इस रमजान 15 घंटे लंबा होगा पहला रोजा, जानिए क्यों खाते हैं खजूर - Hindustan हिंदी

रविवार से रमजान का महीना शुरू ही होने वाला है। मजान को अरबी भाषा में 'रमादान' कहते हैं। रमजान के महीने में मुस्लिम समुदाय के लोग रोजा रखते हैं। इस बार पहला रोजा 15 घंटे लंबा होगा। इस साल रमजान 28 मई से शुरू हो रहा है और 27 जून को खत्म होगा। चांद दिखाई देने पर रोजे शुरु होते हैं और जिस शाम को चांद दिखाई देता है उसकी अगली सुबह से रोजे शुरू हो जाते हैं। रमजान के समय में अक्सर रोजा रखने वाले खान-पान को लेकर बेहद सतर्क रहते हैं। रोजे के दौरान कुछ खाया-पिया नहीं जाता है। रोजे सुबह सहरी के साथ रखा जाता है और इफ्तार के साथ खत्म कर दिया जाता है। ऐसी मान्यता है कि पाक रमजान माह ...

रमजान रूहानी और जिस्मानी तौर पर खुद को पाक करने का है, महीना - पलपल इंडिया

इस्लाम में रमजान को रूहानी और जिस्मानी रूप से शुद्ध होने का महीना माना जाता है. इससे आप संयम और अनुशासन भी सीखते हैं. चलिए जानते हैं रमजान के बारे में कुछ अहम बातें. इस्लामी कैलेंडर का नौवां महीने रमजान है जिसे अरबी भाषा में रमादान कहते हैं. यह दुनिया भर के मुसलमानों के लिए सबसे पवित्र महीना है. इसे सब्र यानी संयम को मजबूत करने और बुरी आदतों को छोड़ने का जरिया भी माना जाता है. लूनर कैलेंडर के अनुसार नौवें महीने यानी रमजान को 610 ईसवी में पैगंबर मोहम्मद पर कुरान प्रकट होने के बाद मुसलमानों के लिए पवित्र घोषित किया गया था. तभी से दुनिया भर के मुसलमान पहली बार ...

माह-ए-रमजान: पहला रोजा रविवार को, जानें किस देश में होगा इस साल का सबसे लंबा रोजा... - एनडीटीवी खबर

रमजान को अरबी भाषा में रमादान कहा जाता है. इस मौके पर दुनियाभर के मुसलमान रोजे रखते हैं. दुनिया भर के मुसलमान पहली बार कुरान के उतरने की याद में रमजान के पूरे माह रोजे रखते हैं. अनिता शर्मा की रिपोर्ट, अंतिम अपडेट: शनिवार मई 27, 2017 08:51 PM IST. ईमेल करें. टिप्पणियां. माह-ए-रमजान: पहला रोजा रविवार को, जानें किस देश में होगा. Ramadan 2017: रमजान के माह की तारीख हर साल अमूमन 11 दिन आगे बढ़ जाती हैं. रमजान का पका माह शुरू हो गया है. मुस्ल‍िम धर्म के कैलेंडर के नौवे माह को रमजान कहा जाता है. मु‍स्लिम धर्म में इसे सबसे पाक माह माना जाता है. रमजान को अरबी भाषा में रमादान कहा जाता ...

ग्रीनलैंड में होगा इस साल सबसे लंबा रोजा - दैनिक जागरण

रमजान महीने में रोजा रखने वाले सूर्योदय से लेकर सूर्यास्‍त के बीच कुछ नहीं खाते हैं। इन्‍हें घंटो भूखा रहना पड़ता है। इस साल सबसे लंबा रोजा ग्रीनलैंड में होगा। 21.02 घंटे का सबसे लंबा रोजा. रोजा रखने वालों को काफी सख्‍त नियमों का पालन करना पड़ता है। दिनभर भूखा रहने के बाद सूर्यास्‍त के बाद रोजा खोला जाता है। इस बार भारत में पहला रोजा 15 घंटे लंबा होगा और बाकी के करीब इतने ही लंबे होंगे। इस साल सबसे लंबा रोजा ग्रीनलैंड में 21.02 घंटे और आइसलैंड में 21 घंटे का है। वहीं सबसे छोटा अर्जेंटीना में होगा जहां 11.32 घंटे का होगा। भारत में पहला रोजा 15.05 मिनट का है। वहीं जून महीने ...

माह-ए-रमजान : 10 बातें जो आप शायद नहीं जानते - EenaduIndia Hindi

नई दिल्ली। इस्‍लाम का सबसे पवित्र महीना रमजान शुरू हो चुका है। अरबी भाषा में इसे रमदान कहते हैं। यह माह सब्र का होता है और इस पूरे माह मुस्‍लिम समुदाय रोजा रखता है जिसे इस्‍लाम धर्म का चौथा स्‍तम्‍भ माना गया है। इससे अभिप्राय यह है कि रोजे (उपवास) की नीयत से फज्र होने से लेकर सूरज डूबने तक रोजेदार अपने आप पर पूरी तरह संयम रखे। वह मन, कर्म और वचन से खाने-पीने की चीजों, संसर्ग और तमाम बुराइयों से दूर रहे। आइए जानते हैं रमजान के पवित्र माह के बारे में कुछ ऐसी बातें जो शायद आप नहीं जानते। 1. क्‍या है रमजान ? रमजान इस्‍लामी कैलेन्‍डर का नौवां महीना है। इस्‍लामी दुनिया इस पूरे माह को ...

रमजान 2017: जानिए रमजान से जुड़े सभी सवालों का जवाब - Firstpost Hindi

इस्लामी कैलेंडर का नौवां महीना रमजान है जिसे अरबी भाषा में रमादान कहते हैं. रमादान शब्द 'रमाधा' से आया है जिसका मतलब होता है कि 'सूरज की गर्मी.' इस महीने का यह नाम इसलिए रखा गया था क्योंकि इस महीने में 'मुसलमानों के पाप जल जाते हैं.' लूनर कैलेंडर के अनुसार नौवें महीने यानी रमजान को 610 ईस्वी में पैगंबर मोहम्मद पर कुरान प्रकट होने के बाद मुसलमानों के लिए पवित्र घोषित किया गया था. दुनिया भर के मुसलमान पहली बार कुरान के उतरने की याद में पूरे महीने रोजे रखते हैं. इस साल रमजान 28 मई से शुरू हो रहा है 27 जून (ईद उल फितर) को खत्म होगा. हालांकि, ये तारीखें हर साल लगभग 11 दिन खिसक ...