुंची बहरोड पुलिस ने महिलाओं को समझाया कि जल्द से जल्द उचित कार्रवाई की जाएगी, लेकिन ...

महिलाएं बोली, गांव के बजाय तहसील में खोलें शराब की दुकान - दैनिक जागरण

पौड़ी जिले के कोद्वार में महिलाओं ने खूनीबड़ कृषि मंडी परिसर में शराब की दुकान खोलने का विरोध किया। उन्‍होंने कहा कि गांव के बजाए तहसील परिसर में खोली जानी चाहिए शराब की दुकान। कोटद्वार, [जेएनएन]: भाबर क्षेत्र स्थित खूनीबड़ कृषि मंडी परिसर में शराब की दुकान खोले जाने के विरोध में आक्रोशित महिलाओं ने धरना-प्रदर्शन किया। कहा कि गांव के बजाए तहसील परिसर में खोली जानी चाहिए शराब की दुकान। साथ ही महिलाओं ने मौके पर पहुंची प्रशासनिक व आबकारी विभाग की टीम से शराब के बदले समय से पर्याप्त पेयजल आपूर्ति व बेरोजगारों को रोजगार दिलाने की मांग की है। महिलाओं ने ...

यहां शराब दुकान पर महिलाओं का हमला, लाठी-डंडों से पीटा, देखें वीडियो... - Patrika

आष्टा थाने के पीछे स्थित जगमालपुरा में शराब की दुकान खुली हुई थी। दुकान रहवासी इलाके में थी, इसलिए कई बार इसे बंद करने के लिए आवेदन प्रशासन को दिए जा चुके थे. सीहोर। मध्यप्रदेश में इन दिनों महिलाओं ने अवैध शराब दुकानों के खिलाफ बिगुल फूंक दिया है। महिलाएं आए दिन शराब दुकानों में तोडफ़ोड़ कर रही हैं। इनके विरोध के कारण कई जगह दुकानें बंद भी कर दी गईं। रविवार को सीहोर जिले के आष्टा में महिलाओं ने जमकर लाठी डंडे चलाए। उन्होंने शराब की दुकान तोड़ दी। सूचना मिलते ही मौके पर पहुंची पुलिस भी महिलाओं को नहीं रोक पाई। देखें ये वीडियो... यह भो पढ़ें: अगर आप भी हैं बेरोजगार ...

तिरपाल के टेंट में बेच रहे थे शराब, महिलाओं ने तोड़ी बोतलें - दैनिक जागरण

बागेश्‍वर जिले के कांडा में तिरपाल से ढककर बनाई गई शराब की अस्थायी दुकान के विरोध में महिलाओं ने प्रदर्शन किया। उन्होंने शराब की बोतलें तोड़ डाली। कांडा (बागेश्वर), [जेएनएन]: तिरपाल से ढककर बनाई गई शराब की अस्थायी दुकान के विरोध में महिलाओं ने जमकर प्रदर्शन किया। उन्होंने शराब की बोतलें तोड़ डाली। गुस्सा देखकर शराब के दुकानदार सामान के साथ मौके से फरार हो गए। शनिवार को कांडापड़ाव के पास तिरपाल का टेंट बनाकर अस्थायी दुकान से शराब बेची जा रही थी। शराब बेचने की सूचना क्षेत्र में फैली तो जनप्रतिनिधियों के साथ महिलाएं मौके पर पहुंच गई। आक्रोशित महिलाओं ने लगभग ...