सदन में लगे ठहाके जब मुलायम सांसदों को मान बैठे अत्याचारी - अमर उजाला

लोकसभा में गोरक्षा के नाम पर भीड़ हिंसा को लेकर चर्चा चल रही थी। इसी दौरान सपा के पूर्व मुखिया मुलायम सिंह यादव के एक सवाल ने सभी सांसदों को एक क्षण अत्याचारियों की श्रेणी में खड़ा कर दिया। हालांकि, सवाल समझने के बाद एक सांसद ने जब हाथ उठाया तो सदन ठहाकों से गूंज उठा। दरअसल, मुलायम ने भीड़ हिंसा पर विचार व्यक्त करते हुए कहा कि अत्याचार और उत्पीड़न की शुरुआत परिवार से होती है। इसमें सबसे पहले पत्नियां ही शिकार होती हैं। उन्होंने सांसदों से कहा, 'हाथ उठाकर बताइये कि आपमें से कौन अपनी पत्नी पर अत्याचार नहीं करता, पत्नियों को दबा कर नहीं रखता? मुलायम के इस सवाल से ...

मुलायम ने पूछा- 'कौन-कौन सांसद अपनी पत्नी को दबा कर नहीं रखते' - Zee News हिन्दी

मुलायम सिंह ने कहा कि बसे पहले अत्याचार और उत्पीड़न की शुरुआत परिवार से होती है. फाइल फोटो. नई दिल्ली : लोकसभा में सोमवार को समाजवादी प्रमुख मुलायम सिंह ने भीड़ द्वारा गौरक्षा के नाम पर लोगों की पीट-पीट कर हत्या किए जाने के संबंध में कहा कि सबसे पहले अत्याचार और उत्पीड़न की शुरुआत परिवार से होती है, महिलाओं को दबाया जाता है, पत्नियों पर अत्याचार किया जाता है. उन्होंने कहा कि समाज में समरसता कायम करने के लिए सबसे पहले परिवार में समरसता कायम करने की जरूरत है और इसके लिए पत्नियों पर अत्याचार बंद करने की शपथ ली जानी चाहिए. उन्होंने सदस्यों से लोकसभा में ऐसी शपथ ...

जब संसद में मुलायम ने पूछा - आप में से कौन-कौन पत्नी पर अत्याचार नहीं करते, हाथ उठाएं - NDTV Khabar

लोकसभा में समाजवादी प्रमुख मुलायम सिंह ने सोमवार को कुछ ऐसा कह दिया कि कोई भी बिना हंसे नहीं रह सका. ख़बर न्यूज़ डेस्क, Updated: 31 जुलाई, 2017 8:36 PM. Share. ईमेल करें. टिप्पणियां. जब संसद में मुलायम ने पूछा - आप में से कौन-कौन पत्नी पर अत्याचार. मुलायम सिंह ने कहा कि समाज में धर्म, जाति, भाषा और क्षेत्रवाद के नाम पर भेदभाव तथा हिंसा होती है. खास बातें. मुलायम सिंह के बयान से कोई भी बिना हंसे नहीं रह सका; बहस के दौरान कहा पत्नियों के संबंध में पूछा सवाल; केवल एक भाजपा सदस्य ही उठा पाए हाथ, सदन में गूंजे ठहाके. नई दिल्ली: लोकसभा में सपा संस्थापक प्रमुख मुलायम सिंह ने ...

पत्नी पर अत्याचार बंद करने की शपथ लें सांसद : मुलायम - Firstpost Hindi

समाज में अत्याचार और उत्पीड़न की शुरूआत परिवार से होती है. घर की महिलाओं को दबाया जाता है. Bhasha | Published On: Jul 31, 2017 07:20 PM IST | Updated On: Jul 31, 2017 07:20 PM IST. 0. पत्नी पर अत्याचार बंद करने की शपथ लें सांसद : मुलायम. लोकसभा में समाजवादी पार्टी (एसपी) के संरक्षक मुलायम सिंह ने गौरक्षा के नाम पर मॉब लिंचिंग के संबंध में कहा कि सबसे पहले अत्याचार और उत्पीड़न की शुरूआत परिवार से होती है. घर की महिलाओं को दबाया जाता है, पत्नियों पर अत्याचार किया जाता है. मुलायम ने कहा कि समाज में समरसता कायम करने के लिए सबसे पहले परिवार में समरसता कायम करने की जरूरत है. इसके लिए ...

सांसद पत्नियों पर अत्याचार बंद करने की कसम खाएं : मुलायम - Samay Live

लोकसभा में सोमवार को समाजवादी प्रमुख मुलायम सिंह ने भीड़ द्वारा गौरक्षा के नाम पर लोगों की पीट पीट कर हत्या किए जाने के संबंध में कहा कि सबसे पहले अत्याचार और उत्पीड़न की शुरूआत परिवार से होती है, महिलाओं को दबाया जाता है, पत्नियों पर अत्याचार किया जाता है. समाजवादी प्रमुख मुलायम सिंह ने कहा कि समाज में समरसता कायम करने के लिए सबसे पहले परिवार में समरसता कायम करने की जरूरत है और इसके लिए पत्नियों पर अत्याचार बंद करने की शपथ ली जानी चाहिए. उन्होंने सदस्यों से लोकसभा में ऐसी शपथ लेने का आह्वान किया. मुलायम सिंह ने सदन में सोमवार को नियम 193 के तहत देश में ...