सुशील कुमार को एक और झटका, भारत के रियो तैयारी शिविर का हिस्सा नहीं बनाया गया - एनडीटीवी खबर

नई दिल्‍ली: दो बार के ओलिंपिक पदक विजेता सुशील कुमार को आज एक और झटका लगा, जब भारतीय कुश्ती महासंघ ने उन्हें सोनीपत में बुधवार से शुरू हो रहे भारत के रियो ओलंपिक के तैयारी शिविर में जगह नहीं दी। इस सूची में सिर्फ कोटा स्थान हासिल करने वाले पहलवानों को शामिल किया गया है। नियमों के अनुसार, नरसिंह पंचम यादव को पुरूष 74 किग्रा फ्रीस्टाइल वर्ग में शिविर में शामिल किया गया है, क्योंकि उन्‍होंने पिछले साल विश्व चैम्पियनशिप में कोटा हासिल किया था, जबकि सुशील को इस सूची में जगह नहीं मिली है। डब्ल्यूएफआई के एक अधिकारी ने बताया, 'रियो तैयारी शिविर बुधवार से शुरू हो ...

मिलिए हरियाणा की पहलवान बहनों से, जिन्हें मिला ओलंपिक का टिकट - EenaduIndia Hindi

भिवानी। अंतरराष्ट्रीय महिला पहलवान बबीता फौगाट ने रियो ओलंपिक का टिकट मिलने के बाद रोजाना तीन घंटे अभ्यास बढा दिया है और अपना 100 फीसदी देकर देश का नाम रोशन करने का वायदा किया है। ओलंपिक क्वालीफाइंग में 53 किलोग्राम फ्री स्टाइल की अपनी प्रतिद्वंद्वी मंगोलिया की पहलवान सुमिया इर्डेनचिमंग के डोप टेस्ट में पाजीटिव पाए जाने के कारण बबीता को रियो का टिकट मिला है। इससे पूर्व रियो के लिए क्वीलीफाइ न कर पाने के कारण निराशा में डूबी बबीता फौगाट के हौंसले को बीती रात उस वक्त नई उडान मिली जब उनके पास फेडरेशन के अध्यक्ष ने फोन कर मंगोलिया की पहलवान के डोप ...

पहली बार 2 बहनें पहुंचीं ओलंपिक में - Dainiktribune

दादरी के गांव बलाली में शुक्रवार कोअपने निवास पर बातचीत करती विनेश, गीता व बबीता फौगाट। -हप्र. राष्ट्रमंडल खेलों की स्वर्ण पदक विजेता व अर्जुन अवार्डी गांव बलाली निवासी महिला पहलवान बबीता फोगाट की किस्मत का सितारा अचानक चमका तथा रियो ओलंपिक का टिकट भाग्य से उसकी झोली में आ गिरा। अब दो बहनें ओलंपिक में अपना दमखम दिखाएंगी। विनेश के बाद बबीता का भी ओलंपिक में चयन होने से गांव बलाली सहित दादरी क्षेत्र व पूरे प्रदेश में खुशी की लहर दौड़ गई है। बबीता के चयनित होने की सूचना मिलते ही महावीर पहलवान ने गांव में मिठाइयां बांटकर खुशियां मनाई। यह पहला अवसर है जब देश ...

सुशील कुमार को रियो की सूची से नहीं निकाला, डब्ल्यूएफआई ने कहा - Jansatta

नरसिंह ने पिछले साल लास वेगास में विश्व चैम्पियनशिप में 74 किलोवर्ग में कांस्य पदक जीता था, जबकि सुशील ने 66 किलो फ्रीस्टाइल में बीजिंग ओलंपिक 2008 में कांस्य और लंदन ओलंपिक 2012 में रजत पदक जीता था। Author भाषा नई दिल्ली | May 12, 2016 23:23 pm. 0. Shares. Facebook · Twitter · Google Plus · Whatsapp. वर्ष 2008 बीजिंग ओलंपिक में कांस्य पदक और चार साल बाद लंदन खेलों में रजत पदक जीतने वाले सुशील कुमार। भारतीय कुश्ती महासंघ ने गुरुवार (12 मई) को इस बात से इनकार किया कि उसने भारतीय ओलंपिक संघ को ओलंपिक संभावितों की कोई सूची भेजी है जिसमें सुशील कुमार का नाम नहीं है। महासंघ ने कहा ...

'ओलंपिक के लिए नरसिंह से मुकाबले को तैयार हैं सुशील' - खास खबर

नई दिल्ली। कुश्ती के जाने-माने कोच सतपाल सिंह ने गुरुवार को उन खबरों का खंडन किया, जिसमें कहा जा रहा है कि पहलवान सुशील कुमार को रियो ओलम्पिक की भारतीय टीम में जगह नहीं दी गई है। उन्होंने साथ ही कहा कि सुशील, नरसिंह यादव के साथ मुकाबले के लिए तैयार हैं। भारतीय कुश्ती संघ (डब्ल्यूएफआई) ने गुरुवार को भारतीय ओलम्पिक संघ (आईओए) को भेजी गई रियो ओलम्पिक के संभावित खिलाडिय़ों की सूची में सुशील का नाम शामिल नहीं किया था, जिसके बाद उनके ओलम्पिक में न खेलने की खबरें सामने आई थीं। खबरों के मुताबिक बुधवार को डब्ल्यूएफआई के अध्यक्ष ब्रजभूषण शरण सिंह ने सुशील और ...

रियो ओलंपिक के लिए सुशील का नाम नहीं, सतपाल बोले खेल मंत्री से करेंगे मुलाकात - Outlook Hindi (कटूपहास) (पंजीकरण)

“भारतीय कुश्‍ती महासंघ ने भारतीय ओलंपिक संघ को रियो आेलंपिक के लिए क्‍वालीफार्इ करने वाले पहलवानों की ज्रो सूची भेजी है उसमें दो बार के ओलंपिक पदक विजेता सुशील कुमार का नाम नहीं है। ” इसे भी पढ़ें. अब तक का राउंड अप : नरसिंह के खाने में मिलावट करने वाले आरोपी की हुई पहचान. सूची में नाम नहीं होने से माना जा रहा है कि वह ओलंपिक से बाहर हो गए हैं। सुशील के गुरु महाबली सतपाल ने इस पर आश्‍चर्य जताया है। उन्‍होंने कहा है कि बिना ट्रायल कराए ऐसे कोई फैसला कैसे लिया जा सकता है। उन्होंने कहा, 'यह बड़े अफसोस की बात होगी अगर सुशील ओलंपिक से बाहर होते हैं। वह दो बार सरकार के खर्चे ...

रियो ओलिंपिक में नहीं खेलेंगे सुशील कुमार, IOA को भेजी लिस्ट में से नाम हटा - नवभारत टाइम्स

दो बार के ओलिंपिक विजेता पहलवान सुशील कुमार रियो ओलिंपिक में इस बार नहीं खेलेंगे। टाइम्स नाउ के हवाले से खबर आ रही है कि प्रतियोगिता के लिए सुशील कुमार का नाम ड्रॉप हो गया है। इंडियन ओलिंपिक असोसिएशन (आईओए) की संभावित खिलाड़ियों की सूची से सुशील बाहर हैं। भारतीय कुश्ती महासंघ (WFI) द्वारा आईओए को भेजी गई रियो ओलिंपिक में हिस्सा लेने संभावित खिलाड़ियों की सूची में सुशील कुमार का नाम नहीं है। ऐसे में यह कयास और मजबूत हो गए हैं कि 74 किलोग्राम फ्रीस्टाइल वर्ग में नरसिंह यादव भारत का प्रतिनिधित्व करेंगे। 74 किलोग्राम वजन वर्ग में कौन सा पहलवान भारत का ...

सुशील कुमार रियो ओलिंपिक के संभावितों की सूची से नदारद - News Track

समालखा : देश को ओलिंपिक में पदक दिलाने वाले पहलवान सुशील कुमार का नाम भारतीय कुश्ती संघ द्वारा रियो ओलिंपिक के संभावित खिलाड़ियों की सूची से बहार रखा गया है. जिस पर सुशील कुमार का कहना है की रियो ओलिंपिक में पदक लाने वाले को भेजा जाना चाहिए. सुशील कुमार ने रविवार को पत्रकारों से बातचीत के दौरान कहा,"मैंने न उम्मीद छोड़ी है न ही अभ्यास. ओलिंपिक तैयारी को लेकर पसीना बहा रहा हूं. कुश्ती संघ को ट्रायल कराने के लिए इसलिए नहीं बोल रहा कि मैं चैंपियन रहा और दो बार ओलिंपिक पदक जीत चुका हूं. जो नियम हैं उसका पालन करना जरूरी है. यह सभी देशों में होता है. पदक जीतने ...

पहलवान सुशील कुमार को झटका, भारत के रियो आलंपिक तैयारी शिविर में नहीं मिली जगह - Jansatta

नरसिंह पंचम यादव को पुरुष 74 किग्रा फ्रीस्टाइल वर्ग में शिविर में शामिल किया गया है क्योंकि उन्होंने पिछले साल विश्व चैम्पियनशिप में कोटा हासिल किया था जबकि सुशील को इस सूची में जगह नहीं मिली है। Author भाषा नई दिल्ली | May 15, 2016 19:23 pm. 0. Shares. Facebook · Twitter · Google Plus · Whatsapp. वर्ष 2008 बीजिंग ओलंपिक में कांस्य पदक और चार साल बाद लंदन खेलों में रजत पदक जीतने वाले सुशील कुमार। दो बार के ओलंपिक पदक विजेता सुशील कुमार को रविवार (15 मई) को एक और झटका लगा जब भारतीय कुश्ती महासंघ ने उन्हें सोनीपत में बुधवार (18 मई) से शुरू हो रहे भारत के रियो ओलंपिक के तैयारी शिविर ...

If Sushil wasnt been sent then why 1 crore was spent on him - दैनिक जागरण

क्या आपको उम्मीद है कि रियो ओलंपिक में निराशाजनक प्रदर्शन के बाद भारत में खेलों के नीति-नियंता कोई सबक सीखेंगे? हां नहीं पता नहीं. VoteView Result. क्या आपको उम्मीद है कि रियो ओलंपिक में निराशाजनक प्रदर्शन के बाद भारत में खेलों के नीति-नियंता कोई सबक सीखेंगे? पूर्ण पोल देखें ». Follow Us. Home · About us · Advertise with Us · Book Print Ad · Partnership · Contact us · Sitemap · Privacy Policy · Disclaimer · Submit your news · समाचार · राष्ट्रीय · दुनिया · बिजनेस · खेल · जरा हटके · चर्चा में · राज्य · क्रिकेट · खबरें · विशेषज्ञों की राय · आईसीसी रैंकिंग · अपनी बात · एक्सक्लूसिव · तस्वीरें · फोटो गैलरी · वीडियो.

अभी और रंग दिखाएगी सुशील कुमार व नरसिंह की 'कुश्ती' - EenaduIndia Hindi

नई दिल्ली। ओलंपिक जाने के नाम पहलवान सुशील कुमार और नरसिंह यादव के बीच सीधे कोई खींचातानी भले न चल रही हो पर अब पहलवान और इस खेल से जुड़े लोगों के बीच बयानबाजी काफी तेज हो गई है। सुशील कुमार ने इसमें पीएम मोदी, खेल मंत्रालय व मीडिया में अपनी बात रखकर मामला अपने पक्ष में करने की कोशिश की पर अब तक उनको कोई खास राहत नहीं मिली है। ओलंपिक के टिकट को लेकर रेसलिंग फेडरेशन ऑफ इंडिया ने इस बात को साफ कर दिया है कि वे परंपरा के मुताबिक ही टीम को भेजेंगे और जिसने कोटा लिया है, वही उसका पहला हकदार है। इससे अब साफ हो गया है कि नरसिंह ने 74किग्रा में देश का प्रतिनिधित्व ...

सुशील कुमार को फिर से झटका, अब कैंप से भी हो गए बाहर - अमर उजाला

भारतीय कुश्ती संघ ने दो बार के ओलंपिक पदक विजेता पहलवान सुशील कुमार को रियो ओलंपिक की तैयारियों से बाहर कर दिया है। कुश्ती संघ की ओर से ओलंपिक की तैयारियों के लिए सोमवार से सोनीपत में लगाए जा रहे कैंप में इस दिग्गज पहलवान को शामिल नहीं किया गया है। खास बात यह है कि तैयारियों के लिए लगाए जा रहे कैंप में उन्हीं पहलवानों को जगह दी जा रही जिनसे ओलंपिक क्वालीफायर पहलवानों का कोई आपसी मनमुटाव नहीं है। कुश्ती संघ का तर्क है कि ट्रेनिंग के दौरान ओलंपिक में जाने वाले पहलवानों को किसी तरह की चोट का खतरा उत्पन्न न हो जिसके चलते अहतियातन यह कदम उठाया गया है।

सुशील vs नरसिंह: किसमें कितना दम, ओलिंपिक के लिए कौन है असली दावेदार? - dainikbhaskar

स्पोर्ट्स डेस्क.पहलवान सुशील कुमार ने भले ही रियो के दंगल में पीएम मोदी समेत खेल मंत्रालय को घसीटा हो, लेकिन उनका ये दांव अब बेकार होता दिखाई दे रहा है। रेसलिंग फेडरेशन ऑफ इंडिया ने इस बात को साफ कर दिया है कि वे परंपरा के मुताबिक ही टीम को भेजेंगे। अब तक का ट्रेडिशन यही कहता है कि जिसने कोटा लिया है, वही पहला हकदार है। नरसिंह ने 74kg में लास वेगास में हुई वर्ल्ड चैम्पियनशिप में देश को ओलिंपिक कोटा दिलाया था। क्यों है विवाद... - दरअसल, नरसिंह पहले ही रियो ओलिंपिक के लिए क्वालिफाई कर चुके हैं। - जब क्वालिफाइंग चैम्पियनशिप हुई थी, तब सुशील कुमार बीमार थे। अब वे फिट हैं।

अब पहलवान सुशील कुमार की प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी से अपील - Rajasthan Patrika

सुशील कुमार ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को पत्र लिखा है। सुशील ने अपने पत्र में गुहार की है कि उनका नरसिंह के साथ ट्रायल कराया जाए और उन दोनों में जो पहलवान बेहतर हो वह भी ओलंपिक जाए। Related News. रवींद्र-बबिता ने कटाया रियो का टिकट, इतिहास रचने को तैयार · रियो में भारत का लक्ष्य 10 पदक: सोनोवाल · बच्चे के सवाल के आगे घुटने टेकते नज़र आए द ग्रेट खली. नई दिल्ली. दो बार के ओलंपिक पदक विजेता पहलवान सुशील कुमार और देश को कोटा दिलाने वाले नरसिंह यादव के बीच 74 किग्रा फ्रीस्टाइल वर्ग में ट्रायल कराने या न कराने के विवाद में अब सुशील ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को पत्र ...

मिलिए हरियाणा की पहलवान बहनों से, जिन्हें मिला ओलंपिक का टिकट - EenaduIndia Hindi

भिवानी। अंतरराष्ट्रीय महिला पहलवान बबीता फौगाट ने रियो ओलंपिक का टिकट मिलने के बाद रोजाना तीन घंटे अभ्यास बढा दिया है और अपना 100 फीसदी देकर देश का नाम रोशन करने का वायदा किया है। ओलंपिक क्वालीफाइंग में 53 किलोग्राम फ्री स्टाइल की अपनी प्रतिद्वंद्वी मंगोलिया की पहलवान सुमिया इर्डेनचिमंग के डोप टेस्ट में पाजीटिव पाए जाने के कारण बबीता को रियो का टिकट मिला है। इससे पूर्व रियो के लिए क्वीलीफाइ न कर पाने के कारण निराशा में डूबी बबीता फौगाट के हौंसले को बीती रात उस वक्त नई उडान मिली जब उनके पास फेडरेशन के अध्यक्ष ने फोन कर मंगोलिया की पहलवान के डोप ...

सुशील ने शेयर की दिल की बात, कहा- पहले मना कर देते तो कुछ और प्लान करता - dainikbhaskar

सोनीपत(हरियाणा). 83 दिन बाद शुरू होने वाले रियो ओलिंपिक में हिस्सा लेने के लिए देश के दो रेसलर्स में जंग छिड़ गई है। एक तरफ दो बार के ओलिंपिक विनर सुशील कुमार हैं तो दूसरी ओर कॉमनवेल्थ के गोल्ड मेडलिस्ट नरसिंह यादव। नरसिंह के साथ सुशील ट्रायल की डिमांड कर रहे हैं। तो नरसिंह कह रहे कि 74 किलो में कोटा मैंने जीता है। इसलिए रियो मैं जाऊंगा। नरसिंह ने उन्हें लड़ने के लिए चैलेंज भी दिया है। सुशील कुमार ने किससे मामले में दखल देने की डिमांड की है... - उधर, सुशील ने पीएम और स्पोर्ट्स मिनिस्टर से मामले में दखल की मांग की है। - उन्होंने सोशल मीडिया पर भी इमोशनल वीडियो डाला ...

Sushil Kumar writes letter to PM seeking a final trial before Rio Olympics - दैनिक जागरण

क्या आप मानते हैं कि विपक्ष पर प्रधानमंत्री मोदी के हमले के बाद संसद का चलना और अधिक मुश्किल हो गया है? हां नहीं पता नहीं. VoteView Result. क्या आप मानते हैं कि विपक्ष पर प्रधानमंत्री मोदी के हमले के बाद संसद का चलना और अधिक मुश्किल हो गया है? पूर्ण पोल देखें ». Follow Us. Home · About us · Advertise with Us · Book Print Ad · Partnership · Contact us · Sitemap · Privacy Policy · Disclaimer · Submit your news · समाचार · राष्ट्रीय · दुनिया · बिजनेस · खेल · जरा हटके · चर्चा में · राज्य · क्रिकेट · खबरें · विशेषज्ञों की राय · आईसीसी रैंकिंग · अपनी बात · एक्सक्लूसिव · तस्वीरें · फोटो गैलरी · वीडियो · मनोरंजन · बॉलीवुड · मिर्च- ...

सुशील कुमार और नरसिंह के बीच दंगल क्यों - बीबीसी हिन्दी

रियो में होने वाले ओलंपिक खेलों के लिए उलटी गिनती शुरू हो चुकी है. इसके बावजूद अभी तक यह तय नही हो पा रहा हैं कि कुश्ती के मुक़ाबलों में 74 किलो भार वर्ग में बीजिंग ओलंपिक के कांस्य और लंदन ओलंपिक के रजत पदक विजेता सुशील कुमार रियो जाएंगे या फिर नरसिंह यादव. दरअसल नरसिंह यादव ने पिछले साल लास वेगास में आयोजित विश्व कुश्ती चैंपियनशिप में कांस्य पदक जीता था और इसी के साथ उन्होंने रियो का टिकट भी हासिल कर लिया. दूसरी तरफ अब सुशील कुमार दावा कर रहे है कि रियो के लिए उनके और नरसिंह के बीच ट्रायल होना चाहिए. नरसिंह पंचम यादव इमेज कॉपीरइट. बीबीसी से ख़ास बातचीत ...

रियो ओलंपिक में सुशील या नरसिंह, डब्ल्यूएफआई के लिए बड़ी संकट - प्रभात खबर

नयी दिल्ली : इस साल के ओलंपिक खेलों के लिये सुशील कुमार और नरसिंह पंचम यादव में से एक को चुनने के लिये चयन ट्रायल कराने को लेकर दोराहे में खड़े भारतीय कुश्ती महासंघ (डब्ल्यूएफआई) के इस पेचीदा संकट को सुलझाने के लिये मंगलवार को बैठक करने की उम्मीद है. डब्ल्यूएफआई के एक सूत्र ने कहा, ''एक बैठक मंगलवार को होने की उम्मीद है जिसमें पूरी संभावना है कि इस पर फैसला होगा कि चयन कराये जायें या नहीं. '' सुशील ने खेल मंत्रालय और डब्ल्यूएफआई दोनों को पत्र लिखा है, उनके इस मामले को चयन समिति को रैफर किया जायेगा जिसके बाद फैसला होगा कि ट्रायल्स कराये जायें या नहीं.