This RSS feed URL is deprecated

CRPF कर्मी सिर्फ नक्सलियों से ही नहीं, ढेर सारी दिक्कतों से लड़ रहे हैं - Zee News हिन्दी

छत्तीसगढ़ में सीआरपीएफ के कर्मियों को अकेले नक्सलियों से ही नहीं लड़ना पड़ रहा है, बल्कि उन्हें गर्मी और पेयजल की किल्लत से ले कर खराब मोबाइल नेटवर्क तक अनेक दिक्कतों से भी जूझना पड़ रहा है. Updated: Apr 30, 2017, 01:16 PM IST. कमेंट देखें |. CRPF कर्मी सिर्फ नक्सलियों से ही नहीं, ढेर सारी दिक्कतों से लड़ रहे हैं (फाइल फोटो). नयी दिल्ली: छत्तीसगढ़ में सीआरपीएफ के कर्मियों को अकेले नक्सलियों से ही नहीं लड़ना पड़ रहा है, बल्कि उन्हें गर्मी और पेयजल की किल्लत से ले कर खराब मोबाइल नेटवर्क तक अनेक दिक्कतों से भी जूझना पड़ रहा है. बस्तर के दूरदराज के इलाकों में सीआरपीएफ के कुछ शिविरों का जायजा ले चुके अधिकारियों ने पाया कि वहां उन्हें पीने का पानी बहुत खराब मिल रहा ...और अधिक »

देश में नक्सलवाद के खिलाफ आखिरी लड़ाई छत्तीसगढ़ में होगी : मुख्‍यमंत्री रमन सिंह - एनडीटीवी खबर

छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री रमन सिंह ने कहा है बस्तर अंचल में नक्सल विरोधी अभियान जारी रहेगा. (फाइल फोटो). खास बातें. बुरकापाल की नक्सल घटना निश्चित रूप से काफी पीड़ादायक है- रमन सिंह; हमने अपने वीर जवानों को खोया है- मुख्‍यमंत्री रमन सिंह; रमन सिंह ने कहा कि नक्सलवाद के खिलाफ राज्य सरकार की नीति बिल्कुल स्पष्ट. रायपुर: छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री रमन सिंह ने कहा है कि देश में नक्सलवाद के खिलाफ अंतिम लड़ाई छत्तीसगढ़ में होगी. बस्तर अंचल में नक्सल विरोधी अभियान जारी रहेगा. विधानसभा में शुक्रवार को सुकमा जिले के बुरकापाल की नक्सल घटना पर मुख्य विपक्षी दल कांग्रेस ने स्थगन प्रस्ताव पेश किया, जिस पर सदन में चर्चा कराई गई. चर्चा का जवाब देते हुए मुख्यमंत्री सिंह ने कहा ...और अधिक »

'उरी' पर मोदी का वही बयान 'सुकमा' के बाद भी आया, अब पीएम के खास अधिकारी ने संभाली कमान - एनडीटीवी खबर

नई दिल्ली: सुकमा में नक्सली हमले के बाद पीएम नरेंद्र मोदी ने ठीक वैसा ही बयान दिया था, जैसा कि उन्होंने उरी हमले के बाद दिया था. उरी में भारतीय सेना को जवानों को पाकिस्तान से आए आतंकियों ने निशाना बनाया था और सुकमा में सीआरपीएफ के जवानों को नक्सलियों ने निशाना बनाया था. उरी हमले के बाद भारत ने पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर में घुसकर आतंकी शिविरों पर सर्जिकल स्ट्राइक कर दुनिया को चौंका दिया था. पाकिस्तान के भीतर तक हड़कंप मच गया और पाकिस्तान कुछ नहीं कर पाया. खुद आतंकी सरगनाओं के होश फाक्ता हो चुके थे. अब कुछ रिपोर्टों से साफ हो रहा है कि भारत सरकार ने छत्तीसगढ़ के सुकमा स्थित बुरकापाल में नक्सली हमले में 25 जवान खोने के बाद अब देश में ...और अधिक »

सुकमा: CRPF ने 15 दिनों तक रोका सड़क निर्माण का काम - India.com हिंदी

रायपुर: सीआरपीएफ ने छत्तीसगढ़ में सड़क निर्माण में सुरक्षा से जुड़े सभी ऑपरेशन बंद कर दिए हैं. सुकमा में हुए नक्सली हमले के 5 दिन बाद ये फैसला लिया गया है. सरकार ने आने वाले दो हफ्तों तक सड़क निर्माण के काम को रोक दिया है. नक्सल-विरोधी अभियानों के स्पेशल डीजी डी एम अवस्थी ने मीडिया को बताया है कि अगले कुछ दिनों में नक्सल विरोधी अभियानों पर फोकस करने के लिए ये कदम उठाया गया है. साथ ही ये भी खबर है कि आस-पास के गांव के लोग गांव खाली करके जा रहे हैं. जहां हमला हुआ था वहां से 250 किमी तक कहीं लोग नजर नहीं आ रहे हैं. रणनीति बदलने पर हो रहा विचार. सीआरपीएफ अधिकारियों के मुताबिक रोड ओपनिंग ड्यूटी पर रोक का एक मकसद सड़कों की सुरक्षा को लेकर रणनीति ...और अधिक »

सुकमा, दंतेवाड़ा और बीजापुर में नक्सलियों की घेराबंदी शुरू - दैनिक जागरण

नक्सलियों की तलाश में चिंतागुफा, बुरकापाल और चिंतलनार कैंपों से जवान शनिवार शाम से जंगल में घुसे हैं। नई दिल्ली, जेएनएन। छत्तीसगढ़ में बुरकापाल हमले के बाद नक्सलियों को उनकी मांद में घेरने की तैयारी के साथ फोर्स जंगलों में निकल चुकी है। नक्सलियों की तलाश में चिंतागुफा, बुरकापाल और चिंतलनार कैंपों से जवान शनिवार शाम से जंगल में घुसे हैं। सड़क पर जवानों की मौजूदगी नहीं दिख रही है। आसपास के गांवों में भी हलचल नहीं है। फोर्स के इस अभियान को गोपनीय रखा गया है। सीआरपीएफ ने कहा है कि हम ऐसे अभियानों की जानकारी साझा नहीं कर सकते। आंतरिक सुरक्षा सलाहकार विजय कुमार ने शनिवार को सुकमा में अफसरों की बैठक लेकर रणनीति तैयार की। तय किया गया कि फिलहाल फोर्स ...और अधिक »

वायरल विडियो में सुकमा शहीदों के खून के बदले खून की मांग - नवभारत टाइम्स

हाल ही में छत्तीसगढ़ के सुकमा में हुए नक्सली हमले पर एक विडियो ट्विटर पर वायरल हो रहा है । इस विडियो में दिख रहा शख्स खुद को इंडो-तिब्बत बॉर्डर पुलिस (ITBP) का इंस्पेक्टर बताते हुए सुकमा हमले पर अपना गुस्सा जाहिर कर रहा है। इस शख्स के मुताबिक वह ITBP का इंस्पेक्टर प्रमोद कुमार तिवारी है। विडियो में यह शख्स रोते हुए कह रहा है कि अब शहीदों को न तो आर्थिक मदद की जरूरत है और न ही किसी संवेदना की। अगर हम मर ही रहे हैं तो अब मारकर मरेंगे। सुकमा के शहीदों के खून का बदला खून से ही चाहिए। करीब 2 मिनट के इस विडियो में प्रमोद की आंखों में लगातार आंसू हैं और वह कह रहे हैं, 'एंटी-नक्सल ऑपरेशन में लगे हुए सभी जवानों और अधिकारियों से मैं कहना चाहता हूं कि बहुत हो गया ...और अधिक »

एंटी नक्सल ऑपरेशन को खतरा नक्सलियों से नहीं... मानवाधिकार की वकालत से - आज तक

पुलिस और केंद्रीय सुरक्षा बलों ने नक्सलियों को मार गिराने का फैसला कर लिया है. उन्हें मुंहतोड़ जवाब देने की तैयारी जोरों पर है. लेकिन आला अफसरों को मानव अधिकारों की वकालत करने वालो के दावपेंचों की भी चिंता सता रही है. दरअसल, जब कभी भी नक्सलियों के खिलाफ कार्यवाही को लेकर सुरक्षा बलों के कदम उठते हैं. उसी दौरान फोर्स पर मानव अधिकारों के हनन को लेकर एक खास वर्ग सक्रिय हो जाता है. पुलिस और सुरक्षा बलों पर ज्यादतियों का आरोप लगा कर उनकी कार्यवाही को ना केवल नाजायज ठहराया जाता है बल्कि उसे अदालत में भी चुनौती दी जाती है. छत्तीसगढ़ में नक्सलियों की तलाश में जुटी एंटी नक्सल ऑपरेशन की टीम ने जंगलों में दबिश तो दे दी है, लेकिन उन्हें मानव ...और अधिक »

नक्सलियों पर फाइनल वार की तैयारी, डोभाल बनाएंगे रणनीति - आज तक

सुकमा स्थित बुरकापाल में नक्सलियों के हमले में शहीद केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ) के 25 जवानों की शहादत के बाद सरकार ने नक्सलियों को उनके ही मांद में घुसकर मुंहतोड़ जवाब देने का फैसला किया है. इस संबंध में दो मई को राज्य के आला अधिकारियों की बैठक बुलाई गई है, जिसे राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए संबोधित करेंगे. दो मई को होगी बैठक बस्तर संभाग के आईजी विवेकानंद सिन्हा ने कहा, "नक्सलियों के खिलाफ पलटवार और नई रणनीति के लिए दो मई को राजधानी रायपुर में आला अधिकारियों की बैठक बुलाई गई है. इस बैठक में वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिये राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल भी मौजूद होंगे." बताया जाता है कि सरकार ने ...और अधिक »

नक्सलियों के खिलाफ होगी आरपार की लड़ाई , डोभाल बनाएंगे रणनीति! - News18 इंडिया

सुकमा के नक्सली हमले के बाद केंद्र से लेकर राज्य सरकार की नींद उड़ गई है. 25 जवानों की शहादत के बाद पीएमओ से लेकर गृहमंत्रालय रणनीति में जुट गया. आंतरिक सुरक्षा सलाहकार के विजय कुमार बस्तर पहुंच गये है. और सुरक्षा बलों के आला अधिकारियों माओवाद पर चर्चा करेंगे.2 मई को राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल भी आला अधिकारियों वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए रणनीति तैयार करेंगे आंतरिक सुरक्षा सलाहकार घटना के बाद से दूसरी बार बस्तर पहुंचे है. वे पुलिस एवं सीआरपीएफ के आला अफसरों की मीटिंग लेंगे। बैठक में इस बात का मंथन किया जाएगा कि नक्सल मोर्चे पर बार बार कहां चूक हो रही है नक्सलियों के खिलाफ लड़ाई किस तरह लड़ी जाए उसको लेकर 2 मई को राष्ट्रीय सुरक्षा ...और अधिक »

नक्सली गढ़ में खुफिया तंत्र मजबूत करने की कवायद तेज - दैनिक जागरण

जब नक्सली हिड़मा की पुलिस मुठभेड़ में 2012 में ही मौत हो चुकी थी तो फिर 24 अप्रैल के हमले का मास्टरमाइंड दिवंगत नक्सली नेता को कैसे बता दिया गया? पुरुलिया/जमशेदपुर, जेएनएन। छत्तीसगढ़ के सुकमा समेत नक्सलियों के प्रभाव वाले अन्य इलाकों में खुफिया तंत्र को मजबूत करने की कवायद तेज कर दी गई है। 24 अप्रैल को सुकमा में सीआरपीएफ जवानों पर माओवादियों के हमले में 16 नक्सलियों के भी मारे जाने की खबर दैनिक जागरण में रविवार को प्रकाशित हुई। इसके बाद नई दिल्ली से लेकर रायपुर तक खुफिया एजेंसियां सक्रिय हो गई। जागरण से भी जानकारी के लिए संपर्क साधा गया। जानकारों का कहना कि खुफिया एजेंसियां इस तथ्य का पता लगा रही हैं कि जब नक्सली हिड़मा की पुलिस मुठभेड़ में 2012 में ही ...और अधिक »