स्वास्थ्य सचिव नेे सीएमओ को दिए निर्देश स्क्रब टायफस पर लोगों को करें जागरूक - दैनिक भास्कर

बरसातके मौसम में फैलने वाली बीमारियों स्क्रब टायफस, डेंगू, चिकनगुनिया की तैयारियों को लेकर प्रिंसिपल हेल्थ सेक्रेटरी प्रबोध सक्सेना ने बुधवार को रिव्यू मीटिंग की। इसमें नेशनल हेल्थ मिशन निदेशक पंकज राय समेत सभी जिला के सीएमओ मौजूद रहे। स्वास्थ्य सचिव ने सभी सीएमओ से बरसात के दौरान होने वाली बीमारियों से निपटने के लिए किए गए इंतजाम का जायजा लिया। उन्होंने सीएमओ से उनके जिला में की गई तैयारियों के बारे में भी पूछा। इस दौरान उन्होंने निर्देश दिए कि सभी सीएमओ अपने-अपने जिला में स्क्रब टायफस, डेंगू चिकनगुनिया के लिए पर्याप्त मात्रा में दवाएं रखें।

स्क्रब टायफस, डेंगू से लड़ने के लिए तैयारी रखें - दैनिक जागरण

राज्य ब्यूरो, शिमला : बरसात में स्क्रब टायफस, डेंगू और चिकनगुनिया बीमारियों से लोगों को बचाने के लिए स्वास्थ्य विभाग ने कसरत शुरू कर दी है। बुधवार को शिमला में प्रधान सचिव स्वास्थ्य प्रबोध सक्सेना ने प्रदेश के सभी मुख्य स्वास्थ्य अधिकारियों से बैठक की। प्रबोध सक्सेना ने सभी जिलों के अस्पतालों में बरसात के दौरान सक्रिय होने वाली स्क्रब टायफस, डेंगू और चिकनगुनिया बीमारी से ग्रस्त मरीजों के पुख्ता उपचार को लेकर व्यवस्थाओं का पूरा ब्योरा मांगा। प्रधान सचिव ने सभी सीएमओ को निर्देश दिए कि यदि उनके पास इस बीमारी से संबंधित टेस्ट किट या दवाइयों का स्टॉक कम है ...

स्क्रब टाइफस को लेकर अलर्ट जारी, पिछले साल हुईं 37 मौतें - अमर उजाला

हिमाचल में स्वास्थ्य महकमे ने स्क्रब टाइफस को लेकर अलर्ट जारी किया है। राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन के निदेशक पंकज राय ने आम लोगों को स्क्रब टाइफस के लिए एहतियात बरतने की अपील की है। उन्होंने कहा कि प्रदेश में पिछले साल इस हाईग्रेड बुखार से 37 लोगों की मौत हो गई थी। इसका बैक्टीरिया जुलाई से नवंबर के बीच ही सक्रिय होता है। पंकज राय ने प्रेस क्लब शिमला में पत्रकार वार्ता में यह अलर्ट जारी किया। राय ने कहा कि सभी जिला प्रशासन को भी स्क्रब टाइफस से निपटने को एहतियात बरतने को कहा गया है। बुधवार को शिमला में सभी सीएमओ की बैठक भी बुलाई गई है। पंकज राय ने कहा कि पिछले साल ...

स्क्रब टायफस पर स्वास्थ्य विभाग अलर्ट - दैनिक जागरण

राज्य ब्यूरो, शिमला : बरसात आते ही प्रदेश में स्क्रब टायफस का खतरा बढ़ गया है। लोगों को स्क्रब टायफस. राज्य ब्यूरो, शिमला : बरसात आते ही प्रदेश में स्क्रब टायफस का खतरा बढ़ गया है। लोगों को स्क्रब टायफस से बचाने के लिए राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन (एनएचएम) ने कमर कस ली है। एनएचएम के एमडी पंकज राय ने बताया कि जुलाई से नवंबर तक स्क्रब टायफस बुखार चरम पर रहता है। इसलिए स्वास्थ्य विभाग को अलर्ट कर दिया गया है। उन्होंने बताया कि स्क्रब टायफस से ग्रस्त मरीजों को निजी अस्पतालों में जाने की जरूरत नहीं है। विभाग ने जिला अस्पताल से लेकर स्वास्थ्य केंद्रों में तैनात नर्सिग स्टाफ को ...

बरसात में होने वाले रोगों के लिए तैयार हुआ एनएचएम विभाग - News18 इंडिया

हिमाचल प्रदेश राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन (एनएचएम) विभाग ने बरसात से निपटने के लिए पूरी तैयारी कर ली है. बरसात में होने वाले रोगों से बचने के लिए विभाग प्रदेश के सभी जिलों में जागरूकता अभियान चलाएगा. एनएचएम के प्रबंध निदेशक पंकज राय ने प्रेस वार्ता के के माध्यम से यह जानकारी दी. उन्होंने बताया कि बरसात के मौसम में स्क्रब टायफस, डेंगू और चिकनगुनिया के रोग फैलने का खतरा रहता है. इसमें सबसे ज्यादा लोग स्क्रब टायफस की चपेट में आते हैं और चूहे के माध्यम से पिस्सू से यह रोग इंसानों में आता है. इसका समय पर इलाज न हो तो यह जानलेवा साबित हो जाता है. अकेले स्क्रब टायफस से ही ...