Shop With US Online NewsJS

This RSS feed URL is deprecated

महिला क्रिकेट विश्वकपः भारतीय टीम को भारी पड़ गईं ये 5 गलतियां - Zee News हिन्दी

नई दिल्लीः रविवार को लॉर्ड्स में खेले गए महिला क्रिकेट विश्व कप के फाइनल में भारतीय टीम 9 रन से हार गई और इंग्लैंड की टीम चौथी बार वुमन्स वर्ल्ड कप चैम्पियन बनी. बेहद करीबी मुकाबले में मिली हार के साथ ही भारतीय महिला टीम 34 साल बाद लॉर्ड्स के मैदान पर इतिहास बनाने से चूक गई. गौरतलब है कि भारत की पुरुष टीम ने 1983 में इसी ग्राउंड पर वेस्टइंडीज को हराकर पहली बार वर्ल्ड कप जीता था. महिला विश्व के कप के फाइनल मुकाबले में एक वक्त पर मैच टीम इंडिया की मुट्ठी मे लग रहा था, लेकिन फिर सबकुछ बदल गया. इस मैच में भारतीय टीम ने क्या गलतियां कीं, जिनकी वजह से हम खिताब से चूक गए.और अधिक »

Video : अगर पता होता कैमरा ऑन है तो मिताली कतई ऐसा नहीं करतीं - Zee News हिन्दी

नई दिल्ली : भारतीय महिला क्रिकेट टीम को भले ही आईसीसी महिला विश्व कप के फाइनल में हार का सामना करना पड़ा हो, लेकिन इस खिताबी मैच में शानदार प्रदर्शन के लिए पूरे देश को उन पर गर्व है. टीम इंडिया ने सेमीफाइनल में ऑस्ट्रेलिया को हराकर फाइनल में अपनी जगह बनाई थी, लेकिन रविवार को फाइनल में इंग्लैंड ने भारत को नौ रनों से हराते हुए आईसीसी महिला विश्व कप का खिताब अपने नाम कर लिया. इंग्लैंड ने भारत के सामने 229 रनों का लक्ष्य रखा था, जिसे भारतीय महिला टीम हासिल नहीं कर पाई और 48.4 ओवरों में 219 रन पर अपने सभी विकेट गंवा बैठी. इस तरह उसके हाथ से पहली बार विश्व विजेता बनने ...और अधिक »

वर्ल्ड कप फाइनल में टीम इंडिया के कप्तान से हुई बड़ी चूक, देखें VIDEO - Zee News हिन्दी

नई दिल्ली : भारत एकबार फिर आईसीसी महिला विश्व कप का खिताब अपने नाम करने से चूक गया. मेजबान इंग्लैंड ने भारत को नौ रनों से हराते हुए रविवार को चौथी बार विश्व कप का खिताब अपने नाम कर लिया. इंग्लैंड ने लॉर्ड्स मैदान पर भारत के सामने 229 रन का लक्ष्य रखा था, जिसे भारतीय टीम हासिल नहीं कर पाई और 48.4 ओवरों में 219 रन पर अपने सभी विकेट गंवा बैठी. इस तरह उसके हाथ से पहली बार विश्व विजेता बनने दूसरा मौका चला गया. इंग्लैंड ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करते हुए नताली स्काइवर के 51 रन और सारा टेलर के 45 रनों की मदद से निर्धारित 50 ओवरों में सात विकेट खोकर 228 रन बनाए थे. भारतीय महिला ...और अधिक »

ICC महिला विश्व कप फाइनल: 12 साल बाद फिर मिला मौका, बेटियां लॉर्ड्स में रच दो इतिहास - Hindustan हिंदी

भारतीय महिला टीम जब रविवार को लॉर्ड्स के ऐतिहासिक मैदान पर मेजबान इंग्लैंड के खिलाफ उतरेगी तो उसका लक्ष्य आईसीसी विश्व कप खिताब जीतकर इतिहास रचने पर होगा। टूर्नामेंट में शानदार प्रदर्शन करने वाली भारतीय टीम को यह मौका 12 साल के लंबे अंतराल के बाद मिला है। 2005 के बाद पहली बार फाइनल में पहुंचने वाली टीम इंडिया इस मौके को गंवाना नहीं चाहेगी। आखिरी मौका 34 वर्षीय मिताली राज के करियर का यह आखिरी विश्व कप माना जा रहा है। ऐसे में मिाताली के लिए विश्व चैंपियन बनने का यह आखिरी मौका है। दिलचस्प है कि 2005 में जब भारतीय टीम फाइनल में पहुंची थी, तब भी टीम की कमान ...और अधिक »

5 महिला दमदार खिलाड़ी जिनके बूते भारत जीत सकता है वर्ल्‍ड कप - Inext Live

भारतीय महिला क्रिकेट टीम रविवार को लॉर्ड्स के ऐतिहासिक मैदान पर महिला वर्ल्ड कप 2017 के फाइनल में उतरने वाली है। मेजबान इंग्लैंड से होने वाले आज के मुकाबले जीत हार तो मैच के बाद ही पता चलेगी, लेकि‍न अगर अब तक के भारतीय टीम के प्रदर्शन को देखें तो जीत की पूरी उम्‍मीद है। भारत ने सेमीफाइनल में 6 बार की वर्ल्ड चैंपियन ऑस्ट्रेलिया को हराकर अपनी दावेदारी पेश क‍ी है। ऐसे में क्रिकेट फैंस की मानें तो भरतीय टीम की ये 5 मह‍िला दमदार ख‍िलाड़ी अपने बल पर जीत सकती हैं वर्ल्‍ड कप... मिताली राज: आज भारतीय मह‍िला क्रिकेट टीम की कप्‍तान मिताली राज से लोगों को बहुत उम्‍मीदें हैं। मिताली ...और अधिक »

वुमन्स वर्ल्डकपः चैम्पियन बनने से एक कदम दूर टीम इंडिया, मिताली बनाएंगी रिकॉर्ड - दैनिक भास्कर

लंदन.वुमन्स क्रिकेट वर्ल्ड कप का फाइनल आज भारत और मेजबान इंग्लैंड की टीम के बीच लॉर्ड्स के मैदान पर खेला जाएगा। 34 साल पहले कपिल देव की कप्तानी में टीम इंडिया ने इसी ग्राउंड पर भारत के लिए पहला वर्ल्ड कप जीतकर इतिहास रचा था। अब मिताली राज की कप्तानी में भारतीय महिला टीम उसी इतिहास को दोहराने से सिर्फ एक कदम दूर है। 44 साल की वुमन्स वर्ल्ड कप की हिस्ट्री में ये दूसरा मौका है जब टीम इंडिया फाइनल में पहुंची है।तीन बार की चैम्पियन है इंग्लैंड की टीम... - इंग्लैंड की टीम इससे पहले तीन बार (1973, 1993 और 2009) वर्ल्ड कप का खिताब जीत चुकी है और चौथी बार फाइनल में है। इससे पहले ...और अधिक »

महिला वर्ल्ड कप 2017: जीती नहीं तो क्‍या, फाइनल तक खूब लड़ी ये 11 इंड‍ियन वूमेन क्रिकेटर्स - Inext Live

मिताली राज: भारतीय मह‍िला क्रिकेट टीम की कप्‍तान मिताली राज 3 दिसम्बर 1982 को जोधपुर, राजस्थान में जन्‍मी थीं। 10 वर्ष की उम्र से क्रिकेट खेल रही मि‍ताली के पि‍ता एयर फोर्स से र‍िटायर्ड एक बैंक कर्मी हैं और उनकी मां एक अधिकारी रह चुकी हैं। मिताली राज ने एक दिवसीय अंतरराष्ट्रीय मैच में 1999 में पहली बार खेलते हुए 114 रन बनाए। म‍िताली ने 2001-2002 में इंग्लैंड के ख‍िलाफ टेस्‍ट में डेब्‍यू क‍िया। म‍िताली 2004 में'अर्जुन पुरस्कार' से सम्मानित हो चुकी हैं। म‍िताली को भरतनाट्यम भी पसंद हैं। उन्‍होंने इसकी भी ट्रेन‍िंग ली है। महिला वर्ल्ड कप 2017: जीती नहीं तो क्‍या,फाइनल तक खूब लड़ी ये 11और अधिक »

इंडियन प्लेयर्स अगर ना करती ये 5 गलतियां, तो आज हम होते वर्ल्ड चैम्पियन - दैनिक भास्कर

मैच में भारत के आखिरी 7 विकेट केवल 28 रन के अंदर गिर गए। स्पोर्ट्स डेस्क.इंग्लैंड की टीम चौथी बार वुमन्स वर्ल्ड कप चैम्पियन बन गई है। रविवार को खेले गए टूर्नामेंट के फाइनल में उसने बेहद नजदीकी मुकाबले टीम इंडिया को 9 रन से हरा दिया। इस हार के साथ ही भारतीय महिला टीम 34 साल बाद एकबार फिर लॉर्ड्स के मैदान पर इतिहास बनाने से चूक गईं। भारत की पुरुष टीम ने 1983 में इसी ग्राउंड पर वेस्ट इंडीज को हराकर पहली बार वर्ल्ड कप जीता था। एक वक्त पर मैच टीम इंडिया की मुट्ठी मे लग रहा था, लेकिन फिर सबकुछ बदल गया। ये दूसरा मौका है जब भारतीय टीम फाइनल में पहुंचकर हारी है, इससे पहले साल 2005 वर्ल्ड ...और अधिक »

हारकर भी मालामाल हुईं इंडियन वुमन क्रिकेटर्स, हर टीम को मिला इतना पैसा - दैनिक भास्कर

भारतीय महिला क्रिकेटर्स की शानदार परफॉर्मेंस के लिए बीसीसीआई ने हर खिलाड़ी को 50 लाख रुपए देने का एलान किया है। Replay. Prev; |; View Again. हारकर भी मालामाल हुईं इंडियन वुमन क्रिकेटर्स, हर टीम को मिला इतना पैसा, sports. +6और स्लाइड देखें. स्पोर्ट्स डेस्क.भारतीय महिला क्रिकेट टीम वर्ल्ड चैम्पियन बनने से चूक गई। लॉर्ड्स में खेले गए फाइनल मैच में टीम इंडिया को इंग्लैंड के खिलाफ 9 रन से हार का सामना करना पड़ा। 44 साल के वर्ल्ड कप के इतिहास में भारतीय महिला टीम दूसरी बार रनरअप रही। वहीं, इंग्लैंड की टीम चौथी बार वर्ल्ड चैम्पियन बनी। हार के बावजूद वर्ल्ड कप में महिला क्रिकेटर्स ...और अधिक »

जीत के करीब जाकर महिला क्रिकेट टीम की हार से काशी में निराशा - अमर उजाला

महिला वर्ल्ड कप के रोमांचक फाइनल मुकाबले में रविवार को भारतीय महिला टीम की हार से वाराणसी के खिलाड़ियों में निराशा है। उनका कहना है कि महिला टीम ने बेहतर प्रदर्शन किया और अंत तक अपनी लड़ाई जारी रखी। क्रिकेट खिलाड़ी संदीप, मयूरेश, प्रशांत और दीपक का कहना है कि भारतीय टीम इंग्लैंड पर हावी थी लेकिन पूनम राउत के आउट होने के बाद भारत के विकेट जल्दी जल्दी गिर गए। दोपहर बाद से ही लोग मैच देखने के लिए टेलीविजन सेट से चिपक गए थे। सिगरा की क्रिकेटर रागिनी ने बताया कि पूनम उसकी फेवरिट खिलाड़ी हैं और उन्होंने अच्छा प्रदर्शन किया था। भारतीय टीम इस मैच में इंग्लैंड पर हावी ...और अधिक »