प्रधानमंत्री मोदी दें अन्ना की चिट्ठी का जवाब: स्वराज इंडिया - अखंड भारत

दिल्ली: नवगठित राजनीतिक पार्टी स्वराज इंडिया ने अन्ना हज़ारे द्वारा प्रधानमंत्री मोदी को लिखी चिट्ठी का समर्थन किया है। अन्ना हज़ारे ने अपने पत्र में भ्रष्टाचार और कृषि समस्या पर प्रधानमंत्री मोदी की इच्छाशक्ति और चुप्पी पर गंभीर सवाल उठाए हैं। स्वराज इंडिया अध्यक्ष योगेंद्र यादव ने अन्ना हज़ारे की मांगों का समर्थन करते हुए कहा कि देश का किसान आज बदहाल है, खुदकुशी करने को मजबूर हो रहा है लेकिन सरकार पर इसका कोई असर नहीं हो रहा। प्रधानमंत्री मोदी फ़सल के ड्योढ़े दाम का वादा करके सत्ता में आये लेकिन किसानों को आज भी उनके फ़सल की कीमत नहीं मिल रही। और तो और ...

अन्ना हजारे सावधान रहें, पहले आंदोलन का परिणाम केजरीवाल थे: उमा भारती - दैनिक भास्कर

केंद्रीय मंत्री उमा भारती ने अन्ना हजारे के फिर से आंदोलन करने की बात पर कहा- अन्ना हजारे सावधान रहें। झांसी.केंद्रीय मंत्री उमा भारती ने अन्ना हजारे के फिर से आंदोलन करने की बात पर कहा- ''अन्ना हजारे सावधान रहें। पहले आंदोलन से अरविंद केजरीवाल निकले थे। अब कौन निकलेगा इसकी सावधानी रखें।'' बता दें, लोकपाल अप्वॉइंट न किए जाने पर नाराजगी जताते हुए अन्ना हजारे ने मोदी को लेटर लिखा है। इसमें कहा है कि सरकार ने लोकपाल के मुद्दे पर कोई कदम नहीं उठाया। इसलिए वो फिर दिल्ली के रामलीला मैदान में सत्याग्रह करेंगे। उमा भारती गरुवार को बुंदेलखंड युनिवर्सिटी के कार्यक्रम में ...

अन्ना ने फिर कसी कमर, मोदी को चिट्ठी लिखकर दी आंदोलन की चेतावनी - Catch Hindi

सामाजिक कार्यकर्ता अन्ना हजारे ने बुधवार को कहा कि वह लोकपाल, लोकायुक्तों की नियुक्ति और किसानों के अधिकारों के लिए जल्द ही दिल्ली में फिर से आंदोलन शुरू करेंगे, क्योंकि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भ्रष्टाचार को समाप्त करने के प्रति गंभीर नहीं हैं. मोदी को लिखे एक पत्र में अन्ना ने कहा कि अगले पत्र में आपको आंदोलन स्थल और तिथि की जानकारी दे दी जाएगी. दिल्ली में 2011 में इंडिया अगेंस्ट करप्शन के आंदोलन का नेतृत्व कर चुके अन्ना ने कहा कि पिछली केंद्र सरकार ने 2013 में ही लोकपाल विधेयक पारित कर दिया था और भारतीय जनता पार्टी के नेताओं ने तब उसका समर्थन किया ...

अन्ना ने प्रधानमंत्री को दी आंदोलन की चेतावनी - Naya India

पुणे। प्रसिद्ध समाजसेवी अन्ना हजारे ने केंद्र सरकार के जरिए जल्द लोकपाल नियुक्त नहीं किए जाने पर एक बार फिर दिल्ली में आंदोलन करने की चेतावनी दी। उन्होंने प्रधानमंत्री को लिखी अपनी चिट्ठी में केंद्र सरकार पर लोकपाल की नियुक्ति में देरी करने का आरोप लगाया और कहा कि लोकायुक्त की नियुक्ति तथा स्वामीनाथन आयोग की रिपोर्ट लागू नहीं होने तक वह दिल्ली में अपना आंदोलन जारी रखेंगे। वर्ष 2011 में इंडिया अगेंस्ट करप्शन के भ्रष्टाचार विरोधी आंदोलन की अगुवाई करने वाले सामाजिक कार्यकर्ता ने कहा कि उनका आंदोलन मुख्य रूप से नरेंद्र मोदी की नेतृत्व वाली राष्ट्रीय ...

लोकपाल के लिए पीएम मोदी के खिलाफ दिल्‍ली में आंदोलन करेंगे अन्‍ना हजारे - News18 इंडिया

जाने माने सामाजिक कार्यकर्ता अन्‍ना हजारे ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को पत्र लिखकर लोकपाल और लोकायुक्त की नियुक्ति की दिशा में कदम नहीं उठाने और किसानों की समस्याओं को दूर करने के लिए दिल्ली में आंदोलन करने का निर्णय किया है. उन्‍होंने केंद्र सरकार पर स्वामिनाथन समिति की रिपोर्ट पर अमल नहीं किये जाने का आरोप भी लगाया. अन्‍ना हजारे ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को लिखे पत्र में कहा कि भ्रष्टाचार मुक्त भारत का सपना देखते हुए अगस्त 2011 में रामलीला मैदान और पूरे देश में ऐतिहासिक आंदोलन हुआ था. इस आंदोलन को देखते हुए संसद ने सदन की भावना के अनुरूप ...

लोकपाल की नियुक्ति नहीं की, रामलीला मैदान में फिर करूंगा आंदोलन : अन्ना - दैनिक भास्कर

पत्र में कहा है कि वह इन मांगों को लेकर दिल्ली के रामलीला मैदान में फिर से जन आंदोलन करेंगे। लोकपाल की नियुक्ति नहीं की, रामलीला मैदान में फिर करूंगा आंदोलन : अन्ना. अहमदनगर. लोकपाल और लोकायुक्तों की नियुक्ति न होने ,भ्रष्टाचार को रोकने के लिए सशक्त कानून न बनाए जाने तथा किसानों की समस्याओं के निराकरण के लिए स्वामीनाथन आयोग की रिपोर्ट पर अमल नहीं होने से क्षुब्ध सामाजिक कार्यकर्ता अण्णा हजारे ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को पत्र लिखा है। पत्र में कहा है कि वह इन मांगों को लेकर दिल्ली के रामलीला मैदान में फिर से जन आंदोलन करेंगे। पत्र में उन्हाेंने ...

लोकपाल पर फिर करूंगा आंदोलन, भाजपा सरकार ने वादा नहीं निभाया - दैनिक भास्कर

नई दिल्ली | समाजसेवीअन्ना हजारे ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पत्र लिखकर भ्रष्टाचार और किसानों की समस्याओं पर... नई दिल्ली | समाजसेवीअन्ना हजारे ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पत्र लिखकर भ्रष्टाचार और किसानों की समस्याओं पर अपनी नाराजगी जाहिर की। हालांकि लेटर का जवाब नहीं मिलने पर अब अन्ना ने आंदोलन करने का फैसला लिया है। अन्ना ने पत्र में लिखा था कि छह साल बाद भी भ्रष्टाचार को रोकने वाले एक भी कानून पर अमल नहीं हो पाया। लोकपाल, लोकायुक्त की नियुक्ति करने वाले और भ्रष्टाचार को रोकने वाले सभी सशक्त बिलों पर सरकार सुस्ती दिखा रही है। उन्होंने लिखा ...

अन्ना हजारे 'लोकपाल' का मामला फिर उठाने के मूड में - पंजाब केसरी

समाजसेवी अन्ना हजारे ने एक बार फिर हुंकार भरी है। उनका कहना है कि मोदी सरकार लोकपाल का गठन नहीं कर रही है और वह इसके खिलाफ आंदोलन करेंगे। जाहिर है कि अन्ना की चेतावनी को हल्के में नहीं लिया जा सकता। कम से कम प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को तो पूरी संजीदगी के साथ लेना चाहिए क्योंकि भाजपा के प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार के रूप में चुनाव प्रचार करते हुए 2014 में उन्होंने जनलोकपाल आंदोलन का समर्थन करते हुए अन्ना हजारे को खत लिखा था। सवाल उठता है कि सत्ता में 3 साल पूरे होने के बाद भी मोदी सरकार देश को पहला लोकपाल क्यों नहीं दे पाई है। मोदी को आंकड़ों का खास शौक है ...

लोकपाल नियुक्ति पर अन्ना हजारे ने पीएम मोदी को लिखी चिट्ठी, कहा- क्या दोबारा शुरू कर दूं आंदोलन? - Udaipur Kiran

लोकपाल की नियुक्ति को लेकर जनआंदोलन कर चुके समाजसेवी अन्ना हजारे ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को चिट्ठी लिखी है। चिट्ठी में अन्ना लोकपाल की नियुक्ति नहीं होने पर नाराजगी जताई है। उन्होंने लिखा कि सरकार ने इस मुद्दे पर कोई कदम नहीं उठाया। इसलिए वह फिर रामलीला मैदान में आंदोलन शुरू करेंगे। आंदोलन कब से शुरू होगा, चिट्ठी में इसका जिक्र नहीं किया गया है। अपनी चिट्ठी में हजारे ने कहा कि उनका आंदोलन मोदी सरकार के खिलाफ होगा। क्योंकि तीन साल की सरकार के दौरान अब तक उन्होंने लोकपाल की नियुक्ति नहीं की। चिट्ठी के मुताबिक, अन्ना हजारे स्वामीनाथन कमीशन की ...

अब मोदी सरकार के खिलाफ सत्याग्रह करेंगे अन्ना, कहा- हमारा भरोसा तोड़ा - ITN (कटूपहास) (प्रेस विज्ञप्ति) (सदस्यता) (ब्लॉग)

नई दिल्ली। लोकपाल की लंबी लड़ाई लड़ ख्यात हुए सामाजिक कार्यकर्ता अन्ना हजारे एक बार फिर इसी मुद्दे को लेकर आंदोलन की तैयारी में हैं। इस बार उनके निशाने पर केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार है। अन्ना का कहना है कि मोदी सरकार ने लोकपाल कानून लागू नहीं कर लोगों का भरोसा तोड़ा है। 'फस्र्ट पोस्ट' को दिए एक इंटरव्यू में उन्होंने कहा कि वह लोकपाल के लिए मोदी सरकार के खिलाफ दिल्ली के रामलीला मैदान में सत्याग्रह करेंगे। अन्ना हजारे इससे पहले 2011 में मनमोहन सिंह की सरकार के खिलाफ बड़ा आंदोलन कर चुके हैं। अन्ना ने कहा, 'यह बात (सत्याग्रह) पिछले कुछ दिनों से मेरे दिमाग में है।

अन्ना हजारे की पीएम मोदी को लोकपाल पर फिर आंदोलन की चेतावनी - दा इंडियन वायर

अन्ना हज़ारे ने देशभर में हो रही किसानो की आत्महत्या का भी ज़िक्र किया, साथ ही उन्होंने स्वामीनाथन रिपोर्ट को कार्यान्वित करने की बात कही। समाजसेवी अन्ना हज़ारे ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पत्र लिखकर किसानो की हालत और भ्रष्टाचार पर अपनी नाराज़गी व्यक्त की थी। हालाँकि इन पत्रों का प्रधानमंत्री ने कोई जवाब नहीं दिया था, इस बात से नाराज़ हुए अन्ना ने मोदी को 4 पेज का एक पत्र लिखकर कर उन सभी बातों के बारें में याद दिलाया और आगे जाकर दिल्ली में आंदोलन की धमकी दी। अन्ना ने पत्र में लिखा भ्रष्टाचार आंदोलन के 6 साल बाद भी कोई सख्त कदम नहीं उठाया गया।

अन्ना ने मोदी को दी खुली धमकी, कहा 'जल्द बताऊंगा जगह और तारीख' - Janwarta

नई दिल्ली। अन्ना हजारे की अंतरात्मा एक बार फिर जाग गयी है। इस बार उन्होंने कांग्रेस से नहीं बल्कि देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से सीधा पंगा लिया है। दरअसल अन्ना ने पीएम मोदी को एक ख़त लिखकर उनको एक बार फिर धरने की धमकी दी है। उन्होंने आरोप लगाया कि तीन साल सरकार को पूरे होने के बाद भी लोकपाल बिल अभी तक पास नहीं किया गया है। इसके अलावा उन्होंने दिल्ली में फिर से धरने की धमकी भी दी है। हमसे फेसबुक पर भी जुड़े अपने खत में उन्होंने लिखा 'मेरा विरोध मोदी सरकार के खिलाफ होगा। तीन साल हुए सत्ता में आये, लेकिन फिर भी लोकपाल बिल पास नहीं किया गया है। 2011 इंडिया ...

अन्ना ने लिखी पीएम मोदी को चिट्ठी, कहा लोकपाल पर फिर करूंगा आंदोलन - Republic हिंदी

नई दिल्लीः बहुचर्चित समाजसेवी अन्ना हजारे ने एक बार फिर से लोकपाल को लेकर आंदोलन छेड़ने की बात कही है. अन्ना हजारे ने देश के पीएम नरेंद्र मोदी को एक चिट्टी लिखकर एक बार फिर अपनी नाराजगी जाहिर की है. अन्ना का 17 सौ शब्दों का यह पत्र काफी लंबा चौड़ा है. अपने पत्र में अन्ना ने कहा है कि छह साल बीत जाने के बाद भी देश में जारी भ्रष्टाचार को रोकने के लिये कानून बनाने पर कोई काम नहीं किया गया. लोकपाल एवं लोकायुक्त की नियुक्ति करने वाले और संसद में प्रतिष्ठित भ्रष्टाचार रोकने वाले सभी विधेयकों पर केंद्र सरकार सुस्ती दिखा रही है. देश में किसानों की समस्याओं को दूर करने ...

अन्ना हजारे ने दी मोदी को धमकी, कहा-लोकपाल लाएं वरना आन्दोलन झेलने के लिए रहें तैयार - देशबन्धु

सत्ता में आने के पहले आपने देश की जनता को भ्रष्टाचार मुक्त भारत के निर्माण को प्राथमिकता देने की बात कही थी, आज भी नए भारत के लिए भ्रष्टाचार मुक्त भारत निर्माण करने का संकल्प करने हेतु आप बड़े-बड़े वि... देशबन्धु ब्यूरो. August 30,2017 09:50. Share: AddThis Sharing Buttons. Share to Facebook Share to WhatsApp Share to Twitter Share to Google+ Share to LinkedIn. अन्ना हजारे ने दी मोदी को धमकी, कहा-लोकपाल लाएं वरना आन्दोलन झेलने के. Anna Hazare to PM Modi. Follow @deshbandhunews. समाजसेवी अन्ना हजारे एक बार फिर आंदोलन के मूड में आ गए हैं और इस बार उन्होंने लोकपाल, लोकायुक्त और किसानों के मुद्दे को लेकर ...

अन्ना करेंगे अनशन: लोकपाल पर एक बार फिर सरकार से टकराएंगे, पढ़ें पूरी चिट्ठी - Hindustan हिंदी

लोकपाल और लोकायुक्तों की नियुक्ति न होने, भ्रष्टाचार को रोकने के लिए सशक्त कानून न बनाए जाने और किसानों की समस्याओं के निराकरण के लिए स्वामीनाथन आयोग की रिपोर्ट पर अमल नहीं होने से क्रोधित सामाजिक कार्यकर्ता अन्ना हजारे ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से कहा है कि वह इन मांगों को लेकर दिल्ली में फिर से जन आंदोलन करेंगे। इसलिए अन्ना ले रहे आंदोलन का फैसला हजारे ने इस सबंध में प्रधानमंत्री को बाकायदा पत्र लिखा है। पत्र में उन्होंने भ्रष्टाचार के खिलाफ शुरू किए गए अपने पूर्व के जनआंदोलन और इस आंदोलन को देखते हुए तत्कालीन सरकार द्वारा भ्रष्टाचार के खिलाफ ...

अन्ना हजारे ने लिखा मोदी को खत, कहा- आपके खिलाफ करूंगा आंदोलन - Oneindia Hindi

नई दिल्ली। समाजसेवी अन्ना हजारे एक बार फिर से आंदोलन के मूड में हैं। अन्ना हजारे ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पत्र लिखकर सरकार के प्रति अपनी नाराजगी व्यक्त की है। उन्होंने कहा है कि मोदी सरकार तीन सालों से सत्ता में है, लेकिन अभी तक लोकपाल बिल नहीं लाई। अन्ना हजारे मे लोकपाल बिल ना लाने पर मोदी सरकार के खिलाफ बड़े आंदोलन की धमकी दी है। अन्ना हजारे ने लिखा मोदी को खत, कहा- आपके खिलाफ करुंगा आंदोलन. पीएम मोदी को लिखे लेटर में अन्ना हजारे ने कहा है कि तीन सालों से मैं आपकी सरकार से लोकपाल लाने और किसानों के कल्याण के लिए लोकायुक्त की नियुक्ति करने के ...

अन्ना हजारे ने PM मोदी को लिखी 4 पेज की चिट्ठी, बोले- फिर करूंगा आंदोलन, जानें पूरा मामला - Special Coverage News

नई दिल्ली : समाजसेवी अन्ना हजारे ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को 4 पेज की चिट्ठी लिखकर अपनी नाराजगी जाहिर की है। उन्होंने चिट्ठी में कहा है कि छह साल बाद भी भ्रष्टाचार को रोकने वाले एक भी कानून पर अमल नहीं हो पाया है। अन्ना हजारे ने पत्र में कहा सरकार लोकपाल, लोकायुक्त की नियुक्ति करने वाले और संसद में प्रतीक्षित भ्रष्टाचार को रोकने वाले सभी सशक्त विधेयकों पर सुस्ती दिखा रही है। किसानों की समस्याओं को लेकर स्वामीनाथन आयोग की रिपोर्ट पर भी अमल नहीं किया जा रहा है। सरकार के इस रवैए से नाराज अन्ना हजारे ने तमाम मसलों पर पत्र के लिखने की बात कही है, लेकिन ...

अन्ना ने दी पीएम मोदी को चेतावनी, बोले आपकी सरकार और कांग्रेस की सरकार में कोई अतंर नहीं - इंडिलिंक्स

लोकपाल की नियुक्ति न होने से खपा समाजसेवी अन्ना हजारे ने केंद्र की भाजपा सरकार को चेतावनी दी है। उन्होंने कहा कि यदि लोकपाल की जल्द नियुक्ति नहीं होती है तो दिल्ली में सरकार विरोधी विशाल धरना का आयोजन किया जाएगा। प्रधानमंत्री मोदी को लिखे खत में अन्ना ने केंद्र में लोकपाल की नियुक्ति, प्रत्येक राज्य में लोकायुक्त की नियुक्ति और भ्रष्टाचार पर लगाम लगाने के लिए सिटिजन चार्टर की मांग की है। खत में उन्होंने कहा 'भ्रष्टाचार मुक्त भारत के सबसे बड़े आंदोलन को 6 साल से ज्यादा हो गए हैं, लेकिन 6 साल बाद भी सरकार ने भ्रष्टाचार के खात्मे के लिए कुछ नहीं किया।'.

6 साल बाद फिर सड़क पर उतरने की तैयारी में अन्ना हजारे - Patrika

लोकपाल की नियुक्ति नहीं होने से दुखी अन्ना ने पीएम मोदी खत लिखकर अपनी नाराजगी जाहिर की है और एकबार फिर आंदोलन की चेतावनी दी है। नई दिल्ली। समाजसेवी अन्ना हजारे ने लोकपाल की नियुक्ति को लेकर एकबार फिर हुंकार भरा है। अन्ना ने पीएम मोदी खत लिखकर अपनी नाराजगी जाहिर की है। उन्होंने लिखा है कि पहले भी कई बार उन्होंने मोदी सरकार को चिट्ठियां लिखी हैं लेकिन अबतक कोई जवाब नहीं मिला। इसीलिए अब एकबार फिर आंदोलन करने की जरुरत है। जनवरी में कर सकते हैं आंदोलन मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक अगर जल्द ही केंद्र सरकार ने लोकपाल की नियुक्ति के लिए कदम नहीं उठाया तो अन्ना ...