किराए-भाड़े से नहीं बल्कि विज्ञापन, प्रचार और ATM के जरिए रेलवे कमाएगा 16500 करोड़ - IndiaTV Paisa

नई दिल्‍ली। किराया-भाड़ा में बढ़ोतरी करने के बावजूद कमाई के मोर्चे पर मात खा रहा रेलवे अब अपनी आमदनी बढ़ाने के दूसरे तरीके तलाश रहा है। रेलवे ने निर्णय किया है कि वह गैर-किराया राजस्‍व के लिए ट्रेनों की ब्रांडिंग के अलावा 3,000 स्टेशनों पर डिस्प्ले नेटवर्क खड़ा करेगा। साथ ही प्लेटफॉर्मों पर ATM भी लगाए जाएंगे। विज्ञापन और प्रचार से कमाई के इस अभियान में रेल रेडियो का सहारा भी लिया जाएगा। मंत्रालय का इरादा गैर– किराया राजस्व प्रयासों से दस सालों में 16,500 करोड़ रुपए की आय हासिल करने का है। यह भी पढ़ें : IRCTC टिकटों की फास्ट बुकिंग के लिए जारी करेगा नया एप, अगले हफ्ते ...

रेलवे को अपनी इस नई पॉलिसी से होगी 16500 करोड़ रुपए की आमदनी - Live हिन्दुस्तान

रेलवे काफी पहले से ही अपनी आमदनी बढ़ाने के लिए नए-नए रास्ते तलाशने की कोशिश कर रही है। इस बार रेलवे ने लीक से हटकर माल भाड़ा और यात्री किराए के आलावा आमदनी के दूसरे स्त्रोत पर फोकस करना शुरू करना कर दिया है। इसके लिए रेलवे ने गैर किराया राजस्व के लिए अपनी नई पॉलिसी तैयार की है। रेलवे का अनुमान है कि इस नई पॉलिसी से उसे 16,500 करोड़ रुपए की अतिरिक्त आमदनी होगी। क्या है ये नई पॉलिसी बता दें कि रेल मंत्री सुरेश प्रभु ने राजधानी दिल्ली में रेलवे की गैर किराया राजस्व पॉलिसी को हरी झंडी दिखा दी है। इस नई रेल किराया राजस्व पॉलिसी के तहत देशभर में चलने वाली सभी ट्रेनों को ...

ट्रेनों को एडवरटाइजिंग के लिए बेचा जाएगा, होगी करोड़ों की आमदनी - पलपल इंडिया

नई दिल्ली. रेलवे अपनी आय बढ़ाने के लिए नए-नए रास्ते तलाशने की कोशिश कर रही है. रेलवे ने माल भाड़ा और यात्री किराए के आलावा आमदनी के दूसरे स्त्रोत पर केंद्रित करना शुरू करना कर दिया है. इसके लिए रेलवे ने गैर किराया राजस्व के लिए अपनी नई पॉलिसी तैयार की है. नई नीति के तहत रेलवे ने अनुमान लगाया है कि वह सालाना 16,500 करोड़ रुपए की अतिरिक्त आमदनी कर सकती है. रेल मंत्री सुरेश प्रभु ने राजधानी दिल्ली में रेलवे की गैर किराया राजस्व पॉलिसी को हरी झंडी दिखा दी है. इस नई रेल किराया राजस्व पॉलिसी के तहत देशभर में चलने वाली सभी ट्रेनों को विनायल रैपिंग एडवरटाइजिंग के लिए ...

रेलवे की नई पॉलिसी, होगी 16500 करोड़ रुपए की आमदनी - पंजाब केसरी

नई दिल्लीः रेलवे अपनी आय बढ़ाने के लिए नए-नए रास्ते तलाशने की कोशिश कर रही है। रेलवे ने माल भाड़ा और यात्री किराए के आलावा आमदनी के दूसरे स्त्रोत पर केंद्रित करना शुरू करना कर दिया है। इसके लिए रेलवे ने गैर किराया राजस्व के लिए अपनी नई पॉलिसी तैयार की है। नई नीति के तहत रेलवे ने अनुमान लगाया है कि वह सालाना 16,500 करोड़ रुपए की अतिरिक्त आमदनी कर सकती है। क्या है ये नई पॉलिसी बता दें कि रेल मंत्री सुरेश प्रभु ने राजधानी दिल्ली में रेलवे की गैर किराया राजस्व पॉलिसी को हरी झंडी दिखा दी है। इस नई रेल किराया राजस्व पॉलिसी के तहत देशभर में चलने वाली सभी ट्रेनों को ...

सुरेश प्रभु ने जारी की रेलवे की नॉन फेयर रेवेन्यू पॉलिसी, विज्ञापन और एटीएम से 16500 करोड़ कमाएगा रेलवे - दैनिक जागरण

नई दिल्ली (जागरण ब्यूरो)। किराया-भाड़ा बढ़ाने के बावजूद कमाई के मोर्चे पर मात खा रहा रेलवे अब अपनी आमदनी बढ़ाने के दूसरे तरीके तलाश रहा है। इसके लिए ट्रेनों की ब्रांडिंग के अलावा 3,000 स्टेशनों पर डिस्प्ले नेटवर्क खड़ा किया जाएगा। प्लेटफॉर्मो पर एटीएम लगाए जाएंगे। विज्ञापन और प्रचार से कमाई की इस मुहिम में रेल रेडियो का सहारा भी लिया जाएगा। राजस्व के इन नॉन फेयर तरीकों से दस सालों में 16,500 करोड़ रुपये की आय हासिल करने का मंत्रलय का इरादा है। नॉन फेयर रेवेन्यू स्कीम में भागीदारी की इछुक निजी और सार्वजनिक क्षेत्र की कंपनियों के लिए रेलवे ने नीति जारी की है।

रेलवे को अपनी इस नई पॉलिसी से होगी 16500 करोड़ रुपए की आमदनी - Live हिन्दुस्तान

रेलवे काफी पहले से ही अपनी आमदनी बढ़ाने के लिए नए-नए रास्ते तलाशने की कोशिश कर रही है। इस बार रेलवे ने लीक से हटकर माल भाड़ा और यात्री किराए के आलावा आमदनी के दूसरे स्त्रोत पर फोकस करना शुरू करना कर दिया है। इसके लिए रेलवे ने गैर किराया राजस्व के लिए अपनी नई पॉलिसी तैयार की है। रेलवे का अनुमान है कि इस नई पॉलिसी से उसे 16,500 करोड़ रुपए की अतिरिक्त आमदनी होगी। क्या है ये नई पॉलिसी बता दें कि रेल मंत्री सुरेश प्रभु ने राजधानी दिल्ली में रेलवे की गैर किराया राजस्व पॉलिसी को हरी झंडी दिखा दी है। इस नई रेल किराया राजस्व पॉलिसी के तहत देशभर में चलने वाली सभी ट्रेनों को ...

विज्ञापन, प्रचार और एटीएम से 16500 करोड़ कमाएगा रेलवे - Nai Dunia

नई दिल्ली। किराया-भाड़ा बढ़ाने के बावजूद कमाई के मोर्चे पर मात खा रहा रेलवे अब अपनी आमदनी बढ़ाने के दूसरे तरीके तलाश रहा है। इसके लिए ट्रेनों की ब्रांडिंग के अलावा 3,000 स्टेशनों पर डिस्प्ले नेटवर्क खड़ा किया जाएगा। प्लेटफॉर्मों पर एटीएम लगाए जाएंगे। विज्ञापन और प्रचार से कमाई की इस मुहिम में रेल रेडियो का सहारा भी लिया जाएगा। राजस्व के इन नॉन फेयर तरीकों से दस सालों में 16,500 करोड़ रुपये की आय हासिल करने का मंत्रालय का इरादा है। नॉन फेयर रेवेन्यू स्कीम में भागीदारी की इच्छुक निजी और सार्वजनिक क्षेत्र की कंपनियों के लिए रेलवे ने नीति जारी की है। इस अवसर पर ...

प्‍लैटफॉर्म्‍स पर लगेंगे एटीएम, होंगे शादी समारोह, एनएफआर पॉलिसी को रेलवे की मंजूरी - मनी भास्कर

नई दिल्‍ली।भारतीय रेलवे ने किराए के इतर एडवरटायजिंग के जरिए आय बढ़ाने के लिए नॉन-फेयर रेवेन्‍यू पॉलिसी को मंजूरी दे दी है। अब रेलवे प्‍लैटफॉर्म्‍स पर एटीएम इंस्‍टॉल की जाएंगी। साथ ही कम भीड़ वाले स्‍टेशनों को शादी समारोह के लिए भी किराए पर दिया जाएगा। इस नई पॉलिसी के जरिए रेलवे एक साल के भीतर 2 हजार करोड़ रुपए की आय किराए से मिलने वाली आय के इतर हासिल करना चाहती है। लेवल-क्रॉसिंग व ट्रैक के करीब भी होगी एडवरटायजिंग. इस पॉलिसी को मंजूरी मिलने के बाद रेलवे स्‍टेशनों के अलावा ट्रेन और लेवल-क्रॉसिंग व ट्रैक के नजदीक वाली जगहों पर भी एडवरटायजिंग शुरू की जाएगी। इस पॉलिसी ...

पॉलिसी और छूट देने के लिए रेलवे ने मांगी चुनाव आयोग से मंजूरी - नवभारत टाइम्स

इंडियन रेलवे ने नॉन फेयर रेवेन्यू पॉलिसी का ऐलान करने के लिए चुनाव आयोग से मंजूरी मांगी है। दरअसल, उम्मीद की जा रही थी कि मंगलवार को रेलमंत्री सुरेश प्रभु एक कार्यक्रम में इस बारे में ऐलान करेंगे। लेकिन विधानसभा चुनाव की वजह से लगी आदर्श आचार संहिता को देखते हुए रेलवे ने इन घोषणाओं के लिए चुनाव आयोग से अनुमति मांगी है। सोमवार देर शाम तक आयोग की ओर से अनुमति मिलने का इंतजार किया जा रहा था। इंडियन रेलवे के सूत्रों का कहना है कि पॉलिसी के साथ ही रेल टिकट के लिए ऐप भी लांच होना है। हालांकि यह पूरा सिस्टम पूरे देश के लिए है, लेकिन आदर्श आचार संहिता लगी होने की वजह ...