आंधी से गुल हो गई बिजली - दैनिक जागरण

जागरण संवाददाता, रुड़की: रुड़की और आसपास के क्षेत्रों में शाम छह बजे आई तेज आंधी से शहर से लेकर देहात तक बिजली आपूर्ति ठप हो गई। इससे उपभोक्ताओं को परेशानी का सामना करना पड़ा। आंधी से बाजार में कई जगह होर्डिंग्स, बैनर आदि भी गिर गए। इससे दुकानदारों को परेशानी उठानी पड़ी। वैसे तो रुड़की शहर में शाम पांच बजे के बाद से ही आंधी चलने की आशंका जताई जा रही थी। शाम साढ़े छह बजे धूल भरी तेज आंधी चलना शुरू हो गई। आंधी के साथ ही बिजली आपूर्ति भी पूरी तरह से ठप हो गई। इससे उपभोक्ताओं को परेशानी का सामना करना पड़ा। तेज हवा से कई जगह बिजली के तार आपस में उलझ गए। शाम सात बजे ...

किदवई नगर फीडर पर सोलह घंटे गुल रही बिजली - अमर उजाला

शुक्रवार शाम आई तेज रफ्तार आंधी में पुरानी मंडी के पास पेड़ टूट कर पोल पर जा गिरा। इसके चलते किदवई नगर की बिजली रात आठ बजे गुल होने से भीषण गर्मी में उपभोक्ता परेशान हो गए। विद्युत निगम कर्मियाें ने मरम्मत कर शनिवार को दोपहर 12 बजे बिजली आपूर्ति बहाल कराई। तब जाकर उपभोक्ताओं ने राहत की सांस ली। विद्युत निगम के अधिशासी अभियंता शहर राजीव चतुर्वेदी ने बताया कि शुक्रवार रात आठ बजे आधी के दौरान पुरानी मंडी के पास पेड़ टूट कर बिजली के पोल पर गिर गया। इसके चलते पोल टूटने से किदवई नगर फीडर की बिजली गुल हो गई। एक्सईएन ने बताया कि देर रात शनिवार दोपहर बारह बजे तक विद्युत ...

आंधी ने हजारों घरों की बिजली गुल की - अमर उजाला

आंधी पानी ने बिजली व्यवस्था की कमर तोड़ दी है। जिले में सैकड़ों खंभे टूट गए और कई ट्रांसफॉर्मर जमींदोज हो गए। अकेले बभनान, गौर क्षेत्र में करीब 840 गांवों में आपूर्ति ठप है। बभनान, हरदी और बेलाहिया उपकेंद्रों से जुड़े लोग परेशान हैं। बैंक व कार्यालयों में काम पर असर पड़ा है। बभनान प्रतिनिधि के मुताबिक 24 मई को आई आंधी से कई स्थानों पर तारों पर पेड़ गिर गए। बभनान उपकेंद्र से 440 गांव, बेलाहिया पावर हाउस से 150 गांव और हरदी पावर हाउस के 250 गांवों में तीन दिन से आपूर्ति नहीं हो पा रही है। जेई अशोक कुमार पाल ने बताया कि लगातार आ रही आंधी से व्यवस्था बिगड़ती जा रही है।

आंधी-बारिश से मौसम हुआ सुहावना - अमर उजाला

शाम को आई तेज आंधी बारिश से जहां मौसम सुहावना हो गया तो लोगों ने राहत महसूस की। वहीं तेज आंधी के चलने के कारण कुछ देर के लिए यातायात भी बाधित रहा। इसके अलावा जिले के कई स्थानों पर बिजली के पोल भी टूट गए। शुक्रवार की देर शाम यकायक मौसम बदलने से आई तेज आंधी से बाजार में अफरा-तफरी मच गई। आंधी के बाद हुई बारिश से लोगों को काफी राहत मिली। तेज आंधी चलने से थोड़ी देर के लिए यातायात भी बाधित हो गया। आंधी के बाद हुई बारिश से मौसम काफी सुहावना हो गया। हालांकि अचानक हुई बारिश में दुकानदारों को खासी दिक्कत हुई। बीसलपुर। आंधी में कुछ देर के लिए जनजीवन अस्त-व्यस्त हो ...

PHOTOS: रात के आधे घंटे के अंधड़ ने ऐसा किया शहर का हाल, घंटों बिजली रही गुल - दैनिक भास्कर

ग्वालियर. शुक्रवार की रात को आए तेज अंधड़ के कारण शहर में कई स्थानों पर पेड़ों के साथ होर्डिंग्स और बिजली के पोल टूटकर गिर पड़े। झांसी रोड पर एक गैराज में नीम का पेड़ टूटकर कई कारों पर गिर पड़ा, जिससे काफी नुकसान हो गया। अंधड़ शुरू होते ही बिजली भी गुल हो गई। बिजली फॉल्ट की रिपेयर सुबह तक नहीं हो पाई। इससे नगर निगम सहित कई विभागों के इंतजामों की पोल भी खुल गई। -वैसे तो नौतपा चल रहा है, लेकिन शुक्रवार की रात करीब 11.30 बजे आसमान में जोरदार बिजली कड़की और लोग कुछ समझ पाते, इसके पहले तेज आंधी-तूफान शुरू हो गया। -इस आंधी के साथ तेज बारिश भी शुरू हो गई और कई स्थानों पर पेड़ ...

रात में आंधी-बारिश, सबेरे बिजली-पानी का संकट - Pradesh Today

रात को आए आंधी और बारिश ने लोगों को आज देर सुबह तक पसीना-पसीना कर दिया। लोग बिजली कंपनी के कॉल सेंटर पर फोन करते रहे, लेकिन बिजली कब आएगी? इस सवाल का जवाब किसी के पास नही था। कुछ समय तक तो बिजली कंपनी के कॉलसेंटर कर्मी जल्द बिजली आने का आश्वासन देते रहे, लेकिन जब परेशान हो चुके लोगों ने एक के बाद एक फोन घुमाए तो कॉल सेंटर कर्मियों ने भी फोन अटेंड करना बंद कर दिए। हालांकि कुछ हिस्सों में तो बिजली देर रात तक आ गई, लेकिन शहर के ज्यादातर रात भर इलाके अंधेरे में डूबे रहे। बिरला नगर में ट्रांसफार्मर फेल. आंधी बारिश के कारण बिरला नगर में विद्युत व्यवस्था फेल हो गई।

बारिश से मिली राहत, बिजली गुल - दैनिक भास्कर

जिलेमें शुक्रवार को झमाझम बारिश होने पर लोगों को गर्मी से राहत मिली। आंधी और बारिश से बिजली आपूर्ति बंद हो गई। कोलेबिरा में दोपहर बाद साढ़े तीन बजे और जिला मुख्यालय में चार बजे और शाम छह बजे जमकर बारिश हुई। इससे पहले ठेठईटांगर, जलडेगा, कुरडेग अन्य प्रखंडों में भी पानी बरसने से मौसम खुशगवार हो गया। दोपहर में जिले का तापमान 45 डिग्री सेल्सियस तक पहुंच जाने से लोग परेशान थे। तेज धूप और उमसभरी गर्मी से लोगों को परेशानी हो रही थी। इधर बारिश के दौरान शहरी क्षेत्र के वार्ड नंबर सात स्थित पुरनापानी में वज्रपात की चपेट में आने से चार मवेशियों की मौत हो गई। सभी मवेशी एक वट ...

शाम आई बारिश में बिजली गुल - दैनिक जागरण

आदित्यपुर : दिनभर उमस से जूझ रहे लोगों को शुक्रवार की शाम आई बारिश ने राहत दी, लेकिन आंधी में तार टूटकर गिरने से पूरे इलाके में बिजली गुल हो गई। देर रात तक बिजली आपूर्ति बहाल नहीं हो पाई थी। इससे शनिवार को पेयजल आपूर्ति भी बाधित होने की आशंका है। मोबाइल पर भी अपनी पसंदीदा खबरें और मैच के Live स्कोर पाने के लिए जाएं m.jagran.com पर. Tags: #electicity; #power cut. Web Title:cc(Hindi news from Dainik Jagran, newsnational Desk). कमेंट करें. ट्रिपल वन सेव लाइफ में गरीबों की डायलिसिस सिर्फ 800 मेंएसिया की निर्विरोध निर्वाचित कमेटी की घोषणा आज. अपनी प्रतिक्रिया दें. लॉग इन करें. अपनी भाषा चुनें.

रात को गुल हुई तो सुबह ही आ पाई बिजली - Nai Dunia

नगर में मामूली आंधी-तूफान और बारिश के बाद ही शहर बिजली आपूर्ति के मामले में बेहाल हो जाता है। इसकी वजह यह है कि रखरखाव का काम ठीक से नहीं किया जाता है। रात को यदि बिजली के तार टूटने या अन्य घटना होती है तो इस तरह के हालात में सुधार कार्य सुबह शुरू हो पाता है। नगर की करीब 25 फीसदी आबादी को बीती रात को अंधेरे में ही रात गुजारना पड़ी। उमसभरी इस रात में रतीजगा किया। हालात यह थे कि रात को कोई भी सुधार कार्य करने के लिए नहीं पहुंच पा रहा था। ठेके पर काम करने वाली एजेंसी ने सुबह कार्य शुरू किया। ऐसे में दोपहर 12 बजे तक ही व्यवस्था पटरी पर आ पाई। नगर के अनेक क्षेत्र में लोगों ने ...

बारिश होते ही गुल हो गई बिजली - दैनिक भास्कर

बोकारो | शहरकी बिजली आपूर्ति व्यवस्था पूरी तरह लचर हो गई है। हल्की बारिश और आंधी में ही तार टूटकर गिर जाते हैं और बिजली बाधित हो जाती है। पिछले चार दिनों से हो रही बारिश और आंधी के कारण शहर वासियों को बिजली रुला रही है। मंगलवार को आई आंधी से जहां कई क्षेत्रों में लगभग 40 घंटे बिजली गुल रही, वहीं शुक्रवार की शाम हुई बारिश के बाद भी कई क्षेत्रों में लगभग छह घंटे बिजली गुल रही। बिजली की अव्यवस्था के कारण गर्मी से जहां लोग परेशान हो रहे हैं, वहीं व्यवसायियों और उद्यमियों को भी नुकसान सहना पड़ रहा है। Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर ...

तेज आंधी-पानी से ठप हुई विद्युत आपूर्ति - दैनिक जागरण

गुरुवार रात साढ़े दस बजे आई तेज आंधी ने क्षेत्र में पहले से व्याप्त बिजली समस्या को और बढ़ा दिया। गुरुवार रात साढ़े दस बजे आई तेज आंधी ने क्षेत्र में पहले से व्याप्त बिजली समस्या को और बढ़ा दिया। रात से ही क्षेत्र के सरोथर, गनवरिया, महतिनियां, भनवापुर, सहिजवार, गड़ावर, साहेपारा, कठौतिया सहित दर्जनों गांव अंधेरे में डूबे हुए हैं। लोग गर्मी से हलकान रहे, पर पूरी रात बिजली नहीं आई। क्षेत्रवासी घनश्याम व अशोक का कहना है कि इतनी भीषण गर्मी में भी जब बिजली रात रात भर नहीं आएगी तो आमजन को कैसे राहत मिलेगी। मनोज व कृष्ण कुमार का कहना है कि जब अभी से यह हालात हैं, एक बार ...

हल्की बारिश से बिजली हुई गुल - दैनिक जागरण

इटकी : हल्की बारिश होते ही इटकी की विद्युत आपूर्ति काट दी जाती है और घटों बिजली गुल रहता। शुक्रवार क. इटकी : हल्की बारिश होते ही इटकी की विद्युत आपूर्ति काट दी जाती है और घटों बिजली गुल रहता। शुक्रवार को 2 बजे आई आंधी से विद्युत आपूर्ति गुल हो गई। स्थानीय लोग ऊर्जा निगम के अधिकारियों से नाराज हैं। आठ घटे से विद्युत आपूर्ति ठप होने से विद्यार्थियों को पठन-पाठन मे परेशानी हुई। भीषण गर्मी से लोग बेहाल हैं। क्षेत्र में अंधेरा है। विभाग के सहायक अभियंता मुरलीधर ओझा ने बताया कि हटिया ग्रिड से बेड़ो विद्युत सबस्टेशन 33 हज़ार लाइन में फाल्ट होने के कारण हटिया ग्रिड से ...

आंधी-बारिश में सुरक्षात्मक कारणों से काटी गई बिजली - दैनिक जागरण

रांची : दोपहर बाद शुक्रवार को आई 40 किलोमीटर प्रति घंटे के हिसाब से आंधी व उसके बाद मूसलाधार बारिश के समय रांची शहर के सभी फीडर को सुरक्षात्मक कारणों से बंद कर दिया गया। वहीं, वज्रपात को देखते हुए कई 11 हजार व 33 हजार लाइन से भी बिजली आपूर्ति को बंद कर दी गई। इस कारण रांची शहर के बड़े इलाके में बारिश के समय बिजली बंद रही। बारिश समाप्त होने के बाद एक-एक कर आपूर्ति बहाल की गई। पर, कुछ इलाकों में स्थानीय समस्या आई। उसे देर शाम दुरुस्त किया गया और बिजली बहाल की गई। मोबाइल पर भी अपनी पसंदीदा खबरें और मैच के Live स्कोर पाने के लिए जाएं m.jagran.com पर ...

एक माह में 77 ट्रांसफॉर्मर जले - प्रभात खबर

जमशेदपुर : गैर कंपनी इलाके जमशेदपुर, घाटशिला अौर आदित्यपुर (जमशेदपुर सर्किल) में पिछले एक माह में तेज आंधी, बारिश व वज्रपात से 77 ट्रांसफॉर्मर जले, 200 पोल, 230 जगह हाइटेंशन तार व सर्विस लाइन (एलटी) तार टूटे हैं. इसके अलावा 102 इंश्यूलेटर, 25 डिस्क, 10 ब्रेकर समेत कई उपकरण बर्बाद हुए हैं. बिजली विभाग को इससे 90 लाख रुपये से एक करोड़ रुपये तक का नुकसान हुआ है. सबसे ज्यादा मानगो प्रभावित. तेज आंधी- बारिश व वज्रपात से ढाई लाख की आबादी वाला मानगो सबसे ज्यादा प्रभावित हुआ है. मालूम हो कि गम्हरिया पावर ग्रिड, चांडिल पावर ग्रिड के अलावा कालीमंदिर प्वाइंट से (तीन स्रोतों) यहां ...

दुमका में बारिश का मतलब बिजली-पानी की आपूर्ति ठप - प्रभात खबर

विडंबना. कहने को सिर्फ उपराजधानी, हल्की आंधी-बारिश से ही बिगड़ जाती है शहर की सूरत. 30-30 रुपये में पानी का जार खरीदने को लोग विवश. दुमका : उपराजधानी दुमका में हल्की आंधी-बारिश लोगों को रुला जाती है. आंधी-बारिश आयी, मतलब बिजली गयी और उसके बाद जलापूर्ति दो-तीन दिनों के लिए ठप. यह आम बात हो चुकी है. 10 मिनट की बारिश किसी इलाके के लिए 10-20 घंटे तक बिजली गुल करके चली जाती है, जबकि शहरी जलापूर्ति को दो-तीन दिनों के लिए. दुमका के लगभग सात हजार वैध उपभोक्ता पिछले तीन दिनों से पेयजल की आपूर्ति नहीं होने से परेशान हैं. लोगों को मुहल्ले के चापाकल से बाल्टी में भर-भरकर ...